सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए ? Credit Score Kaise Badhaye? सिबिल स्कोर बढ़ाने के तरीके

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए:- दोस्तों आप जब अपने जीवन में कुछ नया करने या कुछ भी नया सामान खरीदने तथा कुछ नया बनाने की सोचते है तो आप सबसे पहले लोन के विषय में ही सोचते है कि इन सब चीज़ों के लिए तो लोन की जरूरत पड़ेगी यह आपके मन में ख्याल आता है। ... Read more

Photo of author

Reported by Dhruv Gotra

Published on

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए:- दोस्तों आप जब अपने जीवन में कुछ नया करने या कुछ भी नया सामान खरीदने तथा कुछ नया बनाने की सोचते है तो आप सबसे पहले लोन के विषय में ही सोचते है कि इन सब चीज़ों के लिए तो लोन की जरूरत पड़ेगी यह आपके मन में ख्याल आता है। जब आप किसी बैंक से लोन लेने की मांग करते है तो सबसे पहले आपका सिबिल स्कोर देखा जाता है जिसे हम क्रेडिट स्कोर भी कहते है बैंक से लोन लेने में CIBIL SCORE का बहुत महत्व होता है।जब आपका सिबिल स्कोर अच्छा या ठीक होता है तभी आपको बैंक द्वारा लोन प्रदान किया जाता है। दुनिया में कोई भी व्यक्ति हो उसे बैंक द्वारा लोन लें का ऑफर तब दिया जाता है जब आपका क्रेडिट स्कोर (सिबिल स्कोर) उत्तम हो। यदि उस व्यक्ति का CIBIL SCORE नहीं होगा।

तो उसे कई समस्यांए झेलनी पड़ती है तथा बैंक द्वारा उसे लोन नहीं प्रदान किया। इसके लिए आपका सिबिल स्कोर अच्छा होना चाहिए। दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल में सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए ? Credit Score Kaise Badhaye? सिबिल स्कोर बढ़ाने के तरीके के विषय में आपके साथ जानकारी साझा करेंगे।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए ? Credit Score Kaise Badhaye? सिबिल स्कोर बढ़ाने के तरीके
सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए ? Credit Score Kaise Badhaye?

सिबिल स्कोर क्या है?

दोस्तों क्रेडिट कार्ड को ही हम सिबिल स्कोर कहते है क्रेडिट कार्ड के अनुसार ही बैंक द्वारा व्यक्ति को लोन मिलता है इसका लोन लेने में बहुत ही महत्व होता है सिबिल स्कोर अच्छे होने के कारण ही आपको लोन दिया जाता है। क्रेडिट स्कोर या CIBIL SCORE को वित्तीय साख भी कहते है। क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर ऐसी संख्या है जिसमे 3 अंक होते है और वो 300 से 900 के बीच ही होती है। अब आप सोच रहे होंगे की यह संख्या कौन बनता है? तो दोस्तों आपको बता दे कि इन अंकों को सिबिल नाम की कंपनी बनती है। किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर इस कंपनी द्वारा ही तय किया जाता है।

क्रेडिट स्कोर अच्छा होने पर आपको बैंक से आसानी से लोन मिल जाता है। इसलिए आपको necessary होना चाहिए की आपका सिबिल स्कोर हमेशा अच्छा ही बना रहे। CIBIL का पूरा नाम- Credit Information Bureau (India) Limited है। तथा सिबिल कंपनी का पूरा नाम ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

CIBIL कंपनी क्या है?

सिबिल कंपनी द्वारा ही व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर तय किया जाता है CIBIL एक ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड एजेंसी है इसकी शुरूआत वर्ष 2002 में की गयी है। किसी भी व्यक्ति को लोन दिया जाये या ना दिया जाये सब इस कंपनी के माध्यम से ही तय (सेटल) किया जाता है। सिबिल कंपनी के माध्यम से ही क्रेडिट कार्ड द्वारा जो भी भुगतान किया जाता है वह उससे जुड़ा हुआ होता है।क्रेडिट इनफार्मेशन कंपनी भारत की पहली ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड है। इसे ब्यूरो भी कहा जाता है।

इंदिरा गांधी प्यारी बहना सम्मान योजना में सरकार दे रही महिलाओं को 1500 रुपये, ऐसे करना होगा आवेदन

इंदिरा गांधी प्यारी बहना सम्मान योजना में सरकार दे रही महिलाओं को 1500 रुपये, ऐसे करना होगा आवेदन

यह भी पढ़े :- महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प :

CIBIL SCORE की क्या RANGE होनी चाहिए

CIBIL SCORE की RANGE 300 से 900 के बीच होनी चाहिए। सबसे कम सिबिल स्कोर 300 होता है तथा सबसे ज्यादा सिबिल स्कोर 700 होता है। सिबिल रेंज घटते बढ़ते रहते है। हम आपको सिबिल रेंज के विषय में बताएँगे।

  • CIBIL SCORE 750 से 900 के बीच- यह स्कोर सबसे अच्छा स्कोर माना जाता है जिन व्यक्तियों ने परफेक्ट फाइनेंसियल ट्रैक रिकॉर्ड मेन्टेन किया रहता है उनका जो सिबिल स्कोर होता है वह इस वाली रेंज में आते है। इस स्कोर रेंज में आपको बैंक से लोन आसानी से तथा अधिक राशि पर मिल जाता है। मतलब आपके पास एक अच्छी क्रेडिट या सिबिल हिस्ट्री है इसके अंतर्गत आपको पर्सनल लोन तथा होम लोन आसानी से मिलता है। इसका एक अर्थ यह भी होता है कि आपने पहला का लिया हुआ लोन क्रेडिट को टाइम पर चुका लिया है।
  • CIBIL SCORE 600 से 750 के बीच- यदि आपका CIBIL SCORE 600 से 750 के बीच है तो ये स्कोर भी काफी ठीक स्कोर माना जाता है इस स्कोर में आपको बैंक द्वारा लोन ऑफर किये जाते है। आप बैंक से लोन आसानी से निकल सकते है।
  • CIBIL SCORE 450 से 600 के बीच- इस स्कोर को हम न अधिक अच्छा कह सकते है और ना कम कह सकते है यह जो स्कोर है वह ठीक-ठाक की श्रेणी में आता है। यह स्कोर रहने पर कोई-कोई बैंक ही आपको लोन देती है।
  • CIBIL SCORE 300 से 450 के बीच- आपका यह स्कोर रहने का मतलब है की आपने अपने क्रेडिट लोन या कोई अन्य क़िस्त को चुकाने में गलती की है। यह जो स्कोर है वो अधिक ठीक नहीं माना जाता है। आपका जितना भी पुराना लोन बचा है उसको आपको जल्दी चुकाना होगा तभी जाके आपका सिबिल स्कोर ठीक होगा।
  • CIBIL SCORE 300 से नीचे- अगर आपका यह स्कोर है तो इसे बहुत ज्यादा बेकार स्कोर कहा जाता है यदि आपका आजकल यह सिबिल स्कोर चल रहा है और आप बैंक से लोन लेने की सोच रहे है तो आपको बता दे की आपका यह स्कोर देख के बैंक आपको बिल्कुल लोन नहीं देगा। आपको अपने स्कोर में सुधार करना होगा।

सिबिल स्कोर में विभिन्न प्रकार के लोन

LOANCIBIL SCORE
पर्सनल लोन700 से अधिक
कार लोन700 अधिक
बिजनेस लोन700 अधिक
होम लोन650 से अधिक
गोल्ड लोनआवश्यक नहीं
लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी650 से अधिक

सिबिल स्कोर को 900 तक कैसे करें

सिबिल स्कोर को 900 तक बढ़ाने के नीचे उपाय दिया हुए है-

  • यदि आपने कोई बैंक से कोई लोन लिया है तो उसके आलावा कोई दूसरा लोन ना ले।
  • क्रेडिट कार्ड का कर समय use करें आवश्यकता पड़ने पर ही उपयोग में लाएं।
  • आप अपना सिबिल स्कोर हमेशा अच्छा चाहते है तो आपको हमेशा अपने लिए गए लोन की क़िस्त समय पर जमा करनी होगी जिससे आपके सिबिल स्कोर पर बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा।
  • कई बार क्रेडिट स्कोर में गलतियां भी हो जाती है आप उन गलतियों से बचे।
  • आपको अपने क्रेडिट स्कोर का 30% से अधिक उपयोग नहीं करना चाहिए।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए

सिबिल स्कोर बढ़ने के निम्न लिखित उपाय-

  • आपकी जो क्रेडिट कार्ड की बाकि राशि है उसे आप टाइम पर जमा कराते रहे।
  • जो आपने लोन या ऋण पहले से लिया है उस राशि का भुगतान आप जल्दी करें।
  • एक यह भी कारण है की सिबिल स्कोर कम हो जाता है क्योंकि कई बार आपके सिबिल स्कोर में एरर आ जाता है जिसकी वजह से आपका सिबिल स्कोर डाउन चला जाता है इसलिए समय-समय पर अपने सिबिल स्कोर एरर की भी जाँच करते रहे।
  • कई बार आपके क्रेडिट स्कोर में गलतियां भी हो जाती है जिसके कारण वह सिबिल स्कोर कम कर देता है।
  • क्रेडिट कार्ड या व्यक्तिगत ऋण के असुरक्षित लोन होते है उनसे बचे उन लोनों को आप कम ही ले।
  • कभी भी आप अपने सिबिल स्कोर को कम न होने दे।
  • क्रेडिट कार्ड स्कोर की जाँच आपको प्रति वर्ष करनी चाहिए।
  • आप बिना काम के लोन न ले जब कोई बड़ा काम करना है तभी लोन निकाले।
  • अपने क्रेडिट कार्ड के क़िस्त का भुगतान समय पर करें तथा EMI का भुगतान भी समय पर करें।

सिबिल स्कोर चेक करने की प्रक्रिया

दोस्तों यदि आप बैंक से चाहते है तो आपको सिबिल स्कोर की जानकारी पता होनी बहुत जरुरी है। बैंक में लोन अप्लाई करने से पहले आप अपना सिबिल स्कोर चेक कर ले की आपका 750 सिबिल स्कोर से अधिक होना चाहिए। नीचे सिबिल स्कोर पता करने की प्रक्रिया बताई गयी है-

  • सिबिल स्कोर ज्ञात करने के लिए सबसे पहले आपको ऑनलाइन सिबिल स्कोर की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। cibil score check online
  • ऊपर दिए हुए लिंक पर आपको क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के तुरंत ही आपके सामने नया होम पेज खुलकर आ जायेगा अब यहां पर आपकी कुछ डिटेल्स मांगी गयी है जैसे- नाम, पता, मोबाइल नम्बर तथा पैन कार्ड आदि की जानकारी भरें। process to check cibil score
  • अब आपको ये जानकारी सही से भर देनी है उसके बाद लोन और क्रेडिट कार्ड के सम्बन्ध में कुछ सवाल-जवाब पूछे जायेंगे।
  • जो भी जानकारी अभी तक आपसे पूछी गयी है उनके आधार पर आपके CIBIL SCORE को गणना की जाएगी तथा इस बेस पर ही क्रेडिट रिपोर्ट भी तय की जाएगी कि क्या होगी।
  • इस प्रकार सभी डिटेल्स भरने के बाद आपको अपने सिबिल या क्रेडिट स्कोर के बारे में पता चल जायेगा।

सिबिल रिपोर्ट कैसे मंगवाएं

जब तक आपके पास सिबिल रिपोर्ट नहीं होगी तब तक आप अपना सिबिल स्कोर स्वयं या किसी और को नहीं दिखा सकते है। आपके पास सिबिल रिपोर्ट अवश्य होनी चाहिए। आपको सबसे पहले सिबिल रिपोर्ट की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन फॉर्म को अप्लाई करना होगा। आवेदन प्रक्रिया ऊपर बताई हुई है। अब आपको 550 रूपए का भुगतान भी देना होगा। रिपोर्ट आने से पहले ऑथेंटिकेशन प्रोसेस होगी जिसके बाद आप अपना सिबिल रिपोर्ट डाउनलोड कर सकते है।

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाए? से सम्बंधित प्रश्न/उत्तर

सिबिल स्कोर क्या है?
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

दोस्तों क्रेडिट कार्ड को ही हम सिबिल स्कोर कहते है क्रेडिट कार्ड के अनुसार ही बैंक द्वारा व्यक्ति को लोन मिलता है इसका लोन लेने में बहुत ही महत्व होता है सिबिल स्कोर अच्छे होने के कारण ही आपको लोन दिया जाता है।

CIBIL की पूरी फुल फॉर्म क्या है?

Credit Information Bureau (India) Limited CIBIL की पूरी फुल फॉर्म है।

CIBIL कंपनी की शुरुवात कब की गयी थी?

CIBIL की शुरूआत वर्ष 2002 में की गयी है।

सिबिल स्कोर को और क्या कहा जाता है एक व्यक्ति का सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए?

क्रेडिट स्कोर या CIBIL SCORE को वित्तीय साख भी कहते है। क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर ऐसी संख्या है जिसमे 3 अंक होते है और वो 300 से 900 के बीच ही होती है। अब आप सोच रहे होंगे की यह संख्या कौन बनता है? तो दोस्तों आपको बता दे कि इन अंकों को सिबिल नाम की कंपनी बनती है। किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर इस कंपनी द्वारा ही तय किया जाता है।

सिबिल स्कोर बढ़ाने के दो लाभ बताईये।

क्रेडिट कार्ड या व्यक्तिगत ऋण के असुरक्षित लोन होते है उनसे बचे उन लोनों को आप कम ही ले।
जो आपने लोन या ऋण पहले से लिया है उस राशि का भुगतान आप जल्दी करें

सिबिल स्कोर चेक करने की ऑफिसियल वेबसाइट क्या है?

सिबिल स्कोर चेक करने की ऑफिसियल वेबसाइट ये है।

Khatu Shyam Ji Darshan Registration Online Booking at shrishyamdarshan.in

Khatu Shyam Ji Darshan Registration 2023 Online Booking at shrishyamdarshan.in

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें