Queen Elizabeth died: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ-II कौन थी ?

Photo of author

Reported by Pankaj Bhatt

Published on

Britain Queen Elizabeth II died: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन स्कॉटलैंड के बाल्मोरल महल में गुरुवार 08 सितम्बर 2022 को हो गया है। उनकी आयु 96 वर्ष थी, कुछ दिनों से उनकी तबीयत ख़राब चल रही थी। डॉक्टर लगातार उनकी सेहत सुधार में लगे हुए थे। लेकिन अंत में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। यूनाइटेड किंगडम में इस समय शोक की लहर छाई हुई है, सभी लोग इस दुःख की घड़ी में उनके परिवार के साथ हैं। महरानी एलिजाबेथ-II ने 70 साल तक शासन किया और इस दौरान उन्होंने 15 प्रधानमंत्रियों का कार्यकाल देखा।

उत्तरी कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का जीवन परिचय

Britain Queen Elizabeth II died: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ-II कौन थी ?
Britain Queen Elizabeth II died: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ-II कौन थी ?

महारानी की मृत्यु के बाद शासन में क्या परिवर्तन होना है इसका पूरा प्लान ब्रिटिश सरकार की तरफ से बनाया गया है और इसे ऑपरेशन लंदन ब्रिज कोड नेम दिया गया है। इस कोड को कई वर्षों से सीक्रेट ही रखा गया था लेकिन कई अहम जानकारियां कुछ साल पहले सामने आ गई। आज की इस पोस्ट में हम उनके जीवन सफर पर नजर डालते हैं।

एलिजाबेथ एलेग्जेंड्रा मैरी (एलिजाबेथ द्वितीय) की जीवनी 

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय 21 अप्रैल 2022 को लंदन, यूनाइटेड किंगडम में हुआ था और इनके पिता का नाम प्रिंस अल्बर्ट व माता का नाम बोज लियोन था। एलिजाबेथ द्वितीय का पूरा नाम एलिजाबेथ एलेग्जेंड्रा मैरी विंडसर था। इन्हें घर पर प्यार से लिलीबट नाम से पुकारा जाता था। उनकी एक बहन तह जिनका नाम मार्गरेट रोज था और ये उन्हें एक छोटी चुलबुली लड़की, लेकिन बेहद संवेदनशील व सभ्य बताती हैं। किंग जॉर्ज पंचम की मृत्यु के बाद एलिजाबेथ द्वितीय के पिता किंग जॉर्ज षष्टम राजा बने। एलिजाबेथ द्वितीय की शिक्षा महल में ही हुई, उन्हें जानवरों से बेहद प्यार था वे बचपन से ज्यादा समय जानवरों के ही व्यतीत करती थी। विशेषकर वे घोड़ों और कुत्तों से प्रेम करती थीं जो जीवनभर बरकरार रहा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

Queen Elizabeth-II Biography 

नाम एलिजाबेथ द्वितीय (एलिजाबेथ एलेग्जेंड्रा मैरी)
जन्मतिथि21 अप्रैल 1926
मृत्यु08 सितबर 2022
उम्र96 साल
पतिराजकुमार फिलिप माउंटबेटन
नागरिकताब्रिटिश
धर्मइंग्लैंड का कलीसिया (चर्च ऑफ़ इंग्लैंड)
स्कॉटलैंड का कलीसिया
घरानाविंसडर राजघराना

एलिजाबेथ द्वितीय का विवाह व परिवार

एलिजाबेथ और उनके होने वाले पति फिलिप की मुलाक़ात 1934 और 1937 में हुई थी। वे उनके दूर के रिस्तेदार थे। एलिजाबेथ ने बताया कि 13 वर्ष की उम्र में उन्हें फिलिप से प्यार हो गया था और उन्होंने उन्हें प्रेम पात्र लिखना शुरू कर दिया था। वे एक विदेशी जर्मेन नागरिक थे, उन्हीने शाही नौसेना के लिए द्वितीय विश्व युद्ध में हिस्सा भी लिया था। कुछ लोग उनके विदेशी होने उन्हें नापसंद करते थे, एलिजाबेथ की माँ भी उन्हें पसंद नहीं करती थी। लेकिन बाद में उनकी धारणाएं बदल गयीं और वे उन्हें अच्छा मानने लगीं और 20 नवंबर सन 1947 में एलिजाबेथ द्वितीयऔर प्रिंस फिलिप की शादी बड़ी धूमधाम से हो गई।
विवाह से पहले फिलिप ने अपनी यूनानी उपाधियाँ त्याग दी थीं और ग्रीक इसाई से बदलकर एंग्लिकन हो गए थे तथा उनका नाम लेफ्टिनेंट फिलिप माउंटबेटन रख लिया गया था। एलिजाबेथ द्वितीय के 3 पुत्र और 1 पुत्री हैं।

एलिजाबेथ द्वितीय का शासनकाल

एलिज़ाबेथ 1952 में जब इन देशों केन्या, ऑस्ट्रेलिया व न्यूज़ीलैंड की यात्रा पर थीं तब अचानक से उनके पिता की मृत्यु हो गई। जिसके बाद 06 फ़रवरी 1952 को रात में ही उन्हें ब्रिटेन की महारानी घोषित कर दिया गता था और 02 जून 1953 में वेस्टमिंस्टर एबी में एलिज़ाबेथ की विधिविधान से ताजपोशी हुई और वे राष्ट्रकुल की अध्यक्ष व साथ में स्वतंत्र देशों यूनाइटेड किंगडम, ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड, कनाडा, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका व सिलोन की रानी बन गई। इतिहास में पहला ऐसा समारोह था जिसका प्रसारण सीधा टेलीविज़न दूरदर्शन पर किया गया। एलिजाबेथ द्वितीय 2022 में महारानी के रूप में 70 साल पूरे किए। ब्रिटेन की राजगद्दी पर सबसे ज्यादा समय तक राज करने का रिकॉर्ड उन्होंने बनाया है।

सबसे अधिक समय तक जिन्दा रहने वाली महारानी का रिकॉर्ड

एलिजाबेथ द्वितीय ब्रिटेन पर सबसे ज्यड्डा समय तक शासन करने वाली रानी थी। 09 सितम्बर 2015 को उन्होंने अपनी परदादी महारानी विक्टोरिया के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है और ब्रिटेन में सबसे लम्बे समय तक राज करने वाली महारनी बन गई हैं। गिनीज वर्ल्ड ऑफ़ रिकॉर्ड के मुताबिक एलिज़ाबेथ राष्ट्रमंडल समूह के सबसे ज्यादा देशों के सिक्कों में खुद की फोटो वाली महारानी भी हैं।

एलिजाबेथ द्वितीय का द्वित्तीय विश्वयुद्ध के दौरान कार्यकाल

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान लंदन में भरी बमबारी हुई जिसके दौरान एलिजाबेथ और उनकी बहिन को सुरक्षित स्थान बालमोरल कैसल, स्कॉटलैंड में भेजा गया। यहाँ पर वे 1939 के क्रिसमस तक रहीं। इसके बाद उन्हें सैंडहैम हाउस भेज दिया गया। उनकी सुरक्षा की चिंता को लेकर उनका स्थान परिवर्तित करते रहे। मई 1940 तक वे रॉयल लॉज, विंसडर में रहे और बाद में उन्हें विंसडर कैसल भेज दिया गया। जहाँ पर उन्होंने एक लम्बा अरसा बिताया।

यह भी देखेंUnion Budget 2024: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कब पेश करेंगी बजट? डेट, टाइम, कहां लाइव कहाँ देखें?

Union Budget 2024: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कब पेश करेंगी बजट? डेट, टाइम, कहां लाइव कहाँ देखें?

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के ड्रेस कोड की दुनिया दीवानी

  • चमकीले कपड़े, दस्ताने और मैचिंग टोपी का अंदाज उनकी भूमिका के अनुरूप स्व-निर्मित यूनिफार्म स्टाइल था।
  • पोषक निर्माता हार्डी एमीज 1955 से 1990 तक राजशाही के आधिकारिक ड्रेस्माकर रहे। उन्होंने एक बार कहा था कि रानी के लिए कपड़े बनाना आसान काम नहीं है।
  • महारानी एलिज़ाबेथ के कपड़ों को डिजाइन करने का मतलब शाही ड्रेस कोड तैयार करना।
  • महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय गहनों में ब्रोच या मोतियों का हाल पहनना पसंद करती थी
  • छुटियों के दौरान महारानी अपने कपड़ों की शैली को बदलकर अक्सर हेडस्कार्फ, रेनकोट पहने दिखती थी।
  • एलिज़ाबेथ का ड्रेस कोड एक व्यवहारिक था, पर लगता यूँ था कि जैसे वो सार्वजनिक रूप से टोपी और दस्ताने पहन कर पुराणी परम्पराओं को निभाने का प्रयास कर रही हैं।
  • वे हमेशा अपने परिधान से कुछ न कुछ सन्देश देने की कोशिश करती थीं।

एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा लिखी गई पुस्तकें

  • Thirteen Facets: Essays to Celebrate the Silver Jubilee of Queen Elizabeth the Second, 1952-1977 -1978
  • The Queen’s Speech: Conservative Contact Programme September 1970 -1970
    1970
  • A Queen Speaks to Her People: A Complete Record of Her Majesty’s Christmas Messages to the Commonwealth from 1952 to 1976; Also Her Majesty’s Silver Jubilee Address -1977
  • Monarchy: A Series of Papers Delivered to the Temenos Academy Published to Mark the Golden Jubilee of Her Majesty Queen Elizabeth II -2002

एलिजाबेथ द्वितीय से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • एलिजाबेथ द्वितीय कभी भी स्कूल नहीं गई, घर पर ही उन्हें होम टीचर पढ़ाने आया करती थी।
  • एलिजाबेथ द्वितीय अपना जन्मदिन साल में 2 बार मानती थी। उनका जन्मदिन 21 अप्रैल को होता था लेकिन वो ऑफिसियल जन्मदिन 11 जून को मनाती थीं, क्योंकि उस वक्त मौसम बहुत खुशनुमा होता था।
  • महारानी एलिज़ाबेथ का बकिंघम पैलेस में अपना एक प्राइवेट एटीएम था, वो इसे जब चाहे यूज़ कर सकती थी।
  • एलिज़ाबेथ द्वितीय के पास न तो ड्राइविंग लइसेंस था न ही पासपोर्ट था। पर वो पूरी दुनिया घूमती थीं और कार भी ड्राइव करती थी।
  • महारानी की पावर और रुतबे का अंदाज़ आप ऐसे लगा सकते हैं कि दुनिया के किसी भी कोर्ट में उनके खिलाफ कोई भी मुकदमा नहीं चलाया जा सकता था और न ही उन्हें कोई सजा देने का प्रावधान है।

एलिजाबेथ-II से सम्बंधित प्रश्न

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की मृत्यु कब हुई?

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की मृत्यु गुरुवार 8 सितम्बर को हुई।

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की मृत्यु कितने वर्ष में हुई?

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की मृत्यु 96 साल की उम्र में हुआ।

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की मौत कैसे हुई।
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ की प्राकृतिक मृत्यु हुई है, वे बुढ़ापे के चलते बीमार रहने लगी थी तथा उनकी उम्र भी 96 वर्ष हो गयी थी।

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ भारत कब आई थी ?

महारानी एलिज़ाबेथ 21 जनवरी 1961 में भारत आई थी।

ब्रिटेन की पहली महारानी कौन थीं ?

ब्रिटेन की पहली महारानी एलिज़ाबेथ प्रथम थी। इनका जन्म 1533 में हुआ था और मृत्यु 1603 में हुई। यह ब्रिटेन के ट्यूडर राजवंश की पांचवीं और आखरी सम्राट थी।

महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय ने कितने वर्षों तक शासन किया ?

महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय ने 70 सालों तक शासन किया।

महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के कितने बच्चे हैं ?

महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के 4 बच्चे हैं, चार्ल्स, ऐने, प्रिंस एंड्र्यू, प्रिंस एडवर्ड।

यह भी देखेंयोग शिक्षक प्रोफेसर अजय पाल सिंह धनला जीवन परिचय

योग शिक्षक प्रोफेसर अजय पाल सिंह धनला जीवन परिचय

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें