BCA Course Subjects – बीसीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं

Share on:

प्यारे दोस्तों नमस्ते , आप सभी का स्वागत है हमारी ब्लॉगर वेबसाइट hindi.nvshq.org में, आशा करते हैं आप सभी लोग स्वस्थ और अच्छे से होंगे। आज हम किसी सरकारी योजना के बारे में बात नहीं करेंगे बल्कि आज हम आपके लिए एक बेहतरीन करियर ऑप्शन BCA और BCA Course Subjects, बीसीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं, के बारे में बताने जा रहे हैं।

जैसा की आप सभी जानते हैं कीं आजकल के आधुनिक युग में जिसकी डिमांड सबसे ज्यादा है वह है कंप्यूटर इंजीनियर या सॉफ्टवेयर प्रोग्रामर की। कंप्यूटर ने हम सबका जीवन बहुत ही आसान कर दिया है। कंप्यूटर के हमारे जीवन में आने से हम ऑनलाइन मनी ट्रांसफर, टिकट बुकिंग से लेकर शॉपिंग तक सब कुछ घर बैठे कर सकते हैं। हम सबके चारों ओर कंप्यूटर आने से कई बदलाव हुए हैं। अगर आप भी कंप्यूटर के क्षेत्र में एक अच्छे करियर की तलाश कर रहे हैं तो आपको कंप्यूटर की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। वैसे तो भारत में बहुत तरह के कंप्यूटर कोर्स कराये जाते हैं।

BCA Course Subjects - बीसीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं
BCA Course Subjects – बीसीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं

भारत में 12वीं के बाद छात्रों में अपने अच्छे करियर को लेकर बहुत दुविधा रहती है। यह तो निश्चित है जब आप 12वीं पास कर लेते हैं तो आपके पास 12वीं के बाद बहुत से ऑप्शन होते हैं करियर बनाने के जैसे यदि कोई छात्र इंजीनियरिंग में अपना करियर बनाना चाहता है तो वह IIT एक्साम्स की तैयारी करता है लेकिन हम यहां बात करेंगे बीसीए की जो की ग्रेजुएशन लेवल का कंप्यूटर कोर्स है नीचे हमने आपको 12वीं के बाद ग्रेजुएशन लेवल में किये जाने वाले कंप्यूटर कोर्स की लिस्ट बतायी है।

12 वीं के बाद ग्रेजुएशन स्तर में किये जाने वाले कंप्यूटर कोर्स : BCA Course Subjects

क्रम
संख्या
कोर्सकोर्स की अवधि कोर्स का पूरा नाम कोर्स करने के लिए देश के टॉप यूनिवर्सिटीज/कॉलेजेसAfter course
jobs करियर ऑप्शन
1B.C.A3 years (Divided in 6 semesters)Bachelor in Computer Application
  • Ambedkar Institute of Technology, Delhi.

  • IGNOU Delhi – Indira Gandhi National Open University.

  • Aliah University, Kolkata.

  • St Xavier’s College, Ahmedabad.

  • JNU Delhi – Jawaharlal Nehru University
  • कंप्यूटर प्रोग्रामर

  • सॉफ्टवेयर टेस्टर

  • नेटवर्क इंजीनियर

  • सिस्टम एडमिन

  • सॉफ्टवेयर डेवलपर

  • सिस्टम एनालिस्ट
  • 2B.Sc.(IT)3 years (Divided in 6 semesters)Bachelor of Science in Information Technology
  • VIT University, Vellore
  • Chandigarh University, Chandigarh
  • Lovely Professional University, Jalandhar
  • SRM Institute of Science and Technology, Chennai
  • डाटा ऐनालाइजेशन

  • नेटवर्क इंजीनियर
  • मोबाइल एप्प डेवलपर
  • टेक्निकल राइटर
  • यूआई / यूएक्स डेवलपर
  • सॉफ्टवेयर क्वालिटी ऐश्योरेंस
  • सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर

  • आई टी सुपरवाइजर

  • वेब डेवलपर
  • 3B.Tech (CSE)4 years (Divided in 8 semesters)Bachelor of Technology in Computer Science Engineering
  • Thapar University. India Patiala
  • Indian Institute of Technology – Kharagpur
  • Indian Institute of Science – Bangalore
  • Indian Statistical Institute Kolkata.
  • Indian Institute of Technology – Bombay

  • Indian Institute of Technology – Delhi
  • Indian Institute of Technology – Madras
  • वेब डेवलपर / सॉफ्टवेयर डेवलपर

  • मोबाइल एप्प डेवलपर

  • डाटा साइंटिस्ट

  • गेम डेवलपर
  • फुल स्टैक/ डेवेलोप इंजीनियर
  • क्लाउड इंजीनियर
  • नेटवर्क सिक्योरिटी इंजीनियर

  • मल्टीमीडिया प्रोग्रामर
  • बिग डाटा इंजीनियर

  • साइबर एक्सपर्ट
  • बीसीए(BCA) क्या है ?

    बीसीए एक तरह का कंप्यूटर कोर्स है जिसका फुल फॉर्म है (बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन) जो आपको कंप्यूटर के क्षेत्र में एक अच्छा करियर बनाने में सहायक होता है। इस कोर्स को करने के बाद आप सरकारी या प्राइवेट कम्पनीज में एक अच्छे पैकेज की जॉब पा सकते हैं। इस कोर्स में कंप्यूटर के फंडामेंटल से लेकर हाई लेवल प्रोग्रामिंग तक सिखाई जाती है वैसे हमने ऊपर इस कोर्स को करने के लिए देश के टॉप कॉलेजेस और यूनिवर्सिटीज की लिस्ट दे रखी है। यह कोर्स की अवधि तीन वर्ष की होती है जो की छः सेमेस्टर में विभाजित होता है। बीसीए करने के बाद आप एमसीए भी कर सकते हैं जो आफ्टर ग्रेडुएशन एक स्पेसिलाज़ेशन कोर्स होता इसमें आप कोडिंग, मशीन लर्निंग, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस में से किसी में भी विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं। आगे इस आर्टिकल में हम आपको बीसीए कोर्स में सभी सेमेस्टरों में पढ़ाये जाने वाले सब्जेक्ट्स के बारे में बताएँगे।

    बीसीए(BCA) कंप्यूटर कोर्स का सिलेबस :

    बीसीए कोर्स को 6 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है जिसमें की प्रत्येक सेमेस्टर में थ्योरी और कंप्यूटर लैब को मिलाकर लगभग 6 सब्जेक्ट होते हैं –

    क्रम संख्या बीसीए कोर्स सेमेस्टरस प्रत्येक सेमेस्टर में पढ़ाये जाने वाले सब्जेक्टस
    1पहला सेमेस्टरबिजनेस कम्युनिकेशन
    प्रिंसिपल्स ऑफ़ मैनेजमेंट
    प्रोग्रामिंग प्रिंसिपल्स एंड अल्गोरिथम
    कंप्यूटर फंडामेंटल एंड ऑफिस ऑटोमेशन
    बिज़नेस एकाउंटिंग
    कंप्यूटर लेबोरेटरी एंड प्रैक्टिकल वर्क (OA, PPA)
    2दुसरा सेमेस्टरओर्गनइजेशनल बिहेवियर
    एलिमेंट ऑफ़ स्टैटिक्स
    सी प्रोग्रामिंग
    फाइल स्ट्रक्चर और डेटाबेस कॉन्सेप्ट्स
    कॉस्ट एकाउंटिंग
    कंप्यूटर लेबोरेटरी एंड प्रैक्टिकल वर्क (C.P., DBMS)
    3तीसरा सेमेस्टरन्यूमेरिकल मैथड्स
    डाटा स्ट्रक्चर यूजिंग सी
    सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
    मैनेजमेंट एकाउंटिंग
    आरडीबीएमएस
    कंप्यूटर लेबोरेटरी एंड प्रैक्टिकल वर्क (D.S., RDBMS)
    4चौथा सेमेस्टरनेटवर्किंग
    विसुअल बेसिक
    इन्वेंटरी मैनेजमेंट (SAD)
    ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
    ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड यूजिंग सी++
    कंप्यूटर लेबोरेटरी एंड प्रैक्टिकल वर्क (VB, C++)
    5पांचवा सेमेस्टरडॉट नेट फ्रेमवर्कस
    इंटरनेट प्रोगरामिंग एंड साइबर लॉ
    प्रिंसिपल ऑफ़ मार्केटिंग
    कोर जावा
    प्रोजेक्ट वर्क (विसुअल बेसिक)
    कंप्यूटर लेबोरेटरी एंड प्रैक्टिकल वर्क (डॉट नेट, कोर जावा)
    6छठा सेमेस्टरई – कॉमर्स
    मल्टीमीडिया सिस्टम
    इंट्रोडक्शन तो सिस्टम प्रो एंड ऑपरेटिंग सिस्टम
    एडवांस जावा
    प्रोजेक्ट (बैंकिंग एंड फाइनेंस, कॉस्ट एनालिसिस, फाइनेंसियल एनालिसिस, पेरोल, ईडीपी, ईआरपी)
    कंप्यूटर लेबोरेटरी एंड प्रैक्टिकल वर्क (मल्टीमीडिया, एडवांस जावा)

    बीसीए(BCA) कंप्यूटर कोर्स के लिए योग्यताएं

    बीसीए कोर्स के लिए योग्यताएं निम्न लिखित हैं –

    • बीसीए कोर्स के लिए पहली शर्त तो ये है जो अभ्यार्थी इस कोर्स में एडमिशन लेना चाहता है वो भारत का नागरिक हो।
    • अभ्यर्थी भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल/बोर्ड से 12वीं में उत्तीर्ण  होना चाहिए।
    • 12वीं में अभ्यर्थी के पास अनिवार्य रूप से एक विषय गणित होना चाहिए।

    बीसीए (BCA) करने के बाद आप किन सरकारी क्षेत्रों में जा सकते हैं

    बीसीए करने के बाद आप विभिन्न सरकारी क्षेत्रों में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं जो निम्नलिखित हैं –

    • स्टैनोग्राफर के पद के लिए
    • डाटा एंट्री या कंप्यूटर एक्सपर्ट
    • बैंक में PO / क्लर्क
    • नौसेना में सैनिक
    • भारतीय फ़ौज में सैनिक
    • एसएससी के द्वारा किसी सरकारी विभाग में
    • किसी सरकारी PSU कंपनी (जैसे – NTPC , SAIL , भेल आदि )
    • UIDAI आधार के क्षेत्र में
    • UPSC संघ लोक सेवा आयोग में
    • साइबर क्राइम डिपार्टमेंट में

    बीसीए (BCA) करने के बाद इंटर्नशिप

    जब आप अपना बीसीए कोर्स खत्म करने वाले होते हैं या लास्ट सेमेस्टर में होते हैं तो आपके पास इंटर्नशिप का एक अच्छा मौक़ा होता है ध्यान रखें की अगर किसी बड़ी कंपनी से इंटर्नशिप करते हैं तो ये आपके करियर ग्रोथ के लिये एक अच्छा स्टेप हो सकता है। वैसे कुछ कंपनियां अपने यहाँ इंटर्नशिप करवाने के लिए एग्जाम करवाती हैं।परन्तु सरकार द्वारा भी अलग – अलग कंपनियों के लिए भी इंटर्नशिप प्रोग्राम चलाया जाता रहता है। आप इंटर्नशिप की अधिक जानकारी के लिए नीति आयोग की वेबसाइट https://www.niti.gov.in/ पर जाकर इसके बारे में पढ़ सकते हैं यहाँ हम कुछ बड़ी कंपनियों लिस्ट दे रहे हैं जहां आप बीसीए के बाद इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

    • गूगल (Google)
    • माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft)
    • एडोबी (Adobe)
    • फेसबुक (Facebook)
    • टविटर (Twitter)
    • सिस्को (Cisco)
    • आईबीएम (IBM)
    • विप्रो (Wipro)
    • इनफ़ोसिस (Infosys)
    • टीसीएस(TCS)

    बीसीए (BCA) कोर्स करने के बाद मिलने वाली जॉब्स

    बीएसए करने के बाद आप कोई भी प्राइवेटआईटी कंपनी में एक अच्छी हाई पेइंग पैकेज वाली जॉब पा सकते हैं हमने कुछ इसी तरह की जॉब्स की लिस्ट नीचे दी है जो निम्न प्रकार से है –

    • डिजिटल मार्केटर(Digital Marketer)
    • गेम डेवलपर (Game developer)
    • स्मार्टफोन एंड्राइड/आईओएस ऐप्प डेवलपर (Smartphone Android/IOS App Developer)
    • डाटा साइंटिस्ट (Data Scientists)
    • प्रोडक्ट मैनेजर (Product managers)
    • ब्लॉकचेन डेवलपर्स (Blockchain developers)
    • साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट (Cyber Security Expert)
    • सॉफ्टवेयर पब्लिशर (Software Publisher)
    • कंप्यूटर सपोर्ट सर्विस स्पेशलिस्ट (Computer Support Service Specialist)
    • सिस्टम एडमिन(Systems Admin)
    • नेटवर्क इंजीनियर (Network Engineer)
    • प्रोजेक्ट असिस्टेंट (Project Assistant)
    • मल्टीमीडिया प्रोग्रामर (Multimedia Programmer)
    • क्लाउड इंजीनियर(Cloud Engineer)

    बीसीए (BCA) से सम्बंधित FAQs

    बीसीए की फुल फॉर्म क्या है ?

    बीसीए की फुल फॉर्म (बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन) है।

    बीसीए का कोर्स करने के बाद किस प्रकार के कोर्स किए जा सकते हैं?

    बीसीए का कोर्स करने के बाद आप बहुत अलग अलग तरह के कोर्स कर सकते हैं उदाहरण के लिए :
    एमसीए, एमबीए, आईएसएम, एमसीएम,एमआईएम इत्यादि

    बीसीए कुल कितने साल का कोर्स है ?

    बीसीए तीन साल का कोर्स है जिसे 6 सेमेस्टरों में बाटाँ गया है यानि की हर छः महीने का एक सेमेस्टर।

    बीसीए का कोर्स समाप्त करने के बाद क्या एमबीए कर सकते हैं?

    बी सी ए एक ग्रेजुएशन स्तर का कोर्स है जिसको पूरा करने के बाद आप किसी भी पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स को करने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं जैसे की एमसीए, एमबीए, एमएससी इत्यादि।

    बीसीए करने के बाद जॉब में कितनी सैलरी मिल जाती है?

    इस कोर्स को करने के बाद आपको लगभग ₹20,000/- से लेकर ₹40,000/- तक सैलरी मिल जाती है ये आपके काम और कंप्यूटर की नॉलेज के ऊपर निर्भर करता है। सैलरी हर कंपनी की अपनी पॉलिसी के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है।

    बीसीए कौन कर सकता है ?

    12वीं पास कोई भी अभ्यार्थी बीसीए कंप्यूटर कोर्स के लिए अप्लाई कर सकता है। इसकी योग्यता के बारे में हमने ऊपर आर्टिकल में बताया है।

    Leave a Comment