पुलिस की वर्दी और स्टार से उसकी रैंक कैसे पहचाने? पुलिस की वर्दी पर स्टार का मतलब, पुलिस की रैंक (Ranks of Police) की जानकारी

जैसे आप सब जानते है की पुलिस की वर्दी सब की एक जैसे होती है चाहे कोई उच्च पद पर हो या एक सिपाही के तौर पर कार्यरत हो। लेकिन आपने देखा होगा की वर्दी तो समान है लेकिन पुलिस की वर्दी पर लगे स्टार से अलग होते हैं (Ranks of Police) या किसी वर्दी ... Read more

Photo of author

Reported by Dhruv Gotra

Published on

जैसे आप सब जानते है की पुलिस की वर्दी सब की एक जैसे होती है चाहे कोई उच्च पद पर हो या एक सिपाही के तौर पर कार्यरत हो। लेकिन आपने देखा होगा की वर्दी तो समान है लेकिन पुलिस की वर्दी पर लगे स्टार से अलग होते हैं (Ranks of Police) या किसी वर्दी में स्टार या कोई चिन्ह ही नहीं होते हैं। आपको बता दें इससे पुलिस की रैंक (police rank) या पद का आसानी से पता चलता है। बहुत से युवा आज के समय में पुलिस बल के लिए तैयारी कर रहे हैं आप कौन सी रैंक या पद के लिए तैयारी कर रहे हैं आपको ये पता होना चाहिए की पद के हिसाब से पुलिस बल को अलग-अलग श्रेणियों, विभागों में तैनात किया जाता है।

क्या आपने कभी गौर किया है की किसी पुलिस वाले की वर्दी पर स्टार या अशोक के, तलवार के निशान है लेकिन किन्हीं पुलिस वालों की वर्दी समान होती है उसमें कोई भी स्टार नहीं लगे होते हैं। इसके साथ ही इंडियन आर्मी की वर्दी पर भी अलग-अलग स्टार और चिन्ह लगे होते हैं। आज हम अपने लेख के माध्यम से आपको बताएंगे की कैसे आप पुलिस को उनके स्टार से ही उनकी रैंक (पुलिस रैंक लिस्ट) और पद की पहचान कर आसानी से कर सकते हैं।

पुलिस की वर्दी और स्टार से उसकी रैंक कैसे पहचाने?

जो युवक और युवतियां पुलिस बल की तैयारी कर रहे हैं उन उम्मीदवारों के पास ये जानकारी होनी बहुत जरूरी है। क्योंकि परीक्षा में ऐसे सवाल भी पूछे जाते है। पुलिस में छोटे पद से लेकर बड़े पद तक अलग-अलग बैच और रैंक का फर्क होता है आपको इसका पता होना जरूरी है। आप लगे हुए बैज को देखकर पता लगा सकते हैं की कौन सा (Police rank list) पुलिस वाला किस पद पर है। छोटे पद पर तैनात अपने से बड़े अफसर के अधीन होते हैं जिन्हें अपने हर एक कार्य के लिए अपने से बड़े अफसर को जवाबदेही के लिए जिम्मेदार होता है। आज हम अपने आर्टिकल के माध्यम से आपको पुलिस की रैंक और बैज के बारे में जानकारी (Identify the Police Rank by His Badges) देने जा रहे हैं जो आपकी जानकारी को बढ़ाने में मदद करेगी। उम्मीदवार विस्तृत जानकारी के लिए आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहें।

Ranks of Indian Police in Hindi

आर्टिकल Ranks of Police
विभागपुलिस
उच्च पदडीआईबी (DIB)
सबसे छोटा पदपुलिस कॉन्स्टेबल
कुल पद16
आधिकारिक वेबसाइटpolice.gov.in
पुलिस की वर्दी और स्टार से उसकी रैंक कैसे पहचाने? पुलिस की वर्दी पर स्टार का मतलब, पुलिस की रैंक (Ranks of Police) की जानकारी
पुलिस की वर्दी और स्टार से उसकी रैंक कैसे पहचाने?

पुलिस को हिंदी में क्या कहते हैं?

पुलिस को हिंदी में आरक्षी या आरक्षक कहा जाता है वहीं कानून की पुरानी किताबों में पुलिस को राजकीय जन रक्षक नाम से सम्बोधित किया गया है। पुलिस राज्य के सुरक्षा बल के अंतर्गत आते हैं, आगे हम जानेंगे पुलिस विभाग में अलग-अलग अधिकारियों एवं कर्मचारियों की रैंक क्या होती है और कैसे पहचानते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Indian Police Ranks and Badges in Hindi

यह भी पढ़े :- पुलिस या थाना प्रभारी शिकायत को आवेदन पत्र या एप्लीकेशन कैसे लिखें

पुलिस विभाग में कितने पद होते हैं।

आमतौर पर पुलिस विभाग में पुलिस महा निदेशक से लेकर पुलिस कांस्टेबल तक 16 पद होते है, लेकिन कुछ राज्यों में अतिरिक्त पद भी हो सकते हैं।

  1. पुलिस महा निदेशक (डीजीपी)
  2. अतिरिक्त पुलिस महा निदेशक (एडीजीपी)
  3. पुलिस महा निरीक्षक (आईजी)
  4. पुलिस उप महा निरीक्षक (डीआईजी)
  5. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी)
  6. पुलिस अधीक्षक (एसपी)
  7. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एड. एसपी)
  8. सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी)
  9. पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी)
  10. पुलिस निरीक्षक (पीआई)
  11. उप-निरीक्षक (एसआई)
  12. सहायक उप-निरीक्षक (एएसआई)
  13. सिपाही
  14. हेड कांस्टेबल (हवलदार)
  15. वरिष्ठ कांस्टेबल (लांस नायक)
  16. पुलिस कांस्टेबल (पीसी)

पुलिस की वर्दी पर स्टार का क्या मतलब होता है?

पुलिस की वर्दी पर लगे स्टार का मतलब उनके पद से होता है वे जिस पद पर कार्य कर रहे हैं उन्हें उस अनुसार स्टार लगाए जाते हैं या प्रदान किये जाते हैं। वर्दी पर लगे स्टार का मतलब उनके रैंक से होता है। हर पद के लिए बैज भी अलग-अलग होते हैं जिन पर अलग-अलग रंग की पट्टियां भी लगी होती है। हर पद के अनुसार वर्दी पर अलग-अलग चिन्ह होते हैं। पुलिस की वर्दी पर लगे स्टार अपने रैंक के हिसाब से एक दूसरे के अधीन काम करते हैं। जिसमें आपको अपने से बड़े वाले पद पर तैनात अफसर को जवाब देना होता है। पुलिस बल में भी अलग-अलग विभाग बनाये जाते हैं जिसमें हर किसी को अलग-अलग कार्य के लिए तैनात किया जाता है यानी विभाग के अनुसार काम दिया जाता है।

पुलिस की रैंक (Indian Police Ranks) की जानकारी

यहां हमने पुलिस रैंक लिस्ट (police rank list) उपलब्ध कराई है इसमें वर्दी, बैज/स्टार और क्रमानुसार विवरण दिया है, जिससे आप आसानी से पोलिस रैंक के बारे में जान सकते हैं।

  • पुलिस कॉन्स्टेबल (POLICE CONSTABLE) पुलिस पद में पुलिस कॉन्स्टेबल का पद सबसे छोटा होता है। इसमें कॉन्स्टेबल को सादी यूनिफार्म (वर्दी) दी जाती है जिसमे एक भी बैज या स्टार नहीं लगे होते हैं। यह पुलिस बल की सबसे कम रैंक वाला पद होता है।
    POLICE-CONSTABLE
  • सीनियर पुलिस कॉन्स्टेबल (SENIOR POLICE CONSTABLE)– यह पद पुलिस कॉन्स्टेबल से ऊपर का पद होता है सीनियर पुलिस कॉन्स्टेबल। इनके बैज की जगह पर काले रंग की पट्टी होती है जिसके ऊपर से पीले रंग की भी पट्टी होती है लेकिन कुछ राज्यों में बैज पर लाल रंग की पट्टियां रहती है।
  • हैड कॉन्स्टेबल (HEAD CONSTABLE) – कांस्टेबल में सबसे बड़ा पद हैड कॉन्स्टेबल का होता है। जिसमें इनकी वर्दी पर काले रंग की पट्टी पर पीले रंग की 2 पट्टी लगी होती है। किसी राज्य में लाल रंग की चौड़ी पट्टी पर तीन काली पट्टी लगी होती है।
    police-rank-head-constable
  • असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर (ASSISTANT SUB INSPECTOR)– असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर को ASI भी कहते हैं। हैड कॉन्स्टेबल के बाद एएसआई की रैंक आती है। इनकी वर्दी पर एक लाल और नीली पट्टी के साथ एक स्टार भी लगा होता है। जैसा की चित्र में दर्शाया गया है। police-rank-head-ASSISTANT-SUB-INSPECTOR
  • सब इंस्पेक्टर (SUB INSPECTOR)– ASI के बाद सब इंस्पेक्टर की रैंक आती है। जिन्हे हम एसआई भी कहते है। इनकी वर्दी पर लाल और नीली रंग की पट्टी लगी होती है जिसमें 2 स्टार लगे होते हैं। Sub-Inspector
  • इंस्पेक्टर (INSPECTOR)– इसके बाद होता है इंस्पेक्टर जो थाने का इंचार्ज होता है। पूरा थाना इंस्पेक्टर के अधीन होता है। जो थाने में सबसे ऊँचा पद होता है। इनकी वर्दी पर एक लाल और नीली स्ट्रिप होती है जिस पर तीन स्टार लगे होते हैं। Inspector-TI
  • डिप्टी सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस (DEPUTY SUPRINDENTENT OF POLICE)- इन्हें हम डीएसपी के नाम से भी जानते हैं। इंस्पेक्टर के बाद डिप्टी सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस की रैंक आती है। इनकी वर्दी पर एक लाल और खाकी रंग का बैज होता है जिस पर कोई भी कोई भी स्ट्रिप नहीं होती है बैज पर तीन स्टार लगे होते है। Deputy-Superintendent-Of-Police
  • एडिशनल सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस (ADDITIONAL SUPRINDENTENT OF POLICE) – डीएसपी के ऊपर एडिशनल सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस की रैंक आती है जिन्हें एडिशनल डिप्टी कमिश्नर भी बोलते हैं। एएसपी की वर्दी पर सिर्फ अशोक का स्तम्भ होता है।
    Additional-Superintendent-Of-Police
  • सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस (SUPRINDENTENT OF POLICE)सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस ASP से ऊपर रैंक करते हैं। जो डीसीपी, एसपी के नाम से भी जाने जाते हैं। इनकी वर्दी पर अशोक का स्तम्भ और और एक स्टार लगा होता है। Superintendent-Of-Police
  • सीनियर सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस (SENIOR SUPRINDENTENT OF POLICE)– SP से ऊँचा पद होता है सीनियर सुपरिंडेंटेंट ऑफ़ पुलिस का इन्हें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के नाम से भी जाना जाता है। ये बड़े शहरों में तैनात होते है इनके अंतर्गत पूरा जिला आता है। इनकी वर्दी पर एक अशोक का स्तम्भ और 2 स्टार लगे होते हैं। इसे कहीं जगह डीसीपी भी कहा जाता है।
    Senior-Superintendent-Of-Police
  • डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस (DEPUTY INSPECTOR GENERAL OF POLICE)– एसएसपी से ऊँचा पद डीआईजी का होता है। इन्हे पुलिस उपमहानिरक्षक भी कहते है। और साथ ही एडिशनल ऑफ़ पुलिस कमिश्नर भी कहा जाता है। इनके बैज पर आईपीएस IPS लिखा होता है और अशोक के स्तम्भ के साथ तीन स्टार भी रहते हैं। Deputy-Inspector-General-Of-Police
  • इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस (INSPECTOR GENERAL OF POLICE)– डीआईजी से ऊँचा पद इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस आईजीपी का होता है। जिन्हें पुलिस महानिरक्षक के नाम से भी जाना जाता है। इनकी वर्दी पर एक तलवार और स्टार रहता है। और बैज में आईपीएस लिखा होता है। Inspector-General-Of-Police
  • एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस (ADDITIONAL DIRECTOR GENERAL OF POLICE) डीआईजी से ऊँचा पद एड़ीजीपी का होता है। ये आईपीएस अधिकारी होते हैं और इनकी वर्दी अशोक का स्तम्भ और तलवार के साथ IPS लिखा होता है।
    Additional-Director-General-Of-Police-rank
  • डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस (DIRECTOR GENERAL OF POLICE) – डीजीपी को कमिश्नर ऑफ़ पुलिस भी कहा जाता है। DGP पुलिस विभाग की सबसे बड़ी पोस्ट है, इनकी वर्दी पर अशोक का स्तम्भ और तलवार के साथ आईपीएस लिखा होता है।
    Director-General-Of-Police
  • डायरेक्टर ऑफ़ इंटेलिजेंस ब्यूरो (DIRECTOR OF INTELLIJEANS BUREAU)– डीआईबी खुफिया एजेंसी के निदेशक होते है। जिनका सबसे बड़ा पद होता है और इनकी वर्दी पर अशोक स्तम्भ, तलवार, और एक स्टार होता है। police-rank-director-of-intelligence-bureau
what are the ranks in ips

पुलिस रैंक लिस्ट (Rank of Police) से जुड़े कुछ प्रश्न और उनके उत्तर

पुलिस की वर्दी पर स्टार का मतलब क्या होता है?

पुलिस की वर्दी पर स्टार का मतलब है की वे किस पद पर कार्यरत है। ये दर्शाता है।

भारतीय पुलिस बल में सबसे छोटे पद पर कौन सी पुलिस तैनात है ? व इनकी वर्दी में कितने स्टार होते हैं?

भारतीय पुलिस बल में सबसे छोटे पद पर पुलिस कॉन्स्टेबल तैनात है। इनकी वर्दी पर एक भी स्टार या स्ट्रिप नहीं होती हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

भारतीय पुलिस बल में सबसे बड़े पर किसे आयुक्त किया जाता है? और इनके बैच में कितने स्टार लगाए जाते हैं?

भारतीय पुलिस बल में सबसे बड़े पद पर डीआईबी होते हैं जो खुबिया एजेंसी के निदेशक के तौर पर कार्य करते हैं।

पुलिस वर्दी पर क्या नेम प्लेट होनी जरूरी है?

जी हाँ पुलिस वर्दी पर नेम प्लेट होनी जरूरी है।

पुलिस की रैंक से आप क्या समझते हैं?

पुलिस की रैंक के हिसाब से ही उनके बैच निर्धारित किये जाते हैं।

सब इंस्पेक्टर की पोस्ट के लिए कितने स्टार होते है?

सब इंस्पेक्टर के पद में तैनात पुलिस सर्विस मैन की वर्दी में 2 स्टार होते है।

पुलिस में सबसे बड़ा पद (highest rank in police) कौन सा है?

डीजीपी पुलिस विभाग की सबसे ऊँची पोस्ट होती है। डीजीपी का फुल फॉर्म डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस होता है।

डीजीपी कौन होते हैं और इन के बैज में कितने स्टार / सितारे होते हैं?

डीजीपी के यूनिफार्म में 3 सितारे या स्टार होते हैं। डीजीपी भारतीय राज्यों और केंद्र शाषित प्रदेशों में सर्वोच्च रैंकिंग वाले पुलिस अधिकारी होते हैं। ये पुलिस दल के प्रमुख होते हैं। ये सभी आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा) अधिकारी होते हैं।

2 स्टार वाले पुलिस को क्या कहते हैं?

सब इंस्पेक्टर (SUB INSPECTOR) या जिसे ASI भी कहते हैं इसके 2 स्टार लगे होते हैं और ये इंस्पेक्टर के अंडर काम करता है।

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें