राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना | Kamdhenu Dairy Yojana, Loan Application Form

Share on:

राजस्थान सरकार ने राज्य में दुग्ध उत्पादों एवं पशुपालन को बढ़ाने के लिए कामधेनु डेयरी योजना की शुरुआत की है। राजस्थान सरकार चाहती है की पशुपालन उद्योग को अधिक से अधिक बढ़ावा मिले एवं राज्य में रोजगार के नए-नए अवसर पैदा हो। योजना के तहत राजस्थान सरकार नागरिकों को लोन और सब्सिडी भी प्रदान करेगी। सरकार का कहना है की राज्य में इस तरह की योजनाओं से डेयरी फार्म से जुड़े लोग अधिक से अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। यदि आप राजस्थान राज्य के निवासी हैं तो आप कामधेनु डेयरी योजना की ऑफिसियल वेबसाइट gopalan.rajasthan.gov.in पर ऑनलाइन जाकर आवेदन कर सकते हैं। आगे आर्टिकल में हमने आपको योजना से जुड़ी पात्रता , आवेदन प्रक्रिया , लाभ आदि के बारे में विस्तृत रूप से बताया है। योजना के बारे में और अधिक जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना
राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना क्या है ? जानें
Contents show

Key high lights of राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना:

योजना का नाम राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना (Rajasthan Kamdhenu Dairy Yojana)
योजना की शुरुआत किसके द्वारा की गई राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गेहलोत जी के द्वारा
सम्बंधित राज्य राजस्थान
विभाग दुग्ध डेयरी एवं पशुपालन विभाग
योजना के लाभार्थी राजस्थान राज्य के निवासी नागरिक
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन
राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना की ऑफिसियल वेबसाइट gopalan.rajasthan.gov.in

Rajasthan Kamdhenu Dairy Yojana के लिए सरकार द्वारा निर्धारित बजट:

आपकी जानकारी के लिए बता दें की राजस्थान सरकार ने योजना के सम्पूर्ण कार्यान्वयन के लिए लगभग 750 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया है। योजना के सम्पूर्ण कार्य संचालन की जिम्मेदारी राज्य सरकार के दुग्ध डेयरी एवं पशुपालन विभाग की होगी।

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना हेतु राजस्थान सरकार द्वारा निर्धारित जरूरी दिशा-निर्देश:

  • जो भी नागरिक योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो उनके पास पशुओं के लिए हरा चारा उत्पादन (पैदा करने के लिए) पर्याप्त स्थान एवं जमीन होनी चाहिए।
  • आवेदक किसान के द्वारा योजना हेतु बनाये गए प्रोजेक्ट की वैल्यू 36 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • योजना के नियमानुसार आवेदक किसान को योजना में लगने वाली लागत का 10% खर्च का भुगतान स्वयं से करना होगा।
  • योजना के तहत देशी नस्ल की गाय जो 5 वर्ष से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए।
  • गाय प्रतिदिन कम से कम लगभग 10 से लेकर 12 लीटर तक दूध देने वाली होनी चाहिए।
  • आवेदक किसान योजना के अनुरूप अधिकतम 30 गाय / भैसें रख सकता है।
  • कामधेनु डेयरी योजना के नियमानुसार आवेदक किसान को 15 या 6 महीने बाद योजना के द्वितीय चरण में कम से कम 15 देशी गाय खरीदना अनिवार्य है।
  • आवेदक को पशुपालन का कम से कम 3 वर्ष का अनुभव होना चाहिए।
राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना के लाभार्थी कौन हैं ?

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना के लाभार्थी निम्नलिखित नागरिक हो सकते हैं –

  • राज्य के बेरोजगार युवा
  • राज्य में पशुपालन का काम करने वाले पशुपालक
  • राज्य के किसान
  • राज्य के ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना के लाभ एवं विशेषतायें:

  • योजना के तहत दिए जाने वाले लोन पर राज्य सरकार योजना के लाभार्थी को 30 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करेगी।
  • राज्य में योजना के लागू होने से नागरिकों को उचित और बेहतर दामों अच्छी क्वालिटी के दुग्ध उत्पाद मिलेंगे। राज्य की दूध हेतु दूसरे राज्यों पर निर्भरता कम होगी।
  • राज्य में कामधेनु डेयरी योजना के लागू होने से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं एवं राज्य के बेरोजगार युवा रोजगार प्राप्त कर आत्मनिर्भर बन सकेंगे।
  • कामधेनु योजना से राजस्थान में बेरोजगारी दर में कमीं आएंगी।
  • योजन के तहत पशुपालन को बढ़ावा मिलने से सड़कों पर घूमने वाले आवारा पशुओं की संख्या कम होगी।
  • योजना के तहत राज्य सरकार के द्वारा लाभार्थियों को प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि लाभार्थी अधिक से अधिक लाभ कमा सकें।

Kamdhenu Dairy Yojana का उद्देश्य:

  • राज्य में स्वरोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना।
  • राज्य के बेरोजगार युवाओं को रोजगार के साथ जोड़ना।
  • पशुपालन को बढ़ावा देना।
  • डेयरी उत्पाद के प्रोडक्शन में वृद्धि करना ताकि राज्य के नागरिक अधिक से अधिक लाभ कमा सकें।
  • कामधेनु डेयरी योजना लागु होने से राज्य में घटती हुए दुग्ध पशुओं की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी।

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना हेतु आवश्यक पात्रताएं (Eligibility):

Kamdhenu Dairy Yojana का लाभ लेने के लिए आपको निम्नलिखित पात्रताएं पूरी करनी होंगी जो इस प्रकार से हैं –

  • आवेदक राजस्थान राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • कामधेनु योजना का लाभ लेने हेतु आवेदक की आयु न्यूनतम 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक के पास कम से कम 1 एकड़ जमीन होनी चाहिए।
Rajasthan Kamdhenu Dairy Yojana के आवेदन हेतु जरूरी दस्तावेज (Documents Required):

यदि आप राजस्थान कामधेनु योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए –

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का राजस्थान राज्य का स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक का जमीन से संबंधित सभी दस्तावेज
  • आवेदक का बैंक खाता (Bank Account details: जैसे पासबुक , बैंक स्टेटमेंट आदि।)
  • आवेदक का हाल ही में खींचा गया नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो ग्राफ
  • आवेदक का एक्टिव मोबाइल नंबर

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना का लाभ लेने हेतु कैसे करें online आवेदन:

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना के ऑनलाइन आवेदन हेतु निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करें। पूरी प्रक्रिया हमने आपको स्टेप बाय स्टेप बतायी है –

  • Step 1: राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना के ऑनलाइन आवेदन के लिए आप सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट gopalan.rajasthan.gov.in को ओपन करें।
  • Step 2: वेबसाइट ओपन होने के बाद आपको वेबसाइट के होम पेज पर राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना का लिंक देखने को मिलेगा। आवेदन हेतु लिंक पर क्लिक करें।
  • Step 3: लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा।
  • Step 4: इस ओपन हुए पेज पर आपको फॉर्म डाउनलोड का लिंक देखने को मिलेगा। लिंक पर क्लिक कर फॉर्म को डाउनलोड करें।
  • Step 5: डाउनलोड हुए फॉर्म को आप प्रिंट कर लें। प्रिंट होने के बाद फॉर्म में मांगी गई जानकारियों के अनुसार फॉर्म को भरें।
  • Step 6: भरे हुए फॉर्म के साथ सभी जरूरी आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करें।
  • Step 7: इसके बाद आपको योजना से संबंधित कार्यालय में जाकर आवेदन फॉर्म को जमा कर देना है।
  • Step 8: फॉर्म जमा होने के बाद राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा आपके फॉर्म की जांच करके फॉर्म में भरी गई जानकारियों का सत्यापन किया जाएगा।
  • Step 9: सत्यापन होने के बाद आपको राज्य सरकार के द्वारा लोन प्रदान कर दिया जाएगा। इस तरह से आप Kamdhenu Dairy Yojana के लिए आवेदन कर पाएंगे।

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना से संबंधित प्रश्न

Rajasthan कामधेनु डेयरी योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Rajasthan कामधेनु डेयरी योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://gopalan.rajasthan.gov.in/ है।

कामधेनु डेयरी योजना में सरकार कितनी सब्सिडी देगी ?

आपको बता दें की योजना के अंतर्गत राज्य सरकार लाभार्थी को 25 दुधारू गाय पालने हेतु 3 % वार्षिक व्याज की दर से लोन देगी जिसमें से लाभार्थी को कुल खर्च का 85 % दिया जाएगा एवं 15 % योजना के लाभार्थी को स्वयं देना होगा।

कामधेनु डेयरी योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

राजस्थान कामधेनु डेयरी योजना का हेल्पलाइन नंबर (011) 2587-1187 / 2587-1107 है।

वर्तमान में राजस्थान के गोपालन मंत्री कौन हैं ?

वर्तमान में राजस्थान के गोपालन मंत्री श्री प्रमोद भाया जी हैं।

गोपालन निदेशालय से संबंधित Contact details:

Phone number 0141-2740613
fax 0141-2740613
Email ID dir.dgs@rajasthan.gov.in
Photo of author

Leave a Comment

Join Telegram