संयुक्त वाक्य की परिभाषा एवं उदाहरण (Sanyukt Vakya)

संयुक्त वाक्य वे वाक्य होते हैं जिनमें दो या दो से अधिक स्वतंत्र उपवाक्य होते हैं जो समुच्चयबोधक अव्यय द्वारा जुड़े होते हैं।

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

हिन्दी व्याकरण में तीन प्रकार के वाक्य होते है, जिनमें से एक संयुक्त वाक्य (Sanyukt Vakya) भी है। हम सबसे अपने स्कूली जीवन में कई बार वाक्य किसे कहते है उसकी परिभाषा और कितने प्रकार के भेद होते है। लेकिन आज हम आपको आसान शब्दों में संयुक्त वाक्य की जानकारी देंगे। संयुक्त वाक्य में दो या दो से अधिक स्वतंत्र उपवाक्य योजक से जुड़े होते है। योजक का अर्थ है जो दो वाक्यों को आपस में जोड़ने का काम करता है। तो आइये जानते है संयुक्त वाक्य की परिभाषा एवं उदाहरण क्या है ? आर्टिकल से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करने के लिए हमारे लेख को अंत तक पढ़े।

यह भी पढ़े :- वचन की परिभाषा, भेद और प्रयोग के नियम

संयुक्त वाक्य की परिभाषा

जिन वाक्यों में दो या दो से अधिक सरल वाक्यों का बोध होता है, जिसमें वाक्य विभिन्न योजकों जैसे – और, अंत, या, तथा, एवं, इसलिए, फिर भी, तो, नहीं तो, किन्तु, परन्तु, लेकिन, पर आदि से जुड़े होते है। तो उसे ही संयुक्त वाक्य कहते है।

जैसे – मीना पढ़ाई कर रही है लेकिन राम सो रहा है।

ऊपर दिए गए वाक्य में कुल दो वाक्य है, दोनों वाक्य ‘लेकिन’ शब्द से जुड़े हुआ है और वह दोनों वाक्य अपने आप में स्वतंत्र है। यदि उनमें से किसी एक वाक्य को हटा दे तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा। क्योंकि प्रत्येक वाक्य में खुद का क्रिया और कर्ता है, जिस वजह से वह स्वतंत्र है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
Sanyukt Vakya | संयुक्त वाक्य की परिभाषा एवं उदाहरण
Sanyukt Vakya

संयुक्त वाक्य के उदाहरण

  1. उसने बहुत मेहनत की किन्तु सफल नहीं हो सका। 

जैसा ही आप ऊपर देख सकते है कि दोनों वाक्य अपने आप में स्वतंत्र है। दोनों शब्दों को किन्तु अव्यय से जोड़ा गया है, लेकिन वह वाक्य एक- दूसरे पर निर्भर नहीं है।

2. आप खाना खाएं और आराम करें।

ऊपर दिए गए उदाहरण में और दो शब्दों को जोड़ने का काम कर रहा है, लेकिन वह दोनों वाक्य स्वयं में स्वतंत्र है। वाक्यों को अलग -अलग करने पर भी उच्चारण सही होगा। इसका अर्थ है कि वह वाक्य किसी पर आश्रित नहीं है।

संयुक्त वाक्य के अन्य 15 उदाहरण

  • उसकी तबीयत खराब है इसलिए मैं उसका ध्यान रखूंगा।
  • मुझे भीड़ में चलना पसंद नहीं इसलिए मैं अकेले चलता हूं।
  • मैंने उसे पुस्तक दी और वह चला गया।
  • अपना काम भी करो तथा दूसरों की सहायता भी करो।
  • मैंने खाना खाया और सो गया।
  • वह सुबह गया और शाम को लौट आया।
  • जल्दी चलो, नहीं तो पकड़े जाओगे।
  • पुस्तक खो गई थी परंतु मुझे मिल गई।
  • वह धनी है पर लोग ऐसा नहीं समझते।
  • तुम्हें फिर यहां पर देखकर मैं खुश हूँ।
  • उसने मेट्रो की सवारी की एवं ए.सी. का आनंद लिया।
  • राधा ने मेहनत की और सफल हो गई।
  • तुम बार-बार जाती हो फिर वापस आ जाती हो।
  • तुम्हारी माताजी मंदिर गई है और तुम्हारे पिताजी दफ्तर गए हैं।
  • मैं स्टेशन पर झटपट पंहुचा फिर भी बस छूट गई।

संयुक्त वाक्य को सरल वाक्य में ऐसे बदलें

सयुंक्त वाक्य: दिन ढल गया और अंधेरा फैलने लगा।
सरल वाक्य: दिन ढलते ही अंधेरा फैलने लगा।

सयुंक्त वाक्य: हम रोजाना मंदिर जाते है और एकसाथ पूजा करते है।
सरल वाक्य: हम रोजाना मंदिर जाकर एकसाथ पूजा करते है।

संयुक्त वाक्य : राधा रोने लगी और बेहोश हो गई।
सरल वाक्य: राधा रोते ही बेहोश हो गई।

ये भी देखें Gunvachak Visheshan | गुणवाचक विशेषण की परिभाषा एवं उदाहरण

गुणवाचक विशेषण की परिभाषा एवं उदाहरण (Gunvachak Visheshan)

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

संयुक्त वाक्य – व्यक्ति बुड्ढा है अतः उसे दवा पिला दो।
सरल वाक्य – बूढ़े व्यक्ति को दवा पिला दो।

संयुक्त वाक्य से संबंधित प्रश्नोत्तर FAQs –

संयुक्त वाक्य किसे कहते है?

ऐसे वाक्य जिसमे दो या दो से अधिक उपवाक्य होते है, और वह सभी प्रधान होते है। यानी दो शब्द के बीच में संयोजक होता है। जो उन शब्दों को विभाजित करता है। इसी वजह से दोनों वाक्य एक- दूसरे पर आश्रित नहीं होते है।

Sanyukt Vakya की पहचान कैसे होती है?

इस वाक्य की पहचान और, एवं, फिर, या, अथवा, परंतु, इसलिए, तथा, तो, नहीं तो, भी, किंतु, बल्कि, अतः आदि शब्दों से होती है।

संयुक्त वाक्य की खास विशेषता क्या है?

संयुक्त वाक्य में सभी उपवाक्य स्वतंत्र होती है, किसी पर आश्रित नहीं होते है और सभी उपवाक्य समान स्तर वाले होते है।

Sanyukt Vakya के उदाहरण बताइए?

बादल छाए परन्तु बारिश नहीं हुई, रात खत्म हुई और उजाला होने लगा, वह घर से तो जल्दी निकली लेकिन दफ्तर देर से पहुंची आदि सभी वाक्यों के बीच में परन्तु, और, लेकिन का प्रयोग किया गया है।

यह भी देखें
संधि की परिभाषा और भेद
विशेषण किसे कहते हैं
सर्वनाम किसे कहते हैं 
विराम चिन्ह : भेद (12), प्रयोग और नियम
व्यक्ति वाचक संज्ञा

ये भी देखें Avyayibhav Samas - अव्ययीभाव समास: परिभाषा, भेद और उदाहरण

Avyayibhav Samas - अव्ययीभाव समास: परिभाषा, भेद और उदाहरण

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें