चंडीगढ़ परवरिश योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | Online Form at chdsw.gov

Share on:

चंडीगढ़ परवरिश योजना 2022, चंडीगढ़ के अनाथ बच्चों को ध्यान में रखकर शुरू की गयी है। Chandigarh Parvarish Yojana को जुलाई 2021 में शुरू किया गया था। योजना के माध्यम से उन बच्चों को इस के तहत लाभान्वित किया जाएगा जो कोविड महामारी के चलते अपने माता पिता को खो चुके हैं। ऐसे ही बच्चों को सरकार वित्तीय सहयता प्रदान करेगी। इसमें प्रतिमाह 900 रूपए और साथ ही प्रत्येक बच्चे के नाम पर 3 लाख रूपए की फिक्स्ड डिपॉज़िट किया जाएगा। जिससे उनका भविष्य सुरक्षित रह सके। आज इस लेख में हम आप को Chandigarh Parvarish Yojana के बारे में जानकारी देंगे साथ ही चंडीगढ़ परवरिश योजना 2022 में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया के बारे में बताएंगे। पूरी जानकारी के लिए आप इस लेख को पूरा पढ़ सकते हैं।

जानें क्या है चंडीगढ़ परवरिश योजना

यहाँ जानिये चंडीगढ़ परवरिश योजना

देश विदेश में कोविड महामारी के चलते कितने ही लोगों ने अपनी जान गंवाई है। और ऐसे ही बहुत से बच्चे ऐसे हैं जो कोविड की वजह से माता पिता की मृत्यु के बाद अनाथ हो चुके हैं। इन्ही अनाथ बच्चों के लिए सरकार ने चंडीगढ़ परवरिश योजना में वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया है। सरकार कोविड की वजह से अपनी जान गँवा चुके ऐसे माता पिता के बच्चों को भरण पोषण हेतु मदद करेंगे जिनके पास कोई और अभिभावक नहीं है। इस योजना का लाभ विशेषकर गरीब परिवारों के बच्चों को मिलेगा। योजना का (Chandigarh Parvarish Yojana) का लाभ प्राप्त करने हेतु सभी पात्र आवेदकों को ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करना होगा। इस योजना के अंतर्गत आवेदन प्राप्त होने के बाद एसडीओ के माध्यम से उसकी स्वीकृति दी जाएगी। 

Chandigarh Parvarish Yojana के तहत शामिल बच्चों की श्रेणियां

चंडीगढ़ परवरिश योजना के अंतर्गत गरीब बच्चों को लाभन्वित किया जाएगा। इसके लिए सरकार द्वारा कुछ श्रेणियां / केटेगरी निर्धारित की हैं। इन केटेगरी में आने वाले बच्चों को इस योजना के जरिये आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी और साथ ही उन्हें बेहतर भविष्य हेतु भी उनके पालन पोषण का जिम्मा उठाया जाएगा। ये श्रेणियां मुख्य रूप से 4 प्रकार की हैं। आइये अब समझते हैं इन श्रेणियों के बारे में –

  • पहली श्रेणी में वो अनाथ बच्चे आते हैं जो कोविड के चलते अपने माता पिता में से किसी एक को खो दिया है और जीवित माता-पिता ने बच्चे को सरेंडर कर दिया है ।
  • दूसरी श्रेणी में उन अनाथ बच्चों को लिया गया है जिन्होंने अपने माता पिता को कोविड की वजह से खो दिया है और अब विस्तारित परिवार या अभिभावकों (रिश्तेदारों ) के साथ रह रहे हैं।
  • तीसरी श्रेणी है उन बच्चों की जिन्होंने अपने माता पिता में से एक को खो दिया है और अब जीवित माता या पिता के साथ विस्तारित परिवार के साथ रह रहे हैं।
  • चौथी श्रेणी है उन बच्चों की जो स्वयं कोविड पॉजिटिव हैं।

Highlights Of Chandigarh Parvarish Yojana

आर्टिकल का नाम चंडीगढ़ परवरिश योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन |
राज्य का नामचंडीगढ़
संबंधित विभाग समाज कल्याण विभाग, चंडीगढ़
उद्देश्य अपने माता पिता को कोविड के दौरान खो चुके बच्चों को वित्तीय सहायता व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराना।
लाभार्थी कोविड में माता पिता को खो चुके गरीब अनाथ बच्चे
वर्तमान वर्ष 2022
आवेदन मोड ऑफलाइन / ऑनलाइन
योजना सम्बन्धी आधिकारिक पीडीएफ योजना सम्बन्धी आधिकारिक पीडीएफ
अधिकारिक वेबसाइट चंडीगढ़ परवरिश योजना की आधिकारिक वेबसाइट / समाज कल्याण विभाग आधिकारिक वेबसाइट

Chandigarh Parvarish Yojana 2022 में मिलने वाले वित्तीय लाभ

जिन बच्चों ने अपने माता पिता को कोविड में खोया है उनके भरण पोषण हेतु सरकार ने कुछ वित्तीय सहायता प्रदान करने की घोषणा है। जिसे आप आगे पढ़ सकते हैं –

परवरिश योजना चंडीगढ़ के अंतर्गत सभी पात्रता रखने वाले अनाथ बच्चों को हर महीने 900 रूपए व 1000 रूपए की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इससे उनकी जिंदगी थोड़ी आसान हो सकेगी। इसके अतिरिक्त चंडीगढ़ सरकार द्वारा योजना का लाभ ले रहे प्रत्येक बच्चे के नाम पर तीन लाख रूपए (3 लाख रूपए) की धनराशि को फिक्स्ड डिपाजिट (एफडी) भी करवाया जाएगा। इस धनराशि को लाभार्थी द्वारा 21 साल की आयु होने पर ही निकाला जा सकेगा।

इसके साथ ही चंडीगढ़ सरकार द्वारा सभी लाभार्थी बच्चों की शिक्षा, पालन पोषण और चिकित्सा सम्बन्धी खर्च, समाज कल्याण विभाग द्वारा वहन किया जाएगा। इसके लिए आवश्यक है कि सभी पात्रता रखने वाले बच्चे का आवेदन होना चाहिये। स्वीकृति मिलने के बाद जिला बाल संरक्षण इकाई के निदेशक द्वारा सीडीपीओ से लाभार्थी का खता संख्या आदि प्राप्त करने के बाद सहयता राशि उनके खाते में पहुंचाएंगे।

चंडीगढ़ परवरिश योजना का उद्देश्य

केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ ने Parvarish Yojana की शुरुआत उन अनाथ बच्चों के लिए की है जो की कोरोना माहामारी के चलते अनाथ हो चुके हैं और जिनके पास भरण पोषण और मूलभूत जरूरतो के लिए किसी प्रकार का साधन उपलब्ध नहीं है। इस योजना के माध्यम से यूटी के ऐसे सभी अनाथ बच्चों को वित्तीय मदद दी जाएगी। और उनके भरण पोषण का ध्यान सरकार द्वारा रखा जाएगा। उनके शिक्षा से लेकर अन्य महत्वपूर्ण खर्चों का वहन भी सरकार ही करेगी जिससे उनका सर्वांगीण विकास संभव हो सके। इसका सञ्चालन समाज कल्याण विभाग द्वारा किया जा रहा है।

योजना के जरिये सभी गरीब लाभार्थी बच्चों को उनके पालन पोषण के साथ साथ हर महीने भत्ता भी प्रदान किया जाएगा। साथ ही ऐसे जरूरतमंद बच्चों को जिनके पास रहने के लिए सुरक्षित जगह नहीं है, उन्हें विभिन्न संस्थाओं में भर्ती करवाया जाएगा, जिससे उन्हें भी सर के ऊपर छत मिल जाए।

Chandigarh Parvarish Yojana की पात्रता

केन्द्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ द्वारा चलाई गयी योजना – चंडीगढ़ परवरिश योजना के अंतर्गत लाभ देने हेतु कुछ पात्रता शर्तों को निर्धारित किया गया है। जो भी आवेदक इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हें इन पात्रता मानदंडों पर खरा उतरना होगा, जिस के बाद ही वो आवेदन कर पाएंगे। आइये जानते हैं क्या है पात्रता इस योजना में आवेदन करने हेतु –

  • Chandigarh Parvarish Yojana में वो बच्चे आवेदन करने के पात्र होंगे जिनकी उम्र 18 वर्ष से कम है।
  • परवरिश योजना के अंतर्गत लाभ उठाने वाले सभी आवेदक चंडीगढ़ के मूल निवासी होने चाहिए।
  • योजना में उन बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा जिनके माता पिता, या दोनों में से किसी एक की कोरोना वायरस की वजह से मृत्यु हो गयी हो।
  • वो बच्चे जो गरीब परिवार से आते हैं (जिनका बीपीएल कार्ड है ) उन्हें ही इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • योजना में उन बच्चों को भी वित्त्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जो स्वयं कोविड के शिकार हों या वो एड्स, कुष्ट रोग जैसे बीमारियों से ग्रस्त हों। ।
  • चंडीगढ़ परवरिश योजना के अंतर्गत उन परिवारों के बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय 60 हजार रूपए से कम हो।
  • एड्स रोग से ग्रस्त बच्चे को इसका लाभ मिलेगा, भले ही उसके परिवार का बीपीएल कार्ड न हो या वार्षिक आय 60 हजार से ऊपर ही क्यों न हो ।
  • एड्स व कुष्ठ रोग के चलते 40 % प्रतिशत तक की विकलांगता के शिकार माता पिता की संतानें भी इस योजना का लाभ ले सकेंगी।
  • इसके अतिरिक्त जो बच्चे माता पिता के न होने से अब रिश्तेदारों के साथ रह रहे हैं उन्हें भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा

इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए आप लेख में दिए गए अधिकारिक पीडीएफ के लिंक पर क्लिक करके सभी पात्रता व अन्य महत्वपूर्ण बातें पढ़ सकते हैं।

चंडीगढ़ परवरिश योजना में आवश्यक दस्तावेज

यदि कोई पात्रता रखने वाला आवेदक इस परवरिश योजना में आवेदन करने का इच्छुक है तो उसे आवेदन हेतु कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। इन सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों की सूची हम आप को आगे दे रहे हैं। आप आवेदन पूर्व इन्हे तैयार कर सकते हैं –

  • आवेदक बच्चे का आधार कार्ड
  • माता- पिता के कोविड से मृत्यु का प्रमाण पत्र
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड (बीपीएल)
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट नंबर

Chandigarh Parvarish Yojana Registration / चंडीगढ़ परवरिश योजना आवेदन 

यदि कोई आवेदक चंडीगढ़ परवरिश योजना में आवेदन करना चाहता है तो उसे सबसे पहले आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा। इससे भरने के बाद ही संबंधित व्यक्ति को इसका लाभ प्राप्त होगा। आइए अब जानते हैं कि आवेदक कैसे चंडीगढ़ परवरिश योजना में आवेदन कर सकते हैं ?

  1. सबसे पहले आवेदक को परवरिश योजना के अंतर्गत निर्धारित की गयी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. वेबसाइट के होम पेज पर पहुंचकर आप को Chandigarh Parvarish Yojana Application Form PDF (Online Form at chdsw.gov) डाउनलोड करना होगा।
  3. इस के अतिरिक्त आप योजना का निशुल्क आवेदन पत्र जिला बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक या सीडीपीओ कार्यालय से भी प्राप्त कर सकते हैं।
  4. आवेदन प्राप्त करने के बाद आप को इसमें पूछी गयी सभी जानकारियों को दर्ज करना होगा।
  5. सभी जानकारियों को भरने के साथ ही आप को सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को भी आवेदन फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  6. इसके बाद आप सभी दस्तावेजों की प्रतियों के साथ आवेदन पत्र को आंगनबाड़ी सेविका के पास जमा करा सकते हैं।
  7. इसके अतिरिक्त आप सीडीपीओ कार्यालय में भी इसे जमा करा सकते हैं।
  8. इस प्रकार से आप की चंडीगढ़ परवरिश योजना आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

उम्मीदवार द्वारा आवेदन की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अगले 15 दिनों के भीतर आंगनबाड़ी सेविका द्वारा आवेदन पत्र को सीडीपीओ कार्यालय में जमा कराएगी। इस कार्य के लिए उन्हें प्रत्येक फॉर्म के लिए 50 रूपए की राशि प्रदान की जाती है। इसके बाद सीडीपीओ कार्यालय अगले सात 7 दिनों के भीतर इस आवेदन पत्र को एसडीओ के कार्यालय में आगे बढ़ाएंगे। जिसके बाद एसडीओ द्वारा ही स्वीकृति का आदेश पारित होगा। एसडीओ से स्वीकृति प्राप्त होने के बाद जिला बाल संरक्षण इकाई में प्राप्त होने वाली सहायता राशि सबंधित व्यक्ति के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

परवरिश योजना, चंडीगढ़ से संबंधित प्रश्न उत्तर

Chandigarh Parvarish Yojana क्या है ?

चंडीगढ़ परवरिश योजना चंडीगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गयी योजना है जिसे कोविद के कारन अपने माता पिता को खोने वाले अनाथ बच्चों के लिए शुरू की गयी है।

चंडीगढ़ परवरिश योजना का संचालन कौन कर रहा है ?

इस योजना का संचालन समाज कल्याण विभाग, चंडीगढ़ द्वारा किया जा रहा है।

Chandigarh Parvarish Yojana Application Form PDF कहाँ से प्राप्त करें ?

चंडीगढ़ परवरिश योजना का आवेदन पत्र आप आधिकारिक वेबसाइट (Online Form at chdsw.gov) के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका से भी इस फॉर्म को प्राप्त कर सकते हैं।

चंडीगढ़ परवरिश योजना का लाभ लेने के लिए कौन कौन से महत्वपूर्ण दस्तावेज चहिये ?

आवेदक बच्चे का आधार कार्ड, माता- पिता के कोविड से मृत्यु का प्रमाण पत्र, स्थायी निवास प्रमाण पत्र, बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र, राशन कार्ड (बीपीएल), मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो, बैंक अकाउंट नंबर आदि दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

Chandigarh Parvarish Yojana के तहत लाभ लेने हेतु बच्चों की कुल कितनी श्रेणियां बनाई गयी हैं ?

परवरिश योजना के तहत बच्चों को लाभ प्रदान करने के लिए कुल 4 श्रेणियां बनाई गयी हैं। अधिक जानने के लिए आप इस लेख को पढ़ सकते हैं।

आज इस लेख के माध्यम से आज हमने आप को चंडीगढ़ परवरिश योजना के बारे में जानकारी दी है। आशा है आप को ये जानकारी पसंद आयी होगी। यदि आप ऐसे ही अन्य उपयोगी योजनाओं और अन्य सबंधित जानकारी के बारे में पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट Hindi NVSHQ से जुड़ सकते हैं।

Leave a Comment