मुख्यमंत्री मधु विकास योजना आवेदन हिमाचल प्रदेश | Benefits, Eligibility, Full Information

Share on:

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना की शुरुआत हिमांचल प्रदेश राज्य सरकार के द्वारा की गयी है। योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी बेरोजगार नौजवान युवाओं को मधुमक्खी पालन के माध्यम से स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जायेगा। Madhu Vikas Yojana के अंतर्गत राज्य के 50 मधुमक्खी उपनिवेशों को मधुमक्खी पालन हेतु आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी। जिससे वह मधुमक्खी उत्पादों के उत्पादन और मधुमक्खी पालन के लिए प्रोत्साहित हो सके। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से मुख्यमंत्री मधु विकास योजना आवेदन,लाभ एवं पात्रता,मानदंड, Online Registration and Eligibility से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी को विस्तारित किया गया है। अतः योजना से जुड़ी अधिक जानकारी जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

मुख्यमंत्री-मधु-विकास-योजना-आवेदन-हिमाचल-प्रदेश
Himachal Pradesh Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana 2023

Himachal Pradesh Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana 2023

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना– के माध्यम से मधुमक्खी पालन को बड़े स्तर पर लाने के लिए योजना के तहत बागवानों को 80% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इस प्रक्रिया के माध्यम से राज्य में स्वरोजगार के क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा एवं कृषक नागरिकों के आर्थिक स्तरता में एक नया बदलाव आएगा। राज्य के प्रत्येक जिले में Himachal Pradesh Madhu Vikas Yojana 2023 के माध्यम से 300 मधुमक्खी उपनिवेशों को 3 लाख रूपए की सहायता प्रदान की जाएगी। प्रत्येक वर्ष मधुमक्खी पालन से जुड़े कृषक नागरिकों के लिए 5 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जायेगा जिसमें उन्हें मधुमक्खी उतपादन के क्षेत्र से जुड़ी जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही शिविर प्रशिक्षण में उन्हें प्रतिदिन के अनुसार 400 रूपए की राशि भी वितरण की जाएगी।

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना आवेदन हिमाचल प्रदेश

योजना मुख्यमंत्री मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश
योजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर जी के द्वारा
संबंधित विभाग उद्यम विभाग हिमांचल प्रदेश
वर्ष 2023
योजना के कार्यान्वयन के लिए बजट राशि 10 करोड़ रूपए
लाभार्थी राज्य के बेरोजगार युवा एवं कृषक नागरिक
लाभ मधुमक्खी उत्पादन के लिए 80% की सब्सिडी
उद्देश्य नागरिकों को योजनाओं के तहत स्वरोजगार से जोड़ना
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट http://eudyan.hp.gov.in/

Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana 2023 के उद्देश्य

हिमांचल प्रदेश मुख्यमंत्री मधु विकास योजना– का मुख्य उदेश्य है राज्य में मधुमक्खी पालन के क्षेत्र में अधिक उत्पादन करना। जिससे राज्य में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर पैदा हो सके। योजना के कर्यान्वयन के लिए हिमांचल राज्य सरकार के द्वारा 10 करोड़ रूपए का बजट निर्धारित किया गया है। जिसके तहत मधुमक्खी पालन से जुड़े सभी नागरिकों को लाभ पहुंचाया जायेगा। यह योजना मुख्य रूप से बागवानी उद्यम विभाग से संबंधित है। Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana के तहत प्रदेश में शहद उत्पादन के क्षेत्र वृद्धि की जाएगी जिससे कृषक श्रेणी से संबंधित नागरिकों के आमदनी में मुनाफा होगा।

हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना

मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश आवेदन विशेषताएं

हिमांचल प्रदेश मुख्यमंत्री मधु विकास योजना से संबंधित निम्नलिखित विशेषताएं नीचे दी गयी है।

  • Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana 2023 के माध्यम से रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए मधुमक्खी पालन हेतु बागवानों को 80% सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • बागवानी मिशन के अंतर्गत योजना का कार्यान्वयन किया जायेगा।
  • राज्य में जिले के आधार पर 300 मधुमक्खी उपनिवेशों को मधुमक्खी पालन के उत्पादन हेतु 3 लाख रूपए तक की सहायता प्रदान की जाएगी।
  • 50% की सब्सिडी लाभार्थी नागरिकों को परिवहन के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • मधु विकास योजना के तहत मधुमक्खी पालन करने वाले बागवानों के लिए प्रतिवर्ष के अनुसार 5 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जायेगा। जिसमें उन्हें प्रतिदिन के आधार पर 4 सौ रूपए की राशि प्रदान की जाएगी।
  • मधु विकास योजना हिमाचल प्रदेश के माध्यम से शहद के उत्पादन हेतु कृषकों को 2 बीघा के रूप में मधुमक्खी वनस्पति बागान प्रदान किया जायेगा जिसमें वह अपने लिए शहद प्रसंस्करण की स्थापना कर सके।
  • इसके साथ ही शहद निकालने के लिए खाद्य ग्रेड कंटेनर पर कृषक नागरिकों को 50% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। जो 7 हजार प्रति सेट के रूप में बागवानों तक उपलब्ध करवाया जायेगा।

हिमांचल मुख्यमंत्री विकास योजना के लाभ (Benefits)

  • इस योजना Himachal Pradesh Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana के माध्यम राज्य में स्वरोजगार के क्षेत्र में बढ़ावा मिलेगा।
  • प्रत्येक वर्ष के अनुसार हिमांचल राज्य में मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत 1500 मीट्रिक टन शहद का उत्पादन किया जाता है।
  • Madhu Vikas Yojana के माध्यम से बागवानी क्षेत्र के स्तर को एक नयी गति प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम राज्य में स्वरोजगार बढ़ने के साथ-साथ कृषक नागरिकों की आमदनी में मुनाफा होगा।
  • हिमांचल राज्य में पांच करोड़ रूपए से अधिक शहद का कारोबार किया जाता है।
  • Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana 2023 के माध्यम से राज्य के बेरोजगार युवकों को मधुमक्खी पालन के व्यवसाय करने से स्वरोजगार से जुड़ने का अवसर प्राप्त होगा।
  • राज्य के नागरिक मधुमक्खी उत्पादन के क्षेत्र में अधिक उत्पादन करके अपनी आर्थिक परिस्थिति को मजबूती प्राप्त करने में सहायक होंगे।
  • Madhu vikas Yojana से नागरिक आत्मनिर्भर होने के साथ सशक्त बनेंगे।
  • योजना के माध्यम से मधुमक्खी पालन का व्यवसाय करने वाले नागरिकों को प्रतिवर्ष में 5 दिन की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। जिससे वह मधुमक्खी पालन के उत्पादकता के विषय में अधिक ज्ञान प्राप्त कर पाएंगे।

Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana Eligibility पात्रता एवं मानदंड

  • मधु विकास योजना में आवेदन हेतु नागरिक को हिमांचल राज्य का स्थायी निवासी नागरिक होना आवश्यक है।
  • राज्य के कृषक नागरिक एवं बेरोजगार युवा Madhu vikas Yojana के अंतर्गत आवेदन करने के लिए पात्र है।
  • आवेदन करने के लिए नागरिक के पास स्थायी निवास प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक नागरिक का आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट से संबंधी समस्त विवरण
राज्य के मधुमक्खी पलकों हेतु सुविधाएँ
  • हिमांचल राज्य के उद्यान विभाग के द्वारा मधुमक्खी पालकों को विशेष सुविधाएँ प्रदान करने के लिए शिमला एवं कांगड़ा जिले में एगमार्क प्रयोगशाला एवं विधायन केंद्र स्थापित किये गए है।
  • इन प्रयोगशालाओं के माध्यम से मधुमक्खी पालकों को मधु उत्पादों को एगमार्क करने की सुविधाएँ प्राप्त होगी।
  • उद्यान विभाग के माध्यम से मधुमक्खी पालक अपने मधु उत्पादों को कम मूल्य में एगमार्क की सुविधा प्राप्त करने में सक्षम हो पाएंगे जिससे वह शहद के उत्पाद का बेहतर मूल्य प्राप्त कर पाएंगे।
  • मधुमक्खी पालक एगमार्क की सेवा प्राप्त करने के लिए इस प्रकार शुल्क राशि को निर्धारित किया गया है।
क्र संख्या एगमार्क मधु की मात्रा शुल्क राशि
1 1 किलो से अधिक शहद की मात्रा के लिए 50 पैसे प्रति किलो
2 200 ग्राम से 1 किलों के लिए 50 पैसे प्रति पैक
3 50 ग्राम एवं 100 ग्राम के पैक हेतु 25 पैसे प्रति पैक
मुख्यमंत्री मधु विकास योजना आवेदन कैसे करें ?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी नागरिक हिमांचल प्रदेश मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत मधुमक्खी पालन हेतु आवेदन करना चाहते वह नीचे दिए गए स्टेप्स के माध्यम से आवेदन प्रक्रिया को पूर्ण कर सकते है।

  • हिमांचल मुख्यमंत्री मधु विकास योजना में आवेदन करने के लिए नागरिक को Department of Horticulture Government of Himachal Pradesh के कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां योजना से संबंधित आवेदन प्रपत्र को प्राप्त करके आवेदन फॉर्म में दी गयी जानकारी को ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आवेदन फॉर्म के साथ मांगे गए दस्तावेजों की स्कैन कॉपी को फॉर्म के साथ अटैच करना होगा।
  • इसके बाद संबंधित कार्यालय में अपने आवेदन पत्र को जमा कर दें।
  • आवेदन पत्र की जांच सफल होने के बाद आवेदक नागरिक को मधुमक्खी व्यवसाय हेतु सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • इस प्रकार हिमांचल मुख्यमंत्री मधु विकास योजना आवेदन करने की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana से संबंधित प्रश्न उत्तर

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना को राज्य में कब शुरू किया गया ?

सत्र 2018-19 में हिमांचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के द्वारा मुख्यमंत्री मधु विकास योजना को शुरू किया गया।

Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana के माध्यम से राज्य निवासियों को क्या फायदे प्राप्त होंगे ?

राज्य सरकार के द्वारा प्रदेश के निवासियों को Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana के माध्यम से स्वरोजगार से जुड़ने का अवसर प्राप्त होगा। वह मधुमक्खी पालक के रूप में कार्य करके एक अच्छी आमदनी को प्राप्त करने में सहायक होंगे जिससे उनके आर्थिक जीवन के स्तर में एक नया परिवर्तन होगा।

मधु विकास योजना में आवेदन करने के लिए कौन पात्र है ?

हिमांचल राज्य के स्थायी निवासी नागरिक जो स्वरोजगार के क्षेत्र से जुड़ना चाहते है वह मधु विकास योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्र है।

उद्यम विभाग के द्वारा मधुमक्खी पालकों को योजना के तहत क्या सुविधाएँ प्रदान की जाएगी ?

लाभार्थी नागरिकों को उद्यम विभाग के द्वारा मधुमक्खी व्यवसाय स्थापित करने के लिए 80% तक की सब्सिडी एवं प्रसंस्करण इकाई स्थापित करने के लिए 2 बीघा वनस्पति बागान की सुविधाएँ प्रदान की जाएगी

योजना के माध्यम से मधुमक्खी व्यवसाय स्थापित करने के लिए लाभार्थी नागरिक कहाँ संपर्क कर सकते है ?

मुख्यमंत्री विकास योजना के तहत मधु व्यवसाय स्थापित करने के लिए नागरिकों को अपने क्षेत्र के उद्यम विभाग Toll Free Number : 18001808001 से सम्पर्क कर सकते है।

क्या Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana के माध्यम से मधु पालकों को प्रशिक्षण सेवा प्रदान की जाएगी।

हाँ प्रतिवर्ष के अनुसार Mukhyamntri Madhu Vikas Yojana के माध्यम से 5 दिन के माध्यम से प्रशिक्षण सेवा मधुमक्खी पालकों को प्रदान की जाएगी जिसमें उन्हें शहद उत्पादन हेतु ट्रेंनिंग दी जाएगी।

मधु विकास योजना का मुख्य लक्ष्य क्या है ?

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना का मुख्य लक्ष्य है यह है की राज्य के मधुमक्खी के व्यवसाय करने वाले नागरिकों को शहद के अधिक उत्पादन हेतु प्रेरित करना एवं उन्हें मधु पालन हेतु विशेष प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध करवाना।

HP Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana Helpline Number क्या है?

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना की हेल्पलाइन नंबर 18001808001 है।

हेल्पलाइन नंबर

इस लेख के माध्यम से हमने आप को मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के बारे में जानकारी दी है। आशा करते हैं की ये जानकारी आप को पसंद आयी होगी। अगर आप इस से संबंधित कुछ और जानकारी चाहते हैं या आप को कोई संशय है तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं। हम आप के सभी प्रश्नों का उत्तर देने का प्रयास करेंगे। इसके अतिरिक्त आप आधिकारिक वेबसाइट पर दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर भी संपर्क कर सकते हैं।

टोल फ्री नंबर – 18001808001

यदि आप इसी तरह की अपने राज्य से जुडी अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमारी इस वेबसाइट को फॉलो कर सकते हैं। हम आप तक इसी तरह आप के राज्य में चल रही विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करते रहेंगे।

Photo of author

Leave a Comment

Join Telegram