2023 में, भारत की जनसंख्या कितनी है ? पूरा डिटेल 1951 से लेकर अब तक का जानिए

देश में बढ़ती जनसँख्या से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा परिचर्चा तो चलती ही रहती है जो आपने भी सुनी होगी। ऐसे में देश की बढ़ती जनसंख्या से संबंधित प्रभावों की बात सुनकर आप को भी ये जानने की जिज्ञासा होती होगी कि वर्तमान में भारत की जनसंख्या कितनी है?

तो आप के इस प्रश्न का उत्तर हम अभी दे देते हैं – वर्तमान में हमारे देश भारत की जनसंख्या लगभग 1,401,865,325 (अनुमानित) है। अनुमानित इसलिए क्यूंकि ये डेटा वर्ष 2011 में हुई जनगणना के आधार पर मिले तथ्यों को ध्यान में रखकर गणना की गयी है। वर्तमान में जनगणना जारी है और जल्द ही इसके डेटा जारी किए जाएंगे जिसके बाद ही इसकी आधिकारिक पुष्टि हो पाएगी।

2023 में, भारत की जनसंख्या कितनी है ? पूरा डिटेल 1951 से लेकर अब तक का जानिए
2023 में, भारत की जनसंख्या कितनी है ?

आज इस लेख के माध्यम से हम आप को भारत की जनसंख्या / India ki Jansankhya के बारे में जानकारी देंगे। जिसमें आप वर्ष 1951 से लेकर अब तक के जनसंख्या के बारे में जानकारी डिटेल में मिल जाएगी।

भारत की जनसंख्या कितनी है?

जैसे की आप को ज्ञात होगा कि भारत में जनसंख्या की गणना करने का कार्य देश की सरकार का है। बता दें कि प्रत्येक 10 साल की अवधी में देश में जनसंख्या की गणना की जाती है। व इस के साथ ही विभिन्न संबंधित पक्षों की जानकारी भी एकत्रित की जाती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

ये कार्य महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त के निरिक्षण में किया जाता है। जिसके बाद सभी आधिकारिक जानकारी आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दी जाती है। जिसे देश का कोई भी नागरिक आसानी से देख सकता है। वर्तमान में भारत की जनगणना की प्रक्रिया जारी है।

यह भी पढ़ें : भारत में आपातकाल, प्रकार, प्रक्रिया

Bharat Ki Jansankhya Highlights

हमारे देश में समय समय पर होने वाली जनगणना के आधार पर हर दस साल में भारत की जनसंख्या की गणना होती है। जिसके आधार पर ये बताया जा सकता है कि देश में वर्तमान में कितनी जनसँख्या (Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai?) है ? नीचे इस संबंध में आप दी गयी तालिका में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को पढ़ सकते हैं –

आर्टिकल का नाम2023 में भारत की जनसंख्या कितनी है?
जनगणना कौन कराता है केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त
भारत में होने वाली जनगणनाप्रत्येक 10 वर्षों में
वर्तमान वर्ष2023
आधिकारिक वेबसाइटcensusindia.gov.in

वर्ष 1951 से लेकर अभी तक हो चुकी जनगणना की वृद्धि

जैसे की आप ने जाना कि हमारे देश हर 10 साल बाद जनगणना की जाती है। जिसके आधार पर देश में हुई जनसंख्या वृद्धि दर की गणना की जाती है। नीचे दी गयी सारणी से आप हर दस वर्षों में जनसंख्या वृद्धि दर को समझ सकते हैं।

जनगणना वर्ष कुल जनसंख्या जनसंख्या वृद्धि दर
1951361,088,09013.32%
1961438,936,91821.62%
1971548,160,05024.8 %
1981683,329,90025%
1991838,583,98826.9%
20011,028,737,43621.5%
20111,210,193,42217.70%

2023 में, भारत की जनसंख्या कितनी है?

वर्ष 2021 में होने वाली जनगणना देश विदेश में फैली कोविड महामारी के चलते पूरी नहीं हो सकी। आप की जानकारी के लिए बताते चलें कि अब इसे फिर से शुरू कर दिया गया है। जल्द हो जाएगी जिसके बाद भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर पूरी रिपोर्ट जारी कर दी जाएगी।

हालाँकि वर्तमान में देश की जनसंख्या लगभग 1,401,865,325 (अनुमानित) है। भारत देश में प्रत्येक साल जनसंख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है। वहीँ जनसँख्या वृद्धि दर में कमी आयी है। आप इसे वर्ष 2001 और वर्ष 2011 में हुई वृद्धि दर में देख सकते हैं। वर्ष 2001 में जनसंख्या वृद्धि दर  21. 5% थी जबकि अगले दस साल बाद ये दर घटकर 17. 70% हो गयी थी।

आप आगे दी जा रही सारणी में प्रत्येक वर्ष हो रहे जनसंख्या वृद्धि के बारे में देख सकते हैं।

जनसंख्या वर्ष जनसंख्या वृद्धि
1951361,088,090
1961438,936,918 
1965497,920,270 
1970553,943,226
1975621,703,641 
1980697,229,745  
1985782,085,127   
1990870,601,776  
1995960,874,982   
20001,053,481,072
2005 1,144,326,293 
20101,230,984,504
20111,210,193,422
20121,263,589,639
20131,279,498,874
20141,295,291,543
20151,311,050,527 
2016 1,326,801,576
20171,342,512,706 
20181,352,551,891
2019
20201,376,578,863

भारत की जनसंख्या अलग अलग धर्मों के अनुसार

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

भारत में विभिन्न धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं। हमारा देश में अनेकता में एकता देखि जा सकती है जहाँ अलग अलग धर्मों को मानने वाले, अलग अलग रीति रिवाजों को मानने वाले सभी लोग साथ मिलकर रहते हैं। आइये अब जानते हैं कि इस देश में अलग अलग धर्मों को मानने वाले लोगों की जनसंख्या कितनी है ?

आप यहाँ दी गयी सारणी से ये समझ सकते हैं कि किस धर्म के कितने प्रतिशत लोग हमारे देश में निवास करते हैं।

जनगणना वर्ष हिन्दू जनसंख्या प्रतिशत इस्लाम जनसंख्या प्रतिशत सिख जनसंख्या प्रतिशत जैन जनसंख्या प्रतिशत बौद्ध जनसंख्या प्रतिशत ईसाई जनसंख्या प्रतिशत पारसी जनसंख्या प्रतिशत अन्य धर्मों की जनसंख्या प्रतिशत
1951 84.1%9.8%1.89%0.46%0.74%2.3%0.43%
196183.45%10.69%1.79%0.46%0.74%2.44%0.09%0.43%
1971 82.73%11.21%1.89%0.48%0.70%2.60%0.09%0.41%
1981 82.30%11.21%1.92%0.48%0.70%2.44%0.09%0.42%
1991 81.53%12.61%1.94%0.40%0.77%2.32%0.08%0.44%
2001 80.45%13.4%1.89%0.46%0.74%2%0.09%0.44%
2011 79.80 %14.23%1.72%0.37%0.70%2.30%0.09%। 0.9%

ये भी पढ़ें : भारत में 28 राज्य कौन-कौन से हैं?

देश के विभिन्न राज्यों की जनसंख्या

आगे दी गयी सारणी में आप भारत के विभिन्न राज्यों को उनकी जनसंख्या के आधार पर मिली रैंक के अनुसार देख सकते हैं। आप की जानकारी के लिए बता दें कि ये तथ्य वर्ष 2011 में हुई जनगणना के आधार पर दिए गए हैं। इस टेबल में आप सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्य और सबसे कम जनसंख्या वाले राज्यों की सूची देख सकते हैं।

रैंकभारत के राज्यजनसंख्याभारत की आबादी में प्रतिशत
01उत्तर प्रदेश199,812,3416.51%
02महाराष्ट्र112,374,3339.28%
03बिहार104,099,4528.6%
04पश्चिम बंगाल91,276,1157.54%
05मध्य प्रदेश72,626,8096%
06तमिलनाडु72,147,0305.96%
07राजस्थान68,548,4375.66%
08कर्नाटक61,095,2975.05%
09गुजरात60,439,6924.99%
10आंध्र प्रदेश49,577,1034.08%
11उड़ीसा41,974,2183.47%
12तेलंगाना35,003,6742.89%
13केरल33,406,0612.76%
14झारखंड32,988,1342.73%
15असम31,205,5762.58%
16पंजाब27,743,3382.29%
17छत्तीसगढ़25,545,1982.11%
18हरियाणा25,351,4622.09%
19उत्तराखंड10,086,2920.83%
20हिमाचल प्रदेश6,864,6020.57%
21त्रिपुरा3,673,9170.3%
22मेघालय2,966,8890.25%
23मणिपुर2,570,3900.21%
24नागालैंड1,978,5020.16%
25गोवा1,458,5450.12%
26अरुणाचल प्रदेश1,383,7270.11%
27मिजोरम1,097,2060.09%
28सिक्किम610,5770.05%

इंडिया के सभी राज्यों की 2023 में अनुमानित जनसंख्या

आगे इस लेख में आप को एक अन्य सारणी उपलब्ध कराई जा रही है जहाँ आप वर्ष 2011 में की गई जनगणना से संबंधित विभिन्न तथ्य व महत्वपूर्ण जानकारी देख सकते हैं। जैसे कि – विभिन्न राज्यों की जनसंख्या, उनका घनत्व, लिंग अनुपात, साक्षरता, आदि की जानकारी मिलेगी। साथ ही वर्तमान वर्ष यानी कि 2023 की अनुमानित जनसंख्या की जानकारी भी मिल जाएगी।

क्रम संख्या राज्य2011 जनसंख्याघनत्वलिंग अनुपातसाक्षरता2023 की अनुमानित जनसंख्या
1सिक्किम610,5778689081.42%658,019
2तमिलनाडु72,147,03055599680.09%83,697,770
3त्रिपुरा3,673,91735096087.22%4,184,959
4पुडुचेरी1,247,9532,5471,03785.85%1,646,050
5पंजाब27,743,33855189575.84%30,501,026
6चंडीगढ़1,055,4509,25881886.05%1,158,040
7छत्तीसगढ़25,545,19818999170.28%32,199,722
8दादरा और नगर हवेली343,70970077476.24%453,008
9दमन और दीव243,2472,19161887.10%320,989
10दिल्ली16,787,94111,32086886.21%19,301,096
11मध्य प्रदेश72,626,80923693169.32%85,002,417
12महाराष्ट्र112,374,33336592982.34%124,904,071
13गोवा1,458,54539497388.70%1,521,992
14गुजरात60,439,69230891978.03%70,400,153
15उत्तर प्रदेश199,812,34182991267.68%231,502,578
16हरियाणा25,351,46257387975.55%28,900,667
17हिमाचल प्रदेश6,864,60212397282.80%7,503,010
18जम्मू-कश्मीर12,541,3025688967.16%14,999,397
19झारखंड32,988,13441494866.41%40,100,376
20कर्नाटक61,095,29731997375.36%69,599,762
21केरल33,406,0618601,08494.00%34,698,876
22मिजोरम1,097,2065297691.33%1,308,967
23नागालैंड1,978,50211993179.55%2,073,074
24अंडमान और निकोबार द्वीप380,5814687686.63%399,001
25बिहार104,099,4521,10691861.80%128,500,364
26मेघालय2,966,88913298974.43%3,772,103
27लक्षद्वीप64,4732,14994691.85%66,001
28अरुणाचल प्रदेश1,383,7271793865.38%1,711,947
29असम31,205,57639895872.19%35,998,752
30आंध्र प्रदेश84,580,77730899367.02%91,702,478
31ओडिशा41,974,21827097972.87%47,099,270
32राजस्थान68,548,43720092866.11%79,502,477
33मणिपुर2,855,79412898576.94%3,436,948
34उत्तराखंड10,086,29218996378.82%11,700,099
35पश्चिम बंगाल91,276,1151,02895076.26%100,896,618

भारत के विभिन्न राज्यों के उच्चतम और न्यूनतम साक्षरता वाले जिले

भारत के अलग अलग राज्यों में साक्षरता का प्रतिशत अलग अलग है। यदि आप भी अपने राज्य की साक्षरता प्रतिशत को जानना चाहते हैं तो नीचे दी गयी सारणी के माध्यम से देख सकते हैं।

राज्यउच्चतम साक्षरता वाले ज़िलेप्रतिशत सबसे कम साक्षरता वाले ज़िलेप्रतिशत
अंडमान और निकोबार द्वीपदक्षिण अंडमान89 %निकोबार78.06%
दादरा और नगर हवेलीदादरा और नगर हवेली76 %दादरा और नगर हवेली76.24%
दमन और दीवदमन88%दिउ83.46%
दिल्लीपूर्वी दिल्ली89%उत्तर पूर्वी दिल्ली83.09%
तमिलनाडुकन्याकुमारी92%धर्मपुरी68.54%
त्रिपुरापश्चिम त्रिपुरा89 %दक्षिण त्रिपुरा84.66%
असमकामरूप महानगर89%धुबड़ी58%
बिहाररोहतास73%पूर्णिया51.08%
चंडीगढ़चंडीगढ़86 %चंडीगढ़86.05%
छत्तीसगढ़दुर्ग79%बीजापुर40.86%
नागालैंडमोकोकचुंग92%मोन56.99%
गुजरातसूरत86%दाहोद58.82%
हरियाणागुडगाँव85%मेवात54.08 %
हिमाचल प्रदेशहमीरपुर88%चंबा72.17 %
जम्मू-कश्मीरजम्मू83%रामबन54.27%
उत्तराखंडदेहरादून84%उधम सिंह नगर73.1%
राजस्थानकोटा77%जालोर54.86%
केरलकोट्टायम97%वायनाड89.03%
पुडुचेरीमाहे98%यानम79.47%
पंजाबहोशियारपुर85%मानसा61.83%
महाराष्ट्रमुंबई उपनगर90%नंदुरबार64%
मणिपुरइम्फाल पश्चिम86%सेनापति63.6%
मेघालयईस्ट खासी हिल्स84%जयंतिया हिल्स61.64%
मिजोरमसेरछिप98%लॉन्गतलाई65.88%
झारखंडरांची76%पाकुड़48.82%
कर्नाटकदक्षिणा कन्नड़89%यादगीर51.83%
ओडिशाखोरदा87%नबरंगपुर46.43%
मध्य प्रदेशजबलपुर81%अलीराजपुर36.1%
उत्तर प्रदेशगौतम बुद्ध नगर80%श्रावस्ती46.74%
गोवाउत्तर गोवा90%दक्षिण गोवा87.59%
लक्षद्वीपलक्षद्वीप92%लक्षद्वीप91.85%
आंध्र प्रदेशहैदराबाद83%महबूबनगर55.04%
अरुणाचल प्रदेशपपुमपारे80%कुरूंग कुमेय48.75%
सिक्किमपूर्वी सिक्किम84%पश्चिम सिक्किम77.39%
पश्चिम बंगालपूर्बी मेदिनीपुर87%उत्तर दिनाजपुर59.07%

यहाँ जानिये भारत की जनसंख्या से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

  • दुनिया में जनसंख्या के मामले में भारत देश की सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला दूसरा देश है। जबकि पहले स्थान पर चीन है।
  • ऐसा माना जा रहा है कि यदि भारत में बढ़ने वाली जनसंख्या ऐसे ही जारी रही तो जल्द ही वर्ष 2030 तक भारत चीन को पछाड़ कर जनसंख्या के मामले पर पहले स्थान पर आ जाएगा।
  • देखा जाए तो पूरी दुनिया की कुल आबादी का 17.9% भारतीयों का हैं। इस हिसाब से हर 100 व्यक्तियों में से 18 लोग भारतके रहने वाले हैं।
  • जनसंख्या को संतुलित करने के लिए इस बात इस बात को लेकर नागरिकों में जागरूकता पहले के मुकाबले काफी बढ़ी है। जिसका श्रेय शिक्षा को दे सकते हैं साथ ही परिवार नियोजन के तरीकों ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। 
  • प्रत्येक 10 वर्ष में देश में होने वाली जनगणना, नीति निर्धारण में बहुत ही अहम भूमिका निभाती हैं।
  • वर्ष 2021 में होने वाली जनगणना कोविड महामारी के चलते अभी तक पूरी नहीं हो पायी है। हालाँकि अब जनगणना की प्रक्रिया जारी है और जल्द ही जनगणना पूरी हो जाएगी।
  • केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि वर्ष 2021 में होने वाले जनगणना डिजिटल माध्यम से कराई जाएगी।
  • जनसंख्या की लाइव काउंट सभी नागरिक वोर्ल्डोमीटर वेबसाइट पर देख सकते हैं।
  • वर्ष 2021 में होने वाली जनसंख्या की गणना, जो अभी चल रही है वो 16वीं जनगणना होगी।

भारत की जनसंख्या से संबंधित प्रश्न उत्तर

इंडिया की जनसंख्या कितनी है ?

भारत की जनसंख्या वर्ष 2023 में लगभग 140.4 करोड़ है।

देश में जनगणना के लिए जनसंख्या की आधिकारिक गणना कितने वर्षों में की जाती है ?

भारत में प्रत्येक 10 वर्षों में आधिकारिक जनगणना की जाती है ?

भारत में जनगणना कौन सा विभाग करता है?

देश की जनगणना भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन भारत के महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त द्वारा कराई जाती है।

इंडिया में सबसे अधिक जनसंख्या किस राज्य में है ?

देश का सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य उत्तर प्रदेश है।

भारत में सबसे कम जनसंख्या वाले राज्य कौन सा है ?

सिक्किम देश का सबसे कम जनसंख्या वाला राज्य है।

2011 की जनगणना सूची कैसे देखें?

सबसे पहले आप को  सरकार की आधिकारिक वेबसाइट secc.gov.in पर जाना होगा। फिर statewise & zonewise का चयन करें। secc data summary के विकल्प का चयन करें। इसके बाद अपने राज्य का चुनाव करें फिर जिले का और अंत में तहसील को चुनें। जिसके बाद आप वर्ष 2011 की जनगणना सूची देख सकते हैं।

आज इस लेख के माध्यम से आप ने भारत की जनसंख्या कितनी है? से संबंधित जानकारी पढ़ी। उम्मीद है आपको ये जानकारी उपयोगी लगी होगी। यदि ऐसे ही अन्य उपयोगी लेख पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट Hindi NVSHQ से जुड़ सकते हैं।

Photo of author

Leave a Comment