मदर्स डे पर निबंध: मातृ दिवस पर निबंध – Mother’s Day Essay in Hindi

मदर्स डे पर निबंध:- जब भी हम पर कोई परेशानी या मुसीबत या ये कहे की जब हमें कोई चोट लगती है तो हमारे मुंह से दर्द में माँ का ही नाम निकलता है क्योंकि माँ का स्थान हमारे ह्रदय में बसा हुआ है। ऐसा कोई कठोर दिल वाला ही होगा जिसके ह्रदय में माँ शब्द नहीं। दोस्तों आपको बता दे की छोटे बच्चे हो या बड़े बच्चे माँ के बिना कोई नहीं जी सकता है हम कितने भी बड़े हो जाये परन्तु हमारी हर जरूरत का ख्याल रखती है माँ। दोस्तों जन्म नाम सुन कर हम यह सोचते है की किसी को जन्म देना बड़ा आसान है परन्तु आपको बता दे की जब माँ हमको जन्म देती है तो माँ को कितना दर्द सहन करना पड़ता है वो दर्द बहुत खतरनाक होता है। माँ ही हमें पाल-पोश कर बड़ा करती है हमारी हर चीज़ का ध्यान रखती है।

यह भी देखें: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर भाषण

मदर्स डे पर निबंध – मातृ दिवस पर निबंध – Mother Day Essay in Hindi
मदर्स डे पर निबंध – मातृ दिवस पर निबंध

इस दुनिया में माँ के जीवन को ही सबसे बड़ा दर्जा प्राप्त है। माँ ही हमारे जीवन का मार्गदर्शक होती है जो हमारा हर समय में सही मार्गदर्शन करती है। हमारे सुख में माँ हमेशा होती है परन्तु दुःख में भी हमारे साथ अंत तक खड़ी रहती है। आपको बता दे माँ द्वारा ही बच्चे को पहली शिक्षा दी जाती है उसके बाद ही हम विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने जाते है। माँ की हम जितनी भी तारीफ करें उतनी कम है क्योंकि माँ कामों को हम अपने शब्दों में बयां नहीं कर सकते क्योंकि माँ है ही इतनी महान की जितनी भी प्रशंसा करें उतना कम है। माँ की इन सब यादों को तरोताजा करने के लिए हर साल मातृ दिवस मनाया जाता है। दोस्तों आज हम आपको इस निबंध में मदर्स डे पर निबंध – मातृ दिवस पर निबंध – Mother’s Day Essay in Hindi के विषय में जानकारी देंगे।

मातृ दिवस क्या है?

मदर्स डे हर बच्चे के लिए स्पेशल होता है वह इस दिन बहुत खुश होते है। हमारा सारा जीवन माँ के जीवन पर टिका हुआ है हमें जो भी उँचाई प्राप्त होती है उसके पीछे माँ का हाथ होता है। ये दिन हर दुनिया की हर माँ और बच्चे के लिए बहुत स्पेशल दिन है। जन्म से लेकर हमारे पालन-पोषण में कोई कमी नहीं होने देती माँ चाहे वह स्वयं न खाये परन्तु अपने बच्चे को कभी भूखा नहीं सोने देती। बच्चे को दुःख होता है पर उसके लिए रोती है माँ।

मदर्स डे जो दिन होता है वह माँ के लिए बड़ा खास दिन होता है बच्चों द्वारा माँ को धन्यवाद दिया जाता है तथा बच्चे अपनी माँ को बहुत प्यार करते है। दुनिया की हर एक माँ को मातृ दिवस Dedicated (समर्पित) क्या जाता है। माँ को थैंक यू कहा जाता है की आपकी वजह से हम इस दुनिया में आये। एक माँ के लिए यह दिन बहुत ज्यादा सम्मान जनक होता है। दुनिया में ऐसा शख्स है जो हमें पढ़ना-लिखना, चलना-बोलना सिखाती है वह है माँ।

माँ के अहसानों को हम कभी भी नहीं भुला या चूका सकते परन्तु माँ के प्यार को जताने के लिए मातृ दिवस मनाते है। इस दिन शिक्षकों द्वारा स्कूल में बच्चों के माता-पिता को बुलाया जाता है और धूम-धाम से उनका अभिनंदन किया जाता है तथा कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिसमें प्रत्येक बच्चे द्वारा अलग-अलग प्रस्तुति दी जाती है बच्चे अपनी माँ को प्यार दर्शाने के लिए कवितायेँ, गाने तथा नाटक, नृत्य करते है। मदर्स डे के दिन अपनी माँ को गिफ्ट देते है ताकि हमारी माँ हमेशा हमें इस तरह खुश रहे तथा हमें प्यार करें।

महात्मा गांधी Essay | Mahatma Gandhi

Mother’s Day क्यों मनाया जाता है?

मातृ दिवस क्यों मनाया जाता है ये तो किसको नहीं होगा पता पर फिर भी आपको हम बता देते है। माँ के साथ हमारा कितना गहरा रिश्ता है ये आप सब जानते है हमारा माँ से खून का रिश्ता तो है ही पर हमारे ज़िन्दगी में हमारा हमेशा साथ देना ये सब भी महत्त्वपूर्ण है। माँ अपने गर्भ में हमको पुरे 9 महीने तक पालती है तथा कितना भी कष्ट होता है वो हमारा ख्याल रखती है की है की मेरे बच्चे को कोई नुकसान न हो। जो भी माँ खाना खाती है वो ही हम खाते है हम स्वस्थ रहे इसके लिए माँ अच्छा-अच्छा पोषण करती है।

दर्द को सहन कर हमें जन्म देती है तथा उसके बाद हमारा अच्छे से ध्यान रखती है हमारी हर इच्छा को पूरा करती है। बच्चे को चलना, बोलना, पढ़ना तथा लिखना सर्व प्रथम माँ द्वारा ही सिखाया जाता है उसके बाद ही बच्चे को दुनिया का ज्ञान प्राप्त होता है। हम जितनी बार गिरे उतनी बार हमें उठती है माँ। हर दुःख-सुख में हमारा साथ कभी नहीं छोड़ती माँ। कोई भी माँ अपने बच्चे का बुरा कभी नहीं चाहती बल्कि माँ तो भगवान से हमेशा प्रार्थना करती है की मेरा बच्चा हमेशा आगे बड़े और हमेशा स्वस्थ रहे।

माँ के बलिदान और अहसान को हम कभी भी नहीं चुका या शब्दों में बया नहीं कर सकते। माँ के इस महत्व को और ज्यादा बढ़ने के लिए मदर डे मनाया जाता है। माँ के प्यार को और बढ़ाने के लिए दुनिया में करोड़ों लोगों द्वारा मदर डे मनाया जाता है।

Mother’s Day पर माँ को बच्चों द्वारा गिफ्ट देना

किसी भी माँ के लिए अपने बच्चे के स्वस्थ स्वास्थ्य तथा ख़ुशी से बढ़कर दुनिया में कोई और गिफ्ट नहीं है माँ इसी में बहुत खुश है। माँ हमारे ख़ुशी के लिए कितना कुछ करती है फिर भी हम वो सब भूल जाते है माँ अपने अहसानों का कभी भी बखान नहीं करती है। माँ के लिए तो एक ही दिन आता है मदर डे परन्तु हम बच्चों का ध्यान रखने का दिन तो माँ का हर दिन हमेशा ही रहता है। इतना कुछ करती है हमारी माँ तो हमें उनके लिए भी कुछ-न-कुछ सप्राइज़ तो करना ही चाहिए।

हम उस दिन माँ के साथ घर का काम करने में मदद कर सकते है अपनी माँ को आराम करने के लिए कह सकते है। पुरे परिवार के साथ बैठ कर इस दिन को सेलिब्रेट कर सकते है। अपनी माँ को कुछ नया बना कर खिला सकते है माँ को कोई अच्छी सी जगह ले जा सकते है। माँ के लिए कोई अच्छा सा गिफ्ट ला सकते है। उनके लिए मदर डे का कार्ड बना सकते है। इन सब के अलावा हमेशा अपनी माँ की सेवा करनी चाहिए जिससे वे हमेशा हर पल खुश रहे उनका हमेशा सम्मान करना चाहिए इससे बड़ा उपहार माँ के लिए कुछ भी नहीं है।

मातृ दिवस कब मनाया जाता है?

दोस्तों आपको बता दे मदर डे इस साल 14 मई को मनाया जायेगा। मातृ दिवस जो मनाया जाता है ये दिवस हमेशा मई माह के दूसरे हफ्ते Sunday (रविवार) के दिन आता है जिसे पूरी दुनिया में समारोह के तौर पर बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है।

मातृ दिवस का क्या इतिहास है?

मदर डे पहली बार वर्ष 1914 में अपनी माँ को सम्मान देने और उनके प्यार का सबसे ऊँचा दर्जा देने के लिए मातृ दिवस मनाने की शुरुवात अमेरिकी कार्यकर्ता अन्ना जार्विस द्वारा की गयी थी मतलब मदर डे की जो शुरुवात है वह UK द्वारा की गयी मानी जाती है। दुनिया में लगभग 46 देशों में लोगों द्वारा मातृ दिवस बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है यह दिवस हर माँ के लिए बड़ा खास दिवस होता है। माँ के समर्पण, समर्थन तथा हमारे लिए किये गए हर बलिदान का महत्व और माँ को सम्मान देने के लिए दुनिया के करोड़ों लोगों द्वारा यह दिवस मनाया जाता है।

Photo of author

Leave a Comment