पालनहार योजना राजस्थान 2021 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन Rajasthan Palanhar Yojana Application Form

Share on:

पालनहार योजना राजस्थान 2021 – पालनहार योजना की शुरुआत राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गयी है। पालनहार योजना राजस्थान ऐसे बच्चो के लिए शुरू की गयी है जो अनाथ हो जिनके माता-पिता की मृत्यु हो चुकी हो राज्य के भीतर ऐसे अनाथ बच्चो की परवरिश के लिए पालनहार को या बच्चे के जो भी परविश करने वाले होंगे 5 वर्ष के बच्चे के लिए उन्हें महीने के हर माह 500 रूपये दिए जायेंगे। राजस्थान पालनहार योजना 2021 के अंतर्गत बहुत से गरीब बच्चो को इसका लाभ प्राप्त होगा। और जब बच्चे का स्कूल में दाखिला करा दिया जायेगा तो 18 वर्ष तक की उम्र के बच्चो को हर माह 1000 रूपये की राशि दी जाएगी। और हर वर्ष 2000 रूपये अलग से दिए जायेंगे जिससे की बच्चे के लिए कपड़े, जूते, स्वेटर का प्रबंध हो सके।Rajsthan Palnhaar Yojana 2021 के अंतर्गत 2 से 6 वर्ष के बच्चे को आंगनबाड़ी में जाना आवश्यक होगा और 6 वर्ष के बाद स्कूल में दाखिला दिलाना आवश्यक है।

पालनहार-योजना-राजस्थान-ऑनलाइन-आवेदन

पालनहार योजना राजस्थान 2021 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

पालनहार योजना की शुरुआत राजस्थान राज्य सरकार द्वारा 8 फरवरी 2005 को शुरू की गयी थी। इस योजना के अंतर्गत विकलांग माता-पिता की सन्तानो को भी योजना का लाभ मिलेगा। आपको बता दे जब Rajsthan Palnhaar Yojna की शुरुआत हुयी थी तो इसमें सिर्फ अनुसूचित जाति के बच्चो को रखा गया था लेकिन बाद में योजना में बदलाव करके सारे अनाथ बच्चो को योजना में रखा गया है। इस योजना का उद्देश्य यही है की जितने भी अनाथ बच्चे है उनकी परवरिश बेहतर तरीके से हो सके और साथ ही बच्चे को एक पारिवारिक माहौल मिल सके। आज हम राजस्थान पालनहार योजना से जुड़ी सारी जानकारी आपसे साझा करेंगे। और आपको बताएंगे की कैसे आप इस योजना में ऑनलाइन आवेदन कर सकते है पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

Rajsthan Palnhaar Yojana 2021

योजना का नाम राजस्थान पालनहार योजना 2021
किसके द्वारा शुरू की गयीराजस्थान सरकार द्वारा
विभागसामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग
लाभार्थीराज्य के अनाथ बच्चे
उद्देश्यसभी बच्चो को शिक्षा प्रदान करना
5 वर्ष तक के बच्चे को राशिहर माह 500 रूपये
5 वर्ष से 18 वर्ष तक मिलने वाली राशिहर माह 1000 रूपये
एप्लिकेशन फॉर्मयहां से डाउनलोड करे
आधिकारिक वेबसाइटhttps://sso.rajasthan.gov.in/

राजस्थान पालनहार योजना के लिए जरुरी दस्तावेज

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पालनहार का आधार कार्ड ( जिनके द्वारा बच्चे की परवरिश की जाएगी। )
  • पहचान पत्र
  • सक्षम अधिकारी द्वारा प्रमाणित आय प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • बच्चे का आधार कार्ड
  • अनाथ बच्चो के पालन-पोषण का प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • बच्चे का आगनबाड़ी में पंजीकरण का प्रमाण पत्र
  • स्कूल में दाखिला का प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते का नंबर

Rajsthan Palnhaar Yojana 2021 के लिए पात्रता –

पालनहार योजना के अंतर्गत जो व्यक्ति किसी अनाथ बच्चे को स्कूल भेजने या उसकी परवरिश करने को तैयार है तो इसके लिए उन्हें कुछ पात्रताओं से गुजरना होगा यदि उनके पास राज्य सरकार द्वारा बनाई गयी पॉलिसी के अनुसार पात्रता नहीं है तो वे पालनहार योजना में आवेदन नहीं कर सकते है।

  • इस योजना के अंतर्गत पालनहार उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए। यदि पालनहार किसी अन्य राज्य से है तो वो योजना के पात्र नहीं माना जायेगा।
  • पालनहार की वार्षिक आय 1.20 लाख से अधिक होनी चाहिए।
  • ऐसे अनाथ बच्चो या पालनहार बच्चों को 2 वर्ष की आयु में आंगनबाड़ी में भेजना अनिवार्य है।
  • और बच्चे के 6 वर्ष पुरे होने पर उसे स्कूल भेजना अनिवार्य होगा।

Rajsthan पालनहार योजना के लिए बच्चो की पात्रता-

आपको बता दे पहले राजस्थान पालनहार योजना के लिए सिर्फ ऐसे बच्चो को चुना गया था जो अनुसूचित जाति के बच्चे है लेकिन योजना में समय -समय पर बदलाव किये गए जिसमे कुछ और श्रेणियों को जोड़ा गया है। जो बच्चे निम्न श्रेणियों से गुजर रहे होंगे वे बच्चे योजना के पात्र होंगे।

  • राज्य के सभी अनाथ बच्चे।
  • एड्स पीड़ित माता-पिता की संताने।
  • जिन बच्चो के माता-पिता विकलांग हो
  • नाता जाने वाली अधिकतम तीन बच्चो को योजना की श्रेणी में रखा जायेगा। यदि परिवार में इससे तीन से ज्यादा बच्चे है तो तीन बच्चो को ही लाभ मिलेगा।
  • जिन बच्चो के माता-पिता आजीवन न्यायिक हिरासत में हो या आजीवन कारावास हो ऐसे माता-पिता की सन्तानो को योजना के अंतर्गत रखा जायेगा।
  • कुष्ठ रोग पीड़ित माता-पिता की सन्ताने भी योजना के पात्र होंगे।
  • पुनर्विवाहित विधवा की माता की संताने
  • तलाकशुदा /परित्यक्ता वाली महिला के बच्चे।
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संताने

पालनहार Yojna 2021 के अंतर्गत प्रमाणित दस्तावेज –

जो बच्चे जिस श्रेणी में आते है उनके पालनहार को माता-पिता से संबंधित दस्तावेज देने होंगे जैसे –

  • अनाथ बच्चे – माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • माता-पिता का आजीवन कारावास – दंडादेश की प्रतिलिपि
  • निराश्रित विधवा माता – पति का मृत्य प्रमाण पत्र
  • नाता जाने वाली सन्ताने – माता को नाता गए हुए 1 वर्ष या उससे अधिक समय होने पर प्रमाण पत्र। इसके लिए आप अपने नजदीकी ग्राम सभा, नगर पालिका, नगर निगम, नगर परिषद में जाकर प्रमाण पत्र बना सकते है।
  • पुनर्विवाहित माता की संताने- माता का पुनर्विवाह का प्रमाण पत्र।
  • एड्स पीड़ित माता-पिता की संताने– राजस्थान एड्स कंट्रोल सोसायटी में पंजीयन का प्रमाण पत्र
  • विकलांग माता -पिता के बच्चे – सक्षम चिकित्सा बोर्ड द्वारा विकलांगता का सर्टिफिकेट
  • कुष्ठ रोग से पीड़ित माता-पिता- पीड़ित माता-पिता को सक्षम चिकित्सा बोर्ड द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र
  • तलाकशुदा वाली महिला की संताने – जो तलाकशुदा महिलाएं है उन्हें अपने तलाक के दस्तावेज देने होंगे और साथ ही स्वयं का शपथ प्रमाण पत्र और दो स्वतंत्र गवाहों के आधार पर धार्मिक प्राधिकरण द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र।
  • परित्यक्ता वाली महिला के बच्चे– परित्यक्ता वाली महिलाये यदि वे तीन वर्ष या इससे अधिक समय से अपने पति से अलग रह रही है तो उन्हें इसका भी प्रमाण पत्र देना होगा।

paalnhar scheme 2021 के अनुसार मिलने वाली राशि-

पालनहार स्कीम के अनुसार बच्चों को शिक्षा के लिए हर माह अनुदान राशि दी जाती है और साथ ही प्रत्येक वर्ष अनुदान राशि अलग से दी जाती है। पालनहार परिवार को उक्त अनुदान करने पर शहरी क्षेत्र में विभागीय जिला द्वारा स्वीकृत किया जाता है और ग्रामीण क्षेत्रों में विकास अधिकारी द्वारा स्वीकृत किया जाता है।

  • 5 वर्ष तक के बच्चे को हर माह राज्य सरकार की तरफ से 500 रूपये दिए जाएंगे।
  • स्कूल में प्रवेश के बाद 18 वर्ष की आयु पुरे होने तक हर महींने 1000 रूपये दिए जाएंगे।
  • इसके अतिरिक्त स्वेटर, जूतों, कपड़ो या अन्य सुविधा के लिए हर वर्ष 2000 रूपये अलग से दिए जायेंगे। ( सिर्फ विधवा और नाता की श्रेणी को छोड़कर प्रति अनाथ की दर से वार्षिक अनुदान भी दिया जायेगा। ये अनुदान की राशि पालनहार के खाते में आसानी से पहुंचाई जाएगी।

राजस्थान पालनहार 2021 योजना के उद्देश्य

जैसे की आप सब जानते ही है की देश में कई सारे ऐसे बच्चे है जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति सही न होने के कारण बच्चे छोटा-मोटा काम करने लगते है जिस कारण न तो बच्चो को पढ़ने का मौका मिलता है और न ही वे एक बेहतर माहौल में पल बढ़ सकते है यदि माता-पिता की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में बहुत से परिवार के जने बच्चे को देखने में उसे पालने में असमर्थता दिखाते है जिस कारण बच्चे को ना शिक्षा मिल पाती है ना ही कोई पारिवारिक माहौल। इसी समस्या को देखते हुए राजस्थान सरकार ने 2005 में राजस्थान पालनहार योजना की शुरुआत की। जिसमे बच्चे के रिश्तेदार या कोई व्यक्ति अनाथ बच्चे की जिम्मेदारी लेता है तो सरकार द्वारा इसके लिए पालनहार को हर महीने योजना के अनुसार राशि ट्रांसफर करा दी जाएगी। ताकि पालनहार को बच्चे को लेकर किसी भी दिक्क्त का सामना न करना पढ़े। पालनहार योजना के अंतर्गत बालक और बालिका दोनों को लाभ मिलेगा।

राजस्थान पालनहार योजना ऑनलाइन आवेदन

जो उम्मीदवार राजस्थान पालनहार योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है वे ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते है हम आपको नीचे ऑनलाइन आवेदन करने के कुछ स्टेप्स बता रहे है आप हमारे दिए हुए स्टेप्स फॉलो कर सकते है –

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता सामाजिक न्याय एवं आधिकारिकता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • इसके बाद आपको आईडी और पासवर्ड दर्ज करके लॉगिन करना होगा।
  • इसके बाद sso पोर्टल यहां पर खुल जाएगी। यहाँ पर आपको E-mitra new पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Avail Service पर जाएँ और सर्च रिजल्ट में Utility-Social Justice And Empowerment Department Palnhar Registration के विकल्प का चयन करना होगा।
  • अब आपके नए स्क्रीन पर राजस्थान पालनहार का फॉर्म खुल जायेगा।
  • अब आपको फॉर्म में सभी पूछी गयी जानकारी दर्ज करनी होगी उसके बाद आप दस्तावेज भी अपलोड कर दे।
  • इसके बाद आपको बच्चे का आधार कार्ड और भामाशाह कार्ड दोनों का सत्यापन करना होगा।
  • इसके पश्चात् आगे की सभी जानकारी दर्ज करके अंत में सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दे।

Rajsthan Palnhaar Yojana 2021 एप्लिकेशन फॉर्म कैसे डाउनलोड करे

जो उम्मीदवार योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन करना चाहते है हम उनको बता रहे है की वे कितनी आसानी से अपना फॉर्म डाउनलोड करके आवेदन कर सकते है आप दिए हुए चरणों का पालन कर सकते है –

  • सबसे पहले उम्मीदवार सामाजिक न्याय अधिकारिकता की www.sje.rajasthan.gov.in की आधिकारिकता वेबसाइट पर जाएँ।
  • उसके बाद आप स्कीम लिंक पर क्लिक करे और पालनहार योजना का चयन करे।
  • अब आपकी स्क्रीन पर राजस्थान पालनहार योजना का आवेदन फॉर्म आपकी स्क्रीन पर आजायेगा। आपको फॉर्म डाउनलोड करना है और उसके बाद प्रिंट करके निकाल ले।
  • अब आप फॉर्म में योग्यता पात्रता श्रेणी के अनुसार सारी जानकारी दर्ज कर ले।
  • और आवेदन फॉर्म के साथ सारे दस्तावेज भी संलग्न कर ले।
  • ध्यान दे यदि आप शहर में निवास करते है तो आपको आवेदन फॉर्म जिला अधिकारी के पास जमा करवाना होगा।
  • यदि आप ग्रामीण निवासी है तो आपको आवेदन फॉर्म संबंधित विकास अधिकारी के पास फॉर्म जमा करवाना होगा।
  • सारे दस्तावेजों का सत्यापन होने के बाद बच्चे को लाभ प्रदान किया जायेगा।

पालनहार भुगतान की स्थिति कैसे चेक कर सकते है ?

  • सबसे पहले उम्मीदवार को राजस्थान सरकार सामाजिक आधिकारिकता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।राजस्थान-पालनहार-योजना-2020
  • उसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक होम पेज खुल जायेगा आपको ऑनलाइन आवेदन ई- सेवा पर जाना होगा वहां पर आपको बहुत से विकल्प दिखाई देंगे आपको पालनहार भुगतान की स्थिति पर क्लिक करना होगा।RAJSTHAN-PALNHAR-YOJNA
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक पेज खुल जाएगा। आपको इस पेज में अपने एकेडमी वर्ष, भामाशाह एप्लिकेशन नंबर और नीचे कैप्चा कोड दिया होगा उसे दर्ज करना होगा।उसके बाद get started पर क्लिक कर दे।rajsthan-palnhar-yojna
  • आपकी स्क्रीन पर पालनहार भुगतान की स्थिति आजायेगी।

पालनहार योजना 2021 से जुड़े कुछ प्रश्न और उनके जवाब

राजस्थान पालनहार योजना से जुडी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

राजस्थान पालनहार योजना से जुडी आधिकारिक वेबसाइट – https://sso.rajasthan.gov.in है।

इस योजना का उद्देश्य क्या है ?

इस योजना का उद्देश्य गरीब व् अनाथ बच्चों को शिक्षा से लेकर एक पारिवारिक जीवन देना है जिससे की बच्चे की आवश्यकताएं पूरी हो सके। और अपना एक उज्ज्वल भविष्य बना सके।

Rajsthan पालनहार योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

हमने अपने लेख के माध्यम से आपको योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी दे रखी है आप दिए हुए स्टेप्स को फॉलो करके योजना में आसानी से आवेदन कर सकते है।

पालनहार योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों को क्या सुविधाएँ प्राप्त होगी ?

अनाथ बच्चों को पालन हार योजना के माध्यम से विभिन्न प्रकार की सुविधाएँ प्राप्त होगी। उनकी आयु के अनुसार उन्हें 500 रूपए से लेकर 2000 रूपए तक की सहायता राशि योजना के अंतर्गत प्रतिमाह के अनुसार प्रदान साथ ही उनकी देख रेख वस्त्र आदि से संबंधी सभी सुविधाएँ योजना के तहत प्रदान की जाएगी।

Rajsthan Palanhaar Yojana को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य क्या है ?

राजस्थान सरकार के द्वारा पालनहार योजना को शुरू करने का लक्ष्य यह है की राज्य में बहुत से गरीब परिवार के बच्चे ऐसे है जिन्हे दो वक्त का भोजन भी प्राप्त नहीं होता है ऐसे में वह भोजन की तलाश में जगह जगह मजदूरी करने जाते है गरीब और असहाय नागरिकों को पारिवारिक सुख उपलब्ध करवाने के लक्ष्य से यह योजना शुरू की गयी है

पालनहार योजना से जुड़ा हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

यदि आपको इस योजना से जुडी कोई भी असुविधा होती है या कोई भी जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते है। इस पर आप निशुल्क संपर्क कर सकते है।
हेल्पलाइन नंबर – 1800-180-6187

योजना का लाभ लेने के लिए कौन-कौन पात्र होंगे ?

जिन बच्चो के माता-पिता विकलांग हो, राज्य के सभी अनाथ बच्चे, पीड़ित माता-पिता की संताने,
एड्स जिन परिवारों के तीन बच्चे हैं उन तीनों को ही योजना का लाभ प्राप्त होगा, पुनर्विवाहित विधवा की माता की संताने, पीड़ित माता-पिता की सन्ताने भी योजना के पात्र होंगे, निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संतानेच्चे है तो तीन बच्चो को ही लाभ मिलेगा, तलाकशुदा महिला के बच्चे आदि

पालनहार भुगतान की स्थिति चेक कैसे करें ?

सामाजिक न्याय अधिकारिकता की ऑफिसियल वेबसाइट पर जा कर आप भुगतान की स्थिति चेक कर सकते हैं।

तो जैसे की हमने आज आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से बताया की कैसे आप राजस्थान पालनहार योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है यदि आपको इस योजना से जुडी कोई भी जानकारी चाहिए या आपको कोई भी समस्या है तो आप हमे नीचे कमेंट बॉक्स में मेसेज कर सकते है।

Leave a Comment