10वीं/12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में जानिये पूरी जानकारी – Polytechnic After 10th or 12th

यदि आप 10 वीं और 12 वीं पास कर चुके हैं और आप किसी कारणवश प्रचलित कोर्सेज में से किसी अन्य डिग्री को नहीं कर पा रहे या नहीं करना चाहते तो आज का लेख आप के लिए बहुत उपयोगी होने वाला है। हम इस लेख के माध्यम से आप को बताएंगे की आप कौन ... Read more

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

यदि आप 10 वीं और 12 वीं पास कर चुके हैं और आप किसी कारणवश प्रचलित कोर्सेज में से किसी अन्य डिग्री को नहीं कर पा रहे या नहीं करना चाहते तो आज का लेख आप के लिए बहुत उपयोगी होने वाला है। हम इस लेख के माध्यम से आप को बताएंगे की आप कौन सा डिप्लोमा कोर्स करें (Polytechnic After 10th or 12th) जो आप के लिए सुविधाजनक हो और जल्द से जल्द रोजगार दिलाने वाला हो। यूँ तो बहुत से डिप्लोमा कोर्सेज हैं जो अलग-अलग फील्ड में किये जा सकते हैं। इस लेख में आप आज जानेंगे ऐसे ही एक कोर्स के बारे में। इस डिप्लोमा कोर्स को सब पॉलिटेक्निक कोर्स के नाम से भी जानते हैं।

10वीं/12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स - Polytechnic After 10th or 12th
10वीं/12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स – Polytechnic After 10th or 12th

इस लेख के माध्यम से हम आप को पॉलिटेक्निक कोर्सेज की सूची, इसमें प्रवेश लेने की प्रक्रिया और दस्तावेज आदि के बारे में जानकारी देंगे। व इस से जुडी सभी आवश्यक जानकारी भी देंगे। यदि आप भी इस बारे में जानना चाहते हैं तो आप इस लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में यहाँ जाने

पॉलिटेक्निक या दूसरे शब्दों में कहें तो डिप्लोमा कोर्स एक तरह के शार्ट टर्म कोर्सेज होते हैं जिनमें अभ्यर्थियों को तकनीकी ज्ञान दिया जाता है। इन कोर्सेज के माध्यम से सैद्धांतिक ज्ञान की बजाए ज्यादा फोकस तकनीकी ज्ञान और कौशल विकास संबंधी ज्ञान पर होता है। इन डिप्लोमा कोर्सेज के माध्यम से अभ्यर्थियों को प्रैक्टिकल ट्रेनिंग (व्यावहारिक प्रशिक्षण) दिया जाता है। आप को बता दें की पॉलिटेक्निक कोर्स करने का उद्देश्य ही व्यावहारिक कौशल विकास (Practical Skill Development) है। पॉलिटेक्निक कोर्स की अवधी लगभग 3 वर्ष की होती है।

कृपया ध्यान दें की हर कोर्स की अवधी अलग-अलग होती है पर सामान्यतः हम इसे 3 वर्ष लगभग मान सकते हैं। इसमें नियमित रूप से क्लास अटेंड करनी होती है। पॉलिटेक्निक कोर्स उन विद्यार्थियों के लिए एक बेहतर विकल्प है जो आर्थिक रूप से इतने सक्षम नहीं हैं की महंगे कोर्सेज कर सकें। इसमें कम समय में आप को इतना फील्ड से सम्बन्धित इतना व्यावहारिक ज्ञान मिल जाता है की आप आसानी से बेहतर रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यह भी देखें :- भारत के 10 सबसे अच्छे कॉलेज

10 वीं के बाद होने वाले पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्सेज

अगर आप ने भी 10 वीं की परीक्षा पास की है और आप भी कोई डिप्लोमा करना चाहते हैं तो हम आप को यहाँ विभिन्न विषयों के साथ डिप्लोमा कोर्सेज की जानकारी दे रहे हैं। आप की जानकारी के लिए बता दें की पॉलीटेक्निक डिप्लोमा इंजीनियरिंग और नॉन इंजीनियरिंग दोनों ही फील्ड में होते हैं। आइये नीचे दी गयी सूची से समझते हैं –

सिविल इंजीनियरिंगप्रिंटिंग टेक्नोलॉजी
इंस्ट्रूमेंटेशन और नियंत्रणआंतरिक सजावट और डिजाइन
विमान रखरखावकपड़ा रसायन
वैमानिकीसामग्री प्रबंधन
आर्किटेक्चरल असिस्टेंटशिपचमड़ा प्रौद्योगिकी
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंगकपड़ा प्रौद्योगिकी
कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंगपुस्तकालय और सूचना विज्ञान
मैकेनिकल इंजीनियरिंगजन संचार
डेयरी इंजीनियरिंगफार्मेसी
कृषि अभियांत्रिकीहोटल प्रबंधन और खानपान सेवा
गृह विज्ञानप्लास्टिक और मोल्ड प्रौद्योगिकी
ग्लास और सिरेमिक इंजीनियरिंगकपड़ा डिजाइन
फैशन डिजाइनिंग और गारमेंट टेक्नोलॉजीवाणिज्यिक अभ्यास
रासायनिक अभियांत्रिकीआधुनिक कार्यालय प्रबंधन और सचिवीय अभ्यास
सूचना प्रौद्योगिकीपेंट टेक्नोलॉजी

महिला पॉलिटेक्निक संस्थान

आप को बता दें की कुछ डिप्लोमा कोर्सेज खास तौर से महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाये जाते हैं। ये कोर्सेज आप को हर पॉलिटेक्निक कॉलेज में साधारणतया मिल जाते हैं। इन इंस्टीटूट्स में महिलाओं को विशेष तौर पर इन डिप्लोमा कोर्सेज के माध्यम से संबंधित कार्यों में प्रवीण बनाया जाता है। ये हैं महिलाओं के लिए डिप्लोमा कोर्सेज – कुकिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग, फैशन डिजाइनिंग, सिरेमिक पेंटिंग, पॉटरी मेकिंग, सिलाई – बुनाई इत्यादि अन्य कोर्सेज।

Andhra Bank Union Bank Balance Enquiry Number 2023 | UBI Balance Check Missed Call Number

Andhra Bank Union Bank Balance Enquiry Number 2024 | UBI Balance Check Missed Call Number

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए पात्रता

जो भी इच्छुक उम्मीदवार इस कोर्स के लिए आवेदन करना चाहते हैं उनके लिए कुछ पात्रता मानदंड निर्धारित किये गए हैं। यदि आप भी इन पात्रता शर्तों को पूरा करते हैं तो आप भी आवेदन कर सकते हैं। आइये जानते हैं –

  • यदि अभ्यर्थी इंजीनियरिंग डिप्लोमा करना चाहते हैं तो कम से कम 10 वीं पास होना आवश्यक है। ये परीक्षा अभ्यर्थी द्वारा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास की गयी हो। जिसमें गणित, विज्ञान और अंग्रेजी विषय होने आवश्यक हैं।
  • यदि अभ्यर्थी होटल (और कैटरिंग) मैनेजमेंट, टूरिज्म मैनेजमेंट या फार्मेसी डिप्लोमा करना चाहते है तो उसका 12 वीं पास होना आवश्यक है।
  • आरक्षित श्रेणी वाले अभ्यर्थियों को आयु में छूट प्रदान की जाएगी।
प्रवेश हेतु ये हैं आवश्यक दस्तावेज

यदि आप भी पॉलीटेक्निक के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आप को आवेदन करने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। यहाँ हम आप को सभी जरूरी दस्तावेजों की एक सूची प्रदान कर रहे हैं। आप भी आवेदन पूर्व इन्हें तैयार कर लें।

  • 10 वीं और 12 वीं की परीक्षा में पास होने का प्रमाण पत्र व मार्कशीट (Pass Certificate and Marksheet)
  • चरित्र प्रमाण पत्र (character certificate)
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र (Domicile Certificate)
  • जाती प्रमाण पत्र (केवल आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए) (Caste Certificate)
  • प्रवास प्रमाण पत्र
  • स्कूल छोड़ने का / स्थानांतरण प्रमाण पत्र
  • प्रवेश परीक्षा हेतु जारी किया गया अभ्यर्थी का प्रवेश पर (admit card)
  • दी गयी प्रवेश परीक्षा का स्कोर कार्ड

पॉलिटेक्निक में कैसे लें प्रवेश – यहाँ जानें

जो भी अभ्यर्थी पॉलिटेक्निक कोर्स में प्रवेश लेना चाहते हैं वो यहाँ बतायी जा रही जानकारी को ध्यान से पढ़ें।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स हेतु आप को हर राज्य में कॉलेज मिल जाएंगे, जहाँ प्रवेश लेने के लिए अलग-अलग माध्यम हैं। जैसे की कुछ कॉलेज / इंस्टिट्यूट प्रवेश परीक्षा करवाते हैं वहीं कुछ कॉलेज मेरिट के आधार पर अभ्यर्थियों का चयन करते हैं। इसके लिए उनकी 10 वीं में प्राप्तांको के आधार पर मेरिट लिस्ट बनायी जाती है। आइये इसे अब विस्तार से समझते हैं –

  1. मेरिट के आधार पर : इस प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की प्रवेश परीक्षा नहीं होती। कुछ राज्यों में अभ्यर्थियों का चयन उनके 10 वीं और 12 वीं की मार्कशीट के आधार पर होता है। इसके लिए उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन मोड से पंजीकरण करना होता है। यहाँ उन्हें एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी जैसे की नाम पता, स्कूल, बोर्ड, प्राप्तांक, कक्षा आदि संबंधित जानकारियां देनी होंगी। साथ ही आवेदन शुल्क / फीस भी भरनी होगी। कृपया ध्यान दें की ये फीस हर राज्य में अलग-अलग हो सकती हैं। इसके बाद कॉलेज / इंस्टिट्यूट द्वारा मेरिट के आधार पर लिस्ट तैयार की जाती है। और निर्धारित सीटों पर एडमिशन के लिए छात्रों को काउंसलिंग हेतु बुलाया जाता है।
  2. एंट्रेंस (प्रवेश परीक्षा) के आधार पर : देश में बहुत से राज्यों में एंट्रेंस टेस्ट के आधार पर अभ्यर्थियों का चयन किया जाता है। इसमें एडमिशन के लिए सभी अभ्यर्थियों को ऑनलाइन एग्जाम देना होता है। इसके लिए पहले उन्हें ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करना होगा। इसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म के सब्मिशन के बाद अभ्यर्थियों के लिए एडमिट कार्ड को ऑनलाइन जारी किया जाता है। एडमिट कार्ड को डाउनलोड करना होता है। फिर प्रिंटआउट निकालने के बाद उम्मीदवार ऑफलाइन परीक्षा दे सकता है। जिसके बाद उत्तीर्ण छात्रों को कॉउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है। इसके बाद सभी डाक्यूमेंट्स चेक करने के बाद उन्हें एडमिशन मिल जाता है।

देश के राज्यों में उपलब्ध डिप्लोमा और प्रवेश प्रक्रिया

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आगे हम आपको विभिन्न राज्यों में पॉलीटेक्निक डिप्लोमा कोर्सेज में प्रवेश प्रक्रिया के बारे में बता रहे हैं। साथ ही आप को आधिकारिक वेबसाइट के लिंक भी उपलब्ध करा रहे हैं।

  • आंध्र प्रदेश पॉलिटेक्निक : –
    • पाठ्यक्रम : डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग
    • पात्रता : अभ्यर्थी भारतीय नागरिक होना चाहिए और आंध्र प्रदेश या तेलंगाना का स्थायी निवासी या मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा पास होना चाहिए, जिसमें न्यूनतम 35% अंक हों
    • प्रवेश परीक्षा : आंध्र प्रदेश पॉलिटेक्निक (कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • असम पॉलिटेक्निक :-
    • डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-मॉडर्न ऑफिस मैनेजमेंट (केवल लड़कियों के लिए)
    • अभ्यर्थी भारतीय नागरिक होना चाहिए और असम हायर सेकेंडरी एजुकेशन काउंसिल से 10वीं कक्षा पास या विज्ञान और गणित के साथ समकक्ष परीक्षा को पास करना अनिवार्य है (केवल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम)
    • पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा – ऑफलाइन परीक्षा
  • अरुणाचल प्रदेश पॉलिटेक्निक :-
    • डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग-डिप्लोमा इन होटल एंड कैटरिंग मैनेजमेंट (12वीं के बाद)
    • अभ्यर्थी भारतीय नागरिक होना चाहिए और अरुणाचल प्रदेश के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा पास होना चाहिए
    • (अरुणाचल प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा )
    • आधिकारिक वेबसाइट – यहाँ क्लिक करें
  • दिल्ली पॉलिटेक्निक: –
    • डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-मॉडर्न ऑफिस प्रैक्टिस (12वीं के बाद) -डिप्लोमा कोर्स इन फार्मेसी (12वीं के बाद)
    • -उम्मीदवार भारतीय नागरिक-सीबीएसई या किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 35% एग्रीगेट या विज्ञान, गणित और अंग्रेजी में 3.7 सीजीपीए या इंजीनियरिंग और तकनीकी पाठ्यक्रमों के लिए 3.7 सीजीपीए पास होना चाहिए।
    • दिल्ली सीईटी (दिल्ली कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
  • बिहार पॉलिटेक्निक:-
    • पॉलिटेक्निक इंजीनियरिंग (पीई) -पारा-मेडिकल-डेंटल (पीएमडी मैट्रिक स्तर) -पार्ट-टाइम पॉलिटेक्निक इंजीनियरिंग (पीपीई) -पारा मेडिकल (पीएम इंटरमीडिएट स्तर) कार्यक्रम
    • उम्मीदवारों को भारतीय नागरिक होना चाहिए और मान्यता प्राप्त बोर्ड से बिहार -10वीं कक्षा पास के स्थायी निवासी (पीई, पीएमडी, पीपीई) -12वीं पास मान्यता प्राप्त बोर्ड से (पीएम इंटरमीडिएट स्तर)
    • DCECE (डिप्लोमा सर्टिफिकेट प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा)
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • गुजरात पॉलिटेक्निक
    • -डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग
    • उम्मीदवार को गुजरात का भारतीय नागरिक स्थायी निवासी होना चाहिए। 10 वीं कक्षा पास मान्यता प्राप्त बोर्ड से
    • ACPDC-(व्यावसायिक डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश समिति)
  • झारखंड पॉलिटेक्निक:-
    • -डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग
    • उम्मीदवार को झारखंड का भारतीय नागरिक स्थायी निवासी होना चाहिए-10वीं कक्षा न्यूनतम 35% अंकों के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास
    • JCECEB PECE (पॉलिटेक्निक प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा)
  • कर्नाटक पॉलिटेक्निक :-
    • -डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग
    • उम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना चाहिए और कर्नाटक बोर्ड से कर्नाटक -10वीं कक्षा पास के लिए स्थायी निवासी होना चाहिए। विज्ञान और गणित में न्यूनतम 35% अंकों के साथ-साथ कर्नाटक बोर्ड के अलावा अन्य सचिव, तकनीकी शिक्षा बोर्ड द्वारा जारी पात्रता प्रमाण पत्र का उत्पादन करना होगा- बैंगलोर मध्यम छात्रों के लिए 5% आरक्षण है।
    • कर्नाटक पॉलिटेक्निक
  • केरल पॉलिटेक्निक :-
    • इंजीनियरिंग / प्रौद्योगिकी में डिप्लोमा
    • अभ्यर्थी भारतीय नागरिक होना चाहिए और केरल के स्थायी निवासी-एस्पिरेंट्स को एसएसएलसी / टीएचएसएलसी या केरल राज्य या गणित, विज्ञान और अंग्रेजी जैसे विषयों में किसी अन्य मान्यता प्राप्त बोर्ड से समकक्ष परीक्षा होनी चाहिए।
    • प्रवेश 10वीं या 12वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाता है।
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • मध्य प्रदेश : –
    • डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी
    • अभ्यर्थी भारतीय नागरिक और मध्य प्रदेश के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को 35% विज्ञान और गणित के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं पास होना चाहिए।
    • एमपी पीपीटी (मध्य प्रदेश प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट)
    • आधकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • ओडिशा पॉलिटेक्निक :-
    • डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी / आर्किटेक्चर-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग-डिप्लोमा इन फिल्म एंड टीवी कोर्सेज (12 वीं के बाद) (ओडिशा के सरकारी, निजी सहायता प्राप्त पॉलिटेक्निक संस्थानों में)
    • आवेदक अभ्यर्थी भारतीय नागरिक होना चाहिए -आसपास के बीएसई बोर्ड या साइंस और मैथ्स के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं पास होना चाहिए क्योंकि अनिवार्य विषय (माइनिंग को छोड़कर सभी इंजीनियरिंग कोर्स) -अस्पेक्टर्स को बीएसई बोर्ड से 12 वीं पास होना चाहिए या सभी गैर के लिए कोई मान्यता प्राप्त बोर्ड होना चाहिए। संस्कृति को छोड़कर अन्य पाठ्यक्रम
    • ओडिशा डीईटी (कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश मेरिट के आधार पर दिया गया है)
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • पंजाब पॉलिटेक्निक (पंजाब और चंडीगढ़) :-
    • इंजीनियरिंग में डिप्लोमा / गैर-इंजीनियरिंग में डिप्लोमा
    • उम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना चाहिए और पंजाब के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को पंजाब बोर्ड से 10 वीं पास करना चाहिए और अनिवार्य विषयों के रूप में विज्ञान और गणित के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास होना चाहिए। प्रवेश के लिए कोई निम्न या ऊपरी आयु सीमा नहीं है।
    • कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश 10 वीं या 12 वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाता है
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • उत्तराखंड पॉलिटेक्निक :-
    • इंजीनियरिंग में डिप्लोमा / गैर-इंजीनियरिंग में डिप्लोमा
    • भारतीय नागरिक और उत्तराखंड के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को न्यूनतम 35% अंकों (पाठ्यक्रमों के लिए भिन्न) के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं या 12 वीं उत्तीर्ण होना चाहिए।
    • JEEP (संयुक्त इंजीनियरिंग परीक्षा पॉलिटेक्निक या यूके पॉलिटेक्निक)
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • तमिलनाडु पॉलिटेक्निक :-
    • डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन कैटरिंग (12 वीं कक्षा)
    • अभ्यर्थी भारतीय नागरिक जिसने मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं या 12 वीं पास हो
    • मेरिट लिस्ट के आधार पर प्रवेश। प्रवेश 10 वीं या 12 वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाएगा।
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें
  • तेलंगाना पॉलिटेक्निक :-
    • सभी इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम और गैर-इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम
    • उम्मीदवार भारतीय नागरिक होने चाहिए और तेलंगाना या आंध्र प्रदेश के स्थायी निवासी होना चाहिए। विज्ञान और गणित में न्यूनतम 35% अंकों के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं कक्षा पास होना चाहिए।
    • TS POLYCET (तेलंगाना राज्य पॉलिटेक्निक कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
    • आधिकारिक वेबसाइट : यहाँ क्लिक करें

पॉलिटेक्निक में प्रवेश हेतु रखें इन बातों का भी ध्यान

  • अभ्यर्थी के लिए ये आवश्यक है की वो आवेदन पत्र भरते समय सावधानी बरतें। यदि आवेदन पत्र में कोई भी जानकारी अधूरी या गलत पायी जाती है तो आप का आवेदन रद्द हो जाएगा।
  • एडमिट कार्ड का प्रिंट आउट अवश्य निकालें अन्यथा आप को परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा।
  • कॉउंसलिंग के समय आप अपने सभी आवश्यक दस्तावेज साथ लेकर जाएँ और साथ में प्रवेश परीक्षा का परिणाम का भी प्रिंटआउट निकलवा लें।
प्रवेश परीक्षा का पैटर्न यहाँ जानिये

पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा में आप को ऑब्जेक्टिव टाइप (बहुविकल्पीय) प्रश्नों का उत्तर देना होगा। आप को परीक्षा में हर प्रश्न के साथ 4 विकल्प दिए जाएंगे। जिनमें से आप को सही का चुनाव करना होगा। इस तरह से अधिकतर राज्यों में ऑफलाइन माध्यम से ही परीक्षा होती है। आप की जानकारी लिए बताते चलें की कुछ राज्य में प्रवेश परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग का भी प्रावधान है। जिसमें आप के हर गलत जवाब पर दंड स्वरूप आप के अंक काटे जाते हैं।

पॉलिटेक्निक के बाद ये हैं करियर ऑप्शंस

पॉलीटेक्निक पूरा करने के बाद विद्यार्थियों के पास बहुत से करियर ऑप्शंस खुल जाते हैं। इस डिप्लोमा कोर्स के बाद उन्हें सरकारी व गैर-सरकारी रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं। बड़ी-बड़ी कंपनियां प्लेस्मेंट्स के ज़रिये डिप्लोमा पूरा करने वालों को नौकरियां देती हैं। इनमें प्राइवेट कंपनियों के अलावा सरकारी कंपनियां भी शामिल हैं। यदि आप चाहें तो ये डिप्लोमा पूरा करने के बाद आप डिग्री भी ले सकते हैं। आप उसी फील्ड में डिग्री ले सकते हैं। आप इसके लिए सीधे द्वितीय वर्ष में प्रवेश ले सकते हैं। इस में नौकरी मिलने के बाद प्रारंभिक वेतन 15000 – 25000 रुपए प्रतिमाह है।

पॉलिटेक्निक से संबंधित प्रश्न उत्तर

पॉलिटेक्निक में एडमिशन कौन कौन ले सकता है ?

यदि आप पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आप को 10 वीं या 12 वीं पास होना चाहिए।

पॉलिटेक्निक में कौन कौन से विषय होते हैं ?

डिप्लोमा इन Computer Programming., डिप्लोमा इन Petroleum Engineering, मार्केटिंग मैनेजमेंट में Graduate Certificate, डिप्लोमा इन Animation Art and Design, डिप्लोमा of accounting, डिप्लोमा इन Hospitality Management, डिप्लोमा इन Estate Management, डिप्लोमा इन Business Administration आदि

डिप्लोमा कोर्स में क्या क्या होता है ?

डिप्लोमा कोर्स में किसी विषय विशेष के बारे में कम समय में पढ़ाया जाता है डिप्लोमा में छात्र को किसी एक व्यवसाय या पेशे के बारे में जानकारी दी जाती है। डिप्लोमा के पाठ्यक्रम में व्यवसाय या पेशे से जुड़े विषय पर पढ़ाई पर कराई जाती है और ज्ञान ज्यादा दिया जाता है।

पॉलिटेक्निक कोर्स कितने साल का होता है?

यह डिप्लोमा कोर्स पूरे तीन साल का होता है।

इस लेख के माध्यम से हमने आप को पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स से संबंधित सभी जानकारी दे दी है। उम्मीद करते हैं आप को ये जानकारी उपयोगी लगी होगी। यदि आप इस संबंध में कुछ और जानकारी चाहते हैं या कुछ और पूछना चाहते हों तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमें पूछ सकते हैं। हम आप के प्रश्नों का उत्तर अवश्य देंगे।

Sandesh ऐप | इंडियन सन्देश एप्प क्या है | Sandesh App सन्देश एप्प किसने बनाया है

Sandesh ऐप | इंडियन सन्देश एप्प क्या है | Sandesh App सन्देश एप्प किसने बनाया है

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें