एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन | विवाह प्रमाण पत्र ऑनलाइन पंजीकरण मध्य प्रदेश

एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन – आज हम अपने आर्टिकल के माध्यम से आपको बताने वाले है की किस प्रकार आप घर बैठे -बैठे ऑनलाइन मोड़ में अपना एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन कर सकते हो। इसके लिए आपको कहीं भी जाने की जरूरत नहीं होगी। अब मध्य प्रदेश सरकार ने लोगो की सुविधा के लिए आधिकारिक वेबसाइट जारी की है। ताकि लोग अपनी सुविधा के अनुसार अपना रजिस्ट्रेशन कर सके। और कार्यालय के चक्कर ना काटने पड़े। आज हम अपने आर्टिकल में आपको एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन के बारे में और भी अन्य जानकारी साझा करेंगे। आप हमारे MP online marriage certificate registration आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

एमपी-मैरिज-रजिस्ट्रेशन-2020

एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन 2021

विवाह प्रमाण पत्र एक ऐसा दस्तावेज है जो पति पत्नी के संबंध को दर्शाता है और साथ ही क़ानूनी रूप से शादी को मान्यता देता है। विवाह प्रमाण पत्र हमारे अनेको काम आता है जिससे की हमारा आसानी से कार्य हो जाता है। सरकार द्वारा दिशा -निर्देशों के अनुसार विवाह प्रमाण पत्र बनाना जरुरी है। विवाह सर्टिफिकेट सरकारी अधिकारी द्वारा जारी किया जाता है। यदि आप अपना सर्टिफिकेट नहीं बनाते है तो इसके लिए आपको दंड दिया जायेगा। विवाह प्रमाण पत्र के लिए पात्रता लड़के की आयु 21 वर्ष से अधिक और लड़की की आयु 18 वर्ष से ज्यादा होनी चाहिए। मध्य प्रदेश के उम्मीदवार ऑफलाइन और ऑनलाइन के माध्यम से आप आवेदन कर सकते है।

MP online marriage certificate registration

आर्टिकल मध्य प्रदेश मैरिज रजिस्ट्रेशन
लाभअन्य दस्तावेजों को बनाने में मदद
उद्देश्यबाल विवाह को रोकना
आवेदन मोड़ऑफलाइन / ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.mpenagarpalika.gov.in

एमपी विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज

मध्य प्रदेश विवाह प्रमाण पत्र बनाने के लिए आपको निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। जब आपके पास ये दस्तावेज होंगे आप तभी अपना विवाह सर्टिफिकेट बना सकते है।

  • शादी का आमंत्रण कार्ड
  • शादी के समय की फोटो
  • वर वधु का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • दो गवाह और उनका पता प्रमाण और पहचान पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • वर वधु के द्वारा बनाया गया एफिडेविट
  • शादी हाल की रसीद
  • जाति प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • सभी दस्तावेज सरकारी प्रमाणित होने अनिवार्य है।
  • यदि अगर शादी विदेश में हुयी हो तो वहां के अधिकारी द्वारा नो ऑब्जेक्शन का प्रमाण पत्र।

एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन के लाभ

  • शादी के बाद यदि वधु अपना और दस्तावेजों में अपना उपनाम बदलना चाहती है तो वो बदल सकती है।
  • यदि आप विवाह प्रमाण पत्र बनाते है तो पहले आपकी आयु आपकी जन्मतिथि से और शादी के साल के वर्ष तक आंकी जाएगी। यदि आपकी शादी क़ानून के नियम के अनुसार 18 वर्ष से कम साल में शादी करा दी हो तो बाल विवाह कराने पर क़ानूनी तौर पर सजा दी जाएगी।
  • यदि शादी के बाद पति की मृत्यु हो जाती है तो इस अवस्था में सारे अधिकार पत्नी को प्राप्त हो जायेंगे।
  • विवाह प्रमाण पत्र बनाने से बाल विवाह को रोका जा रहा है और साथ ही महिलाओं के अधिकारों को रक्षा होगी।
  • यदि वर वधु का तलाक होता है या अन्य कोई बात होती है तो विवाह प्रमाण पत्र के अनुसार महिला को एलिमनी यानी मासिक भत्ता दिया जाएगा।
  • यदि आपके पास मैरिज सर्टिफिकेट है तो आप बैंक में ज्वाइंट खाता खोल सकते है।
  • जमीन खरीदने के मामले या आप अपना जीवन बीमा भी करा सकते है।

एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के लिए पात्रता

  • लड़के की उम्र 21 वर्ष और लड़की की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • वर वधु शादी के 1 महीने बाद आवेदन कर सकते है।
  • विवाह पंजीकरण के लिए वर वधु को शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होने चाहिए।
  • जिस क्षेत्र में आप आवेदन करेंगे उस क्षेत्र में वर या वधु को निवास करते हुए 6 महीने से अधिक होने चाहिए।

मध्य प्रदेश विवाह सर्टिफिकेट बनाने का उद्देश्य

जैसे की आप सब जानते ही है की पहले भारत में महिलाओं की स्थिति अच्छी नहीं थी। उनकी छोटी उम्र में ही शादी करा दी जाती थी और पति की मृत्यु के बाद उन्हें ससुराल में भी नहीं रखा जाता था। महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए सरकार ने विवाह प्रमाण पत्र को बनाना जरुरी समझा जिससे की महिलाओं को सामाजिक सुरक्षा प्रदान हो सके। आज भी बहुत सी जगहों में बाल विवाह कर दिया जाता है जो क़ानूनी जुर्म है। यदि कोई बाल विवाह करता है और वह विवाह प्रमाण पत्र बनाने जाता है तो इस स्थिति में कर्मचारी द्वारा आपके जन्मतिथि के अनुसार शादी के साल की वर्ष के अवधि ज्ञात की जाएगी। यदि इसमें लड़के या लड़की की आयु कम पायी गयी तो कर्मचारी द्वारा इसकी शिकायत आगे अधिकारी तक की जाएगी। और इसके लिए उन लोगो को सजा दी जाएगी। ताकि लोग कानून के नियमो का उल्लंघन ना कर सके।

एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करे ?

यदि आप विवाह प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं करना चाहते है तो आप ऑफलाइन आवेदन कर सकते है इसके लिए आपको नगर पालिका के कार्यालय में जाना होगा उसके बाद आप वहां से विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन फॉर्म ले ले। उसके बाद आप आवेदन फॉर्म में दर्ज सारी जानकारी भर दे। और पासपोर्ट साइज फोटो को भी लगा दे। और साथ में दो गवाहों के बारे में भी पूरी जानकारी दर्ज कर दे और उनके हस्ताक्षर भी कर दे। इसके बाद आप फॉर्म को दो गवाहों के साथ जाकर उसी कार्यालय में जमा कर दे और साथ में आवेदन पत्र के साथ सारे मांगे गए दस्तावेज भी जमा कर दे। कर्मचारियों द्वारा आपके दस्तावेजों की पुष्टि की जाएगी उसके कुछ दिन बाद आप कार्यालय से अपना सर्टिफिकेट ला सकते है।

मध्य प्रदेश विवाह प्रमाण ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

यदि आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो इसके लिए आपको किसी दफ्तर में नहीं जाना होगा और आप घर बैठे ही आवेदन कर सकते है। हम आपको नीचे आवेदन की पूरी प्रक्रिया साझा कर रहे है आप हमारे दिए हुए प्रक्रिया को फॉलो कर सकते है।

  • सबसे पहले आपको मध्य प्रदेश की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
MP-MARRIGE-REGISTRATION
  • इसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुल जायेगा आपको आपकी सिटीजन सर्विस के सेक्शन पर जाएँ। उसके बाद आपके सामने बहुत से विकल्प आजायेंगे आपको मैरिज रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा।
MP-MARRIGE-REGISTRATION-ONLINE
  • उसके बाद फिर आपके सामने नया विकल्प आजायेगा आपको फिर से मैरिज रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा।
madhy-pardesh- vivah-parman-patr
  • क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर नया पेज खुल जायेगा आपको क्लिक हियर टू अप्लाई पर क्लिक करे।
madhy-pardesh- marrige-certificate
  • क्लिक हियर टू अप्लाई पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल जायेगा।
मध्य-प्रदेश-मैरिज-रजिस्ट्रेशन
  • आपको इसमें अपने शहर के या क्षेत्र के नगर पालिका का नाम लिखना होगा और कंटीन्यू पर क्लिक कर दे।
madhy-pardesh- marrige-certificate-online
  • आपके स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म आजायेगा आपको फॉर्म में पूछी गयी सारी जानकारी दर्ज करनी होगी। उसके बाद फॉर्म को सब्मिट कर दे।

फॉर्म को सब्मिट करने के बाद आपके रजिस्टर्ड नंबर पर आपको सूचित कर दिया जायेगा। आप अपने जिला अधिकारी के कार्यालय जाकर अपना सर्टिफिकेट ले ले।

MP eNagarPalika Citizen App कैसे डाउनलोड करें ?
  • राज्य के सभी नागरिकों के लिए नगर पालिका की सेवाओं के लिए मोबाइल ऍप को भी लॉन्च किया गया है जिसकी सहायता से नागरिक अब पोर्टल में उपलब्ध सभी सेवाओं को मोबाइल ऍप के तहत प्राप्त कर सकते है।
  • मोबाइल ऍप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें। एमपी-मैरिज-रजिस्ट्रेशन
  • लिंक में क्लिक करने के पश्चात आवेदक की स्क्रीन में MP eNagarPalika Citizen App खुलकर आएगा।
  • अब नए पेज में इंस्टाल के ऑप्शन में क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके मोबाइल फ़ोन में ऍप डाउनलोड हो जायेगा जिसकी सहायता से नागरिक सभी सेवाओं का लाभ प्राप्त कर पाएंगे।

एमपी मैरिज रजिस्ट्रेशन से जुड़े कुछ प्रश्न और उनके जवाब

मध्य प्रदेश विवाह रजिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

मध्य प्रदेश विवाह रजिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट- https://www.mpenagarpalika.gov.in/ है।

एमपी के नवदम्पति कौन-कौन से मोड़ में विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते है ?

आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड़ में आवेदन कर सकते है।

विवाह पंजीकरण के लिए पति पत्नी की उम्र कितने वर्ष होनी चाहिए ?

पति की उम्र 21 वर्ष एवं पत्नी की उम्र 18 वर्ष विवाह पंजीकरण करने के लिए आवश्यक होनी चाहिए।

मध्य प्रदेश मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे कर सकते है ?

हमने आपको अपने लेख में आवेदन की पूरी विधि बता रखी है आप हमारे दिए हुए स्टेप्स फॉलो कर सकते है।

मैरिज सर्टिफिकेट बनाने का उद्देश्य क्या है ?

मैरिज सर्टिफिकेट बनाने का उद्द्देश्य महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करना और बाल विवाह जैसे होने वाले अपराधों को रोकना है।

एमपी विवाह रजिस्ट्रेशन स्टेटस चेक करने के लिए आवेदक के पास क्या होना आवश्यक है ?

विवाह रजिस्ट्रेशन स्टेटस चेक करने के लिए आवेदक के पास Application number होना आवश्यक है एप्लीकेशन नंबर के माध्यम से ही वह विवाह रजिस्ट्रेशन स्टेटस की प्रक्रिया को चेक कर सकते है।

मध्य प्रदेश विवाह प्रमाण पत्र बनाने के लिए शुल्क का भुगतान कैसे कर सकते है ?

मध्य प्रदेश विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आवेदक को शुल्क का भुगतान ऑनलाइन ही पूर्ण करना होगा।

जैसे की हमने आपको आर्टिकल में आवेदन करने की सारी जानकारी साझा कर दी है यदि आपको मैरिज सर्टिफिकेट को लेकर कोई समस्या या कोई अन्य जानकारी चाहिए होगी तो आप हमे नीचे कमेंट बॉक्स में मेसेज कर सकते है।

Leave a Comment