सोलर वाटर हीटर सब्सिडी योजना उत्तराखंड – Solar Water Heater Yojana Uttarakhand

Share on:

Solar Water Heater Yojana Uttarakhand :- उत्तराखंड अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (उरेडा) के द्वारा बिजली बचाने के लिए सोलर वाटर हीटर योजना को शुरू किया गया है ,इस योजना (Solar Water Heater Yojana Uttarakhand) के अंतर्गत राज्य के निवासियों के लिए सोलर वाटर हीटर लगाने के लिए सरकार के द्वारा बिजली के बिल में सब्सिडी प्रदान की जाएगी। उरेडा के तहत इस वर्ष 75 हजार लीटर वाटर हीटर सिस्टम लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें 100 लीटर से लेकर 800 लीटर तक की क्षमता के हीटर सिस्टम हैं। इससे पूर्व भी उरेडा ने जिले में 55 हजार लीटर क्षमता के सोलर वाटर हीटर स्थापित किए हैं। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से उत्तराखंड सब्सिडी सोलर वाटर हीटर योजना के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

सोलर वाटर हीटर सब्सिडी योजना उत्तराखंड - Solar Water Heater Yojana Uttarakhand
सोलर वाटर हीटर सब्सिडी योजना उत्तराखंड – Solar Water Heater Yojana Uttarakhand

Solar Water Heater Yojana Uttarakhand

उत्तराखंड राज्य के नागरिको को घरेलु कार्य में Solar Water Heater स्थापित करने के लिए 60% की छूट प्रदान की जाएगी। साथ ही व्यवसाय का कार्य करने वाले नागरिको को इसमें 30% की छूट प्रदान की जाएगी। 100 लीटर के एक वाटर हीटर को स्थापित करने के लिए 15000 से 22000 रुपये तक खर्च आता है। उत्तराखंड अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी के द्वारा यह बताया कि 75 हजार लीटर के सोलर वाटर हीटर स्थापित होने पर प्रतिवर्ष नौ लाख यूनिट बिजली की बचत के साथ ही उपभोक्ताओं को प्रति सौ लीटर के वाटर हीटर में प्रतिमाह सौ रुपये बिजली के बिल में भी छूट मिलेगी।

सोलर वाटर हीटर सब्सिडी योजना

योजना सोलर वाटर हीटर सब्सिडी योजना उत्तराखंड
राज्य उत्तराखंड
100 लीटर सोलर वाटर की कीमत 15 से 22 हजार रूपए
सत्र 2023
विभाग उत्तराखंड अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी
लाभार्थी उत्तराखंड राज्य के सभी नागरिक
उद्देश्य उपभोक्ताओं को बिजली के
बिल में सब्सिडी प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट ureda.uk.gov.in

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना ऑनलाइन आवेदन

सोलर वॉटर हीटर क्या है ?

सोलर वाटर हीटर एक ऐसा सिस्टम है जिसके माध्यम से पानी को सूर्य के प्रकाश का इस्तेमाल करके गर्म किया जाता है। इसको स्थापित करे के लिए व्यक्ति अपने घर में खुली स्थान पर इसको स्थापित कर सकते है जैसे छत आदि। जहाँ सोलर वाटर हीटर तक बिना किसी रुकावट के सूर्य की रौशनी पहुंच सकती है। सूरज से मिलने वाली रौशनी के माध्यम से पानी को गर्म करने के लिए इसको एक इंसुलेटेड टैंक में एकत्रित किया जाता है।

सोलर वॉटर हीटर में सौर ऊर्जा को एकत्र करने के लिए एक कलेक्टर होता है जिसके माध्यम से पानी को स्टोर करने के लिए शुद्ध स्टोरेज टैंक होता है। चयनित कोटिंग के साथ लेपित अवशोषक पैनल पर सौर ऊर्जा की घटना गर्मी को अवशोषक पैनल के नीचे रिसर पाइपों में स्थानांतरित करती है। रिसर्स से गुजरने वाला पानी गर्म हो जाता है और स्टोरेज टैंक तक पहुंचाया जाता है। कलेक्टर में अवशोषक पैनल के माध्यम से एक ही पानी का पुनर्जीवन किया जाता है प्रत्येक दिन एक अच्छी धूप से पानी के तापमान को 68ºc + 5 ºc  बढ़ाया जा सकता है। सौर कलेक्टर, स्टोरेज टैंक और पाइपलाइनों की व्यवस्था को सौर गर्म पानी सिस्टम कहा जाता है। सोलर वाटर हीटर के 2 प्रकार होते है जिसका विवरण आपको नीचे दिया गया है।

  • Flat Plate Collectors (FPC)– इस सोलर वाटर हीटर में प्लेट कलेक्टरों के रैडिसन द्वारा पानी को अवशोषित किया जाता है। जिसमे कांच की शीट के साथ सबसे ऊपर वाले भाग में कवर का एक शुद्ध बाहरी मेटल बॉक्स होता है। इसके अंदर एक काले रंग का मैटेलिक अब्सॉरबेर होता है। जो पानी को ले जाने के लिए राइजर ट्यूब के माध्यम से बनाया जाता है। अवशोषक सौर रैडिसन को अवशोषित करता है और गर्मी को बहते पानी में स्थानांतरित करता है।
  • Evacuated Tube Collectors (ETC)-इस सोलर वाटर हीटर्स के माध्यम से इंसुलेशन प्रदान करने के लिए खाली किए गए डबल लेयर बोरोसिलिकेट ग्लास ट्यूब से बने होते हैं। जिसके तहत आंतरिक ट्यूब की बाहरी दीवार सलेक्टिव अवशोषित मैट्रियल के साथ कोटेड होता है। इसके द्वारा सौर रैडिसन को अवशोषण करने में मदद की जाती है और गर्मी को पानी में स्थानांतरित किया जाता है जो इंटरनल ट्यूब से बहता है।

सोलर वाटर हीटिंग सिस्टम के लाभ एवं विशेषताएं

  • 100 लीटर की क्षमता वाला SWH घरेलू प्रयोग के लिए एक इलेक्ट्रिक गीजर की जगह ले सकता है
  • और सालाना 1500 यूनिट बिजली बचायी जा सकती है। इसके माध्यम से इर्धन की बचत की जा सकती है।
  • 100 लीटर क्षमता का एक SWH प्रति वर्ष 1.5 टन कार्बन डाइऑक्साइड के उत्सर्जन को रोक सकता है जो पर्यावरण के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  • 100 लीटर क्षमता के सौर वॉटर हीटर के उपयोग से ऐप की वार्षिक बचत होती है। 1250 यूनिट बिजली
  • सोलर वाटर हीटिंग सिस्टम का उपयोग 15 से 20 सालो तक किया जा सकता है।
  • लागत- 100 लीटर क्षमता प्रणाली के लिए रु 1,5000- 20,000 और उच्च क्षमता प्रणालियों के लिए Rs.110-150 प्रति स्थापित लीटर।
  • सब्सिडी के रूप में विशेष छूट – राज्य सरकार के द्वारा सोलर वाटर हीटर का उपयोग करने वाले नागरिको को बिजली के बिल में विशेष रूप से छूट प्रदान की जाएगी।

विवाह – शादी अनुदान योजना उत्तराखंड आवेदन फॉर्म

Solar Water Heater System के प्रयोग

  • जल तापन सौर ऊर्जा के प्रमुख उपयोगों में से एक है।
  • यह वर्षा, डिशवॉशर और कपड़े धोने वाले आदि के लिए गर्म पानी प्रदान करने के लिए लागू किया जाता है।
  • SWH का उपयोग घरों, सामुदायिक केंद्रों, अस्पतालों, नर्सिंग होम, होटल, डेयरी प्लांट, स्विमिंग पूल, कैंटीन, आश्रम, छात्रावास, उद्योग आदि के लिए किया जा सकता है।
  • SWH का उपयोग बिजली या ईंधन के बिल को काफी कम कर सकता है।
  • बाजार में उपलब्ध सभी सौर ऊर्जा उपकरणों में, सोलर वॉटर हीटर सबसे विश्वसनीय और टिकाऊ में से एक पाया जाता है।
  • सोलर वॉटर हीटर में अन्य सभी सौर ऊर्जा उपकरणों की सबसे लंबी वारंटी अवधि होती है।
  • सोलर वाटर हीटर को निवेश का सबसे तेज़ भुगतान माना जाता है।

उत्तराखंड सोलर वॉटर हीटर के लिए आवेदन प्रक्रिया

उत्तराखंड सोलर वाटर हीटर में आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करें।

  • आवेदन करने के लिए आवेदक को सोलर वाटर हीटर कंपनी से कॉन्टेक्ट करना होगा।
  • कंपनी के द्वारा ही सोलर वाटर हीटर के लिए आवेदन किया जा सकता है।
  • कम्पनी से कॉन्टैक्ट करने पर आपको आवेदन करने के लिए कंपनी के द्वारा आवेदन फॉर्म दिया जायेगा।
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी प्रकार की जानकारी आपको दर्ज करनी है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको फॉर्म के साथ मांगे गए दस्तावेजों की स्कैन कॉपी को फॉर्म के साथ अटैच करना है।
  • इसके बाद फॉर्म को सोलर वाटर हीटर कम्पनी में जमा कर देना है।
  • इस तरह से आवेदन करने की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

उत्तराखंड श्रमिक पंजीकरण मजदुर रजिस्ट्रेशन

सोलर वाटर हीटर सब्सिडी योजना से संबंधित सवाल और उनके जवाब

सोलर वॉटर हीटर लगाने से कौन से लाभ प्राप्त होते है ?

सोलर वॉटर हीटर लगाने से विभिन्न प्रकार के लाभ प्राप्त होते है। इससे उपभोक्ताओं को बिजली के बिल में सब्सिडी प्रदान की जाती है।

एक वर्ष में सोलर वाटर हीटर के माध्यम से उपभोक्ताओं को कितनी सब्सिडी प्रदान की जाती है?

सोलर वाटर हीटर के उपभोक्ताओं को एक वर्ष की अवधि में 100 लीटर के हिसाब से 1200 रूपए की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

सोलर वॉटर हीटर स्थापित करने के क्या फायदे है ?

सोलर वॉटर हीटर को लगाने से पानी को गर्म करने की आवश्यकता नहीं होती है यह सूर्य के तापमान से स्वतः ही गर्म होता है जिससे बिजली बचाने के लिए यह एक सहायक के रूप में कार्य करता है।

सोलर वॉटर हीटर का उपयोग कौन कौन से क्षेत्रों में किया जा सकता है ?

सभी प्रकार के क्षेत्रों में सोलर वाटर हीटर का प्रयोग किया जा सकता है जिसे व्यावसयिक और घरेलू प्रयोग के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।

उपभोक्ताओं के द्वारा एक सोलर वॉटर हीटर को कब तक इस्तेमाल किया जा सकता है?

सोलर वॉटर हीटर को उपभोक्ताओं के द्वारा कम से कम 15 से 20 साल तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

सोलर वॉटर हीटर के लिए उपभोक्ता कैसे आवेदन कर सकते है ?

उपभोक्ताओं के द्वारा सोलर वॉटर हीटर आवेदन करने के लिए कंपनी से संपर्क करना होगा, जिसके बाद वह सभी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है।

क्या उपभोक्ताओं को सोलर वॉटर हीटर लगाने के लिए सब्सिडी का लाभ प्रदान किया जायेगा ?

30% से लेकर 60% की सब्सिडी उपभोक्ताओं को प्रदान की जाएगी जिसमे घरेलु उपयोग और व्यवसाय के अलग-अलग रूप में सब्सिडी निर्धारित की गयी है ?

100 लीटर सोलर वॉटर के लिए उपभोक्ता को कितनी राशि जमा करनी होगी ?

15 हजार से 22 हजार रूपए तक की राशि को 100 लीटर सोलर वॉटर हीटर के लिए जमा करनी होगी।

सोलर वॉटर हीटर में कितने समय तक पानी गर्म रहता है ?

या वातावरण और हीटर के तापमान पर निर्भर करता है अगर तापमान निर्धारित रूप से सही है तो यह 24 से 48 घंटो तक पानी को गर्म रख सकता है।

click-here
यहाँ भी पढ़े
उत्तराखंड भूलेख / भू नक्शा खसरा खतौनी जमाबंदी भू अभिलेख
उत्तराखंड जाति प्रमाण पत्र कैसे बनवाएं, आवेदन प्रक्रिया
विधवा पेंशन योजना उत्तराखंड आवेदन फॉर्म

Photo of author

Leave a Comment

Join Telegram