क्या घर में धूप या अगरबत्ती जलानी चाहिए? क्या हैं नियम

हम सभी घर में पूजा के वक्त धूप या अगरबत्ती सबसे पहले जलाते हैं, लेकिन क्या आपको मालूम है की धूप या अगरबत्ती घर में जलायी जाती भी है या नहीं, जानें

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

क्या घर में धूप या अगरबत्ती जलानी चाहिए? क्या हैं नियम
क्या घर में धूप या अगरबत्ती जलानी चाहिए? क्या हैं नियम

हिन्दू धर्म में पूजा पाठ करने के अलग नियम निर्धारित किए गए हैं ताकि देवी दवताओं को प्रसन्न किया। यदि हम इन नियमों का पालन करके पूजा पाठ करते हैं तो हमको इसका पूर्ण फल भी प्रदान होता है। यदि आप बिना नियम धर्म के पूजा में कोई गलती करते हैं तो आपको इसका बुरा परिणाम भी भुगतना पड़ सकता है। इन्हीं में से एक नियम पूजा करते हुए धूप एवं अगरबत्ती से जुड़ा हुआ है। अब आप सोच रहें होंगे कि पूजा के दौरान तो इनका उपयोग किया जाता है तो इसके क्या नियम हो सकते हैं, तो आपको बता दें घर में कई लोग पूजा करने के दौरान धूप या अगरबत्ती का उपयोग करते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि इनमें से एक चीज हमारे लिए अशुभ होती है जिसके जलने से घर में नेगेटिविटी आती है। तो चलिए जानते हैं इस जानकारी के बारे में विस्तार से।

घर में धूपबत्ती जलाने से क्या होता है?

हिन्दू धर्म में पूजा-पाठ के दौरान धूपबत्ती जलाना बहुत ही शुभ कार्य माना जाता है। धूपबत्ती जलाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है, तथा दुष्ट आत्माओं का विनाश होता है। धूपबत्ती की जो सुगंध होती है वह मन मोहने वाली होती है इससे हमारा मन शांत एवं तनाव मुक्त होता है। साथ ही हम अपने कार्य को ध्यान एवं एकाग्रता के साथ कर पाते हैं।

ऐसा कहा जाता है कि धूपबत्ती जलाने से वास्तु दोष भी दूर होता है जीवन में शांति रहती है। धूप को कई पेड़ों की लकड़ियों, छाल तथा चन्दन से बनाया जाता है।

धूप जलाने के नियम

  • सूर्योदय से पहले एवं सूर्यास्त के बाद धूप जलाने का समय अच्छा माना जाता है।
  • आप धूप को पूजा स्थल, घर के मुख्य द्वार एवं किसी खुले स्थान पर जला सकते हैं।
  • धूप को कम ही मात्रा में जलाए, अधिक धूप जलने पर धुंआ होता है।
  • धूप को सावधानी से जलाए और छोटे बच्चों को इससे सुरक्षित रखें।

क्या घर में अगरबत्ती जलानी चाहिए?

शास्त्रों में पूजा पाठ के दौरान धूपबत्ती को तो शुभ माना जाता है लेकिन पूजा में अगरबत्ती जलाने का कोई उल्लेख नहीं मिलता है। अगरबत्ती बनाने में बांस का उपयोग किया जाता है तथा शास्त्रों में बांस को जलाना अशुभ माना गया है। इसलिए इसे पूजा पाठ में जलाने से मना किया जाता है। इसके अलावा अगतबत्ती का धुआं हानिकारक होता है इसका धुंआ स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालता है। इसके धुंए से सांस से जुड़ी समस्याएं उत्पन्न होती है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

अगरबत्ती में बांस के होने से इसे इसलिए अच्छा नहीं माना जाता है क्योंकि इससे घर में पितृ दोष भी उत्पन्न होता है इसे पितरों से सम्बंधित एवं नकारात्मक शक्तियों को बांधने वाला बताया गया है। इसके जलने से घर में बुरी शक्तियों का वास होता है जिससे परिवार में झगड़े एवं अन्य परेशानियां आती है।

यह भी देखें: क्या हैं घर में शिवलिंग रख सकते हैं? क्या है नियम

अगरबत्ती जलाने के नुकसान

अगरबत्ती जलाने से कई नुकसान होते हैं जो कि निम्नलिखित हैं –

  • पुराणों में बताया गया है कि बांस जलाने से वंश को नुकसान होता है। क्योंकि अगरबत्ती के निर्माण में बांस का इस्तेमाल होता जो कि अगरबत्ती के निचले हिस्से में लगता है। इस कारण इसे घर में जलाने से बचे।
  • ज्योतिष के अनुसार यदि घर में बांस जलता है तो इससे पितृ दोष पैदा होता है।
  • हिन्दू धर्म में बांस का उपयोग व्यक्ति के अंतिम संस्कार में किया जाता है, बांस पर ही मरे हुए व्यक्ति की शव यात्रा निकाली जाती है इसलिए इसे अशुभ मानते है।
Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें