मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना – Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की शुरुआत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा की गयी है। यह योजना राज्य के गरीब श्रेणी से संबंधित सभी छात्र-छात्राओं के लिए शुरू की गयी है। जो पढाई के क्षेत्र में मेधावी छात्र है।इस योजना के तहत एसटी ,एससी ओबीसी अन्य पिछड़ा वर्ग, अति पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक एवं आर्थिक रूप से ... Read more

Photo of author

Reported by Dhruv Gotra

Published on

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना की शुरुआत राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा की गयी है। यह योजना राज्य के गरीब श्रेणी से संबंधित सभी छात्र-छात्राओं के लिए शुरू की गयी है। जो पढाई के क्षेत्र में मेधावी छात्र है।इस योजना के तहत एसटी ,एससी ओबीसी अन्य पिछड़ा वर्ग, अति पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक एवं आर्थिक रूप से निम्न श्रेणी के सभी प्रतिभावान विद्यार्थी कोचिंग का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर हर वर्ग के छात्रों को आगे बढ़ने के समान अवसर मिलेंगे। सभी पात्र लाभार्थी छात्र-छात्राओं को इस योजना का लाभ केवल 1 वर्ष की अवधि के लिए ही मिलेगा। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से राजस्थान मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी को साझा करेंगे। अतः योजना से मिलने वाली सभी सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना - Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana
मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना – Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana

Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana

राजस्थान मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के तहत अब एसटी ,एससी ओबीसी एवं आर्थिक पिछड़े वर्ग के दायरे में आने वाले सभी मेधावी बच्चों को योजना में शामिल किया गया है। जिन छात्राओं के परिवार की सालाना आय 8 लाख रूपए से कम है वह इस योजना के अंतर्गत कोचिंग जैसी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है। राजस्थान सरकार के द्वारा योजना को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य यह है की राज्य में कई प्रतिभावान बच्चे ऐसे है जिनकी पारिवारिक स्थिति कमजोर होने के कारण वह आर्थिक तंगी के अभाव में अपनी पढाई को पूरा नहीं कर पाते है। Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana का लाभ विद्यार्थी को दसवीं एवं बारहवीं कक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रदान किया जायेगा। मेधावी प्रतिभावान बच्चों को योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रोफेशनल कोर्स एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए यह योजना शुरू की गयी है। जिसमें छात्र उच्च आय वर्ग की कोचिंग निशुल्क प्राप्त करके अपने सपने को साकार कर सकते है।

यह भी जानिए :- राजस्थान एसएसओ आईडी रजिस्ट्रेशन ऐसे करें | Rajasthan SSO ID Login

राजस्थान मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना

योजना राजस्थान मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना
योजना का शुभारम्भ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
विभाग सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग
अल्पसंख्यक विभाग
राज्य राजस्थान
वर्ष 2024
लाभार्थी राज्य के मेधावी छात्र-छात्राएं
लाभ छात्रों को अध्ययन के लिए प्रोत्साहन प्रदान करता है
योजना का उद्देश्य छात्राओं को प्रोफेशनल कोर्स हेतु निशुल्क कोचिंग सेवाएं प्रदान करना
चयन प्रक्रिया दसवीं एवं बारहवीं कक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर
प्रतिवर्ष लाभार्थी छात्र 10 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं लाभान्वित
आधिकारिक वेबसाइट sje.rajasthan.gov.in

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना का उद्देश्य

Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana का मुख्य उद्देश्य है राज्य के गरीब एससी, एसटी, ओबीसी छात्रों की मदद करने और बड़े पाठ्यक्रमों की तैयारी के लिए यह योजना छात्रों की सहायता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। बीपीएल श्रेणी से संबंधित एवं निम्न श्रेणी से संबंधित प्रतिभावान विद्यार्थियों को लाभ प्रदान किया जायेगा। इस योजना के अंतर्गत छात्र-छात्राएं एक उच्च आय वर्ग की व्यावसायिक परीक्षा की तैयारी करने में सक्षम होंगे। राज्य के वह मेधावी छात्र भी इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकते है।

जिनके माता-पिता राज्य सरकार के कार्मिक होने पर मैट्रिक्स लेवल-11 तक वेतन प्राप्त कर रहें है। राज्य में यह योजना सामाजिक न्याय अधिकारिकता विभाग एवं अल्पसंख्यक मामलात विभाग की और से संचालित किये गए है। जिन छात्राओं की कोचिंग योजना के अंतर्गत प्रारम्भ हो चुकी है। उन्हें मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के तहत पुराने दिए गए दिशा निर्देशों के आधार पर सुविधाएँ प्रदान की जाएगी। लेकिन जिन मेधावी बच्चों की प्रोफेशनल कोर्स हेतु कोचिंग अब शुरू होगी उनके लिए राजस्थान सरकार के द्वारा नए दिशा-निर्देश जारी किये गये है। प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों में कोचिंग प्राप्त करने के लिए जो छात्र अन्य शहरों में आकर रहेंगे उनके लिए आवासीय रहने खाने के लिए 40 हजार रूपए तक की वित्तीय राशि प्रतिवर्ष के रूप में प्रदान की जाएगी।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

कोचिंग योजना हेतु व्यय की जाने वाली राशि का विवरण

योजना के अंतर्गत छात्र-छात्राओं जाने वाली विभिन्न प्रकार की परीक्षाओं हेतु किये जाने व्यय का राशि का विवरण उनकी योग्यता के आधार पर दर्शाया गया है। जो निम्नवत इस प्रकार है।

क्र संख्या परीक्षा का नामराशि लाभ अवधि न्यूनतम योग्यता पात्र लाभार्थी छात्र-छात्राओं की संख्या
1 UPSC
द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा
75 हजार रूपए की राशि प्रतिष्ठित संस्थानों के माध्यम से 1 साल ग्रेजुएशन के अंतिम दो वर्षों में अध्यनरत
बारहवीं कक्षा में 70% अंक प्राप्त
SC-35
ST -25
OBC -45
MBC-10
EWS -20
Others -65
कुल -200
50 हजार रूपए की राशि अन्य संस्थानों के तहत 1 साल ग्रेजुएशन के अंतिम दो वर्षों में अध्यनरत
12th में 60% अंक प्राप्त
2 RPSC
द्वारा आयोजित RSS या अधीनस्थ सेवा सयुंक्त प्रतियोगी परीक्षा
50 हजार रूपए की राशि प्रतिष्ठित संस्थानों के तहत 1 साल ग्रेजुएशन के अंतिम दो वर्षों में अध्यनरत
12th में 65% अंक प्राप्त
SC-80
ST -60
OBC -105
MBC-25
EWS -50
Others -180
कुल -500
40 हजार रूपए की राशि अन्य संस्थानों के तहत 1 सालग्रेजुएशन के अंतिम दो वर्षों में अध्यनरत
12th में 55% अंक प्राप्त
3 RPSC
द्वारा आयोजित सब इंस्पेक्टर एवं 3600 ग्रेड तथा मैट्रिक्स में पे लेवल-10 एवं अन्य परीक्षाएं
20 हजार रूपए 6 माह ग्रेजुएशन के अंतिम दो वर्षों में अध्यनरत
12th में 50% अंक प्राप्त
SC-130
ST -100
OBC -170
MBC-40
EWS -80
Others -280
कुल -800
4 रीट परीक्षा 15 हजार रूपए 4 माह बीएड एसटीसी एवं 12th में 50% अंक प्राप्तSC-240
ST -180
OBC-315 MBC-75 EWS-150 Others-540
कुल -1500
5 RSSB द्वारा आयोजित पटवारी कनिष्ठ सहायक हेतु ग्रेड 2400 एवं 3600 ग्रेड पे लेवल 10 से कम की अन्य परीक्षाएं 10 हजार रूपए 4 माहस्नातक में अध्यनरत 12 वीं तथा RSCIT अथवा कंप्यूटर कोर्स या O लेवल उच्च स्तरीय कम्प्यूटर सर्टिफिकेट
12th में 50% अंक प्राप्त
SC-195
ST -145
OBC -255
MBC-60
EWS -120
Others -425
कुल -1200
6 कॉन्स्टेबल परीक्षा 10 हजार रूपए4 माह10th में 50% अंक प्राप्तSC-130
ST -100
OBC -170
MBC-40
EWS -80
Others -280
कुल -800
7 इंजीनिरिंग ,मेडिकल प्रवेश परीक्षा 70 हजार रूपए प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों से 2 वर्ष 10th में 70% अंक प्राप्तSC-640
ST -480
OBC -840
MBC-200
EWS -400
Others -1440
कुल -4000
55 हजार रूपए की राशि अन्य संस्थानों के तहत2 वर्ष 10th में 60% अंक प्राप्त
8 क्लैट परीक्षा 40 हजार रूपए प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों से1 साल10th में 60% अंक प्राप्त
SC-160
ST-120
OBC-210
MBC-50
EWS-100
Others-360
कुल -1000
25 हजार रूपए की राशि अन्य संस्थानों के तहत1 साल10th में 50% अंक प्राप्त

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के लाभ

  • राज्य के पात्र लाभार्थी छात्र अधिकतम एक वर्ष की अवधि के लिए योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।
  • उम्मीदवारों की योग्यता कक्षा 12वीं या 10वीं में प्राप्त अंकों के आधार पर तय की जाएगी।
  • छात्रों के चयन के समय प्रयास किया जाएगा कि कम से कम 50 प्रतिशत लाभार्थी छात्राओं का चयन किया जाएँ।
  • मुख्यमंत्री अनुप्रीति कोचिंग योजना के तहत घर छोड़कर अन्य शहरों के प्रतिष्ठित संस्थानों से कोचिंग लेने वाले छात्रों को भोजन और रहने के लिए 40 हजार रुपये की अतिरिक्त राशि प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना पात्रता एवं मानदंड

  • राजस्थान राज्य के मूल निवासी छात्राओं Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana के तहत कोचिंग लेने की सुविधा प्राप्त होगी।
  • इस योजना हेतु छात्र-छात्राओं का चयन 10th ,12th में प्राप्त अंको के आधार पर किया जायेगा।
  • मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना के तहत विद्यार्थियों को 1 वर्ष की अवधि तक एवं अन्य प्रकार के व्यवसायिक कोचिंग हेतु 6 माह एवं 4 माह तक कोचिंग सेवा प्राप्त होगी।
  • विभाग जिलेवार लक्ष्य निर्धारित कर विद्यार्थियों की योग्यता के अनुसार चयनित संस्थानों के माध्यम से कोचिंग की व्यवस्था करेगा।
  • वे मेधावी छात्र अनुप्रति कोचिंग योजना के लिए पात्र होंगे, जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय 8 लाख रुपये से कम है ,
  • ऐसे छात्र जिनके माता-पिता राज्य सरकार के कार्मिक के रूप में पे मैट्रिक्स लेवल-11 तक वेतन प्राप्त कर रहे हैं, वे भी योजना के लिए पात्र होंगे।
  • राज्य के स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चों को ही मुख्यमंत्री अनुप्रीति कोचिंग योजना का लाभ दिया जाएगा
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अति पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्र योजना हेतु पात्र है।
आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • शपथ पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र, ईडब्ल्यूएस के लिए ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र की सत्यापित प्रति।
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • प्रवेश परीक्षा पास करने और प्रवेश लेने का प्रमाण पत्र

राजस्थान मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना आवेदन कैसे करें ?

राज्य के पात्र लाभार्थी छात्र जो इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली सभी सुविधाओं का लाभ प्राप्त करना चाहते है वह राज्य के सामाजिक न्याय-अधिकारिता विभाग एवं अल्पसंख्यक कार्य विभाग के माध्यम से आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर सकते है। ऑनलाइन रूप में आवेदन करने के लिए छात्राओं को sje.rajasthan.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन करना होगा।

अनुप्रति कोचिंग योजना से संबंधित प्रश्न उत्तर

मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना क्या है ?

राज्य के प्रतिभावान मेधावी छात्राओं को व्यावसायिक पाठ्यक्रम की तैयारी के लिए एवं प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने हेतु इस योजना को राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा पुरे प्रदेश भर में लागू किया गया है। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्र-छात्राओं को यह योजना उनके सपने साकार करने का अवसर प्रदान करती है।

Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana का लाभ कौन से छात्र-छात्राएं प्राप्त कर सकते है ?

राजस्थान राज्य के वह मेधावी छात्र-छात्राएं Mukhyamantri Anuprati Coaching Yojana के तहत लाभ प्राप्त कर सकते है जो बीपीएल श्रेणी एवं एससी,एसटी,विशेष पिछड़ा वर्ग के नागरिक है।

योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की चयन प्रक्रिया किस प्रकार की जाएगी ?

दसवीं एवं बारहवीं में प्राप्त अंकों के आधार पर छात्र-छात्राओं की योजना के तहत चयन किया जायेगा।

क्या व्यावसायिक कोचिंग के आधार पर अलग-अलग अवधि के लिए छात्राओं को कोचिंग का लाभ प्रदान किया जायेगा ?

हाँ प्रतियोगी परीक्षाओं एवं व्यवसायिक पाठ्यक्रम के आधार पर अलग-अलग अवधि के लिए सरकार के द्वारा कोचिंग समय को निर्धारित किया गया है।

Photo of author

Leave a Comment