राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन – nmms scholarship registration

Share on:

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा हर साल गरीब परिवार के बच्चों को माध्यमिक शिक्षा में प्रोत्साहन के लिए उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु NMMS छात्रवृत्ति को दिया जाता है। nmms स्कॉलरशिप कक्षा 9 से कक्षा 12 तक के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों को दिया जाता है। राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज,आवेदन फॉर्म को भरने की पात्रता के बारे में आपको इस आर्टिकल की सहायता से बताया जायेगा ,यह फॉर्म कब निकलते है, nmms scholarship registration के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ,कौन कौन इसका लाभ ले सकेगा आदि की जानकारी आपको इस लेख के माध्यम से दी जाएगी।

राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृत्ति आवेदन - nmms scholarship registration
nmms scholarship registration

राष्ट्रीय मीन्स-कम -छात्रवृति (NMMS) क्या है

आर्थिक रूप कमजोर छात्रों को अपनी आर्थिक तंगी की कारण कही बार अपने शिक्षा के अधिकार से विमुख होना पड़ता है। सरकार द्वारा ऐसे छात्रों को जो कक्षा 8 वी में अध्ययनरत है उन छात्रों माध्यमिक शिक्षा को जारी रखने हेतु प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से NMMS Scholarship को शुरू किया गया है ताकि वंचित गरीब बच्चों को माध्यमिक और उच्च शिक्षा दी जा सके। NMMS स्कॉलरशिप के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदु –

  • यह एक छात्रवृति परीक्षा होती है।
  • इस छात्रवृति योजना को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा साल 2008 में शुरू किया गया था।
  • यह स्कालरशिप गरीब बच्चों को जो की किसी सरकारी स्कूल में अध्यनरत कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों को प्रोत्साहन के तोर पर प्रदान की जाती है।
  • इसमें सालाना 12000 रुपए की स्कॉलरशिप दी जाती है।
योजना का नाम राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट छात्रवृति
संचालितकेंद्र द्वारा
योजना की शुरुआतसाल 2008
लाभार्थी कक्षा 8 के विद्यार्थी
उद्देश्य माध्यमिक और उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना
धनराशि 1000 प्रतिमाह (4 साल के लिए)
चयनपरीक्षा द्वारा
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
विभाग मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग
आवेदन शुल्क 50 रुपए तथा sc /st छात्रों के लिए 30 रुपए
परीक्षा आयोजनहर साल नवंबर-दिसम्बर माह में

NMMS SCHOLARSHIP के लिए पात्रता

  • आवेदनकर्ता भारत का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आयोजित परीक्षा में विद्यार्थी का उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • NMMS छात्रवृति के लिए online आवेदन करने वाले विद्यार्थी के कक्षा 7 में कम से कम 50 प्रतिशत अंक का होना अनिवार्य है।
  • अभ्यर्थी को किसी सरकारी स्कूल या राजकीय विद्यालय में अध्ययनरत होना अनिवार्य है
  • परिवारिक सालाना आय 1.50 लाख से ऊपर नहीं होनी चाहिए।
  • यदि छात्र अपनी छात्रवृति को उच्च माध्यमिक स्कूल में जारी रखना चाहता है तो इसके लिए अभ्यर्थी के कक्षा 10 में कम से कम 60 प्रतिशत तक के अंकों का होना आवश्यक है।
  • इसी प्रकार कक्षा 12वी में छात्रवृति को जारी रखने के लिए विद्यार्थी के कक्षा 11वी में 50 प्रतिशत से ऊपर अंक होने चाहिए आरक्षण प्राप्त विद्यार्थियों को इसमें 5 प्रतिशत की छूट है।

नेशनल मीन्स-कम-मेरिट स्कालरशिप का उद्देश्य

  • इसका मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी छात्रों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।
  • छात्रवृति में ऐसे छात्रों को सालाना 12000 रुपए की मदद की जाएगी।
  • गरीब बच्चों को माध्यमिक शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना।
  • अशिक्षा को समाप्त करना।
NMMS syllabus –
  • विज्ञान विषय
  • सामाजिक विज्ञान
  • अंग्रेजी
  • हिंदी
  • गणित
  • मानसिक योग्यता (मानसिक योग्यता में -सादृश्यता ,वर्गीकरण,छिपे हुए आंकड़े ,पैटर्न धारणा ,संख्यात्मक श्रृंखला आदि प्रश्न आते हैं)
छात्रवृत्ति प्रोत्साहन राशि –
  • हर महिने -1000 रुपए
  • सालाना 12000 रुपए (कक्षा 9 से 12 तक 4 साल के लिए कुल -48000 रुपए)

NMMS स्कालरशिप के लिए परीक्षा पैटर्न

केंद्र सरकार की योजना है जिसमे प्रत्येक राज्य या केंद्र शासित प्रदेश द्वारा परीक्षा के माध्यम से सम्बंधित विद्यार्थियों को चयनित किया जाता है। इस परीक्षा में 90 बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं ,90 मिनट की समय अवधि में आपको प्रत्येक टेस्ट को पूरा करना होगा। यह परीक्षा दो पारियों में होती है इसमें शैक्षिक योग्यता तथा मानसिक क्षमता परीक्षण के साथ-साथ हिंदी अंग्रेजी भाषा के ज्ञान की भी जाँच की जाती है। परीक्षा हेतु कक्षा 7 व कक्षा 8 का पाठ्यक्रम सम्मलित होगा।

विषयप्रश्नो की संख्यापूर्णांकसमय अवधि
मानसिक योग्यता परीक्षण (MAT)909090 मिनट
शैक्षिक योग्यता परीक्षा (SAT)909090 मिनट
(नेत्रहीनों के लिए 120 मिनट का समय दिया जाएगा)

MAT (मानसिक योग्यता परीक्षा) –

  • मानसिक योग्यता ( 45 प्रश्न )
  • हिंदी (25 प्रश्न )
  • अंग्रेजी (25 प्रश्न )

SAT (शैक्षिक योग्यता परीक्षा) –

  • विज्ञान (35 प्रश्न)
  • सामाजिक विज्ञान (30 प्रश्न)
  • गणित (20 प्रश्न )

*कुल 180 बहुविकल्पीय प्रश्न आते है। इस परीक्षा को ऑफलाइन मोड़ में आयोजित कराया जाता है। जिसमे कक्षा 6 वी 7 वी और 8 वी कक्षा की पुस्तकों से ही प्रश्न पत्र बनता है। संस्कृत विषय के प्रश्न की जगह मानसिक योग्यता परीक्षण होता है। इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।

राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृति के लिए आवश्यक दस्तावेज

यदि आप भी इस छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास नीचे दिए गए दस्तावेजों का होना आवश्यक है –

  • कक्षा 7 का प्रमाणपत्र /अंकतालिका
  • जाति प्रमाण पत्र
  • माता-पिता आय प्रमाण पत्र
  • राज्य का मूल निवेश प्रमाण पत्र/आवासीय प्रमाणपत्र
  • विकलांग प्रमाण पत्र यदि लागू होता है तो
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर /ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट फोटो
  • अकाउंट नंबर

इस छात्रवृत्ति को प्राप्त करने के लिए राज्य स्तर पर आयोजित चयन परीक्षा में चयनित होना होता है। चयनित किये गए छात्रों को कक्षा 9 से कक्षा 12 तक यह छात्रवृति दी जाती है जो की हर साल 12000 रुपए दिए जाते हैं। हर साल इस छात्रवृत्ति का नवीनीकरण किया जाता है।

NMMS Scholarship Exam 2022 आवेदन कैसे करें

NMMS -NATIONAL MEANS COM MERIT SCHOLRSHIP 2022 SCHEME के लिए यदि आप आवेदन करना चाहते हैं तो आपको ऊपर दिए गए पात्रता और दस्तावेजों की शर्तों को पूरा करना होगा उसके बाद आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 3 जनवरी 2022 से इसके लिए आवेदन शुरू किये जा चुके हैं। ऑनलाइन आवेदन के लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा –

  • सबसे पहले स्कूलों द्वारा SCERT वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण करना होगा।
  • 1 जनवरी से 15 जनवरी तक सम्बंधित स्कूलों का ऑनलाइन पंजीकरण किया जाएगा।
  • विद्यालयों के पंजीकरण प्रक्रिया के बाद उस विद्यालय से सम्बंधित विद्यार्थियों द्वारा पंजीकरण किया जा सकेगा।
  • विद्यार्थियों को इसके लिए 55 रुपए फीस भरनी होगी।
  • आवेदन शुल्क जमा करने के बाद सबमिट करना है और इसकी हार्ड कॉपी निकालनी है।
  • और इसके साथ आपको अपने दस्तावेजों को अटैच करना होगा।इस NMMS छात्रवृति के फॉर्म को सुरक्षित रखना होगा।
  • nmms के लिए प्रत्येक राज्य को scert द्वारा अलग अलग कोटा दिया गया है।
  • scert द्वारा आवंटित कोटे का निर्धारण राज्य को आवंटित किये गए कोटे के आधार पर किया जाता है।

NMMS Scholarship Registration Online

इसके लिए आपके स्कूल या विद्यालय का पंजीकरणत SCERT द्वारा किया जाना आवश्यक है। SCERT द्वारा पंजीकृत स्कूल के विद्यार्थियों को इस स्कीम का लाभ मिल सकेगा। साथ ही साथ जो विद्यार्थी ऊपर दिए गयी पात्रता को पूरा करते हों वे छात्र जरुरी दस्तावेजों के साथ अपना आवेदन NMMS SCHOLARSHIP के लिए कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया इस प्रकार से है –

  • यदि अपने चयनित परीक्षा को पास कर लिया है तो आपको NMMS स्कॉलरशिप अप्लाई करना होगा।
  • इसके लिए जरुरी है की आपने अपना एडमीशन कक्षा 9 में करा लिया हो।
  • इसके बाद आपको अपना पंजीकरण नेशनल स्कालरशिप पोर्टल में करना होगा।
  • इसके बाद से आपको यह स्कालरशिप मिलेगी जिसे हार साल आपको Renew करना पड़ेगा।

कटऑफ क्या रहती है

nmms छात्रवृति प्राप्त करने के लिए आयोजित होने वाली परीक्षा में सामान्य वर्ग के तथा OBC व EWS के छात्रों के लिए 40 प्रतिशत और अनुसूचित जाती /जनजाति /निशक्त के लिए 32 प्रतिशत तक अंक लाने आवश्यक है। तभी आप इस छात्रवृति के लिए योग्य माने जाएंगे।

इस साल इस छात्रवृत्ति में मिलने वाली धनराशि में बढ़ोतरी की जा सकती है। जो 48000 की जगह 72000 मिल सकेगी अभी इसके बारे में स्पष्ट नहीं किया गया है।

कार्यक्रम तिथि
ऑनलाइन आवेदन शुरू01.01.2022
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि15.01.2022
एससीईआरटी द्वारा पंजीकृत स्कूलों का सत्यापन01.01.2022 से 17.01.2022
ऑनलाइन आवेदनों की ऑनलाइन स्वीकृति03.01.2022 से 23.01.2022
एडमिट कार्ड जारी17.02.2022 से 27.01.2022
परीक्षा की तिथि27.01.2022
अनंतिम आंसर-की पोर्टल पर अपलोड 02.03.2022
आंसर-की पर आपत्ति की तिथि10.03.2022

NMMS Scholarship से सम्बन्धित सवाल/जबाब

NMMS स्कालरशिप स्कीम किसके द्वारा शुरू किया गया है ?

केंद्र सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा यह स्कीम चलायी गयी है।

राष्ट्रीय-मीन्स-कम-मेरिट स्कॉलरशिप का मुख्य उदेश क्या है ?

आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी छात्रों को कक्षा 8 के बाद की माध्यमिक शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना तथा उन्हें शिक्षित करना।

राष्ट्रीय आय-सह-मेधा छात्रवृति के लाभार्थी कौन-कौन हो सकते है ?

एनएमएमएस के लाभार्थी वे सभी मेधावी छात्र जो आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से हैं और सरकारी स्कूल में कक्षा 8 में अध्ययनरत हैं।

एनएमएमएस छात्रवृति योजना कब से शुरू की गयी थी?

साल 2008 से इस योजना को शुरू किया गया था।

nmms scholarship में कितनी धनराशि दी जाती है?

इस छात्रवृति में हर साल 12000 रुपए 4 सालों तक दिए जाते हैं। कुल मिलकर इसमें 48000 रुपए की सहायता प्रदान की जाती है। साल 2022 में इस धनराशि में बढ़ोतरी की जा सकती है।

NMMS स्कालरशिप के लिए परीक्षा का पैटर्न किस प्रकार का दिया जाता है ?

परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न आते हैं। परीक्षा में प्रश्न कक्षा 7 तथा 8 की पुस्तकों से दिया जाता है। इन प्रश्नो के लिए कुल दोनों परियों को मिलकर 180 मिनट दिए जाते हैं परीक्षा दो परियों में आयोजित होती है- पहली मानसिक योग्यता परीक्षण तथा दूसरी शैक्षिक योग्यता परीक्षा दोनों के लिए 90 -90 मिनट का समय दिया जाता है। निःशक्त केवल नेत्रहीन विद्यार्थियों को 90 मिनट की जगह 120 मिनट का समय दिया जाएगा।

NMMS स्कालरशिप का लाभ सभी विद्यार्थी ले सकेंगे ?

जी नहीं , SCERT में पंजीकृत स्कूल के वह मेधावी छात्र जो सम्बंधित सरकारी स्कूल के कक्षा 8 में अध्ययनरत हों आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से आता हो जिसके परिवार की सालाना आय 1.50 लाख से कम हो वही इस स्कालरशिप का लाभार्थी होगा।

राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृति के लिए किन दस्तावेजो की आवश्यकता होती है?

विद्यार्थी की कक्षा 7 की अंकतालिका ,आधार कार्ड ,पासपोर्ट साइज फोटो ,मूलनिवास प्रमाण पत्र ,आय प्रमाण पत्र ,जाति प्रमाण पत्र आदि।

इस लेख के माध्यम से आप यह जान गए होंगे की एनएमएमएस स्कॉलरशिप क्या है ? किस-किस को राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति दी जाती है ,इसकी पात्रता के लिए आवश्यक शर्तें क्या हैं? आशा करते हैं की आपको इस लेख के माध्यम से NMMS छात्रवृति के बारे में उचित जानकारी प्राप्त हुई होंगी। और अधिक जानकारी या इस स्कॉलरशिप से सम्बंधित सवाल आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

Leave a Comment