यूपी (उप्र) भूलेख खसरा खतौनी नकल जमाबंदी | Bhulekh Uttar Pradesh- UP Bhu Naksha

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

आज हम उत्तर प्रदेश वासियो के लिए यूपी भूलेख खसरा खतौनी को लेकर जानकारी लाये है। यूपी सरकार ने भूलेख (Bhulekh Uttar Pradesh) की जानकारी को ऑनलाइन करने के लिए इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट लांच की है।UP Bhulekh को ऑनलाइन करने का उद्देश्य यही है की यूपी में जितने भी लोगो के पास भूमि है उसका ब्यौरा भूमि संसाधन विभाग के पास सुरक्षित रहे। ताकि कल के दिन किसी को भी जमीन के विवाद में कोई भी दिक़्क़त होती है या कोई जबरदस्ती अपना मालिकाना हक़ जताता है तो सरकार के पास सबूत हो की जमीन पर असली हक़ किसका है। इसके साथ ही जमीन से जुडे विवादित मामलों में इस पोर्टल की सहायता ली जा सकती है। राजस्व न्यायालयों में पोर्टल में दी गयी जानकारी को वैध माना जाता है।

यूपी (उप्र) भूलेख खसरा खतौनी नकल जमाबंदी | Bhulekh Uttar Pradesh- UP Bhu Naksha
यूपी (उप्र) भूलेख खसरा खतौनी नकल जमाबंदी | Bhulekh Uttar Pradesh- UP Bhu Naksha

यह भी पढ़े :- Uttarakhand Khasra Khatauni – उत्तराखंड भूलेख / भू नक्शा खसरा खतौनी जमाबंदी भू अभिलेख

उत्तर प्रदेश भू लेख ऑनलाइन नकल खतौनी कैसे निकालें ?

यदि आप भी यूपी भूलेख खसरा खतौनी को ऑनलाइन निकालना चाहते है और आप यदि किसी भी राज्य या जिले में निवास कर रहे है तो आप घर बैठे अपने खाता खतौनी का विवरण कैसे देख सकते है ये हम आपको बताने वाले है। आप हमारे दिए हुए स्टेप्स फॉलो कर सकते है।

  • सबसे पहले उम्मीदवार को भूलेख राजस्व परिषद की आधिकारिक वेबसाइट upbhulekh.gov.in पर जाएँ।
  • उसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुलेगा आपको खतौनी अधिकार अभिलेख की नकल देखे के विकल्प पर क्लिक करे।
    यूपी-भूलेख-ऑनलाइन-खसरा-खतौनी
  • खतौनी अधिकार की नकल पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा आपको उसमे कैप्चा कोड भरना होगा। और सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दे। uttar-pardesh-online-jmabndi-nakl
  • सब्मिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके नए पृष्ठ में आपको अपना तहसील और गांव का नाम चयन करना होगा।
    उत्तर-प्रदेश-भू-लेख-ऑनलाइन-नकल
  • इसके बाद आपको जानकारी के अनुसार मांगी गयी डिटेल्स भरनी है और उद्धरण देखे पर क्लिक करे। up-bhulekh-online
  • उसके बाद अगले पेज में आपको एक सत्यापित कोड दिया जायेगा आपको कोड दर्ज करना होगा। और countinue पर क्लिक कर दे।
    up-bhulekh-khata-vivarn
  • अब आप अपनी यूपी भू-लेख खतौनी (khasra khatauni up) के बारे में जान सकते है। उसके बाद अगले स्क्रीन पर आपकी भू लेख से जुडी सारी जानकारी देख सकते है। और प्रिंट करके निकाल सकते सकते है।

यूपी (उप) भूलेख खसरा खतौनी नकल जमाबंदी

आर्टिकल यूपी भूलेख ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल जमाबंदी
विभाग उत्तर प्रदेश भू राजस्व परिषद
पोर्टल को लांच करने की तिथि2 मई 2016
लाभकिसी भी व्यक्ति को जमीन के विवरण के
लिए कार्यालय या पटवारी के पास नहीं जाना पड़ेगा
उद्देश्यजमीन का विवादी मामला होने पर सरकार
के पास सारी जानकारी पहले से ही हो
हेल्पलाइन नंबर0522-2217145
आधिकारिक वेबसाइटupbhulekh.gov.in

यूपी भू लेख ऑनलाइन खसरा खतौनी के लाभ

  • उत्तर प्रदेश के उम्मीदवारों को अब अपनी भूमि के किसी भाग का नक्शा या भूमि से जुड़े किसी भी दस्तावेज के लिए कार्यालय के चक्कर नहीं लगाने होंगे।
  • जमीन से जुड़ी जानकारी को और आसानी से उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सरकार के द्वारा पोर्टल लॉन्च किया गया है।
  • ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के बाद आपके धन व समय दोनों की बचत होगी।
  • उत्तर प्रदेश भू लेख के अंतर्गत आप अपना जमाबंदी नंबर और खसरा खतौनी नंबर दर्ज करके आप आसानी से अपनी भूमि के विवरण के बारे में आसानी से जान सकते है।
  • डिजिटल भूलेख का लाभ सिर्फ उत्तर प्रदेश के निवासी उठा सकते है।

यूपी भूलेख खसरा खतौनी जिला वार

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने जिन जिलों को ऑनलाइन भू लेख के अंतर्गत रखा है और जिन भी जिलों का नाम सूची में है वे घर बैठे ही अपने भूमि की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Ambedkar Nagar (अम्बेडकर नगर)Lucknow (लखनऊ)
Amroha (अमरोहा)Kannauj (कन्नौज)
Agra (आगरा) Kheri (खेरी)
Azamgarh (आजमगढ़)Ayodhya (अयोध्या)
Aligarh (अलीगढ़)Kanpur Dehat (कानपुर देहात)
Kasganj (कासगंज)Kaushambi (कौशाम्बी)
Auraiya (औरैया)Kanpur Nagar (कानपुर नगर)
Bahraich (बहराइच)Bara Banki (बाराबंकी)
Baghpat (बागपत)Agra (आगरा)
Amethi (अमेठी)Jhansi (झाँसी)
Banda (बाँदा)Kushinagar (कुशीनगर)
Balrampur (बलरामपुर)Mahrajganj (महाराजगंज)
Ballia (बलिया)Mahoba (महोबा)
Mainpuri (मैनपुरी)Moradabad (मुरादाबाद)
Bareilly (बरेली)Mirzapur (मिर्ज़ापुर)
Meerut (मेरठ)Basti (बस्ती)
Bijnor (बिजनौर)Mau (मऊ)
Budaun (बदायूँ)Mathura (मथुरा)
Muzaffarnagar (मुजफ्फरनगर)Bulandshahar (बुलंदशहर)
Chandauli (चंदौली)Etawah (इटावा)
Saharanpur (सहारनपुर)Pratapgarh (प्रतापगढ)
Deoria (देवरिया)Pilibhit (पीलीभीत)
Etah (एटा)Rae Bareli (रायबरेली)
Prayagraj (प्रयागराज)Chitrakoot (चित्रकूट)
Sant Kabir Nagar (संत कबीरनगर)Rampur (रामपुर)
Sant Ravidas Nagar (Bhadohi)
(संत रविदास नगर)
Sambhal (सम्भल)
Fatehpur (फतेहपुर)Farrukhabad (फ़र्रूख़ाबाद)
Gautam Buddha Nagar (गौतमबुद्ध नगर)Firozabad (फ़िरोजाबाद)
Ghaziabad (गाजियाबाद)Shahjahanpur (शाहजहाँपुर)
Shrawasti (श्रावस्ती)Ghazipur (ग़ाज़ीपुर)
Gonda  (गोंडा)Shamli (शामली)
Hathras (हाथरस)Siddharthnagar (सिद्धार्थनगर)
Sultanpur (सुल्तानपुर)Unnao (उन्नाव)
Sonbhadra (सोनभद्र)Hapur (हापुड़)
Hardoi (हरदोई)Varanasi (वाराणसी)Hamirpur (हमीरपुर)
Gorakhpur (गोरखपुर)Sitapur (सीतापुर)
Jalaun (जालौन)Hardoi (हरदोई)
Jaunpur (जौनपुर)
यूपी भूलेख खसरा खतौनी के उद्देश्य

अब सभी राज्य सरकारों द्वारा भारत को डिजिटल करने के लिए अपने नागरिकों को ऑनलाइन सेवाएं ऑनलाइन दे रहे हैं। जिससे की अब सभी घर बैठे इंटरनेट की सहायता से अपने कार्य कर सके। इसलिए उत्तर प्रदेश सरकार ने डिजिटल में अपना योगदान देते हुए यूपी भूलेख पोर्टल को लांच किया है। सभी तहसीलों में भू लेख की दर्ज जानकारी को पोर्टल में सेव कर दिया गया है। जिसमें सभी सम्पति धारक अपने भूमि से जुडी जानकारी देख सकते हैं। और डिजिटल के माध्यम से प्रणाली में पारदर्शिता आएगी। और फर्जी तरह से होने वाले कामो में कमी आएगी। और भूलेख पोर्टल में आपके सभी आवश्यक दस्तावेजों का रिकॉर्ड सुरक्षित किया जायेगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आप देखते होंगे कई जगह प्रॉपर्टी की वजह से कई क्राइम देखने को मिलते हैं। लेकिन सरकार के पास इस बात का रिकॉर्ड पहले से ही मौजूद रहेगा की जमीन का असली मालिक कौन है। और पोर्टल में सभी जानकारियां सही-सही दर्ज की जाती है। यह नागरिकों तक भूमि रिकॉर्डों को पारदर्शी रूप में उपलब्ध करवाने हेतु वह महत्वपूर्ण प्रणाली है जिसमें नागरिकों को घर बैठे लैंड रिकार्ड से संबंधी सभी जानकारी प्रदान की जाती है। अब अब अपनी भूमि से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए नागरिकों को किसी भी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

UP Haisiyat Praman Patra

eDistrict.up.gov.in पर हैसियत प्रमाणपत्र (UP Haisiyat Praman Patra) के लिए आवेदन कैसे करें?

उत्तर प्रदेश भू लेख प्रिंट कैसे निकाले ?

जैसे की आप सब जानते ही है की हमे किसी न किसी सरकारी कार्य के लिए हमे दस्तावेज की आवश्यकता होती है इसके लिए हम ऑनलाइन के माध्यम से अपने दस्तावेजों का प्रिंट निकाल सकते है। आप बहुत ही आसानी से अपना प्रिंट निकाल सकते है। इसके लिए आपको स्टेप 5 के ब्राउजर के विकल्प में जाना होगा और मेनू के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और उसमे प्रिंट का विकल्प आजायेगा और आप ctrl +p बटन को दबाकर भी प्रिंट निकाल सकते है और डाउनलोड कर सकते है।

भू नक्शा ऑनलाइन कैसे देख सकते हैं ?

  • उत्तर प्रदेश के उम्मीदवार सबसे पहले यूपी भू नक्शा की आधिकारिक वेबसाईट पर विजिट करें।
  • उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा आपको होम पेज में अपना जिला, तहसील गांव, ब्लॉक, चयनित क्षेत्र का चयन करना होगा। यूपी भू नक्शा ऑनलाईन देखें और डाउनलोड करें- UP Bhu Naksha Online Download
  • उसके बाद आपकी स्क्रीन पर आपकी भूमि से जुड़ा नक्शा आ जायेगा। आप चाहे तो इसका प्रिंट निकाल सकते हैं।
  • अगर आप खाता धारक का नाम देखना चाहते हैं तो आपको फॉर्म नंबर पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको खाता धारक संख्या दिखाई देगी। अब आप खाताधारक के नाम का चयन करें।
राजस्व ग्राम खतौनी का कोड जानने की प्रक्रिया
  • सबसे पहले उम्मीदवार राजस्व विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा। आपको होम पेज में राजस्व ग्राम खतौनी का कोड जाने के लिंक पर क्लिक करें। यूपी भू लेख खाता खतौनी ऑनलाईन- UP Bhulekh online Khata Khatauni Download
  • अब आपको नए पेज में अपना जिला, तहसील का नाम, गांव का नाम चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर आपके राजस्व ग्राम खतौनी का कोड होगा।UP Bhulekh Khasra online Khata Nakal, Khatauni- यूपी भू लेख खाता खतौनी ऑनलाईन

शिकायत पंजीकरण करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले उम्मीदवार यूपी अभिलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • उसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलेगा। आपको होम पेज में शिकायत पंजीकरण का लिंक दिखाई देगा आपको इस पर क्लिक करना होगा।
  • आपकी स्क्रीन पर शिकायत दर्ज करने के लिए आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • आपको आवेदन फॉर्म में दर्ज सभी जानकारी भरनी होगी। उसके बाद आप सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें।
  • इस प्रकार आप बहुत ही आसानी से शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

शिकायत की स्थिति जांचने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले उम्मीदवार को भूलेख राजस्व परिषद की आधिकारिक वेबसाइट upbhulekh.gov.in पर जाएँ।
  • उसके बाद आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलेगा। आपको होम पेज में शिकायत की स्थिति जाने के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करते हैं आपके स्क्रीन पर नया पेज खुल जायेगा। जिसमें आपको अपना शिकायत संख्या, मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। और अंत में नीचे एक सुरक्षा कैप्चा कोड दिया होगा उसे भरें और सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दें।
  • आपके शिकायत की स्थिति आपके स्क्रीन पर आ जाएगी।

UP भूलेख मोबाइल ऍप को कैसे डाउनलोड करें ?

  • यूपी भूलेख मोबाइल ऍप को आप अपने मोबाइल फ़ोन में मौजूद प्ले स्टोर ऍप के अंतर्गत आसानी से डाउनलोड कर सकते है।
  • सबसे पहले लाभार्थी नागरिक को प्ले स्टोर में सर्च वाले ऑप्शन में UP भूलेख ऍप को सर्च करना होगा।
  • इसके पश्चात आपकी स्क्रीन में भूलेख मोबाइल ऍप खुलकर आएगा।
  • मोबाइल ऍप में आवेदक को इंस्टॉल के ऑप्शन में क्लिक करना है।
  • अब आपके मोबाइल में UP भूलेख ऍप डाउनलोड हो जायेगा। भूलेख उत्तर प्रदेश मोबाईल ऐप डाउनलोड- BHulekh UP App Download
  • भूलेख उत्तर प्रदेश मोबाईल ऐप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें.
  • इस प्रकार आप ऍप के माध्यम से अपने भूमि से जुड़े सभी विवरणों की जानकारी को प्राप्त कर सकते है।

उत्तर प्रदेश भू लेख खतौनी ऑनलाइन नकल से जुड़े कुछ सवाल और जवाब

यूपी भूलेख से जुडी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

UP Bhulekh से जुडी आधिकारिक वेबसाइट- upbhulekh.gov.in है।

यूपी भूलेख खसरा खतौनी में कैसे पता चलता है की भूमि किसके नाम है ?

इसके लिए आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर जाना होगा और खाता संख्या दर्ज करके जान सकते है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

जमाबंदी क्या होता है ?

जमाबंदी में जमींन का रिकॉर्ड रखा जाता है जिसमें आप जमींन के मालिक का नाम, खसरा नंबर, भूमि, फसलों का विवरण, पट्टेदार, खेतिहर का नाम जैसे जरुरी जानकारी दर्ज होती है।

खतौनी नंबर क्या होता है ?

खतौनी नंबर एक ऐसी संख्या होती है जो एक कृषक को दे दी जाती है। जो संख्या कृषक को दी जाती है उसके आधार पर किसान अपनी उस जमीन पर खेती करता है।

खाता नंबर क्या होता है ?

खाता नंबर एक ऐसी संख्या है जो राजस्व विभाग द्वारा जमींन के मालिक को दी जाती है। जिसमें दिए गए खाता नंबर में अलग-अलग प्रकार के खसरा नंबर दर्ज होते हैं जो भूमि का एक हिस्सा होता है।

खसरा नंबर क्या होता है ?

खसरा नंबर राज्य की सरकार के द्वारा भूमि के मालिक को दी जाती है। जो एक प्लाट संख्या या एक सर्वे संख्या होती है।

तो जैसे की हमने आपको यूपी भूलेख खसरा खतौनी ऑनलाइन जमाबंदी से सारी जानकारी साझा कर दी है यदि आपको यूपी भूलेख से जुडी कोई समस्या है तो आप हमे नीचे कमेंट बॉक्स में मेसेज कर सकते है।

निलंबित, बर्खास्त, सस्पेंड और डिसमिस में क्या अंतर होता है? Difference Between Suspended, Suspended and Dismissed

निलंबित, बर्खास्त, सस्पेंड और डिसमिस में क्या अंतर होता है?

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें