Purnima 2023 Date: जनवरी से दिसंबर तक पूर्णिमा कब है , चेक करें पूरी लिस्ट,जानिए इसका धार्मिक महत्व

पूर्णिमा कब है:- नमस्कार दोस्तों, दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की हिन्दू धर्म में व्रत एवं त्यौहार के लिए पूर्णिमा और अमावस की तिथियों का बड़ा महत्व है। हम जानते हैं चाँद अपनी 16 कलाओं के अनुसार अपना स्वरूप बदलता रहता है। चाहे हम बात करें अंग्रेजी महीनों की या हिंदी महीनों की साल ... Read more

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

पूर्णिमा कब है:- नमस्कार दोस्तों, दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की हिन्दू धर्म में व्रत एवं त्यौहार के लिए पूर्णिमा और अमावस की तिथियों का बड़ा महत्व है। हम जानते हैं चाँद अपनी 16 कलाओं के अनुसार अपना स्वरूप बदलता रहता है। चाहे हम बात करें अंग्रेजी महीनों की या हिंदी महीनों की साल एक महीने में 30 दिन होते हैं और 30 दिनों को चाँद की कलाओं के अनुसार दो पक्षों में बांटा गया है। हिन्दी पंचांग के अनुसार साल के हर एक महीने को चाँद की स्थिति के अनुसार दो पक्षों में बांटा गया है। आपको बता दें की जब चाँद बढ़ती हुई स्थिति में होता है उसे शुक्ल पक्ष कहा जाता है और जब चाँद अपनी घटने की स्थिति में होता है उसे कृष्ण पक्ष कहा जाता है।

यह भी देखें :- Sacha dharm kon sa hai | सबसे सच्चा धर्म कौन सा है?

Purnima 2023 Date: जनवरी से दिसंबर तक पूर्णिमा कब है , चेक करें पूरी लिस्ट,जानिए इसका धार्मिक महत्व
Purnima 2023 Date: जनवरी से दिसंबर तक पूर्णिमा कब है

लेकिन जब आकाश में चाँद अपनी कला लेते हुए पूर्ण रूप में होता है उस दिन या तिथि को पूर्णिमा कहा जाता है तथा जब चाँद आकाश में दिखाई नहीं देता और आकाश पूर्णतः काला दिखाई दे रहा हो तो वह दिन अमावस्या का होता है। लोगों का मानना है की पूर्णिमा वाले दिन नदी में स्नान, अर्घ्य देना, व्रत करना, पूजा करना आदि सब करने से जीवन में समृद्धि आती है और पुण्य कर्मों का फल मिलता है।

देखें :-कलयुग में किस भगवान की पूजा करनी चाहिये | भगवान को कैसे प्राप्त करे कलयुग मे

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

लेकिन दोस्तों हिन्दू धर्म में साल में आने वाली हर एक पूर्णिमा तिथि का अपना ही एक धार्मिक महत्त्व होता है। आज के आर्टिकल में हम आपको इन्हीं तिथियों से संबंधित धार्मिक महत्त्व, त्यौहार एवं व्रत से संबंधित जानकारी प्रदान करने वाले हैं। आइये जानते हैं इन तिथियों के धार्मिक महत्वों को।

raju srivastav biography in hindi

Raju Srivastava Biography in Hindi | राजू श्रीवास्तव का जीवन परिचय, जन्म, शिक्षा, परिवार, फ़िल्मी करियर, उपलब्धियां, नेटवर्थ, स्वास्थ्य

साल 2023 की जनवरी से लेकर दिसंबर तक की पूर्णिमा की तिथियां एवं त्यौहार और व्रत की लिस्ट: पूर्णिमा कब है

दोस्तों यहां हमने आपको एक टेबल के माध्यम से बताया है वर्ष 2023 के किस तिथि और किस दिन पूर्णिमा होगी। इसके साथ ही आप पूर्णिमा से संबंधित हिंदी महीने और जयंती, त्यौहार एवं व्रत की जानकारी भी ले सकते हैं।

तिथि (Date)दिन (Day)पूर्णिमा से संबंधित हिंदी महीने त्यौहार , जयंती एवं व्रत
6 जनवरी 2023शुक्रवारपौष पूर्णिमाशाकुम्भरी पूर्णिमा
पौष पूर्णिमा व्रत
5 फरवरी 2023
रविवारमाघ पूर्णिमागुरु रविदास जयंती
मासी मागम
ललिता जयंती
माघ पूर्णिमा व्रत
मार्च 7, 2023मंगलवारफाल्गुन पूर्णिमाछोटी होली
होलिका दहन
फाल्गुन चौमासी चौदस
फाल्गुन पूर्णिमा व्रत
5 अप्रैल 2023बुधवारचैत्र पूर्णिमाहनुमान जयंती
चित्रा पूर्णानमी
चैत्र नवपद ओली पूर्ण
चैत्र पूर्णिमा व्रत
स्वारोचिष मन्वादि
5 मई, 2023शुक्रवारवैशाख पूर्णिमाकूर्म जयंती
वृषभ संक्रांति
बैशाख पूर्णिमा व्रत
जून 3, 2023शनिवारज्येष्ठ पूर्णिमावट पूर्णिमा व्रत
कबीरदास जयंती
ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत
वैवस्वत मन्वादि
03 जुलाई 2023 सोमवार आषाढ़ पूर्णिमाकोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा
व्यास पूजा
गौरी व्रत समाप्त
आषाढ़ अष्टिहिंका विधान पूर्ण
आषाढ़ पूर्णिमा व्रत
चाक्षुष मन्वादि
30 अगस्त 2023बुधवारश्रावण पूर्णिमारक्षा बंधन
यजुर्वेद उपाकर्म
हयग्रीव जयंती
श्रावण पूर्णिमा व्रत
29 सितम्बर 2023शुक्रवारभाद्रपद पूर्णिमापूर्णिमा श्राद्ध
पितृ पक्ष प्रारम्भ
प्रतिपदा श्राद्ध
भाद्रपद पूर्णिमा व्रत
28 अक्टूबर 2023शनिवारआश्विन पूर्णिमाकोजागर पूजा
शरद पूर्णिमा
वाल्मीकि जयंती
मीराबाई जयंती
अश्विनी नवपद ओली पूर्ण
आश्विन पूर्णिमा व्रत
27 नवम्बर 2023सोमवारकार्तिक पूर्णिमाभीष्म पंचक समाप्त
गुरु नानक जयंती
पुष्कर स्नान
चंद्र ग्रहण पूर्ण
कार्तिक अष्टिहिंका विधान पूर्ण
कार्तिक रथ यात्रा
कार्तिक पूर्णिमा व्रत
उत्तम मन्वादि
26 दिसम्बर 2023मंगलवारमार्गशीर्ष पूर्णिमादत्रातेय जयंती
मार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत

जानें पूर्णिमा का धार्मिक महत्त्व :

हिन्दू धर्म में पुरे साल आने वाली अलग-अलग पूर्णिमा तिथियों का अलग-अलग धार्मिक महत्व है। आगे आर्टिकल में हमने आपको विभिन्न पूर्णिमा तिथियों के धार्मिक महत्व के बारे में बताया है।

श्रावण पूर्णिमा 2023:

दोस्तों जैसा की आप जानते हैं हिन्दुओं में सावन महीने को बड़ा ही पवित्र माना यह पूरा भगवान शिव को समर्पित होता है। हिंदी महीने श्रावण को सावन महीने के रूप में जाना जाता है। श्रावण महीने में शिवालय मंदिरों को जाने के लिए लोगों द्वारा पैदल कांवड़ यात्राएं की जाती हैं। इस यात्रा में शामिल होने वाले शिव भक्त को सिर्फ फलाहार और सात्विक भोजन करना होता है। सावन के महीने में लोग शिवालय मंदिरों में जाकर भगवान शिव को प्रसन्न के लिए जल एवं दुध चढ़ाते हैं। और इसी महीने भाई -बहन का पवित्र त्यौहार रक्षा बंधन भी मनाया जाता है। साल 2022 में रक्षा बंधन गुरुवार 11 अगस्त को था।

आश्विन या शरद पूर्णिमा 2023

आपको बताते चलें आश्विन पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है की इस दिन चाँद अपनी 16 कलाओं को पूर्ण कर लेता है। लोग मानते हैं आकाश में चाँद पूरा होने पर पृथ्वी पर अमृत वर्षा होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार लोग इस दिन व्रत एवं पूजा पाठ करते हैं और रात के समय प्रसाद के रूप में खीर-पूरी बनाकर खुले आसमान के नीचे रख देते हैं। इस दिन कोजागर पूजा होने के कारण आश्विन पूर्णिमा को कोजागर पूर्णिमा भी कहा जाता है। कोजागर पूजा के बारे में धार्मिक मान्यता यह है की इस दिन देवी लक्ष्मी रात के समय विचरण करती हैं और माता का जिसके भी घर आगमन होता है उस पर देवी लक्ष्मी की कृपा बरसती है वह व्यक्ति धन-वैभव का सुख भोगता है। साल 2023 में आश्विन पूर्णिमा 28 अक्टूबर को है।

कार्तिक पूर्णिमा 2023:

हिन्दू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का अपना एक धार्मिक महत्व है। हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग इस दिन को देव दीपावली के रूप में मनाते हैं। एक धार्मिक प्राचीन कथा के अनुसार भगवान शिव ने इस दिन त्रिपुरासुर नामक राक्षस का वध करके राक्षस के अत्याचारों से पीड़ित पृथ्वी वासियों को बचाया था। लोगों का मानना है की कार्तिक पूर्णिमा की रात स्वर्ग से सभी देवी देवता भगवान शिव की पूजा करने बनारस के काशी तट गंगा घाट पर आते हैं। कार्तिक पूर्णिमा को काशी के गंगा घाट पर विशेष पूजा आयोजन किया जाता है। जो कोई भी इस दिन गंगा के पावन जल में स्नान करता है उसे अक्षय पुण्य का फल प्राप्त होता है। साल 2023 में कार्तिक पूर्णिमा मंगलवार 27 नवम्बर को आएगी।

पूर्णिमा कब है से संबंधित FAQs

साल 2023 में आश्विन पूर्णिमा कब है ?
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आपको बता दें की साल 2023 में आश्विन पूर्णिमा 28 अक्टूबर को है।

साल 2023 में चंद्रग्रहण कब है ?

साल का पहला पूर्ण चंद्रग्रहण 05 मई 2023 को लगेगा।

फुल मून क्या होता है ?

जिस दिन चाँद आकाश में अपनी पूरी स्थिति में पूर्ण रूप से ज्यादा चमकदार और औसत से बड़ा दिखाई दे रहा हो उसे फुल मून कहा जाता है। फुल moon हमेशा पूर्णिमा की रात को देखने को मिलता है।

साल 2023 में दत्रात्रेय जयंती कब है ?

साल 2023 में दत्रात्रेय जयंती 26 दिसंबर को है।

हिन्दू वर्ष कैलेंडर में महीने को कितने पक्ष में बांटा गया है ?

आपकी जानकारी के लिए बता दें की हिन्दू वर्ष कैलेंडर में हिंदी महीने के दिनों को चाँद की स्थिति के अनुसार दो पक्षों में बांटा गया है।
चाँद की बढ़ने की स्थिति शुक्ल पक्ष कहलाती है।
चाँद की घटने की स्थिति कृष्ण पक्ष कहलाती है।

वट पूर्णिमा व्रत क्या होता है ?

वट पूर्णिमा व्रत हिन्दू धर्म में विवाहित महिलाओं के द्वारा किया जाने वाला व्रत है इस दिन विवाहित महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र और परिवार की आर्थिक समृद्धि के लिए व्रत रखती हैं। वट पूर्णिमा वाले दिन महिलाएं एक पवित्र धागा लेकर वट वृक्ष के चारों और बांधती हैं। पुरानी मान्यता है की सावित्री ने अपने पति सत्यवान को यमराज से बचाने के लिए इस वट पूर्णिमा व्रत को किया था।

सबसे पहले दर्शन किस धाम के करने चाहिए? चार धाम यात्रा के बारे में जान लें क्या है यात्रा का सही क्रम

सबसे पहले दर्शन किस धाम के करने चाहिए? चार धाम यात्रा 2024 के बारे में जान लें क्या है यात्रा का सही क्रम

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें