Udaipur Murder Case: कौन था कन्हैया लाल, क्यों मारा गया, पढ़ें उदयपुर हत्याकांड की पूरी डिटेल

Share on:

कौन था कन्हैया लाल :- राजस्थान के उदयपुर (लेकसिटी) में मंगलवार 28 जून 2022 को एक टेलर जिसका नाम कन्हैया लाल था, कि दिनदहाड़े वीभत्स हत्या कर दी गई है। जिससे पूरे राजस्थान में तनाव का माहौल बना हुआ है। तेज़ी से वायरल हो रहे वीडियो ने सभी को हिला कर रख दिया जिस कारण इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है और धारा-144 लगा दी गई है। उदयपुर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। सभी व्यापारी बाजार बंद करके सड़क पर उतर कर हत्या के आरोपियों को पकड़ने की मांग पर डटे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। कौन था कन्हैया लाल (kaun tha kanhaiya lal)? आखिर क्यों की गई कन्हैया लाल की हत्या? चलिए आगे देखते हैं क्या है कन्हैया लाल हत्याकांड का पूरा मामला-

यही भी देखें :- कौन हैं नूपुर शर्मा जिन्हें लेकर मच गया बवाल

कौन था कन्हैया लाल (kaun tha kanhaiya lal)?
कौन था कन्हैया लाल (kaun tha kanhaiya lal)?

कौन था कन्हैया लाल (kaun tha kanhaiya lal)

कन्हैया लाल उदयपुर (राजस्थान) के भीम कसबे का रहने वाला 40 वर्षीय टेलर था। उसके 3 बच्चे हैं। वह उदयपुर में दर्जी की दुकान चलाता था। पुलिस ने कन्हैया लाल को हाल की में नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के समर्थन में मीडिया पोस्ट करने के लिए गिरफ्तार किया था। जिसके बाद कन्हैया लाल को 15 जून के दिन जमानत पर छोड़ दिया गया था और उसने पुलिस को बताया की उसे अब धमकी भरे फ़ोन कॉल आ रहे हैं। लेकिन पुलिस की लापरवाही के चलते ये बड़ा हादसा हो गया और कन्हैया लाल की हत्या कर दी गई।

आखिर कन्हैया लाल की हत्या क्यों हुई ?

निष्कासित भारतीय जनता पार्टी (बी.जे.पी) की प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने एक टीबी डिबेट में पैगम्बर मोहम्मद के बारे में विवादित टिपणी की थी। जिसके बाद देशभर में खूब बबाल हुआ था। इसी कारण बी.जे.पी ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था। इसी के चलते कन्हैया लाल(Kanhaiya Lal) ने सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा की समर्थन में कुछ पोस्ट शेयर की थी। जिसके बाद से कन्हैया लाल निशाने पर आ गए। इसी के चलते दो लोगों ने उन्ही की दुकान में आकर हत्या करके घटना को अंजाम दिया।

दोनों आरोपी कन्हैया लाल की दुकान में कपड़े का नाप देने के बहाने गए, इसी समय दूसरा आरोपी चुपके से वीडियो बनाने लगा नाप लेने के बाद ही हत्यारों ने कन्हैया लाल पर हथियार से वार कर दिया और कन्हैया लाल की हत्या कर दी। हत्या के बाद धमकी भरे वीडियो जारी किए और कहा कि इस तरह के विवादित बयान देने वालों व इनके समर्थकों के साथ यही अंजाम होगा।

कन्हैया लाल के साथ घटित घटनाएं

  • 10 जून को कन्हैया लाल ने नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया में पोस्ट शेयर किया।
  • 11 जून को नाजिम अहमद नामक व्यक्ति ने कन्हैया लाल के खिलाफ धानमंडी ठाणे में एफआईआर दर्ज कराया।
  • एफआईआर दर्ज होने के बाद 12 जून को पुलिस ने कन्हैया लाल को गिरफ्तार कर लिया और कोर्ट में पेश किया।
  • कोर्ट में पेशी होने के बाद कन्हैया लाल को 13 जून के दिन जमानत पर छोड़ दिया गया।
  • जमानत पर छूटने के बाद से लगातार कन्हैया लाल को धमकी मिलने लगी।
  • जिसके बाद कन्हैया लाल ने पुलिस को इसकी जानकारी 15 जून दी लेकिन पुलिस ने समझौता करके इस मुद्दे को निपटा दिया था।
  • लेकिन 28 जून को दो हत्यारों ने दुकान में आकर हथियार से कन्हैया लाल की हत्या कर दी।

Kanhaiya Lal ने लिखी थी पुलिस को अर्जी

पुलिस को जानकारी देते हुए कन्हैया लाल ने ये बताया ही लगभग 5-6 दिन पहले मेरे बेटे ने मुझसे गेम खेलने के लिए मोबाइल लिया और गलती से बच्चे से कुछ आपत्तिजनक पोस्ट शेयर हो गई जिसकी मुझे कुछ भी जानकारी नहीं थी। उसके 2 दिन बाद कुछ व्यक्ति मेरी दुकान में आए और मुझसे मेरा फ़ोन माँगा एक कॉल करने के लिए और उन्हें फिर मुझे बताया कि आपके मोबाइल से कुछ गलत पोस्ट शेयर हुई है, क्या आपको पता है? तो मैंने कहा कि मुझे फोन चलाना नहीं आता, इसे मेरा बच्चा सिर्फ गेम खेलने के लिए लेता है। फिर उन्होंने उस पोस्ट को डिलीट कर दिया और कहा की अब से ऐसा कुछ भी मत करना।

कन्हैया लाल हत्याकांड
कौन था कन्हैया लाल (kaun tha kanhaiya lal)?

हत्यारों ने वीडियो जारी करके पीएम मोदी को दी धमकी

Udaipur Murder Case के हत्यारों ने कन्हैया लाल की हत्या करते समय का एक वीडियो सोशल मीडिया में शेयर किया था। जिससे पूरे शहर व देश में अशांति का माहौल बना है और सरकार ने सभी को शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कहा है। हत्यारों ने घटना की ज़िम्मेदारी लेते हुए ये कहा है कि इस्लाम की निंदा करने वालों के साथ यही सुलूक किया जाएगा और जिसने भी विवादित भाषणों का समर्थन किया उसका यही हस्र होगा। हत्यारों ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को भी हथियार दिखाते हुए जान से मारने की धमकी भी दी है। पूरे देश में इस घटना की निंदा की जा रही है और देश में चिंता का माहौल पैदा हो गया है।

दोनों आरोपी हुए गिरफ्तार

उदयपुर हत्याकांड के दोनों आरोपियों को राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हत्या की दोनों आरोपियों को पुलिस ने राजसमंद में भीम इलाके से गिरफ्तार किया। दोनों हत्यारे उदयपुर के सूरजपोल क्षेत्र के रहने वाले मुस्लिम्स है। हत्यारों का नाम रियाज और मुहम्मद है।

हत्या होने के बाद की स्थिति

  • हत्या होने के बाद पूरे राजस्थान में 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।
  • राजस्थान में एक महीने के लिए धारा-144 लागू कर दी गई है और उदयपुर के 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।
  • इस मामले में धानमंडी के ASI को भी निलंबित कर दिया गया है।
  • अगले आदेश के आने तक सभी पुलिस अफसरों की छुट्टियां निरस्त कर दी गई है।
  • इस हत्याकांड के मामले की जाँच के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक SIT(Special Investigation Team) का गठन कर दिया है और साथ ही IB(Intelligence Bureau) & NIA(National Investigation Agency) की नजरें भी इस केस पर है।
kaun tha kanhaiya lal

कन्हैया लाल उदयपुर(राजस्थान) का रहने वाला एक टेलर मास्टर था।

कन्हैया लाल को क्यों मारा गया ?

kanhaiya lal को नूपुर शर्मा का समर्थन करने के कारण मारा गया।

कन्हैया लाल को किसने मारा ?

रियाज और मोहम्मद गौस नाम के दो लड़कों पर kanhaiya lal को मारने का आरोप है।

Leave a Comment