भारत में एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टरों की सैलरी – Salary of MD/MS & MBBS Doctors in India

भारत में डॉक्टर्स की बात करें तो आपने एमडी/एमएस और एमबीबीएस का नाम तो जरूर सुना ही होगा क्योंकि यह है इतने पॉपुलर कोर्स जिन्हे डिग्री हासिल करके डॉक्टर बना जाता है। देश कहे या दुनिया में डॉक्टर के प्रोफेशन को गौरव-पूर्ण माना जाता है। एक बेहतर प्रोफेशन होने के कारण इस फील्ड की सैलरी ... Read more

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

भारत में डॉक्टर्स की बात करें तो आपने एमडी/एमएस और एमबीबीएस का नाम तो जरूर सुना ही होगा क्योंकि यह है इतने पॉपुलर कोर्स जिन्हे डिग्री हासिल करके डॉक्टर बना जाता है। देश कहे या दुनिया में डॉक्टर के प्रोफेशन को गौरव-पूर्ण माना जाता है। एक बेहतर प्रोफेशन होने के कारण इस फील्ड की सैलरी भी काफी अच्छी है। परन्तु कई लोगों के मन में सवाल रहते है कि भारत में एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टरों की सैलरी कितनी होती है वे हर महीने कितना कमा लेते है। इस आर्टिकल में हम आपको भारत में एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टरों की सैलरी (Salary of MD/MS & MBBS Doctors in India) से सम्बंधित प्रत्येक जानकारी को साझा करने वाले है, इसलिए आपको इस आर्टिकल के लेख को अंत तक समझना होगा।

भारत में एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टरों की सैलरी - Salary of MD/MS & MBBS Doctors in India
भारत में एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टरों की सैलरी

भारत में एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टरों की सैलरी

जितने भी छात्र-छात्रा 12वीं पास करने के बाद डॉक्टर बनना चाहते है वे सबसे पहले NEET परीक्षा में चयनित होते है उसके पश्चात देश के टॉप कॉलेजों में admission लेते है और अंडर ग्रेजुएशन तथा पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स पूरा करते है। इसी तरह से मेडिकल क्षेत्र में जाने वाले बच्चे MD/MS & MBBS, आयुर्वेदिक मेडिकल तथा होम्यो मेडिकल आदि कोर्सो में प्रवेश लेकर पढ़ाई करते है।

जब विद्यार्थी यह कोर्स पूरा कर लेता है तो उसके बाद हॉस्पिटल में सम्बंधित विषय की ट्रेनिंग करवाई जाती है। सरल भाषा में बताए तो एमबीबीएस कोर्स करने के पश्चात ही आप डॉक्टर बन सकते है। अब एमडी/एमएस और एमबीबीएस डॉक्टर की सैलरी की बात करें तो यह पद के आधार (जूनियर/सीनियर) पर डोक्टरों को अलग-अलग वेतन दिया जाता है। आपको बता दे केवल पोस्ट का ही नहीं बल्कि अलग-अलग राज्यों में MBBS Doctors के वेतन में विशिष्टता होती है।

जैसा कि आप सभी को पता है कि अनुभव के आधार पर ही सैलरी को भी बढ़ाया जाता है थी उसी तरह पहले डॉक्टर की सैलरी कम होती है तथा उसके अनुभव के आधार पर ही उनके वेतन में वृद्धि की जाती है। आपको बता दे डॉक्टर की शुरुआती समय में प्रति वर्ष 1.5 से 2 लाख रूपए तक की सैलरी हो सकती है, और वही स्पेशलिस्ट डॉक्टर एवं एक्सपेरिएंस्ड डॉक्टरों की सैलरी प्रति वर्ष 10 से 15 लाख रूपए से अधिक हो सकती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यह भी पढ़े :- भारत में टॉप 10 मेडिकल कॉलेज कौन से हैं: Top Medical Colleges in India

भारत में MD/MS डॉक्टर का वेतन

भारत में MD/MS डॉक्टर की सैलरी की बात करें तो पहले हम इनकी विभिन्नता को देखते है। MD का मतलब डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन होता है जो एक स्नाकोत्तर डिग्री है जो सामान्य चिकत्सा में प्राप्त होती है। तथा MS का मतलब मास्टर ऑफ़ सर्जरी होता है अर्थात उसने सामान्य सर्जरी में पोस्ट ऑफ़ ग्रेजुएशन डिग्री हासिल की है।

सामान्य चिकत्सा (MD) में बाल रोग, त्वचाविज्ञान, नियोनेटोलॉजी, कार्डियोलॉजी तथा रेडियोलॉजी आदि शामिल है। और मास्टर ऑफ़ सर्जरी (MS) में नेत्र विज्ञान, ईएनटी, प्रसूति स्त्री रोग तथा ऑर्थोपेडिक्स आदि शामिल है।

MD डॉक्टर का वेतन

MD डॉक्टर के वेतन से सम्बंधित जानकारी हम नीचे आपको निम्न प्रकार से बताने जा रहे है।

  • शुरुआत में MD डॉक्टर को प्रति वर्ष 0.9 लाख रूपए की सैलरी प्रदान की जाती है।
  • कई वर्षों के अनुभवी MD डॉक्टर को 10 लाख रूपए से 30 लाख रूपए तक वेतन मिलता है।
  • सीनियर डॉक्टर तथा जूनियर चिकत्सक को अलग-अलग सैलरी दी जाती है। चिकत्सा संसथान के आधार पर बताए तो एमडी डॉक्टर का वेटर 50 लाख रूपए से अधिक होता है।

MS डॉक्टर का वेतन

  • शुरुआत में एमएस डॉक्टर की सैलरी प्रति वर्ष 1.5 लाख रूपए से लेकर 3 लाख रूपए तक हो सकती है।
  • यदि MS डॉक्टर एक अनुभवी डॉक्टर है और उसे कई सालों का एक्सपीरियंस है तो उसे लगभग प्रति वर्ष 15 लाख रूपए से लेकर 20 लाख रूपए प्रदान किये जाते है।

ऊपर हमने आपको MD एवं MS डॉक्टरों के वेतन के बारे में बताया है परन्तु आपको बता दे डॉक्टर इस बताये गए वेतन से भी अधिक वेतन कमा सकते है। इसके अतिरिक्त अलग-अलग शहर के अनुसार डॉक्टर का वेतन निर्धारित किया जाता है।

भारत में एमबीबीएस (MBBS) डॉक्टर का वेतन

हम आपको AIIMS अर्थात All India Institute of Medical Sciences हॉस्पिटल में एमबीबीएस डॉक्टर का कितना वेतन है और उनको वेतन अलग-अलग पद के आधार पर कैसा दिया जाता है उसके बारे में नीचे टेबल में बताने जा रहे है।

Doctors Post Salary
Junior Resident Doctors65,000
Senior Resident Doctors75,000
Consultants1,35,000
Pool Officers40,000
Assistant Professor1,20,000
Associate Professor1,60,000
Additional Professor1,70,000
Professor2,00,000

आपको बता दे डॉक्टर की सैलरी disease specialization के अनुसार तय की जाती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

ऊपर हमने टेबल में कई प्रकार के पद बताए हुए आपको बता दे केवल MBBS की डिग्री हासिल करके आप इन पदों को हासिल नहीं सकते है MBBSकरने के बाद भी आपको अन्य कोर्सेस करने होते है। जो भी डॉक्टर aims में काम करते है उनको इस हॉस्पिटल से कई फायदे होते है। परिवहन भत्ते के लिए हार माह 3200 रूपए डॉक्टर को दिए जाते है।

एक सरकारी डॉक्टर का वेतन कितना होता है?

  • गौरवपूर्ण सरकारी हॉस्पिटल में जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर को 60,000 रूपए से 90,000 रूपए सैलरी हर महीने दी जाती है।
  • गौरवपूर्ण सरकारी हॉस्पिटल में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर को प्रति वर्ष 16 लाख रूपए सैलरी प्रदान की जाती है।

न्यूरोसर्जन का वेतन

एक न्यूरोसर्जन के वेतन की बात करें तो वह औसत प्रति घंटे के आधार पर 2,000 रूपए शुल्क ले सकता है। भारत में विभिन्न राज्यों के हिसाब से न्यूरोसर्जन का वेतन निर्धारित किया जाता है। एक न्यूरोसर्जन को लगभग 10 लाख रूपए से 62 लाख प्रति वर्ष दिया जाता है।

सामान्य सर्जन

भारत में एक सर्जन की सैलरी की बात करें तो प्रति वर्ष 1 लाख से लेकर 25 लाख रूपए तक हो सकता है। सामान्य सर्जन का काम मेडिकल सर्जरी की सहायता करना है।

भारत में शीर्ष अस्पताल के डॉक्टरों का वेतन

भारत में डॉक्टरों का वेतन राज्य के आधार पर अलग-अलग है अर्थात डॉक्टर का वेतन एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में भिन्न होता है, जैसे- उत्तर प्रदेश, हरियाणा तथा दिल्ली में अलग-अलग वेतन दिया जाता है जो काउंटी के दक्षिण, पश्चिमी तथा पूर्वी हिस्सों के डॉक्टरों से विभिन्न होते है उनको दिया वेतन दिया जाता है।

भारत में हम MBBS डॉक्टर के औसत सैलरी की बात करने तो उनको हर कर्ष 30 लाख से 50 लाख रूपए तक दिए जाते है। एक सुपर विशेषज्ञ को 2 लाख से लेकर 3 लाख रूपए राशि हर महीने दी जाती है। ऐसे वेतन केवल अपोलो तथा AIMS हॉस्पिटलों में दिया जाता है।

  • जिस BAMS डॉक्टर के पास 1 वर्ष से 25 वर्ष तक का experience होगा उसमे 0.4 लाख तथा 8.1 लाख रूपए तक का वेतन दिया जाता है।
  • देश में यदि कोई एक ह्रदय रोग विशेषज्ञ है तो उसका जो वेतन है उसके अनुभव और स्थान के आधार पर दिया जाता है। औसत वेतन 1 लाख अथवा 45 लाख रूपए के बीच हो सकता है।

Salary of MD/MS & MBBS Doctors in India से सम्बंधित सवाल/जवाब

एमडी या एमएस डॉक्टर की सैलरी भारत में कितनी है?

भारत में 0.9 लाख से 29.0 लाख के बीच तक एमडी या एमएस डॉक्टर की सैलरी है एवं सालाना 8.8 लाख रूपए सैलरी है।

भारत में डॉक्टर के औसत वेतन क्या है?

भारत में डॉक्टर के औसत वेतन 60 हजार प्रति हम से शुरू होता है।

BAMS डॉक्टर का प्रतिमाह वेतन कितना होता है?

BAMS डिग्री प्राप्त डॉक्टर को हर महीने 20 हजार रूपए से 50 हजार रूपए का वेतन दिया जाता है।

एमडी तथा एमएस डिग्री क्या है?

एमडी तथा एमएस दोनों पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है जो डॉक्टर बनने के लिए प्राप्त की जाती है। दोनों डिग्री को उत्कृष्ट वेतन प्रदान किया जाता है।

कौन से डॉक्टर को सबसे अधिक सैलरी दी जाती है?

निजी अस्पताल की बात करें तो प्रशिक्षु को 30 हजार रूपए से 40 हजार रूपए तक की सैलरी दी जाती है।

भारत में किस अस्पताल में डॉक्टरों को सबसे अधिक सैलरी प्रदान की जाती है?

फोर्टिस हॉस्पिटल में डॉक्टरों को सबसे अधिक सैलरी प्रदान की जाती है।

भारत में सरकारी हॉस्पिटल में एमबीएस डॉक्टरों की कितनी सैलरी है?

भारत में सरकारी हॉस्पिटल में 5 लाख रूपए से लेकर 8 लाख रूपए तक की सैलरी एमबीएस डॉक्टरों को दी जाती है।

भारत में सबसे अधिक वेतन किस चिकत्सक को दिया जाता है?

भारत में सर्जन, प्रोस्थोडॉन्टिक डॉक्टरों एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ को सबसे अधिक सैलरी दी जाती है। इनके औसत वार्षिक सैलरी की बात करें तो वह 1.67 करोड़ रूपए, 1.77 करोड़ रूपए से 1.94 करोड़ रूपए तक हो सकती है।

इस लेख में हमने आपको Salary of MD/MS & MBBS Doctors in India से सम्बंधित प्रत्येक जानकारी को साझा कर दिया है। इसके अतरिक्त यदि आप इस विषय की अन्य जानकारी या आप इस लेख से सम्बंधित प्रश्न पूछना चाहते है तो आप नीचे दिए हुए कमेंट सेक्शन में अपना प्रश्न लिख सकते है हमारी टीम द्वारा जल्द ही आपके प्रश्नों का उत्तर दिया जाएगा।

इसी तरह की जानकारी जानने के लिए हमारी साइट से ऐसे ही जुड़े रहे, इसके लिए आपको हमारी साइट के नोटिफिकेशन को allow कर देना है जिसे आपको हर समय की अपडेट प्राप्त होती रहेगी। उम्मीद करते है कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो और लेख से सम्बंधित जानकारी प्राप्त हुई हो।

Photo of author

Leave a Comment