उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन, लाभ व रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया – Uttarakhand Saubhagyawati Yojana

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana 2021 -: सौभाग्यवती योजना की शुरुआत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी द्वारा की गयी है। योजना का लाभ उत्तराखंड की गर्भवती महिला व नवजात शिशु को मिलेगा। सौभाग्यवती योजना के तहत महिला को पोषण के लिए और शिशु की साफ़ सफाई के लिए किट प्रदान किये जाएंगे। उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। Uttarakhand Saubhagyawati Yojana के लिए आवेदन ऑनलाइन किये जाएंगे। सभी लाभार्थी WOMEN EMPOWERMENT & CHILD DEVELOPMENT Government Of Uttarakhand की ऑफिसियल वेबसाइट पर जा कर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। पूरी प्रक्रिया समझने के लिए नीचे दिए गए लेख को पढ़ें।

उत्तराखंड-सौभाग्यवती-योजना

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना Uttarakhand Saubhagyawati Yojana 2021

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना गर्भवती महिला व शिशु के लिए शुरू की गयी है। ताकि योजना के तहत महिला को गर्भावस्था के समय पौष्टिक आहार प्राप्त हो सके। Uttarakhand Saubhagyawati Yojana के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को खाने का सामान जैसे- सुखी खुमानी, बादाम, अखरोट, किसमिस, काजू, नारियल तेल, सरसों, तिल का तेल आदि व अन्य प्रयोग किये जाने वाला समान जैसे- सैनिटरी नैपकिन, कपड़े धोने की साबुन, हैण्डवाश लिक्विड आदि उपलब्ध करवाया जाता है। यदि किसी गर्भवती महिला को उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का लाभ लेना है। तो उसके लिए लाभार्थी महिला को रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा करना होगा। Uttarakhand Saubhagyawati Yojana 2021 सम्बन्धित अधिक जानकारी जैसे- उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के लिए आवेदन कैसे करें ? व योजना का लाभ लेने के लिए कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। आदि लेख में दिया गया है। पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए दिए गए आर्टिकल को पढ़ें।

आर्टिकलसौभाग्यवती योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन
राज्यउत्तराखंड
योजना का नामSaubhagyawati Yojana
शुरुआतश्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी द्वारा
लाभार्थीगर्भवती महिला व शिशु
आयु18 वर्ष से अधिक
उद्देश्यगर्भवती महिला के लिए पोषण किट
व शिशु के लिए कपड़े प्रदान करना
आवेदनऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटwecd.uk.gov.in

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का उद्देश्य

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार व शिशु की साफ़ सफाई के लिए किट व कपडे प्रदान करना है। ऐसे बहुत से परिवार हैं जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार नहीं मिलता व बच्चे की साफ़ सफाई के लिए समान नहीं ले पाते हैं। इन सब समस्याओं को मध्यनजर रखते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री द्वारा सौभाग्यवती योजना का शुभारम्भ किया गया। योजना के तहत जो गर्भवती महिलाएं रजिस्ट्रशन करेंगी केवल उनको ही योजना का लाभ प्राप्त होगा।

सौभाग्यवती योजना के लिए दस्तावेज

सरकार द्वारा निकाली गयी योजनाओं का लाभ लेने के लिए कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। जिनके बिना किसी भी योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया को पूर्ण नहीं कर पाते हैं। सभी लाभार्थियों को दस्तावेज पहले से ही बना कर रखने पड़ते हैं। उन दस्तावेजों की जानकारी नीचे सूची में दी जा रही है।

  • लाभार्थी के पास आधार कार्ड होना जरुरी है।
  • गर्भवती महिला के पास आयु प्रमाण पत्र के रूप में दसवीं की मार्कशीट होनी चाहिए।
  • राशन कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक में खाता खुला होना चाहिए।
  • मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण पत्र

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana के लाभ

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के तहत मिलने वाले लाभों की जानकारी आपको नीचे लेख में दी गयी है। पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए सूची को पढ़ें।

  • योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिला को उत्तराखंड का निवासी होना आवश्यक है।
  • सौभाग्यवती योजना का लाभ गर्भवती महिला व शिशु दोनों को प्रदान किया जाएगा।
  • योजना के तहत महिला को पौष्टिक आहार मेवे, बादाम, अखरोट, खुमानी आदि प्रदान किया जा रहा है।
  • शिशु की साफ़ सफाई के लिए स्वछता किट दिया जाता है।
  • योजना के तहत गर्भवती महिला को हर महीने पौष्टिक आहार प्रदान किया जायेगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी ऑनलाइन अप्लाई कर सकती है।

महिला को प्राप्त किट में उपलब्ध सामान

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को मिलने वाले सामानों की सूची नीचे दी गयी है।

250 बादाम,सुखी खुमानी,अखरोट, किसमिस, काजूदो कॉटन गाउन, सूट, साड़ी
एक फुल साईज गर्म शॉल500 ग्राम छुआरा
एक नारियल, सरसों, चुलू का तेल, तिलदो जोड़े बेड शीट (तकिये के कवर सहित)
दो पैकेट सैनिटरी नैपकिन (आठ प्रति पैकेट)दो जोड़े जुराब स्टैंडर्ड साइज
एक तौलिया बड़े साइज काएक नेल कटर
200 एम.एल हैण्डवाश लिक्विडदो कपड़े धोने की साबुन
एक स्कॉर्फ कॉटन, गर्म स्टैंडर्ड साइजदो नहाने की साबुन
शिशु को प्राप्त किट में उपलब्ध सामान

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana के तहत शिशु को मिलने वाले सामानों की सूची नीचे दी गयी है।

एक रबर शीटएक पैकेट (10 पीस) कॉटन डाइपर
एक बेबी तौलिया कॉटन सॉफ्ट1 पाउडर
दो जोड़े बच्चे के कपड़े, टोपी और जुराब सहित मौसम के अनुसार सूती या गर्म कपड़ेतीन बेबी साबुन
एक तेल की बोतलएक समस्त सामग्री पैक करने के लिए सूती बैग शामिल रहेगा
मौसम के अनुसार दो बेबी ब्लैंककेट गर्म अथवा कॉटनमालिश के लिए तेल

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारी

  • सौभाग्यवती योजना का लाभ लेने के लिए महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ लेने के लिए केवल गर्भवती महिला व उसका शिशु ही पात्र होंगे।
  • गर्भवती महिला दसवीं उत्तीर्ण होनी चाहिए।
  • महिला उत्तराखंड की मूल निवासी होनी आवश्यक है।

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना ऑनलाइन आवेदन

Saubhagyawati Yojana के लिए आवेदन अभी जारी नहीं किये गए हैं। उत्तराखंड सरकार द्वारा सौभाग्यवती योजना की घोषणा तो कर दी गयी है परन्तु अभी तक ऑफिसियल वेबसाइट पर आवेदन प्रक्रिया शुरू नहीं की गयी है। पंजीकरण प्रक्रिया जारी होते ही सभी लाभार्थियों को लेख के माध्यम से सूचित कर दिया जाएगा। जिसके पश्चात सभी इच्छुक लाभार्थी महिला सशक्तिकरण और बाल विकास उत्तराखंड सरकार की ऑफिसियल वेबसाइट wecd.uk.gov.in पर जा कर आवेदन कर सकते हैं। सभी लाभार्थियों को रजिस्ट्रेशन शुरू होते ही आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर लिंक प्राप्त हो जाएगा। पूरी प्रक्रिया आवेदन शुरू होने पर लेख में अपडेट कर दी जायेगी। इसके लिए समय-समय पर लेख को चेक करते रहें।

टोल फ्री नंबर

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना की पूरी जानकारी आर्टिकल में दी गयी है। जिन उम्मीदवारों को योजना की अन्य जानकारी व किसी भी प्रकार की शिकायत दर्ज करनी है। तो वे महिला सशक्तीकरण और शिशु विकास, उत्तराखंड सरकार के हेल्पलाइन नंबर – 0135-2775814 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana सम्बन्धित प्रश्न उत्तर

सौभाग्यवती योजना की शुरुआत इसके द्वारा की गयी है ?

योजना की शुरुआत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी द्वारा की गयी है।

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana किसके लिए शुरू की गयी है ?

सौभाग्यवती योजना उत्तराखंड की गर्भवती महिलाओं व उनके शिशु के लिए शुरू की गयी है।

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के क्या लाभ हैं ?

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का लाभ गर्भवती महिला व शिशु दोनों को प्रदान किया जाता है। योजना के तहत महिला को पौष्टिक आहार मेवे, बादाम, अखरोट, खुमानी आदि प्रदान किया जाता है और शिशु की साफ़ सफाई के लिए स्वछता किट व गर्भवती महिला को हर महीने पौष्टिक आहार प्रदान किया जाता है।

योजना के तहत शिशु को मिलने वाले किट में कौन-कौन से समान उपलब्ध रहते हैं ?

शिशु को मिलने वाले किट में एक बेबी तौलिया कॉटन सॉफ्ट, दो जोड़े बच्चे के कपड़े, टोपी और जुराब सहित मौसम के अनुसार सूती या गर्म कपड़े, एक पैकेट (10 पीस) कॉटन डाइपर, मौसम के अनुसार दो बेबी ब्लैंककेट गर्म अथवा कॉटन, एक तेल की बोतल, एक रबर शीट आदि समान उपलब्ध रहता है।

सौभाग्यवती योजना का लाभ लेने के लिए कौन-कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होती है ?

सौभाग्यवती योजना का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड, राशन कार्ड, मूल निवास, वोटर आईडी कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट, आय प्रमाण पत्र, दसवीं की मार्कशीट आदि दस्तावेजों की आवश्यकता होती है।

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं ?

आवेदन करने के लिए आपको wecd.uk.gov.in की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

योजना के तहत गर्भवती महिला को मिलने वाले किट में कौन-कौन से समान उपलब्ध रहते हैं ?

Uttarakhand Saubhagyawati Yojana के तहत गर्भवती महिला को दो पैकेट सैनिटरी नैपकिन, एक फुल साईज गर्म शॉल, एक स्कॉर्फ कॉटन, कपड़े धोने की साबुन, नहाने की साबुन, बादाम,सुखी खुमानी,अखरोट, किसमिस, काजू, हैण्डवाश, नारियल, सरसों, चुलू का तेल, तिल आदि सामान दिया जाता है।

click-here

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के लिए ऑफिसियल वेबसाइट -: यहां क्लिक करें
यहां भी पढ़ें -:
उत्तराखंड एम्प्लॉयमेंट रजिस्ट्रेशन कैसे करें 

Leave a Comment