वर्षा ऋतु पर निबंध: Essay on Rainy Season in Hindi

भारत में एक साल में छः ऋतुएं आती है जिनमें से एक वर्षा ऋतु भी होती है, इस ऋतु को मानसून सीजन भी कहा जाता है। इस ऋतु के शुरू होने से पहले ग्रीष्म ऋतु शुरू होती है। गर्मी की कड़कड़ाती एवं भीषण धूप से वर्षा ऋतु के आने से लोग को काफी राहत मिलती ... Read more

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

भारत में एक साल में छः ऋतुएं आती है जिनमें से एक वर्षा ऋतु भी होती है, इस ऋतु को मानसून सीजन भी कहा जाता है। इस ऋतु के शुरू होने से पहले ग्रीष्म ऋतु शुरू होती है। गर्मी की कड़कड़ाती एवं भीषण धूप से वर्षा ऋतु के आने से लोग को काफी राहत मिलती है जिस कारण लोगों को यह ऋतु बहुत पसंद होती है। जब यह मौसम आता है तो पूरे आसमान में काले बादलों से घिर जाता है और तेज हवाओं के साथ बारिश होने लगती है। अकसर स्कूल पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को वर्षा ऋतु पर निबंध लिखने के लिए दिया जाता है आइए हम आपको आज वर्षा ऋतु पर निबंध (Essay on Rainy Season in Hindi) से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी बताने जा रहें हैं अतः इच्छुक नागरिक इस निबंध की जानकारी प्राप्त करके आसानी से इस विषय पर निबंध लिख सकते हैं।

वर्षा ऋतु क्या है?

भारत में जून के माह में कड़क धूप लगती है जिसे धरती सूख जाती है और धरती में स्थित पेड़ पौधे एवं फसल सूख जाती है तथा जीव-जंतु परेशान होने लगते हैं जो कि बरसात के मौसम में शुरू होने से खुश हो जाते है। आपको बता दे जून माह के लास्ट से ही आसमान में काले बादल आने लगते हैं तथा तेज हवाएं चलने लगती हैं अर्थात वर्षा ऋतु आ रही है और मानसून आ गया है। अर्थात ताप्ती गर्मी से अब राहत मिलने वाली है लोग मजे से बारिश में नहा कर आनंद लेते है। भीषण गर्मी का तापमान ठंडा हो जाता है। इस मौसम में बारिश बहुत तेज होती है। चारों और प्रकृति में हरियाली आ जाती है। भारत में यह ऋतु अन्य ऋतुओं से अधिक पसंद की जाती है।

Rainy Season का समय

जून की तपती गर्मी को कम करने के लिए वर्षा ऋतु का आरम्भ होता है। यह मौसम जून के मध्य में शुरू होता है हिंदी महीने में इसे सावन भादो कहा जाता है। इस मौसम के आते ही लगातार वर्षा होनी शुरू हो जाती है।

वर्षा ऋतु पर निबंध (Essay on Rainy Season in Hindi)
वर्षा ऋतु पर निबंध

Rainy Season के लाभ

  • बरसात के मौसम के आने से गर्मी के प्रकोप से बचा जा सकता है।
  • बारिश होने से चारों और पेड़ – पौधे एवं वनस्पति हरी होती जाती है।
  • वर्षा होने से खाली एवं सूखे हुए तालाब पानी से भर जाते हैं।
  • फसल की पैदावार में वृद्धि होती है।

Rainy Season के हानि

जिस प्रकार से रेनी सीजन के कई लाभ हैं ठीक उसी प्रकार से कई हानियां भी है जो कि निम्नलिखित हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
  • वर्षा ऋतु में अधिक बारिश होने के कारण फैसले बर्बाद हो जाती हैं।
  • चारों ओर कीचड़ ही कीचड़ हो जाता है जिससे आने जाने में बहुत दिक्कत होती है।
  • अधिक मात्रा में बारिश होने के कारण बाढ़ जैसी आपदा को सहना पड़ता है जिससे जान-माल के साथ जन- धन की हानि होती है।
  • जगह -जगह रास्ते, सड़के टूट जाते हैं।
  • नालियां पानी से भर जाती है जिससे कि वह सड़कों में जमा होने लगता है जिससे कई बीमारियां होने लगती है।
  • अनेक स्थानों में पानी के जमा होने से मच्छर पैदा हो जाते हैं जिनसे कि कई बीमारी होने का खतरा रहता है।

Rainy Season Importance

हमारे जीवन एवं आम जिंदगी में Varsha Ritu के बहुत महत्वपूर्ण महत्व है जिसकी जानकारी हम नीचे बताने जा रहें हैं।

  • जैसा कि हम सभी को पता है कि भारत एक कृषि विधान देश है जिस कारण वर्षा यहां की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए अपनी मुख्य भूमिका निभाती है।
  • बारिश होने से धरती का तापमान नियंत्रण में आ जाता है।
  • यदि पृथ्वी पर वर्षा नहीं होगी तो पूरी धरती सूखी पड़ जाएगी। पशु – पक्षी एवं जीव -जंतु मर जाएंगे। धरती पर एक भी अन्न का दाना नहीं होगा।
  • पानी के बिना हमारा जीवन संभव नहीं है।
  • सूखे हुए तालाबों, नदियों एवं कुँओं को भरने के लिए वर्षा के पानी की आवश्यकता पड़ती है।
  • फसल की पैदावार अच्छी करने के लिए बरसात का होना आवश्यक है।
  • बारिश का पानी डैम में इकट्ठा होकर बिजली निर्माण के काम आता है।

Rainy Season में सुरक्षित कैसे रहें?

आप सभी को पता है कि बरसात शुरू होने से गर्मी खत्म हो जाती है जिस कारण लोग राहत महसूस करते हैं लेकिन इस मौसम में कहीं बाहर निकलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। अत्यधिक बारिश के कारण बीमारियां भी फैलने लगती है। सर्दी जुकाम जैसी वायरल बीमारी सभी को हो जाती है। हम आपको नीचे कुछ उपाय बताने जा रहें है बरसात के मौसम में अपना और अपने परिवार को सुरक्षित रख सके।

  • बारिश में ना भीगें- आपको बारिश के पानी से बार-बार भीगने से बचना है ताकि आप सुरक्षित रह सके और आपको कोई बीमारी ना हो सके और आप स्वस्थ रहें।
  • गर्म पानी से नहाएं- इस मौसम में आपको अकसर गर्म पानी से ही नहाना चाहिए क्योंकि बारिश से हम कितना भी बचने की कोशिश करें हम भीग ही जाते हैं इसलिए आप गर्म पानी से ही नहाइये। मानसून में शरीर का तापमान भी घट जाता है जो कि गर्म पानी के नहाने से सामान्य हो जाता है।
  • साफ-सफाई रखें- मानसून में आपको खुद की साफ-सफाई का अधिक ध्यान रखना है कुछ खाने से पहले हाथ धो ले ताकि आप सर्दी जुकाम से बच सके।
  • रेन गियर का इस्तेमाल- मानसून में जब भी आप घर से बाहर निकलते हैं तो आप अपने साथ छाता ले कर जरूर जाएं। इसके अलावा आप अपने साथ रेनकोट एवं वाटरप्रूफ जूते पहनकर ले जा सकते है ताकि आप भीगने से बच पाएं। अतः बारिश में आप इनके बिना घर से बाहर ना निकलें।
  • जमा हुआ पानी इकठ्ठा ना होने दें- बरसात के सीजन में अकसर आप कहीं भी देखते होंगे कि पानी जमा हो जाता है जो कि मच्छरों का प्रजनन स्थल बनता है जिससे की डेंगू एवं मलेरिया जैसी खतरनाक बीमारी फैलने का डर रहता है। इस समस्या से बचने के लिए आपको अपने घर के आस-पास पानी इकट्ठा नहीं होने देना है बारिश होने के बाद आपको जमा पानी को साफ़ कर लेना है।

वर्षा ऋतु पर 10 लाइन

  • अक्सर लोगों को भारत में वर्षा ऋतु का मौसम अच्छा लगता है।
  • यह एक सुहावना मौसम है।
  • लोग इस मौसम में गर्म चाय एवं पकोड़े खाना पसंद करते हैं।
  • यह मौसम बच्चों का सबसे पसंदीदा मौसम होता है क्योंकि वे बारिश में कागज की नाव बना कर खेलते हैं।
  • इस मौसम के शुरू होते ही कई दिनों तक लगातार वर्षा होती रहती है।
  • आसमान में चारों ओर काले बादल छा जाते हैं।
  • वर्षा ऋतु के शुरू होते ही सूखे कुँए, तालाब एवं नदियां जल से भर जाते हैं।
  • इस मौसम में लोग घर के अंदर बैठकर आराम करते हैं।
  • तपती हुई गर्मी से राहत प्राप्त होती है।
  • जब बारिश होती है उसके पश्चात किसान खेतों में बीज बोते हैं।

Also Read-

वर्षा ऋतु पर निबंध से सम्बंधित प्रश्न/उत्तर

बरसात के मौसम को क्या कहा जाता है?

बरसात के मौसम को वर्षा ऋतु कहा जाता है।

बरसात के दिनों में क्या करने का मन होता है?

बरसात के दिन में अंदर बैठने और आराम करने का मन होता है। अधिकतर लोग इस मौसम में गर्म चाय और पकोड़े खाना पसंद करते हैं।

भारत में ऐसी कौन सी जगह है जहाँ सबसे कम बारिश होती है?

भारत में सबसे में कम बारिश लेह-लद्दाख में होती है।

Rainy Season किस माह शुरू होती है?

भारत में गर्मी के बाद जुलाई माह से Rainy Season शुरू होता है।

भारत में बारिश सबसे अधिक किस स्थान पर होती है?
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

भारत में बारिश सबसे अधिक मेघालय के मासिनराम में होती है।

बारिश के पानी में कौन-कौन से तत्त्व पाए जाते हैं?

बारिश के पानी कई प्रकार के तत्व पाए जाते हैं जैसे- आयरन, पोटेशियम, सोडियम, अमोनिया, मैग्नीशियम, क्लोराइड एवं सल्फेट आदि।

क्या धरती पर बारिश का होना जरुरी है?

जी हाँ, धरती पर बारिश का होना बहुत जरूरी है यदि धरती पर बारिश नहीं होगी तो चारों तरफ सूखा ही सूखा पड़ जाएगा और जीव- जंतु सभी बिना पानी के मर जाएंगे।

Essay On Rainy Season in Hindi से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी को हमने इस लेख में आपको साझा कर दिया है यदि आपको लेख से जुड़ी और जानकारी या कोई प्रश्न पूछना है तो इसके लिए आप नीचे दिए हुए कमेंट सेक्शन में अपना प्रश्न पूछ सकते हैं। इसी तरह के अन्य लेखों, शिक्षा से जुड़ी जानकारी एवं सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी साइट विजिट hindi.nvshq.org कर सकते हैं। उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो धन्यवाद।

Photo of author

Leave a Comment