मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता

Share on:

मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना – की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा की गयी इस योजना के अंतर्गत राज्य के उन सभी नागरिकों को लाभान्वित किया जायेगा जिनके माता-पिता में से किसी की भी मृत्यु कोरोना महामारी के कारण हुई है। राज्य में कई बच्चे ऐसे है जिनके माता-पिता की मृत्यु के बाद उनके जीवन में किसी प्रकार का कोई सहारा नहीं। मध्य प्रदेश सरकार ने ऐसे अनाथ बच्चों के देखभाल एवं उनकी शिक्षा हेतु Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana को शुरू किया है इस योजना के अंतर्गत अनाथ बच्चों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी इसके साथ ही आर्थिक सहायता के तौर पर एमपी सरकार के द्वारा इन बच्चों को प्रतिमाह 5 हजार रूपए पेंशन के रूप में प्रदान की जाएगी। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से एमपी कोविड-19 जन कल्याण योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी को साझा करेंगे अतः योजना की अधिक जानकारी के लिए हमारे इस लेख को पूरा पढ़े।

मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता
मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता

Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana

मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना – मध्य प्रदेश सरकार ऐसे बेसहारा और असहाय बच्चों को योजना के माध्यम से सहायता प्रदान करेगी जिनके अभिभावक का देहांत कोरोना महामारी के समय में हुआ है।। एमपी सरकार के द्वारा निराश्रित बच्चो को जीवन की गति में एक सहारा प्रदान करने हेतु बच्चों के उज्वल भविष्य के लिए यह एक महत्वपूर्ण योजना शुरू की गयी है। अब सभी अनाथ बच्चे बिना किसी आर्थिक परेशानी के अपनी शिक्षा को जारी रख पाएंगे एवं साथ ही जीवन में होने वाली सभी जरूरतों की पूर्ति पेंशन के रूप में मिलने वाली धनराशि से पूरा कर पाएंगे। पेंशन राशि का लाभ लाभार्थी बच्चों को Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana के माध्यम से 21 वर्ष की अवस्था तक बच्चों को प्रदान किया जायेगा।

एमपी कोविड-19 जन कल्याण योजना 2022

योजना एमपी कोविड-19 जन कल्याण योजना
योजना की शुरुआतसीएम शिवराज सिंह चौहान जी द्वारा
राज्यमध्य प्रदेश
वर्ष2021- 22
लाभार्थीकोविड संक्रमण के समय में जिन बच्चों
के अभिभावक की मृत्यु हुई है
लाभप्रतिमाह पेंशन राशि एवं मुफ्त शिक्षा
पेंशन राशि5 हजार रूपए
उद्देश्यकोरोना संक्रमण में जिन बच्चों के माता-पिता
की मृत्यु हुई है ऐसे अनाथ बच्चों को
आवेदनअभी उपलब्ध नहीं है
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
कोविड-19-जन-कल्याण-योजना

MP Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana 2022

कोविड-19 जन कल्याण योजना 2021– के अंतर्गत कोविड 19 में अनाथ हुए बच्चों को मध्य प्रदेश सरकार मुफ्त में शिक्षा प्रदान करेगी। यह शिक्षा कक्षा एक से लेकर उच्च वर्ग के कोर्स पीएचडी तक बच्चों को प्राप्त होगी। 8th क्लास तक बच्चों को RTI के माध्यम से प्राइवेट स्कूलो में शिक्षा प्राप्त होगी इसके साथ ही आगे की पढाई छात्र सरकारी स्कूलो के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे। उच्च आय वर्ग के कोर्स करने के लिए लाभार्थी बच्चों को यूनिवर्सिटी ,से कोई शुल्क नहीं लिया जायेगा। छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य के लिए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा MP Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana 2021 को शुरू किया गया है। मुफ्त शिक्षा के साथ साथ लाभार्थी छात्र नागरिकों को योजना के माध्यम से भत्ता सहायता भी प्रदान किया जायेगा। भत्ता राशि प्रतिमाह छात्राओं को 1500 रूपए के तौर पर प्रदान किया जायेगा। इसके साथ ही ग्रेजुएशन तक की पढाई के लिए प्रतिमाह सहायता के रूप में 5 सौ रूपए की राशि विद्यार्थियों को प्राप्त होगी।

मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना के उद्देश्य

Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana – का मुख्य उद्देश्य है कोरोना महामारी संकट के समय में हुई मृत्यु के कारण जो अपने माता-पिता के देहांत के बाद अनाथ हो गए है ऐसे लाभार्थी बच्चों को सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। जो बच्चे अपने माता-पिता की मृत्यु के बाद बेसहारा हो गए है वह योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र है। प्रतिमाह योजना के अंतर्गत सहायता हेतु बच्चों को 21 वर्ष की आयु तक 5 हजार रूपए तक पेंशन प्रदान की जाएगी जिससे वह जीवन में होने वाली सभी आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकते है। अब उन्हें अपने जीवन निर्वाह करने के लिए किसी भी व्यक्ति पर आश्रित नहीं रहना पड़ेगा। योजना के अंतर्गत लाभार्थी बच्चे एक बेहतर शिक्षा की प्राप्ति करके अपने जीवन की दिशा में बदलाव ला सकते है। मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना अनाथ बच्चों को राशन से लेकर शिक्षा तक की सभी सुविधाएँ प्रदान करेगी।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना 2022 लाभ एवं विशेषताएं

कोविड-19 जन कल्याण योजना से संबंधित सभी लाभ एवं विशेषताओं का उल्लेख नीचे वर्णित किया गया है।

  • कोरोना संक्रमण में अनाथ हुए सभी बच्चों को Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana 2022 का लाभ वितरित किया जायेगा।
  • योजना के अंतर्गत एमपी सरकार के द्वारा अनाथ बच्चों को मुफ्त शिक्षा एवं आर्थिक सहायता का लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • अब लाभार्थी बच्चे योजना के अंतर्गत प्रतिमाह आर्थिक सहायता के रूप में 5 हजार रूपए की पेंशन राशि को प्राप्त कर सकेंगे।
  • इसके साथ ही बच्चे योजना के तहत एक बेहतर शिक्षा को प्राप्त करके अपनी आर्थिक स्तर को ऊँचा कर सकते है।
  • मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों को योजना का लाभ 21 वर्ष की आयु तक प्राप्त होगा।
  • कोरोना महामारी से संक्रमित जिन बच्चो के अभिभावक के मृत्यु इलाज के 2 माह के अंतराल में मृत्यु हुई वह सभी कोविड-19 जन कल्याण योजना के तहत सभी सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने में सहायक होंगे।
  • उन सभी परिवार के बच्चों को योजना का लाभ प्राप्त होगा जिनके माता-पिता का निधन कोरोना महामारी के समय में 1 मार्च 2020 से 31 जुलाई 2021 के मध्य में हुआ है।
  • अब प्रदेश के कोरोना महामारी के समय में हुए अनाथ को अपने जीवन गुजर बसर करने के लिए किसी भी परेशानी से नहीं गुजरना नहीं पड़ेगा। यह योजना बेसहारा बच्चों को सभी प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध करवाएगी।
  • बच्चे कक्षा 1 से लेकर उच्च प्रोफेशनल जैसे कोर्सों की प्राप्ति निशुल्क Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana के तहत प्राप्त कर सकते है।
  • योजना के माध्यम से अच्छी आय वर्ग की शिक्षा प्राप्त करने के बाद विद्यार्थी अपने जीवन गति को नई दिशा प्रदान करेंगे साथ ही वह आत्मनिर्भर और सशक्त बनेगें।

योजना हेतु पात्रता एवं मानदंड

  • आवेदक नागरिक को योजना के तहत मिलने वाली सभी सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए एमपी राज्य का मूल निवासी नागरिक होना अनिवार्य है।
  • कोविड-19 जन कल्याण योजना के लिए नागरिक तभी पात्र अगर उसका परिवार सरकार के द्वारा संचालित पेंशन योजनाओं का लाभ प्राप्त न कर रहा हो।
  • अगर आवेदक नागरिक पहले से ऐसे किसी कोरोना महामारी योजनाओं के तहत कोई लाभ प्राप्त कर रहें है तो वह इस योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए पात्र नहीं माने जायेंगे।
  • 21 वर्ष से कम आयु वाले बच्चे ही Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana हेतु आवेदन के पात्र है।
कोविड-19 जन कल्याण योजना आवेदन हेतु दस्तावेज
  • आवेदक नागरिक का आधार कार्ड
  • आवास प्रमाण पत्र
  • बर्थ सर्टिफिकेट
  • माता-पिता की कोरोना बीमारी से मृत्यु का प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना 2022 आवेदन कैसे करें ?

राज्य के पात्र लाभार्थी नागरिक मुख्यमंत्री कोविड 19 जन कल्याण योजना में आवेदन करना चाहते है नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर आसानी से आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर सकते है।

  • Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana Registration करने हेतु नागरिक को अपने क्षेत्र के नगर निगम आयुक्त, सीएमओ या फिर जनपद पंचायत के सीईओ के ऑफिस में विजिट करना होगा।
  • इसके बाद संबंधित कार्यालय से योजना के अंतर्गत आवेदन पत्र को प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन पत्र प्राप्त करने के बाद फॉर्म में पूछी गयी सभी प्रकार की जानकारी को फॉर्म में भरना होगा।
  • इसके बाद आवेदन पत्र के साथ अपनी पासपोर्ट साइज फोटो एवं सभी आवश्यक दस्तावेजों को फॉर्म के साथ सलंगन कर संबंधित कार्यालय में आवेदन पत्र को जमा कराएं।
  • इस प्रकार आवेदन पत्र जमा करने के बाद कार्यालय से नागरिक को रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त होगा।
  • पंजीकरण संख्या प्राप्त होने के बाद आवेदन करने की प्रक्रिय नागरिक की पूर्ण हो जाएगी।

Mukhyamantri Covid-19 Jan Kalyan Yojana से संबंधित प्रश्न उत्तर

मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना किसके द्वारा शुरू गयी है ?

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना को शुरू किया है।

योजना के अंतर्गत राज्य के कौन से नागरिकों को लाभान्वित किया जायेगा ?

एमपी राज्य के उन नागरिकों को मुख्यमंत्री कोविड-19 जन कल्याण योजना के तहत लाभान्वित किया जायेगा जिनके अभिभावकों की मृत्यु कोरोना महामारी के कारण हुई है ऐसे अनाथ बच्चों को योजना के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

अनाथ बच्चों को योजना के माध्यम से कितनी सहायता राशि प्राप्त होगी ?

प्रत्येक माह अनाथ बच्चों को एमपी सरकार की इस योजना के माध्यम से 5 हजार रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी साथ ही योजना के तहत वह निशुल्क शिक्षा की प्राप्ति के लिए भी पात्र है।

आवेदन करने के लिए नागरिक को माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र को प्रस्तुत करना अनिवार्य है ?

हाँ इस योजना में आवेदन करने के लिए लाभार्थी व्यक्ति के पास कोरोना बीमारी से संक्रमित माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र होना आवश्यक है इसी के आधार पर उन्हें योजना से मिलने वाले सभी लाभों की प्राप्ति होगी।

Leave a Comment