Gap Certificate: गैप सर्टिफिकेट क्या होता है, कैसे बनवाएं

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

कई बार हमारे जीवन में कई ऐसी समस्या आती है जिसके कारण हमें अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ना पड़ता है अर्थात एक वर्ष अथवा कुछ वर्षों का गैप लेना पड़ता है। यदि आप अपनी पढ़ाई को दुबारा से शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास Gap Certificate होना आवश्यक है। जब आप स्कूल या फिर कॉलेज में एडमिशन लेंगे तो आपको यह सर्टिफिकेट दिखाना होता है उसके पश्चात ही आप अपनी क्लास में एडमिशन लेकर पढ़ाई कर सकते हैं। गैप सर्टिफकेट में आपके शिक्षा छोड़ने का कारण दर्ज होता है की आपने किस वजह से अपनी पढ़ाई को आधा छोड़ दिया है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से गैप सर्टिफिकेट क्या होता है?, इस किस प्रकार से बनवाएं, बनवाने की आवेदन प्रक्रिया क्या है? सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है? से सम्बंधित जानकारी देने वाले हैं अतः जो नागरिक इस सर्टिफिकेट को बनाना चाहते हैं वे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

गैप सर्टिफिकेट क्या होता है? (What is a gap certificate)

गैप सर्टिफिकेट एक तरह का प्रमाण पत्र, शपथ पत्र अथवा हलफनामा होता है जो की आपके गैप अवधि का कारण बताता है। कई बार छात्रों को पढ़ाई के बीच में कुछ कारणवश कुछ अवधि के लिए गैप लेना पड़ सकता है या एक अथवा दो साल का भी हो सकता है। इसके पश्चात फिर से आप अपनी पढ़ाई को जारी रखना चाहते हैं तो आपको स्कूल अथवा कॉलेज में एडमिशन लेना होता है जिसमें आपसे गैप सर्टिफिकेट माँगा जाता है, क्योंकि यह बहुत महत्वपूर्ण है इसे बता कर ही आप एडमिशन ले सकते हैं।

अतः इसके लिए आपको गैप सर्टिफिकेट बनवाना होता है। इसके माध्यम से ही आप अपनी पढ़ाई को जारी रखा सकते हैं। इस प्रमाण पत्र को आप दो प्रक्रिया के माध्यम से भी बना सकते हैं, ऑफलाइन सर्टिफिकेट बनाने के लिए आपको रजिस्ट्रार अथवा वकील के पास जाना होता है तथा ऑनलाइन सर्टिफिकेट तो आप घर बैठे आसानी से ऑनलाइन प्रक्रिया से आवेदन दें सकते हैं।

यह भी देखें- Migration certificate Online Apply कैसे करें? जानें तरीका

Gap Certificate: गैप सर्टिफिकेट क्या होता है, कैसे बनवाएं
Gap Certificate

Gap Certificate बनाने के कारण (Reason)

Gap Certificate बनवाने के कई कारण हो सकते हैं जिनमें से हम आपको कुछ महत्वपूर्ण कारणों की जानकारी दे रहे हैं:

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Nrega Payment Check: नरेगा पेमेंट लिस्ट ऑनलाइन चेक कैसे करें

Nrega Payment Check: नरेगा पेमेंट लिस्ट ऑनलाइन चेक कैसे करें

  • आर्थिक स्थिति ख़राब होने की वजह से शिक्षा में गैप लेना।
  • गंभीर स्वास्थ्य खराब होने पर।
  • परिवार के कुछ जरुरी कार्यों के लिए पढ़ाई को बीच में ही छोड़ देना।
  • कई बार विद्यार्थी के परिवार वाले जल्दी शादी कर लेते हैं जिस कारण उसे पढ़ाई को छोड़ना पड़ता है।
  • कई लोग अपनी शिक्षा को पूर्ण किए बिना कोई कार्य लड़ने लगते हैं।
  • यदि किसी नागरिक जो नौकरी मिल जाती है तो वह नौकरी करने के लिए अपनी एजुकेशन को छोड़ देते हैं।

ऑफलाइन गैप सर्टिफिकेट कैसे बनाए? (How to create Offline Gap Certificate)

ऑनलाइन प्रक्रिया के अतिरिक्त आप ऑफलाइन प्रक्रिया के माध्यम से भी सर्टिफिकेट बना सकते हैं। इसके लिए आपको स्टाम्प पेपर की जरुरत पड़ेगी जो की 10, 50 एवं 100 रूपए का मिल जाएगा लेकिन आप 10 रूपए के स्टाम्प पेपर को ला सकते हैं। इसके बाद आपको किसी वकील के पास जाना है।

आपने जो स्टाम्प पेपर लिया है उस पर टाइप राइटर से टाइपिंग करवा लेनी है। इसमें आपको यह टाइप करवाना है की आपने पढ़ाई के बीच गैप क्यों लिया, पढ़ाई छोड़ने का क्या कारण था, सही से बताना है। टाइप पूर्ण होने के पश्चात आपको इस स्टाम्प पेपर को वकील के पास ले जाना है। वकील द्वारा इस पेपर पर मोहर तथा टिकट लगाया जाएगा अर्थात आपको स्टाम्प पेपर में नोट बुक करा लेनी है। इस काम को पूरा करने के बाद वकील आपसे 50 अथवा 100 रूपए ले सकता है। ऑफलाइन प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात आपका गैप सर्टिफिकेट बन जाएगा।

यह भी देखें- Bonafide सर्टिफिकेट ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?

12वीं के बाद गैप सर्टिफिकेट

यदि आप बाहरवीं कक्षा पूरी करने के बाद एक या दो साल का गैप ले लेते हैं और इसके पश्चात आप आगे स्टडी को करने के लिए कॉलेज में एडमिशन ले रहें हैं तो आपको आपको गैप सर्टिफिकेट की आवश्यकता पड़ती है। जिसमें आपको स्पष्ट रूप से गैप रीजन को देना होता है की किस वजह से आपने अपनी स्टडी को छोड़ा। इस सर्टिफिकेट को आप ऑनलाइन इस वेबसाइट http://www.edrafter.in पर विजिट करके बना सकते हैं अथवा स्टाम्प पेपर की सहायता से वकील के पास जाकर ऑफलाइन तरीके से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। जब आपका यह प्रमाण पत्र बन जाता है तो आप इसके माध्यम से कहीं भी किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेकर अपनी पढ़ाई को आरम्भ कर सकते हैं।

आवश्यक दस्तावेज

Gap Certificate बनाने हेतु आपके पास निम्न आवश्यक दस्तावेजों का होना जरुरी है जिसके तहत ही आप इस सर्टिफिकेट को बना सकते हैं।

  • आधार कार्ड
  • डिग्री का प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • मार्कशीट
  • पहचान पत्र
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट

गैप सर्टिफिकेट बनाने की प्रक्रिया

यदि आप भी अपना गैप सर्टिफिकेट बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे बताई गई ऑनलाइन प्रक्रिया को स्टेप बाई स्टेप फॉलो करना है।

  • ऑनलाइन गैप सर्टिफिकेट बनाने के लिए आवेदक को सबसे पहले किसी ऑनलाइन स्टाम्प बनाने वाली वेबसाइट पर विजिट करना है।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज ओपन होगा।
  • होम पेज पर आते ही आपको एक फॉर्म नजर आएगा ये गैप सर्टिफिकेट फॉर्म हैं।
  • अब आपको इस फॉर्म को ध्यान से पढ़ लेना है, फॉर्म में आपसे कुछ जरुरी जानकारी पूछी गई हैं जैसे – आपका राज्य, पिता का नाम, एड्रेस, शिक्षा की जानकारी, गैप पीरियड का समय, अन्य डिटेल्स तथा स्टाम्प पेपर की कीमत आदि।
  • सम्पूर्ण जानकारी को सही से दर्ज करने के पश्चात आपको नीचे दिख रहे Add to cart के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप क्लिक करोगे आपकी ऑनलाइन पेमेंट सक्सेसफुली हो जाएगी।
  • इसके साथ ही आपकी ऑनलाइन Gap Certificate की प्रक्रिया भी पूर्ण हो जाएगी।
  • अब यह सर्टिफिकेट आपके एड्रेस पर भिजवा दिया जाएगा।

Gap Certificate से सम्बंधित प्रश्न/उत्तर

Gap Certificate क्या है?

Gap Certificate एक प्रमाण पत्र होता है। जिसमें यदि आपने अपनी शिक्षा में गैप लिया है उसका करना लिखा हुआ होता है।

Gap Certificate ऑनलाइन बनवाने की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

Gap Certificate ऑनलाइन बनवाने की आधिकारिक वेबसाइट ये http://www.edrafter.in है।

क्या ऑनलाइन प्रक्रिया के अतिरिक्त ऑफलाइन माध्यम से भी हम अपना गैप सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं?

जी हाँ, ऑनलाइन प्रक्रिया के अतिरिक्त ऑफलाइन माध्यम से भी हम अपना गैप सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं।

क्या हाई स्कूल के पश्चात गैप ईयर लिया जा सकता है?

जी हाँ, आप हाई स्कूल के पश्चात गैप होने के पश्चात 11 वीं कक्षा में प्रवेश ले सकते हैं।

Gap Certificate बनवाने के लिए किन आवश्यक डाक्यूमेंट्स की जरुरत पड़ती है?

Gap Certificate बनवाने के लिए कई डाक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ती है जैसे- आधार कार्ड, जन्म प्रमाण पत्र, पहचान पत्र, डिग्री का प्रमाण पत्र, मार्कशीट तथा ट्रांसफर सर्टिफिकेट आदि।

RTE Act 2009 in Hindi

RTE Act 2009 in Hindi – शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें