(Rajasthan) आई एम शक्ति उड़ान योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता

Share on:

I Am Shakti Udan Yojana :- माहवारी महिलाओं में होने वाले प्राकृतिक शारीरिक बदलाव की प्रक्रिया है जिसको लेकर हमारे समाज महिलाओं एवं किशोरियों के प्रति अनेक प्रकार की भ्रांतियां हैं। समाज में फ़ैली इन भ्रांतियों के कारण कभी-कभी महिलाओं को भेदभाव का सामना करना पड़ता है। यह भेदभाव महिलाओं के लिए काफी पीड़ादायक और कष्टदायक होता है। आपने अक्सर देखा होगा माहवारी जैसी शारीरिक समस्याओं के प्रति जागरूकता ना होने के कारण महिलाएं गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाती हैं।

Rajasthan I Am Shakati Udan yojana
Rajasthan I Am Shakti Udan Yojana क्या है ? जानें

राजस्थान सरकार ने महिलाओं एवं बालिकाओं की इन सभी समस्याओं को देखते हुए राज्य में आई एम शक्ति उड़ान योजना की शुरुआत की है। योजना के तहत राजस्थान सरकार महिलाओं एवं किशोरियों की Heath एवं Hygiene की सुरक्षा हेतु निः शुल्क सैनेटरी नैपकिन प्रदान करेगी। योजना के तहत गांव-गाँव जागरूकता अभियान चलाकर लोगों के बीच माहवारी को लेकर फ़ैली भ्रांतियों को दूर किया जायेगा। यदि आप भी राजस्थान निवासी महिला एवं बालिका हैं तो आप भी योजना का लाभ ले सकती हैं आगे आर्टिकल में हमने आपको आई एम शक्ति उड़ान योजना से जुड़ी लाभ , पात्रता , दस्तावेज ,आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी। यदि आप योजना के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं आपको हमारा आर्टिकल अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए।

Contents show

Key high lights of Rajasthan I Am Shakti Udan Yojana

योजना का नाम राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना
योजना की शुरुआत किसके द्वारा की गई राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा
योजना से संबंधित राज्य राजस्थान
विभाग महिला एवं बाल विकास के अंतर्गत कार्य करने वाला निदेशालय महिला अधिकारिता विभाग
योजना के लाभार्थी राजस्थान राज्य की गरीब महिलाएं एवं बालिकाएं
आवेदन की प्रक्रिया ऑफलाइन
योजना से संबंधित नारा प्रदेश की हर नारी की उड़ान, होगा स्वस्थ सशक्त राजस्थान
योजना की आधिकारिक वेबसाइट wcd.rajasthan.gov.in

माहवारी (Periods) क्या होती है ?

  • माहवारी एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जो महिलाओं में होने वाले शरीर के बदलाव के कारण होती है। माहवारी में महिलाओं एवं किशोरियों के गर्भाशय से रक्तस्त्राव होता है। महिलाओं में गर्भाशय से रक्तस्त्राव का होना ही माहवारी कहलाता है।
  • ये रक्तस्त्राव दिनों के एक निश्चित अंतराल में प्रत्येक माह में होता है। बार -बार होने वाली यह प्रक्रिया मासिक / माहवारी चक्र कहलाती है।
  • डॉक्टर्स के अनुसार माहवारी में यह रक्तस्त्राव 1 से लेकर 6 दिन तक हो सकता है।
  • सामान्यतः महिलाओं में माहवारी का चक्र 25 से 28 दिन का होता है लेकिन कुछ महिलाओं में यह चक्र 36 दिन का होता है।

माहवारी में महिलाओं में होने वाली समस्याएं :

  • माहवारी के दौरान महिलाओं में होने वाले सर दर्द, पेट दर्द, ऐंठन या मरोड़, पीठ दर्द, चिड़चिड़ापन, खून की कमीं (एनीमिया) आदि तरह की शारीरिक समस्याएं देखने को मिलती हैं।
माहवारी की समस्याओं से निपटने के लिए क्या करें?

विशेषज्ञ एवं चिकित्सकों की सलाह के अनुसार आप माहवारी की समस्या से निपटने के लिए निम्नलिखित कार्य कर सकते हैं –

  • गर्म पानी की बोतल से सेक करना
  • हल्की मालिश करना
  • गुनगुने पानी से नहाना
  • गर्म पेय पदार्थ पीना
  • दर्द अधिक होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें

माहवारी के दौरान कॉटन कपड़े / कपड़े के पैड के उपयोग के संबंध में ध्यान देने योग्य बातें –

  • कपड़े के पैड / कपड़े को 6 घंटे में या पूर्णतया गीला होने पर बदल दें।
  • उपयोग हुए कपड़े / कपड़े के पैड को वाशिंग पाउडर / साबुन के साथ साफ़ पानी से धोएं एवं धुप में सुखाएं।
  • कपड़े को कभी भी गर्म पानी ना धोएं क्योंकि गर्म पानी से धोने से कपड़े पर रोएं पड़ सकते हैं।
  • उपयोग हुए कपड़े को यहाँ वहां फेंकने के बजाय कागज में लपेटकर कूड़े में डाल दें या फिर कपड़े को जमीन में खड्डा खोदकर वहीँ गाढ़ दें।

राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना का उद्देश्य (Objective):

  • आपको बताते चलें की योजना मुख्य उद्देश्य महिलाओं एवं किशोरियों को सैनेटरी नैपकिन के प्रयोग हेतु प्रोत्साहित करना।
  • महिलाओं एवं बच्चियों में माहवारी के दिनों में होने वाली समस्याओं के प्रति जागरूकता फैलाना एवं इसके लिए विशेष अभियान चलाना।
  • राज्य की सभी महिलाओं को निः शुल्क सैनेटरी नैपकिन की सुविधा उपलब्ध करवाना।
  • राज्य में S.H.G को राज्य सरकार के द्वारा सैनेटरी नैपकिन बनाने हेतु ऋण और क्रय वितरण को सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • योजना के तहत महिला S.H.G को सामजिक संस्थाओं के प्रबंधन (Management) के उत्कृष्ट कार्यों हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना

आई एम शक्ति उड़ान योजना की लाभ एवं विशेषतायें:

  • दोस्तों आपको बता दें की राजस्थान राज्य सरकार ने अपने कार्यकाल के तीन साल पुरे होने के अवसर पर मुख्यमंत्री आई एम शक्ति उड़ान योजना की शुरुआत की है।
  • आपको बता दें की राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना के तहत राजस्थान राज्य सरकार प्रदेश की लगभग 1 करोड़ 20 लाख महिलाओं एवं बालिकाओं को चरणबद्ध तरीके से योजना का लाभ पहुंचाया जायेगा।
  • योजना के प्रथम चरण में सरकारी स्कूलों एवं चयनित आंगनवाड़ी केंद्रों में महिलाओं एवं बच्चियों को सैनेटरी नैपकिन प्रदान किये जाएंगे।
  • इसी तरह योजना के द्वितीय चरण में राज्य के शिक्षण संस्थानों एवं सभी आंगनवाड़ी केंद्रों में सैनेटरी नैपकिन वितरित किये जायेंगे।
  • राजस्थान राज्य सरकार योजना के तहत प्रदेश की प्रत्येक गरीब महिला एवं बालिका को निः शुल्क सैनेटरी नैपकिन प्रदान किये जाएंगे।
  • राज्य के सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्रों में काम करने वाली एवं पढ़ने वाली किशोरी बालिकाएं योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • योजना के तहत महिलाओं एवं बालिकाओं को उनकी स्वयं स्वछता के लिए जागरूक किया जाएगा।
  • योजना का सम्पूर्ण कार्यान्वयन निदेशालय महिला अधिकारिता विभाग के द्वारा किया जाएगा।
  • राजस्थान सरकार का कहना है की I Am Shakti Udan Yojana के लागू होने से महिलाओं की स्वास्थ स्थिति में सुधार होगा
  • आपको बता दें की राजस्थान सरकार ने आई एम शक्ति उड़ान योजना के तहत पुरे प्रदेश में 282 ब्लॉक्स को निः शुल्क सैनेटरी नैपकिन पैड वितरण हेतु चिन्हित किया है।

Rajasthan I Am Shakti Udan Yojana के जरूरी पात्रताएं (Required Eligibility)

आपको हम बताते चलें की यदि आप महिला / बालिका हैं और योजना का लाभ लेना चाहती हैं तो आपके पास निम्नलिखित पात्रताएं होनी चाहिए –

  • आवेदक महिला / बालिका राजस्थान राज्य की स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक महिला / बालिका की उम्र न्यूनतम 11 वर्ष और अधिकतम 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • यदि आवेदक महिला / बालिका गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करती है तो वह राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना के लिए पात्र मानी जायेगी।

राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना के आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज (Required documents)

जो भी आवेदक महिला राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना के लिए आवेदन करना चाहती है उनके पास निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए –

  • आवेदक महिला / बालिका का आधार कार्ड
  • आवेदक महिला / बालिका का राजस्थान राज्य का स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक महिला / बालिका का पैन कार्ड
  • आवेदक महिला / बालिका का जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  • आवेदक महिला / बालिका के परिवार की आय का प्रमाण पत्र
  • आवेदक महिला / बालिका की शिक्षा से संबंधित शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र
  • आवेदक महिला / बालिका के बैंक अकाउंट की डिटेल्स (जैसे: बैंक पासबुक, बैंक स्टेटमेंट आदि)
  • आवेदक महिला / बालिका की हाल ही में खींची गई नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • आवेदक महिला / बालिका का एक्टिव मोबाइल नंबर

राजस्थान I Am Shakti Udan Yojana के लिए आवेदन कैसे करें:

आपको बता दें की फिलहाल योजना के आवेदन हेतु कोई भी ऑनलाइन प्रक्रिया राजस्थान सरकार की तरफ से शुरू नहीं की गई है। जो भी आवेदक महिलाएं योजना के ऑनलाइन आवेदन की सुविधा प्राप्त करना चाहती हैं उन्हें अभी थोड़ा करना होगा। जल्द ही सरकार की तरफ से योजना के ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जायेगी।

आपको हम पहले ही बता चुके हैं की योजना के तहत राज्य सरकार स्वयं से ही सरकारी विद्यालयों , शिक्षण संस्थानों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों का चयन करेगी। इन चयनित केंद्रों में राज्य सरकार के द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं को निः शुल्क सैनेटरी नैपकिन बांटे जाएंगे।

दोस्तों जैसे ही राजस्थान आई एम शक्ति उड़ान योजना के संबंध में हमें कोई नई सुचना प्राप्त होती है आपको आर्टिकल में अपडेट के माध्यम से सूचित कर दिया जाएगा।

राजस्थान I Am Shakti Udan Yojana से संबंधित FAQs:

राजस्थान I Am Shakti Udan Yojana के प्रथम चरण के तहत अब तक कितनी महिलाओं को सैनेटरी नैपकिन बांटे जा चुके हैं ?

राजस्थान I Am Shakti Udan Yojana के प्रथम चरण के तहत अब तक राज्य में लगभग 28 लाख से अधिक महिलाओं को सैनेटरी नैपकिन बांटे जा चुके हैं।

राजस्थान I Am Shakti Udan Yojana की official वेबसाइट क्या है ?

राजस्थान I Am Shakti Udan Yojana की official वेबसाइट wcd.rajasthan.gov.in है।

माहवारी के समय अच्छे स्वास्थ के लिए क्या करना चाहिए ?

माहवारी में अच्छे स्वास्थ के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए जो इस प्रकार से हैं –
खाने में आयोडीन युक्त नमक का प्रयोग करना चाहिए।
रोजाना कम से कम 8 से 10 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए।
तली हुई व गरिष्ठ खाद्य पदार्थों को खाने से आपको बचना चाहिए।
खाने में जंक फ़ूड का कम से कम इस्तेमाल
मीठे में आपको आइसक्रीम , कन्फेशरी पदार्थ आदि का सेवन न के बराबर होना चाहिए।
आपको नियमित व्यायाम और योग करना चाहिए।
आपको 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए। आदि।

माहवारी महिलाओं में कितने उम्र से शुरू हो जाती है ?

माहवारी महिलाओं में 9 साल की उम्र से शुरू होकर 45 से 50 साल तक होती है।

महिलाओं द्वारा माहवारी में क्या-क्या सामग्रियां उपयोग की जाती हैं ?

सूती कपड़ा
सूती कपड़े से बने पैड
डिस्पोसेबल सेनेटरी नैपकिन
टैम्पॉन
मेंस्ट्रल कप
मेंस्ट्रल अंडर वियर

माहवारी के समय आहार में क्या लेना चाहिए ?

माहवारी के समय महिला या किशोरी को हरी पत्तेदार सब्ज़ियां (जैसे : मेथी, चौलाई , पालक), खट्टे फल, खजूर, मोटे अनाज (जैसे:बाजरा, मक्का, जौ आदि), वसा रहित सोयाबीन, अंकुरित दालें, फल (जैसे: तरबूज, चुकंदर, चीकू) आदि खानीं चाहिए।

राजस्थान निदेशालय महिला अधिकारिता की Contact Details:

Addressनिदेशालय महिला अधिकारिता, जे-7, झालाना संस्थानिक क्षेत्र, झालाना डूंगरी, जयपुर | पिन – 302004
हेल्पलाइन फ़ोन नंबर 0141-2716402
ईमेल आई डी commissionerwe.wcd@rajasthan.gov.in

यह भी जानें:

Leave a Comment