15 अगस्त पर छोटा भाषण, स्कूल के बच्चों के लिए – 15th August 2023

15 अगस्त पर छोटा भाषण : 15 अगस्त को हर साल हमारे देश में स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। इस वर्ष 2023 में हमारे देश को आजाद हुए 76 वर्ष पूरे हो चुके हैं और हम देश की स्वतंत्रता के 76वें वर्ष में प्रवेश कर रहे हैं। भारत सरकार द्वारा इस ... Read more

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

15 अगस्त पर छोटा भाषण : 15 अगस्त को हर साल हमारे देश में स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। इस वर्ष 2023 में हमारे देश को आजाद हुए 76 वर्ष पूरे हो चुके हैं और हम देश की स्वतंत्रता के 76वें वर्ष में प्रवेश कर रहे हैं। भारत सरकार द्वारा इस बार देशभर में 76वें वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में अमृतमहोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।

इस बार भी हर साल की ही तरह देश के सभी स्कूलों, कॉलेजों, कार्यालयों व अन्य संस्थानों में विभिन्न प्रोग्रामों का आयोजन किया जाएगा। जैसे की निबंध प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता आदि।

यदि आप भी अपने स्कूल में भाषण प्रतियोगिता में भाग लेने वाले हैं तो आप के लिए ये लेख उपयोगी होगा। आप यहाँ स्कूल के बच्चों के लिए 15 अगस्त पर छोटा भाषण तैयार करने के लिए यहाँ दिए गए भसहनों की सहायता ले सकते हैं।

15 अगस्त पर छोटा भाषण, स्कूल के बच्चों के लिए - 15th August
15 अगस्त पर छोटा भाषण, स्कूल के बच्चों के लिए – 15th August

15th August Speech 2023 (Independence Day)

आदरणीय मुख्य अतिथि महोदय, प्रधानाध्यापक जी, सभी सम्माननीय शिक्षकगण और यहाँ उपस्थित सभी अभिभावकगण व मेरे प्यारे दोस्तों, आज मैं आप सभी को 15 अगस्त के इस सुअवसर पर शुभकामनायें देता हूँ।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

जैसा की आप सभी जानते हैं की आज ही के दिन अंग्रेजी हुकूमत से हमे स्वतंत्रता संग्राम जीतने के बाद हमारे देश को आजादी मिली थी। इस स्वतंत्रता संग्राम में हमारे देश के कई वीर जवानों ने अपनी जान की कुर्बानी दी थी। जिसके बाद वर्ष 1947 में हमे आजादी मिली थी। और तब से ही 15 अगस्त के दिन को हर साल राष्ट्रीय पर्व के तौर पर मनाया जाता है।

15 अगस्त 1947 में मिली आजादी से पहले भारत पर पिछले कुछ समय से अंग्रेजों की हुकूमत में था। इसे एक ब्रिटिश कॉलोनी के तौर पर जाना जाता था। इस दौरान अंग्रेजों ने भारतीय नागरिकों पर बहुत अत्याचार किया जिससे समय बीतने के साथ साथ नागरिकों ने इसका विरोध किया।

लेकिन दिन प्रतिदिन हालात बहुत खराब होते गए। स्वतंत्रता की मांग को दबाने के लिए अंग्रेजी हुकूमत ने आम जनमानस के लिए और भी बदतर हालात पैदा किये। इसके बावजूद देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने हार नहीं मानी और आजादी के मार्ग पर चलते हुए ही शहीद हो गए। इन्ही शहीदों के प्रयासों का नतीजा है कि आज हम स्वतंत्र भारत में जी रहे हैं।

देश के आजाद होने पर संविधान बनाया गया जिससे हमारे देश में स्वशासन की व्यवस्था तैयार की गयी। ताकि आगे कभी भी हमारा देश परतंत्र न हो। देश के विकास के लिए विभिन्न कार्य किये जाने लगे। साथ ही हर साल स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाने लगा।

स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रधानमंत्री दिल्ली में लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहराते हैं और हमारे देश के राष्ट्रपति देश के नाम सम्बोधन जारी करते हैं। प्रत्येक सरकारी संस्थानों और शिक्षण संस्थानों में विभिन्न गतिविधियों व कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। और सभी बढ़चढ़कर इनमे भाग भी लेते हैं जैसे कि – देशभक्ति गीत गायन, नाटक, भाषण प्रतियोगिता, निबंध लेखन इत्यादि।

आज इस अवसर पर देश के लिए शहीद होने वाले सभी वीरों और देशभक्तों को याद करते हुए हम उन्हें नमन करते हैं। जिन्होंने पूरे 200 वर्षों की ग़ुलामी के बाद देश को अंग्रेजों से मुक्त कराया।

डीके शिवकुमार जीवन परिचय | DK Shivakumar Biography in Hindi | डीके शिवकुमार की शिक्षा, राजनैतिक करियर,परिवार,संपत्ति

डीके शिवकुमार जीवन परिचय | DK Shivakumar Biography in Hindi | शिक्षा, राजनैतिक करियर,परिवार,संपत्ति

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

इनमे से कुछ देशभक्तों के नाम हम बचपन से सुनते आ रहे हैं जैसे कि – मोहनदास करमचंद गांधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, मंगल पांडे, मोतीलाल नेहरू, विनायक दामोदर सावरकर आदि जैसे स्वतंत्रता सेनानियों के अथक प्रयास से आज हम यहाँ हैं। इसलिए हमे इन सभी को श्रद्धांजलि देते हुए इस बात का प्रयास करना चाहिए कि हम इन सेनानियों के सपनों का भारत बना सकें।

मैं आप सभी का धन्यवाद करता हूँ की आप ने मुझे अपने विचारों को रखने का अवसर दिया और अंत में इन चंद पंक्तियों के साथ अपने भाषण का समापन करता हूँ।

दे सलामी इस तिरंगे को,
जिस से तेरी शान है
सर हमेशा ऊंचा रखना इसका,
जबतक दिल में जान है।

15 अगस्त पर छोटा भाषण

यहाँ उपस्थित आदरणीय मुख्य अतिथि महोदय, प्रधानाचार्य महोदय, सभी शिक्षणगण व मेरे प्यारे दोस्तों, आप सभी को सुप्रभात व स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें।

इस साल हम देश की आजादी के 76वां साल के पूर्ण होने के उपलक्ष में आजादी का अमृतमहोत्सव मना रहे हैं। आज से 76 साल पूर्व हमारा देश 15 अगस्त 1947 में आजाद हुआ था। इस दिन सभी देशवासी इसे राष्ट्रीय पर्व की तरह मनाते हैं। देश के हर कोने में आजादी का जश्न मनाया जाता है।

आज के दिन दिल्ली के लाल किले पर प्रधानमंत्री द्वारा हमारा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है। वहीँ राष्ट्रपति भी हर साल स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर पूरे देश को सम्बोधित करते हैं। और आजादी दिलाने वाले वीर जवानों और देशभक्तों को 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है। साथ ही सभी शिक्षण संस्थाओं, सरकारी कार्यालयों आदि में भी इस दिन अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

हर साल की तरह ही इस बार भी हम 15 अगस्त को काफी धूमधाम से मना रहे हैं। देश की आजादी का जश्न इस बार कुछ इस तरह मनाया जा रहा है इस वर्ष पीएम मोदी द्वारा शुरू की गयी हर घर तिरंगा अभियान के तहत नागरिकों ने अपने अपने घरों पर तिरंगा फहराया है। जैसे कि हम बचपन से ही जानते है कि हमारा देश 200 वर्षों तक अंग्रेजों का ग़ुलाम रहा है।

इस गुलामी की बेड़ियों को तोड़ने के लिए हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना हर संभव प्रयास किया और आवश्यकता पड़ने पर इसके लिए अपनी जान तक कुर्बान कर दी। आज उन्ही के इस त्याग के चलते हमे आजाद भारत में जीने का अवसर मिला है।

15 अगस्त पर सभी नागरिकों को ये प्रण लेना चाहिए की हम अपने शहीदों के बलिदान को कभी व्यर्थ न जाने दें। इसके लिए हमे अपने अपने स्तर पर देश के विकास के विभिन्न पक्षों पर ध्यान देना होगा।

जिससे हमारा देश विकास के पथ पर आगे बढ़ सके। देश के विकास में रोड़ा बनने वाली समस्याओं पर भी ध्यान देना होगा। जैसे की – प्रदूषण, बढ़ती जनसँख्या, बेरोजगारी आदि। ये सभी समस्या कहीं न कहीं एक दूसरे से जुडी हुई हैं। इनसे यदि सभी लोग अपने अपने स्तर पर निपटने लग जाएँ और अपना प्रयास जारी रखें तो जल्द ही हमारा देश पहले से भी बेहतर स्थिति में आ जाएगा।

इसके साथ ही हमे अपनी संस्कृति व सांस्कृतिक धरोहरों को भी बनाये रखना होगा। हमारे देश को अनेकता में एकता के लिए जाना जाता है। यहाँ अलग अलग धर्मों और संस्कृतियों को मानने वाले लोग रहते है। और ऐसा सिर्फ हमारे देश में ही हैं। इन सभी को आगे भी बनाये रखने के लिए जरुरी है कि हम सभी बिना किसी जात पात, धर्म और ऐसे किसी भी बंधन से मुक्त होकर साथ मिलकर रहे।

इससे हमारा देश अखंड रहेगा। हमे आवश्यकता है तो अपने भूतकाल से सीखने की कि कैसे हमारे देश के टुकड़े इन आधार पर किये गए थे, जब पकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देश बनाये गए। यदि हम ऐसे ही अलग होते रहे तो ये किसी के लिए भी श्रेयस्कर नहीं होगा।

अंत में मैं आप सभी का धन्यवाद करता हूँ की आप सभी ने बहुत ही धैर्य के साथ मेरे विचारों को सुना। और इसी के साथ मैं शब्दों को इन पंक्तियों के साथ विराम देता हूँ।

आन देश की शान देश की ,
देश की हम संतान है।
तीन रंगों से रंगा तिरंगा ,
अपनी ये पहचान है।

अगर आप 26 जनवरी पर भाषण देना चाहते है। तो उसके लिए आप को यहाँ क्लिक करना होगा क्योंकि यहाँ क्लिक करने पर आप भी 26 जनवरी पर भाषण जान सकेंगे।

15 अगस्त पर भाषण (15 अगस्त पर छोटा भाषण) से संबंधित प्रश्न उत्तर

आजादी को कितने साल हो गए 2023?

15 अगस्त 2023 में भारत की आजादी के 76 साल पूरे हो चुके हैं। इस वर्ष हम 76 वें वर्ष में प्रवेश कर रहे हैं।

15 अगस्त क्यों मनाते हैं ?

सभी भारतवासी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। आज ही के दिन हमारा देश आजाद हुआ था जिसके उपलक्ष में इंडिपेंडेंस डे मनाया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस को इंग्लिश में क्या कहते हैं ?

स्वतंत्रता दिवस को अंग्रेजी में Independence Day कहते हैं।

स्वतंत्र दिवस पर निबंध कैसे लिखें?

यदि आप भी स्वतंत्रता दिवस पर निबंध लिखना चाहते हैं तो आप इस लेख में दिए गए स्वतंत्रता दिवस के भाषणों को पढ़कर अपना भाषण तैयार कर सकते हैं।

स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है ?

हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।

15 अगस्त को कहाँ झंडा फहराया जाता है ?

हर साल 15 अगस्त / स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नयी दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराया जाता है।

भारत कब आजाद हुआ था ?

हमारा देश भारत अंग्रेजों के शासन से 15 अगस्त 1947 में आजाद हुआ था।

आप ने इस लेख में आज स्कूल के बच्चों के लिए 15 अगस्त पर भाषण पढ़ा। उम्मीद है आप को ये उपयोगी लगा होगा। यदि आप ऐसे ही अन्य विषयों पर भाषण पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट Hindi NVSHQ से जुड़ सकते हैं।

श्रेयस अय्यर की जीवनी, उम्र, गर्लफ्रेंड, रिकॉर्ड, नेटवर्थ, फैमिली

श्रेयस अय्यर की जीवनी, उम्र, गर्लफ्रेंड, रिकॉर्ड, नेटवर्थ, फैमिली

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें