Marriage Registration कैसे करें, क्या है इसकी प्रक्रिया एवं विवाह पंजीकरण क्यों जरूरी है।

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

भारत सरकार द्वारा अब विवाह सर्टिफिकेट बनवाना अनिवार्य कर दिया गया है। अर्थात अब देश में जिन ही लोगों की शादी होती है उन्हें शादी होने के पश्चात अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना है इसके लिए उन्हें पहले पंजीकरण कराना होगा उसके पश्चात ही सर्टिफिकेट प्राप्त होगा। आपको बता दें सरकार द्वारा रजिस्ट्रेशन की ऑफिसियल वेबसाइट को शुरू कर दिया गया है। आप घर बैठे आसानी से ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से पंजीकरण की प्रक्रिया को पूर्ण सकते हैं इसके अतिरिक्त आप ऑफलाइन प्रक्रिया के माध्यम से भी पंजीकरण कर सकते हैं। यहां हम आपको आज Marriage Registration कैसे करें, क्या है इसकी प्रक्रिया एवं विवाह पंजीकरण क्यों जरूरी है। आदि से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी बताने जा रहें हैं अतः इस आर्टिकल के लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

विवाह पंजीकरण क्या है?

शादी होने के पश्चात वर वधु को विवाह पंजीकरण कराना होता है जिसके पश्चात उन्हें विवाह प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है। इस प्रमाण पत्र के कई लाभ हैं। भारत में हर धर्म के लोगों को यह प्रमाण पत्र बनवाना जरूरी है। यह प्रमाण पत्र महिलाओं पर होने वाली हिंसा को रोकने में मददगार साबित होगा। क्योंकि शादी के बाद कई महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है और उन्हें धमकी दी जाती है कि उन्हें वे घर से बाहर निकाल देंगे या उनके साथ अन्याय करेंगे इन समस्याओं की देखते हुए सरकार ने इस प्रमाण पत्र को जारी किया है जिसके तहत महिलाओं के अधिकारों की रक्षा की जा सके।

Also Read – विवाह प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन गुजरात (विवाह पंजीकरण)

Marriage Registration कैसे करें, क्या है इसकी प्रक्रिया एवं विवाह पंजीकरण क्यों जरूरी है।
Marriage Registration

विवाह पंजीकरण के मुख्य बिंदु

योजना का नामMarriage Registration
शुरू की गईभारत सरकार द्वारा
वर्ष2024
उद्देश्यसभी विवाहित जोड़ों का रजिस्ट्रेशन करना
लाभार्थीभारत के सभी नागरिक

उद्देश्य

देश में अभी भी कई महिलाओं को शादी के पश्चात आने परेशानियों का सामना करना होता है। जैसे- बाल विवाह, घरेलू हिंसा, अत्याचार एवं पति की मौत के बाद बहु को घर से निकाल देना आदि इन समस्याओं का निवारण करने के लिए भारत सरकार द्वारा Marriage Registration प्रक्रिया को शुरू कर दिया गया है। इसके तहत महिलाओं के साथ होने वाले अत्याचार को खत्म किया जा सकता है इसके लिए कड़ी कार्रवाई एवं कठोर कदम उठाए जाएंगे। भारत में प्रत्येक धर्म के नागरिक को रजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य कर दिया गया है। आप यह पंजीकरण इसी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर घर बैठे आसानी से कर सकते हैं।

यह भी देखेंयूपी अभिनव एंबुलेंस योजना क्या है ? जानें

यूपी अभिनव एंबुलेंस योजना 2024 : Abhinav Ambulance लाभ व कार्यान्वयन प्रक्रिया

Also Read – हिमाचल विवाह प्रमाण पत्र ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

विवाह पंजीकरण बनाने की फीस

हिन्दू मैरिज के अनुसार शादी की रजिस्ट्रेशन फीस 100 रुपए होती है। आपको बता दे यह जो फीस ली जाती है वह एप्लीकेशन की होती है। स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत आवेदक को 150 रुपए तक फीस देनी होती है। इसके अलावा एफवेविट का खर्चा 400 से 500 रुपए तक देना होता है। यह आवेदन के साथ जमा होता है।

पात्रता

  • विवाह के एक माह के भीतर विवाह पंजीकरण कराना जरूरी है।
  • आवेदक महिला कीमुर उम्र 18 साल एवं पुरुष की उम्र 21 साल होनी चाहिए।
  • दोनों भारत के मूल निवासी होने चाहिए।
  • अगर वर वधु में दोनों में से किसी का पहले तलाक हुआ है तो उन्हें अपना तलाक प्रमाण पत्र भी जमा करना है।
पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज
  • वर तथा वधू का आधार कार्ड
  • आवासीय प्रमाण पत्र
  • दोनों की पासपोर्ट साइज फोटो
  • विवाह की फोटो
  • विवाह का निमंत्रण कार्ड
  • दोनों का आयु प्रमाण पत्र
  • शादी में उपस्थित दो गवाह की पूरी जानकारी एवं उनका प्रमाण पत्र
  • एबेंसी द्वारा नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (विदेश में विवाह होने की स्थिति में)

विवाह पंजीकरण की ऑनलाइन प्रक्रिया

  • आवेदक को सबसे पहले अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर विजिट करना है।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आएगा।
  • यहां पर Apply Now का विकल्प दिखाई देगा इस पर आपको क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओपन होगा।
  • अब इस फॉर्म में आपसे कुछ जरुरी जानकारी पूछी गई है जैसे- आपका नाम, मोबाइल नंबर तथा ईमेल आईडी आदि आपको दर्ज कर लेनी है।
  • सभी जानकारी को ध्यान से दर्ज करने के बाद आपको फॉर्म में मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना है।
  • इसके पश्चात आपको नीचे submit के विकल्प पर क्लिक कर लेना है।
  • इस तरह से आपका विवाह पंजीकरण में आवेदन सम्पूर्ण हो जाएगा।

Marriage Registration की ऑफलाइन प्रक्रिया

  • ऑफलाइन प्रक्रिया के लिए सबसे पहले आपको अपने सब रजिस्ट्रार के ऑफिस जाना है।
  • अब आपको वहां से Marriage Registration फॉर्म प्राप्त करना है।
  • अब इस फॉर्म में आपसे कुछ जरूरी जानकारी मांगी गई है जैसे- आपका नाम, मोबाइल नंबर तथा ईमेल आईडी आदि इन सब को आपको फॉर्म में ध्यान से भरना है।
  • आपको फॉर्म में पूछे गए सभी आवश्यक डाक्यूमेंट्स को संलग्न करना है।
  • अब इस फॉर्म को आपको वहीं जाकर जमा कर देना है जहां से आपने इसे प्राप्त किया था।
  • अब एक रेफरेंस नंबर दिया जाएगा।
  • रेफरेंस नंबर की सहायता से आप अपनी रजिस्ट्रेशन स्थिति को चेक कर सकते हैं।

यह भी देखेंराशन कार्ड से नाम हटाने के लिए आवेदन फॉर्म

[PDF] राशन कार्ड से नाम हटाने के लिए आवेदन फॉर्म | How to Remove Names from Ration Card

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें