How to Write a Leave Application?

Share on:

यदि आप भी ऐसे लोगों में से हैं जो पढ़ना लिखना तो भली-भांति जानते है पर आवेदन पत्र लिखने में हिचकिचाते है या कई बार आपको आवेदन पत्र कैसे लिखें (How to Write a Leave Application?) इसकी शुरुआत कैसे करें इसके बारे में पता नहीं होता है। इस लेख के माध्यम से आज हम आपको हर प्रकार के आवेदन पत्र के बारे में बताएँगे। यहाँ हम आपको आवेदन पत्र कितने प्रकार के होते हैं? आवेदन पत्र कौन-कौन से होते है? इन सभी के बारे में बताएँगे। आज के समय में खुद से प्रार्थना पत्र लिखना बहुत जरूरी हो गया है। मान लीजिये आप किसी सरकारी कार्यालय में काम करते है और आपकी अचानक तबियत बिगड़ जाती है या आप एक स्कूल में पढ़ते हो और आपको छुट्टी चाहिए तो आपको इसके लिए एप्लीकेशन (आवेदन पत्र ,प्रार्थनापत्र) लिखना आना चाहिए। हर क्षेत्र में आवेदन पत्र का प्रारूप बदल जाता है। सरकारी कार्यालय में अलग प्रारूप और स्कूल और प्राइवेट कंपनियों में इसका अलग प्रारूप होता है। आईये जानते है अलग अलग आवेदन पत्रों के बारे में-

How to Write a Leave Application
How to Write a Leave Application
Table of Contents hide

Leave Application for School

वर्त्तमान समय में महामारी के चलते कई दिनों तक स्कूल बंद रहे हैं इसके चलते कुछ बच्चों को फायदा भी हुआ है उन्हें कई दिनों की छुट्टी मिल गयी। इसका सबसे ज्यादा फायदा उन बच्चों को हुआ है जो स्कूल न जाने के तरह तरह के बहाने ढूंढा करते थे। कई बच्चे पेट दर्द का बहाना करके छुट्टी लिया करते थे तो कई बच्चे घर पर आवश्यक काम के चलते छुट्टी लिया करते थे। क्या अपने भी कभी अपने स्कूल के समय पेट दर्द या सर दर्द का बहाना बना कर या किसी आवश्यक कार्य के लिए छुट्टी ली है। अगर हाँ तो आपने भी अपनी छुट्टी के लिए आवेदन पत्र लिखा होगा।आपमें से कई छात्रों को शायद ही प्रार्थना पत्र लिखना सही से आया होगा या अपने प्रार्थना पत्र लिखने में किसी अन्य छात्र की सहायता ली होगी। आईये जानते हैं आप कैसे अवकाश के लिए आवेदन पत्र लिखने के तरीके के बारे में।

स्कूल से अवकाश प्राप्त करने के लिए आपको अपने प्राचार्य को सम्बोधित करते हुए आवेदन पत्र लिखना होता है जिसमे आपको कुछ बातों को ध्यान में रखना होता है जैसे की

  • आवेदन पत्र को लिखते समय आपको पत्र के बायीं ओर से “सेवा में” लिखते हुए शुरुआत करनी चाहिए।
  • इसके “सेवा में” के ठीक नीचे आपके स्कूल के प्रधानाचार्य जी को “श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय /महोदया” से सम्बोधित करना चाहिए।
  • इसके ठीक नीचे आपके स्कूल का नाम आएगा।
  • स्कूल के नीचे आपके आवेदन पत्र को लिखने के विषय के बारे में -जैसे यदि आपको छुट्टी चाहिए तो विषय होगा छुट्टी के लिए आवेदन। यदि आपको किसी आवश्यक काम के लिए छुट्टी चाहिए तो विषय में आपको उस आवश्यक कार्य का नाम लिखना होगा जिसके लिए आपको छुट्टी चाहिए।
  • इसके बाद महोदय /महोदया लिखते हुए इसके ठीक नीचे से आप सविनय निवेदन से शुरू करते हुए डीटेल में अपने छुट्टी लेने के कारण के साथ साथ वह दिनांक भी लिखेंगे जब से जब तक आपको अवकाश चाहिए।
  • अपने अवकाश के कारण को लिखने के बाद धन्यवाद लिखेंगे।
  • और अंत में अपने पत्र के नीचे दाहिनी ओर आपका आज्ञाकारी छात्र /छात्रा ,इसके नीचे नाम ,कक्षा अनुक्रमांक और आवेदन पत्र को लिखने वाले दिन की दिनांक को लिखेंगे।
  • इस प्रकार आपका अवकाश के लिए आवेदन पूरा हो जाएगा ।

What is a Leave Letter

किसी भी व्यक्ति द्वारा सम्बंधित कार्यालय या स्कूल ,कॉलेज के प्रबंधक ,मैनेजर को अवकाश के लिए किया गया विन्रम भाव से आग्रह आवेदन पत्र कहलाता है। आवेदन पत्र वैसे तो कई प्रकार से लिखे जा सकते हैं। परन्तु कुछ महत्वपूर्ण आवेदन पत्र इस प्रकार होते है – स्कूल और कॉलेज से संबंधित, व्यवसाय से संबंधित आवेदन पत्र, किसी समस्या से संबंधित, किसी आवश्यक क्रय हेतु आवेदन पत्र आदि।

पत्र के प्रकार (Types of Application)

सामान्यता पत्र 2 प्रकार के होते है –

  1. औपचारिक पत्र (कार्यालय ,स्कूल ,शिक्षण संस्थान में संबधित)
  2. अनौपचारिक पत्र (मित्र,सहयोगियों को लिखा जाने वाला पत्र)

अवकाश प्राप्ति के लिए आवेदन पत्र के प्रकार

  • बीमारी के कारण लिया गया अवकाश
  • विशेषाधिकार प्राप्त अवकाश
  • आकस्मिक घटना के रूप से लिया गया अवकाश
  • बिना वेतन का अवकाश (एल.ओ.पी)
  • शोक में लिया गया अवकाश
  • मातृत्व का अवकाश
  • प्रतिपूरक अवकाश

अवकाश पत्र में क्या प्रमुखता से होना चाहिए – Major Elements

एक अच्छे आवेदन पत्र या प्रार्थना पत्र को लिखते समय प्रार्थी को कुछ विशेष बातों को ध्यान में रखना होता है आपको जिन प्रमुख तत्वों को ध्यान में रखना होता है वे कुछ इस प्रकार से हैं –

  • अभिवादन शब्द -आवेदन पत्र लिखते समय आवेदनकर्ता जिस व्यक्ति को आवेदन पत्र लिख रहा हो उसको सम्मानित शब्दों से सम्बोधित करना चाहिए जैसे- सेवा में श्री मान, आदरणीय, महोदय/महोदय आदि।
  • आवेदनकर्ता का पता / स्कूल का पता।
  • विषय-वस्तु
  • अवकाश का कारण
  • संक्षिप्त वाक्य -अपने आवेदन में आपको जो भी कहना है उसको जितना हो सके उतना संक्षिप्त शब्दों में कहने का प्रयास करें, संक्षिप्त वाक्यों का प्रयोग करें।
  • सरल शब्द प्रयोग अपने आवेदन पत्र में सदैव ही सरल वाक्य और सुस्पष्ट भाषा का प्रयोग करें। भाषा ऐसी होनी चाहिए जो अनुचित न लगे अनैतिक शब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • विश्वसनीयता -आपके आवेदन पत्र में विश्वसनीयता का होना आवश्यक है। आपकी कही गयी बातें तथ्यों के अनुरूप हों और बातों में सच्चाई होनी चाहिए।
  • दिनांक
  • धन्यवाद शब्द का सम्बोधन।
  • आपका पता और वर्तमान दिनाँक

अवकाश किस कारण से चाहिए (Reasons)

सभी देशों के अपने अलग-अलग श्रम कानून बनाये गए हैं जो विभिन्न कारणों से कर्मचारियों को छुट्टियों को प्रदान करने का अधिकार देते हैं। हर कार्य क्षेत्र की अपनी नीति होती है जिससे वे अपने अवकाश प्रदान करने के नियम को लागू करते हैं , इन नियमों के आधार पर ही अवकाश प्रदान किया जाता है। राज्य की दुकान और स्थापना अधिनियम के तहत अवकाश की मात्रा और अवकाश के प्रकार को राज्य , उद्योग,और नियोक्ता प्रबंधक द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। अवकाश और अवकाश के दिनों के अलावा भारत में सभी कर्मचारी प्रत्येक वर्ष एक निर्धारित संख्या में अवकाश प्राप्त करने के हकदार होते हैं।अवकाश लेने के कई कारण हो सकते हैं जिसकी वजह से हमे अवकाश लेने की आवश्यकता पड़ जाती है

बीमारी की कारण अवकाश

इसे मेडिकल लीव्स (ML) भी कहा जाता है ,भारत में सिक लीव्स रूल के अंतर्गत इसके लिए विशेष प्रावधान है। चिकित्सीय अवकाश को किसी बीमारी या किसी प्रकार की दुर्घटना हो जाने की स्थिति में दिया जाता है। चिकित्सीय अवकाश के लिए आपको चिकित्सा प्रमाण पत्र को अपने नियोक्ता को दिखाना होता है ,नियोक्ता द्वारा इस प्रमाण पत्र की मांग की जाती है। कई बार कर्मचारी काम पर जाने में असमर्थ होता है,क्यूंकि वह बीमार हो सकता है ऐसी स्थिति में वह कर्मचारी बीमारी के लिए अवकाश का आवेदन ककर सकता है। हर एक कर्मचारी कंपनी के लिए काम करने के एक निश्चित समय सीमा के बाद बीमार होने की स्थिति में अवकाश के लिए आवेदन कर सकता है। बीमार होने की स्थिति में आवेदन करता कितने दिनों या कितने समय तक अवकाश प्राप्त कर सकता है यह इस बात पर निर्भर करता है की वह जिस कंपनी में कार्यरत है उस कंपनी का अवकाश प्रदान करने के क्या नियम हैं।इस प्रकार के अवकाश में अग्रिम सूचना की आवश्यकता नहीं होती है।

विवाह करने हेतु अवकाश –

कुछ देशों में ऐसे नियम हैं जहाँ कर्मचारियों के लिए विवाह अवकाश देना आवश्यक है किन्तु भारत जैसे कई ऐसे देश हैं जहाँ विवाह अवकाश को कानून की तरफ ने कोई अधिकार नहीं दिया गया है। सामान्यता विवाह-अवकाश एक से पंद्रह दिनों तक हो सकता है। किन्तु अधिकांश कम्पनियों के प्रबंधकों के द्वारा मानक के रूप में तीन दिनों की शादी के लिए अवकाश प्रदान किया जाता है।

मातृत्व अवकाश (Maternity leave)

मातृत्व लाभ अधिनियम 1961 के नियमानुसार किसी भी कार्य क्षेत्र की कम्पनी के नियोक्ता को किसी भी महिला को लगभग 6 से 7 महीने का वेतन सहित अवकाश देना आवश्यक है जिस महिला के द्वारा प्रसव तिथि से पहले 1 साल में कम से कम 80 दिनों के लिए काम किया गया हो। पूर्ववर्ती तीन प्रकार के अवकाश (AL/CL/SL) राज्य के नियमों द्वारा संचालित होते हैं, मातृत्व लाभ अधिनियम को केंद्र सरकार के द्वारा नियंत्रण किया जाता है। मातृत्व अवकाश केवल पहले दो बच्चों के समय के लिए है। किन्तु तीसरे बच्चे के जन्म के समय पर कुल 3 महीने का ही अवकाश लिया जा सकता है। मातृत्व लाभ अधिनियम 1961 के तहत सरोगेसी (surrogacy) ,गर्भपात, गोद लेना, और ट्यूबेक्टोमी सभी को अनिवार्य अवकाश देने का नियम है।

आकस्मिक अवकाश

ईएल के अलावा कुछ नियोक्ता एक प्रकार की छुट्टी भी देते हैं, जिसे आकस्मिक अवकाश के रूप में जाना जाता है। ऐसे अवकाश तब काम आते हैं जब कोई आकस्मिक कार्य पड़ जाता है कई स्थानों पर इस प्रकार के अवकाश की आवश्यकता पड़ जाती है, और कही स्थानों में ऐसा नहीं होता है।

विश्राम अवकाश

कई बार कर्मचारी को कार्य से कुछ वक्त के लिए अवकाश दिया जाता है ताकि जब वह वापिस कार्य पर लोटे तो कार्य को और कर सके जिससे कार्यालय के काम आसानी से दुगुनी रफ़्तार के साथ हो पाते हैं।

How to Write a Leave Application for School/Office?

यहाँ आपको नीचे दिए गए पत्र से अवकाश के लिए आवेदन करने का तरीका पता चल जाएगा। यहाँ स्कूल के प्रार्थी द्वारा बीमार होने के कारण अवकाश के लिए आवेदन पत्र लिखा गया है जो इस प्रकार है –

apliction sickleave

अवकाश प्राप्ति के लिए आवेदन पत्र को लिखते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए –

  • सबसे पहले प्रार्थी को अभिवादन शब्द जैसे सेवा में का प्रयोग करना चाहिए।
  • उसके बाद आवेदनकर्ता का पता /कंपनी का नाम/स्कूल जहाँ प्रार्थी अध्ययन कर रहा है उस स्कूल का पता।
  • विषय-वस्तु /आवेदन का विषय
  • अवकाश प्राप्त करने के लिए उचित कारण जितने दिनों का अवकाश आप चाहते हैं उनकी दिनांक
  • अवकाश स्वीकृत किये जाने को लेकर धन्यवाद शब्द का सम्बोधन।
  • अंत में आपका पता और दिनाँक
  • यह हमेशा याद रखें की आवेदन पत्र में अनावश्यक चीजें न लिखी गयी हो।
  • आवेदन पत्र में संक्षिप्त रूप में अपनी बात कही गयी हो।

Office Leave Application Format

कार्यालय से अवकाश प्राप्त करने के लिए आपको कुछ इस तरीके से अपना आवेदन पत्र को लिखना होगा जिसका फॉर्मेट आपको नीचे दिया गया है –ofc apli hindi

  • सबसे पहले आपको सेवा में ,लिखना होगा।
  • इसके बाद आपकी कंपनी के मैनेजर को सम्बोधन शब्द से सम्बोधित करना होगा जैसे –श्रीमान ,
  • कम्पनी डिपार्टमेंट का नाम
  • विषय – अवकाश के दिनों की संख्या
  • महोदय/महोदया शब्द का प्रयोग
  • अवकाश लेने का संक्षिप्त कारण
  • धन्यवाद शब्द प्रयोग
  • आपका नाम
  • आपका पद
  • दिनांक

How to Write Leave Application for Office?

कार्यालय की अवकाश समीक्षा नीति – आपके कार्यालय द्वारा दी जाने वाले अवकाश के लिए क्या क्या नियम हैं इसको जानने के आप हकदार हैं आपको नियमों की जानकारी होनी आवश्यक है ताकि आपको यह पता चल सके की आप अवकाश लेने की कितने हकदार हैं। आपको अपने कार्यालय के अर्जित किये गए अवकाश को लेने का हक़ होता है। यदि आप कार्यालय से अवकाश प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको आवेदन पत्र को कुछ इस प्रकार से लिखना होगा। कार्यालय से अवकाश लेने के लिए आपको उस कार्यालय से सम्बन्धित मैनेजर /अधिकारी को सम्बोधित करते हुए उस कंपनी या कार्यालय का नाम तथा विषय अवकाश लेने के लिए लिखना होगा अंत में आपको अपना नाम और तिथि लिखनी होगी।

आपके द्वारा कार्यालय से अवकाश के आवेदन के लिए पत्र को लिखते समय कुछ महत्वपूर्ण शीर्षक को ध्यान में रखना आवश्यक है। यदि आप कार्यालय से अवकाश प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने पत्र में विनम्र और पेशेवर तौर पर प्रयोग होने वाले शब्दों का प्रयोग करना चाहिए साथ ही साथ आवश्यक जानकारियों को भी आवेदन पत्र में भरना चाहिए जिसकी सहायता से आपके कार्यालय के प्रबंधक द्वारा आपके आवेदन को स्वीकृत किया जा सके। आप नीचे दिए गए टिप्स की सहायता से एक पेशेवर रूप से आवेदन पत्र को लिख पाएंगे। –

  • आवेदन पत्र में सबसे ऊपर बाएं तरफ संबंधित अधिकारी/प्रधान को सम्बोधित तथा उनका अभिवादन किया जाता है साथ ही साथ सम्बंधित कार्यालय का नाम भी ऊपर लिखा जाता है।
  • आवेदन पत्र में इसके बाद आपको संबंधित विषय जिसके बारे में आपको अवकाश चाहिए उसके बारे में लिखना होता है ध्यान रहे भाषा विन्रम रूप में हो ,अनावश्यक शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।
  • सबसे अंत में आवेदन पत्र के सबसे नीचे दाएं ओर आपका नाम, आपके हस्ताक्षर और पता आदि लिखा जाता है।

आवेदन पत्र में अभिवादन तथा समापन के लिए इन शब्दों का प्रयोग मुख्यता किया जाता है –

अभिवादन शब्द –  महोदय /महोदया, श्रीमान /श्रीमती समापन शब्द – धन्यवाद ,सधन्यवाद

किसी कार्यालय से अवकाश के लिए आवेदन करते समय आवेदन पत्र में निम्लिखित जानकारियों का होना अति आवश्यक है

  • अवकाश आवेदन पत्र की दिनांक
  • आपके कार्यालय के प्रबंधक का नाम और उनका पता जिनके लिए आप पत्र लिख रहे हैं।
  • पत्र को लिखने का उद्देश्य /कारण
  • अभिवादन शब्द के साथ
  • अवकाश प्राप्त करने की समय सीमा तिथि (कब से कब तक)
  • अवकाश लेने का कोई खास कारण
  • अवकाश के समय कार्य नियम
  • प्रार्थी का नाम ,पता ,संपर्क नंबर
  • प्रार्थी के हस्ताक्षर आदि।

Leave Application for Office

वर्तमान समय में कर्मचारियों को पेड लीव का अधिकार प्राप्त हो चुका है ,बहुत सी कम्पनियों द्वारा कर्मचारियों को अब पेड लीव (paid leaves)का अवसर दिया जाने लगा है। वर्तमान समय में नौकरी में अवकाश प्राप्त करना पहले की तुलना में आसान हो चुका है नौकरी से अवकाश प्राप्त करना अन्य मांगे जाने वाले लाभों में से एक हैं। कर्मचारियों द्वारा कई प्रकार के अवकाशों का लाभ लिया जा सकता है।किन्तु अवकाश लेने के भी कुछ नियम होते हैं, जो की कर्मचारियों के द्वारा ली जाने वाली अनावश्यक छुट्टी को नियंत्रित करने के लिए बनाये जाते हैं। इन नियमों को सरकार या किसी संगठन या कंपनियों द्वारा बनाये जाते हैं। इन नियमों के द्वारा कई पहलुओं को कवर किया जाता है, जैसे हर साल दिए जाने वाले अवकाशों की संख्या ,अवकाश का समय,अवकाश की योग्यता आदि। इसी प्रकार एल.ओ.पी (लॉस ऑफ पे) सैलरी स्लिप में वेतन का नुकसान है। इसका अर्थ यह है की जब आप बिना पूर्व सूचना दिए एक या एक से अधिक दिनों तक ऑफिस नहीं जाते है तो आपके कार्यालय के हेड द्वारा आपको दिए जाने वाले वेतन का कुछ अंश काट लिया जाता है।

कर्मचारियों द्वारा लिए जाने वाले अवकाश कुछ इस प्रकार से हैं:

  • बीमार होने के कारण लिया गया अवकाश
  • विशेषाधिकार प्राप्त अवकाश
  • आकस्मिक घटना के रूप से लिया गया अवकाश
  • बिना वेतन का अवकाश (एल.ओ.पी )
  • शोक में लिया गया अवकाश
  • मातृत्व का अवकाश
  • प्रतिपूरक अवकाश
  • विश्राम अवकाश
  • पितृत्व अवकाश
  • शोक अवकाश

कार्यालय से अवकाश प्राप्ति के सम्बन्ध में प्रार्थना पत्र

ofc apli hindi

One Day Leave Application

एक दिन के अवकाश हेतु यदि आप आवेदन करना चाहते हैं ,किसी आवश्यक कार्य हेतु या अचानक किसी महत्वपूर्ण कार्य हेतु तो आप इसके लिए यदि आप किसी स्कूल या कॉलेज के छात्र /छात्रा हैं या आप किसी कम्पनी के कर्मचारी हैं तो आपको आवेदन पत्र लिखते समय निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

  • आवेदन पत्र की दिनांक
  • कार्यालय के प्रबंधक का नाम
  • विषय -महत्वपूर्ण कार्य हेतु एक दिन का अवकाश
  • अवकाश लेने का कारण
  • समापन शब्द
  • अवकाश की तिथि
  • आपका नाम
  • आपका पता , दिनांक

स्कूल से एक दिन के अवकाश हेतु प्रार्थना पत्र

सेवा में
श्रीमान प्रधानाध्यापक / श्रीमती प्रधानाध्यापिका 
दयानन्द स्वरस्वती विद्यालय देहरादून
विषय :- अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र (अवकाश का कारण )
महोदय,
सविनय निवेदन इस प्रकार से है की में सुमित प्रजापति आपके विद्याला में कक्षा 12 वी का छात्र हूँ ,कल मेरे घर में ग्रह पूजा होनी है जिसमे मेरा उपस्थित होना अनिवार्य है जिस कारणवश कल में विद्यालय में उपस्थित होने में असमर्थ रहूँगा। इस कार्य के लिए प्रार्थी को कल दिनांक 1 जनवरी 2022 का अवकाश देने की महती कृपा करे। मैं सदा आपका आभारी रहूँगा।
धन्यवाद !
आपका आज्ञाकारी शिष्य
सुमित प्रजापति
कक्षा –12
अनुक्रमांक – 17
दिनांक :– …………………………….

Medical Leave Application

कई बार काम के दबाब के कारण या किसी अन्य कारणवश हम सभी बीमार हो ही जाते हैं और ऐसी स्थिति में कार्य को करने में असमर्थता आ जाती है ,किसी कार्यालय के कर्मचारी या किसी स्कूल ,कॉलेज के बच्चों की अचानक तबियत बिगाड़ जाती है जिस वजह से वे अपने स्कूल या कॉलेज में उपस्थित नहीं हो पाते हैं ऐसी स्थिति में उनके द्वारा अपनी बीमारी के बारे में अपने स्कूल ,कॉलेज या अपनी कम्पनी के प्रबंधक को सूचित किया जाना आवश्यक हो जाता है। अवकाश के लिए आवेदन मौखिक रूप से नहीं अपितु लिखित रूप से होता है आप इसे ईमेल या किसी पत्र के माध्यम से अवकाश के लिए आवेदन कर सकते हैं। मेडिकल अवकाश के लिए आवेदन करते समय आपको उस आवेदन पत्र के साथ में मेडिकल सर्टिफिकेट को भी सलंग्न करना होता है। मेडिकल अवकाश के लिए आवेदन कुछ इस प्रकार किया जाता है यदि आप किसी कंपनी के कर्मचारी हैं –

सेवा में,
श्रीमान मैनेजर का नाम (जिस कम्पनी में आप कार्यरत हैं उसके मैनेजर का नाम)
डिपार्टमेंट का नाम (कंपनी के जिस डिपार्टमेंट में आप कार्य करते हो उसका नाम )
कंपनी का नाम (जिस कम्पनी में आप कार्य कर रहे हैं उसका नाम )
विषय– मेडिकल अवकाश हेतु आवेदन
महोदय,
सविनय निवेदन इस प्रकार से है कि मैं सूरज सिंह आपकी कंपनी में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्य कर रहा हूं। पिछले कुछ दिनों से मेरा स्वास्थ्य खराब हो रहा है,जिस कारण मैंने डॉक्टर से चेक करवाया और डॉक्टर ने मुझे एक हफ्ते के बेड रेस्ट की सलाह दी है। इसलिए मैं दिनांक 5 जनवरी 2022 से 11 जनवरी 2022 तक कार्यालय में अनुपस्थित रहूंगा।

यदि मेरे अवकाश के दौरान कार्यालय में कोई आवश्यक कार्य आ जाता है तो कृपया आप मुझे मेरे मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी से संपर्क कीजियेगा। मैं कोशिश करूँगा की अपने अवकाश के दौरान भी अपने कार्यालय के काम आ सकूँ।

अतः आपसे विन्रम निवेदन है,कि मुझे एक सप्ताह का मेडिकल अवकाश देने की महती कृपा करें। इस पत्र के साथ मेरा मेडिकल सर्टिफिकेट भी संलग्न है।
धन्यवाद!
दिनांक ………
भवदीय -आपका नाम ,
पता
फ़ोन नंबर

Leave Application to Principal

अक्सर हम सभी ने अपने विद्यार्थी जीवन में कभी न कभी किसी कारणवश अपने स्कूल से अवकाश प्राप्ति हेतु आवेदन पत्र लिखा ही होगा। कभी किसी बीमारी की वजह से तो कभी घर पर हो रहे आवश्यक कार्य हेतु। स्कूल या कॉलेज के प्रिंसिपल को आवेदन पत्र लिखते समय इन बातों का ध्यान रखना चाहिए –

  • सबसे पहले आपको सेवा में ,लिखना होगा।
  • इसके बाद स्कूल के प्रिंसिपल को सम्बोधन शब्द से सम्बोधित करना होगा जैसे –श्रीमान ,
  • स्कूल या कॉलेज का नाम
  • विषय
  • महोदय/महोदया शब्द का प्रयोग
  • अवकाश लेने का संक्षिप्त कारण
  • धन्यवाद शब्द प्रयोग
  • आपका नाम
  • आपकी क्लास
  • आपका रोल नंबर
  • दिनांक

अवकाश के आवेदन के लिए अपने स्कूल एक कॉलेज के प्रधानाचार्य को लिखा गया प्रार्थना पत्र –

सेवा में ,                                                                                       
श्रीमान प्रधानाचार्य जी ,
डी० ए० वी० पब्लिक स्कूल, देहरादून।
विषय :- बुखार होने पर अवकाश हेतु आवेदन पत्र
महोदय ,
सविनय निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय में कक्षा 12 वी का विद्यार्थी हूँ। मैं कई दिनों से सर में दर्द होने की वजह से कार्य नहीं कर पा रहा हूँ मुझे आज अत्यधिक पीड़ा हो रही है। जिसके लिए डॉक्टर की सलाह पर मुझे बेड रेस्ट के लिए कहा गया है। अतः मैं 02/04 /2022 से 06/04/2022 तक 5 दिनों तक विद्यालय आने में असमर्थ रहूँगा ।
अतः आपसे विन्रम निवेदन है की मुझे 5 दिन का अवकाश देने की कृपा करें में सदैव आपका आभारी रहूँगा।
धन्यवाद !
आपका विश्वासी छात्र।
नाम
कक्षा
रोल नंबर
दिनांक

11. College Leave Application

हम सभी ने अपने विद्यार्थी जीवन में कभी न कभी किसी कारणवश अपने स्कूल से अवकाश प्राप्ति हेतु आवेदन पत्र लिखा ही होगा। कभी किसी बीमारी की वजह से तो कभी घर पर हो रहे आवश्यक कार्य हेतु। स्कूल या कॉलेज के प्रिंसिपल को आवेदन पत्र लिखते समय इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। अवकाश हेतु यदि आप आवेदन करना चाहते हैं ,किसी आवश्यक कार्य हेतु या अचानक किसी महत्वपूर्ण कार्य हेतु तो आप इसके लिए यदि आप किसी स्कूल या कॉलेज के छात्र /छात्रा हैं तो आपको आवेदन पत्र लिखते समय निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

  • सबसे पहले आपको “सेवा में” शब्द से सम्बोधित करना होता है
  • इसके बाद स्कूल के प्रिंसिपल को सम्बोधन शब्द से सम्बोधित करना होगा जैसे –श्रीमान ,
  • अपने कॉलेज का नाम
  • अवकाश प्राप्ति का विषय
  • महोदय/महोदया शब्द का प्रयोग
  • अवकाश का कारण
  • समापन शब्द धन्यवाद
  • आपका नाम
  • आपकी क्लास
  • आपका रोल नंबर
  • दिनांक

कॉलेज से अवकाश प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र-

सेवा में,
श्रीमान प्राचार्य महोदय,
डीएवी कॉलेज सर्वे चौक
देहरादून 248001

विषय -आवश्यक कार्य हेतु अवकाश का आवेदन।
महोदय,
सविनय निवेदन इस प्रकार से है की मैं आपके कॉलेज के विज्ञान विभाग के अंतिम वर्ष का छात्र हूँ मेरा रोलनंबर 2345543 है। मेरा परिवार दूसरे शहर में रहता है जहाँ मेरी दादीजी बीमार हैं। उनके देखभाल के लिए मेरा जाना आवश्यक है अतः आप मुझे दिनांक 20 -1 -2022 से दिनांक 25 -1 -2022 तक का अवकाश देने की कृपा करें में सदा आपका आभारी रहूंगा।
धन्यवाद,
प्रार्थी,
(रोल नंबर)
(अपना नाम)

Annual Leave Application

साल भर में ली जाने वाले अवकाश के लिए आवेदन

सेवा में ,
श्रीमान मैनेजर साहब,
कंपनी का नाम
शहर का नाम
विषय -वार्षिक अवकाश हेतु आवेदन।
श्रीमान महोदय (मैनेजर का नाम )
निवेदन इस प्रकार से है की मुझे दीर्घकालिक अवकाश की आवश्यकता है मैं अपनी वार्षिक अवकाश आवंटन का लाभ उठाना चाहता हूँ। मेरे पास मेरा वार्षिक अवकाश का भत्ता है जिसका में लाभ लेना चाहूंगा। महोदय में अपने परिवार के साथ लम्बी छुट्टी पर शहर से बाहर जा रहा हूँ। मेरा आपसे यह अनुरोध है की आप मुझे 24 दिन दिनांक 1 जनवरी से 24 जनवरी तक का अवकाश देने की कृपा करें। मैं सदैव आपका आभारी रहूँगा।
मेरी अनुपस्थिति में मेरे शेष कार्य को मेरे सहकर्मी द्वारा पूरा कर लिया जाएगा। यदि फिर भी कार्य में कोई विलम्ब होता है तो मैं अपने ईमेल या फ़ोन नंबर पर उपस्थित रहूँगा। और कार्य को समय पर पूर्ण करने की पूरी कोशिश करूँगा।
धन्यवाद !
आपका विश्वासी
आपका नाम –
पता –
मोबाइल नंबर –
ईमेल आईडी –

Maternity Leave Application

यदि आप गर्भवती कार्यकारी महिला हैं तो आपके लिए यह जानना आवश्यक है की मातृत्व लाभ अधिनियम 1961 के नियमानुसार किसी भी कार्य क्षेत्र के नियोक्ता को किसी भी महिला को लगभग 6 से 7 महीने का वेतन सहित अवकाश देना आवश्यक है जिस महिला के द्वारा प्रसव तिथि से पहले 1 साल में कम से कम 3 महीने के लिए काम किया गया हो। पूर्ववर्ती तीन प्रकार के अवकाश (AL/CL/SL) राज्य के नियमों द्वारा संचालित होते हैं।

मातृत्व लाभ अधिनियम को केंद्र की सरकार के द्वारा नियंत्रण किया जाता है। मातृत्व अवकाश केवल पहले दो बच्चों के समय के लिए है। किन्तु तीसरे बच्चे के जन्म के समय पर कुल 3 महीने का ही अवकाश लिया जा सकता है। मातृत्व लाभ अधिनियम 1961 के तहत सरोगेसी (surrogacy) ,गर्भपात, गोद लेना, और ट्यूबेक्टोमी सभी को अनिवार्य अवकाश देने का नियम है। मातृत्व अवकाश के लिए आप इस प्रकार से आवेदन पत्र लिख सकते है।

किसी कम्पनी में कार्यरत महिला द्वारा आवेदन पत्र

सेवा में,
प्रबन्धक महोदय
कंपनी का नाम
कंपनी का पता
विषय: मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र
महोदय,
मैं (आवेदन करने वाली महिला का पूरा नाम) आपको सूचित करना चाहती हूं कि पिछले कुछ महीने से मैं गर्भवती हूं और डॉक्टर के द्वारा यह सुझाव दिया गया है कि मुझे अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए मातृत्व अवकाश की अति आवश्यकता है। इस अवकाश के द्वारा मुझे गर्भावस्था के दौरान प्रसव पीड़ा संबंधित कोई भी आकस्मिक समस्या उत्पन्न ना हो इसके लिए अवकाश की आवश्यकता पड़ रही है। अतः अपने होने वाले शिशु और अपने स्वास्थ्य की देखभाल के लिए में कार्यालय में आने वाले पांच महीनो तक अनुपस्थित रहूंगी। मेरी अनुपस्थिति में मेरे सहयोगियों द्वारा महत्वपूर्ण कार्य कर लिए जाएंगे।
अतः आपसे विन्रम अनुरोध है की मुझे पांच महीने का मातृत्व अवकाश दिया जाये। मैं सदा आपकी आभारी रहूंगी।
धन्यवाद !
आपकी विश्वासी
नाम (XYZ)
पद
पता
दिनांक
मोबाइल नंबर

Paternity leave Application

सन 1999 में केंद्र सरकार द्वारा केंद्र के कर्मचारियों के लिए पिता बनने पर पंद्रह दिन के पितृत्व अवकाश की शुरुआत की थी किन्तु निजी क्षेत्र के कर्मचारियो के लिए ऐसी कोई शुरुआत नहीं की गयी थी, किन्तु कई प्राइवेट कंपनियां ऐसी भी हैं जो पैतृक अवकाश का लाभ अपने कर्मचारियों को देती है। पितृत्व अवकाश केवल पहले दो बच्चों के जन्म के समय ही दिया जाता है तीसरे बच्चे के जन्म पर इसका लाभ नहीं मिलता। यदि आप भी पिता बनने वाले हैं और अपने बचे के देखभाल के लिए अवकाश चाहते हैं तो आप भी इस पैतृक अवकाश का लाभ ले सकते हैं।

इसके लिए आप ऐसे आवेदन कर सकते हैं –

  • आपको सबसे पहले आवेदकर्ता का नाम लिखना होगा
  • अवकाश का नियम
  • पद नाम
  • कंपनी या विद्यालय का नाम जहाँ आप कार्यरत हैं
  • अवकाश की समय सीमा
  • अवकाश का विषय
  • अवकाश लिए जाने का कारण
  • बच्चों की संख्या।तथा बच्चों की आयु (परिवार रजिस्टर प्रमाण पत्र)

पैतृक अवकाश का लाभ सभी केंद्रीय कर्मचारी ले सकेंगे जो पिता बनने वाले हैं। बच्चे की डिलीवरी के 15 दिन पहले या 6 महीने के बीच की अवधि में इस अवकाश का लाभ लिया जा सकता है। पैतृक अवकाश के दौरान लिए गए अवकाश में आपका वेतन नहीं काटा जाएगा।

Vacation Leave Application

सेवा में,
प्रधानाचार्य,
स्वरस्वती विद्या मदिर ,
धर्मपुर देहरादून।
विषय -पर्यटन हेतु अवकाश पत्र
महोदय ,
सविनय निवेदन इस प्रकार से है की मैं सुमित सिंह आपके विद्यालय के कक्षा 12 बी’ वर्ग का विद्यार्थी हूँ। प्रार्थी को अपने परिवार के साथ कुछ वक्त पर्यटन करते हुए बिताना है। अतः प्रार्थी पर्यटन में जाने के लिए आपसे 5 दिन दिनांक 2 फरवरी से 6 फरवरी तक का अवकाश प्राप्त करना चाहता है।
अतः प्रार्थी की आपसे यह सादर प्रार्थना है कि उसे आप प्रार्थी को पांच दिन का अवकाश प्राप्त करे।
धन्यवाद!
आपका आज्ञाकारी शिष्य
नाम
कक्षा
दिनांक
अनुक्रमांक

Leave Application for Marriage

हम सभी को कभी न कभी शादियों में जाना पड़ जाता है किसी खास की शादी में जाना हो या अपने ही परिवार में शादी में उपस्थित होने के लिए छुट्टी की आवश्यकता होती है। अपनी ही शादी के लिए अवकाश की आवश्यकता पड़ जाती है। जिसके लिए कम से कम 15 -20 दिन का अवकाश चाहिए ही होता है। ऐसी सिथिति में आपको शादी के लिए अपने कंपनी या अपने कार्यालय में अवकाश हेतु आवेदन करना ही होता है इसके लिए आपको आवेदन पत्र लिखना होता है।आवेदन पत्र आप इस प्रकार लिख सकते हैं-

सेवा में ,
मैनेजर का नाम (जिस कम्पनी में आप कार्यरत हैं उसके मैनेजर का नाम)
डिपार्टमेंट का नाम
कंपनी का नाम
विषय -अपने विवाह हेतु अवकाश के लिए आवेदन।
महोदय/महोदय ,
सविनय निवेदन इस प्रकार से है की में आपकी कम्पनी में पिछले 5 साल से कार्यरत हूँ। मेरा विवाह इस महीने 20 जनवरी 2022 को तय किया गया है। विवाह मेरे पैतृक गांव में होना तय हुआ है जिसके लिए मुझे विवाह तिथि से पूर्व 5 दिन और विवाह तिथि के बाद कम से कम 10 दिन बाद कार्यालय आने में असमर्थ हूँ।
अतः मुझे दिनाँक 15 जनवरी 2022 से 1 फरवरी 2022 तक का अवकाश देने की कृपा करें। मैं सदा आपका आभारी रहूँगा।
आपका विश्वासी
नाम
पता
दिनांक

Leave Application For Covid – 19

कोरोना महामारी से कोई अछूता नहीं रहा। साल 2019 में इसकी शुरुआत हुई और ये महामारी हर साल अपना कहर ढाती रही न जाने कितने ही परिवारों ने अपनों को खोया है कितने ही लोग इस महामारी के कारण जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं। सभी कार्यालयों ,स्कूलों ,निजी संस्थानों के कर्मचारियों ने अपना काम घर से ही पूर्ण किया है। कंपनियों स्कूल कॉलेज के बच्चों को इसका नुक्सान भी हुआ है। पूर्ण रूप से कार्य का सञ्चालन नहीं हो सका। किन्तु कुछ कार्यालयों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ यह काम होता रहा।

कोरोना एक ऐसी महामारी है जो आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हो सकती है ,जिसमे यह जरुरी है की व्यक्ति भीड़ -भाड़ वाले स्थानों से दूर रहे ऐसी स्थिति में यह सुनिश्चित करना आवश्यक हो जाता है की कहीं आप कोविड मरीज तो नहीं हैं यदि आपको लगता है की आपके लक्षण कुछ वैसे ही हैं तो आपको अपने कार्यालय स्थान से सबकी सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए अवकाश ले लेना चाहिए और अपना कोरोना टेस्ट करा लेना चाहिए। यदि आप अपने कार्यालय से कोरोना के चलते अवकाश लेना चाहते हैं तो आप ऐसे आवेदन कर सकते हैं।

सेवा में ,
प्रधानचर्या जी /निरीक्षक/या मैनेजर का नाम
डिपार्टमेंट का नाम/स्कूल/कॉलेज का नाम
कंपनी का नाम /स्कूल का पता
विषय – कोरोना संक्रमित होने पर अवकाश प्राप्ति हेतु आवेदन।
महोदय/महोदया ,
सविनय निवेदन इस प्रकार से है की पिछले दो दिन से मुझे बुखार है। जिसके चलते मैंने अपना आरटीपीसीआर टेस्ट कराया टेस्ट रिपोर्ट में में कोरोना संक्रमित पाया गया हूँ डॉक्टर ने मुझे आइसोलेशन के लिए कहा है। मैं अपने घर के एक कमरे में अगले कुछ दिनों तक आइसोलेट रहूँगा, मेरी आरटीपीसीआर की रिपोर्ट इस पत्र के साथ सलग्न है। इस कारणवश मैं अगले 20 दिनों दिनांक 10 -1 -2022 से दिनांक 30 -1 -2022 तक होम आइसोलेशन में रहने की वजह से कार्यालय आने में असमर्थ रहूँगा। आशा करता हूँ की आप मेरी इस समस्या को समझने का प्रयास करेंगे।
धन्यवाद !
आपका विश्वासी
नाम
पता
मोबाइल नंबर

Bereavement Leave

कहीं बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा उनके कर्मचारियों को बिरीवमेंट लीव यानी शोक के लिए अवकाश दिया जाता है। आजकल कई कंपनियां के द्वारा अपने कर्मचारियों को उनके किसी करीबी के गुजर जाने पर कुछ दिनों का अवकाश उपलब्ध कराया जाता है कई नामी कंपनियों द्वारा शोक के लिए अवकाश अपने कर्मचारियों को दिया जाता है ताकि किसी भी शोक की स्थिति में वे स्वयं को संभल सकें। इन नामी कंपनियों में जोकि इस प्रकार के अवकाश अपने कर्मचारियों को उपलब्ध कराती है उनमे इन्फोसिस, सिपला और टीसीएस ,हिल्टन इंडिया जैसी बड़ी-बड़ी कंपनियां आती हैं।

भारत सहित कहीं देशों में बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा बेरावमेंट लीव कर्मचारियों को दिया जाता है। अलग-अलग कंपनियों के द्वारा इस अवकाश के लिए अलग अलग-अलग नियम लागु किये जाते हैं। कहीं कंपनियों द्वारा इस अवकाश को तब दिया जाता है जब परिवार के किसी सदस्य की मौत हो जाए। रिस्तेदार की मौत पर कुछ एक ही कंपनियों द्वारा यह लीव दी जाती है।

शोक के लिए अवकाश आवेदन –sok ave

19. Leave Application due to Death of Family

परिवार में किसी व्यक्ति के अचानक निधन पर अपने कार्य क्षेत्र से अवकाश लेने के लिए प्रार्थना पत्र –

aplication death

  • सबसे पहले आपको “सेवा में” शब्द से सम्बोधित करना होता है
  • इसके बाद स्कूल के प्रिंसिपल को सम्बोधन शब्द से सम्बोधित करना होगा जैसे –श्रीमान ,
  • अपने कॉलेज का नाम
  • अवकाश प्राप्ति का विषय
  • महोदय/महोदया शब्द का प्रयोग
  • अवकाश का कारण
  • समापन शब्द धन्यवाद
  • आपका नाम
  • आपकी क्लास
  • आपका रोल नंबर
  • दिनांक

Emergency Leave Application

आपातकालीन स्थिति किसी के साथ भी घट सकती है ,आपात स्थिति जैसे अचानक कोई दुर्घटना घटित हो जाना जिसकी कल्पना भी न की गयी हो ,ऐसी घटना जो अप्रत्यासित हो। ऐसी स्थिति में अचानक कार्यालय या अपने कार्य क्षेत्र से आपात स्थिति में अवकाश लेना पद जाता है। आपातकालीन अवकाश कुछ विशेष स्थिति में ही दिए जाते हैं जैसे की –

  • अचानक तबियत का ख़राब होना
  • किसी दुर्घटना का हो जाना
  • घर पर आवश्यक कार्य पड़ जाना आदि।

आपातकालीन अवकाश के लिए आवेदन इस प्रकार से है –aplication death

Half-Day Leave Application

आपात स्थिति किसी के साथ भी घट सकती है ,आपात स्थिति जैसे अचानक कोई दुर्घटना घटित हो जाना जिसकी कल्पना भी न की गयी हो, ऐसी घटना जो अप्रत्यासित हो। ऐसी स्थिति में अचानक कार्यालय या अपने कार्य क्षेत्र से आपात स्थिति में अवकाश लेना पड़ जाता है। आपातकालीन अवकाश कुछ विशेष स्थिति में ही दिए जाते हैं जैसे की

  • अचानक तबियत का खराब हो जाना
  • अचानक दुर्घटना घटित हो जाना
  • अचानक कोई महत्वपूर्ण काम पड़ जाना

हम सभी ने अपने विद्यार्थी जीवन में कभी न कभी किसी कारणवश अपने स्कूल से अवकाश प्राप्ति हेतु आवेदन पत्र लिखा ही होगा। कभी किसी बीमारी की वजह से तो कभी घर पर हो रहे आवश्यक कार्य हेतु। स्कूल या कॉलेज के प्रिंसिपल को आवेदन पत्र लिखते समय कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। कार्य करते समय या स्कूल में पढ़ाई के दौरान अचानक आप की तबियत खराब हो जाती है या आपको अचानक घर जाना पड़ जाता है ऐसी स्थिति में आप आधे दिन का अवकाश ले सकते हो –

सेवा में ,
श्रीमान प्रधानाचार्य जी ,
श्री गुरु रामराय पब्लिक स्कूल, रेसकोर्स ,
विषय -अचानक तबियत खरब होने की वजह से आधे दिन का अवकाश।
महोदय ,
निवेदन इस प्रकार से है की आज कक्षा में अचानक मेरी तबियत खराब होने लगी है मेरा सर घूम रहा है और कमजोरी महसूस हो रही है जिस वजह से में कक्षा में अपनी पढाई नहीं कर पा रहा हूँ। मुझे आराम की आवश्यकता पड़ रही है कृपया मुझे अर्ध अवकाश देने की कृपा करें। मैं आपका सदैव आभारी रहूँगा।
धन्यवाद !
आपका आज्ञाकारी शिष्य
नाम
कक्षा
रोल नंबर
दिनांक

Leave Application Email

आजकल डिजिटल दुनिया का जमाना है ऐसे में पत्र व्यवहार डिजिटल माध्यम से होने लगा है जिसमे ईमेल के द्वारा पत्र व्यवहार किया जाने लगा है। आजकल हर कार्यालय या स्कूल में घर बैठे ईमेल के माध्यम से अवकाश का आवेदन करना बहुत ही साधारण हो चुका है। आइये जानते है ईमेल के द्वारा अवकाश आवेदन –

विषय -आवश्यक कार्य हेतु आवेदन

श्रीमान महोदय ,
मैं इस ईमेल के माध्यम से आपका ध्यान इस बात की ओर खींचना चाहूंगा की मेरा आपसे निवेदन है की मुझे घर पर पड़ रहे शादी समारोह में कार्य हेतु अपनी उपस्थिति दर्ज करना अति आवश्यक है अतः मैं 5 दिन की इस समारोह में घर के जिम्मेदार सदस्य के तौर पर कार्य हेतु अवकाश प्राप्त करना चाहूंगा। कृपा करके मुझे 5 दिन दिनांक 2 जनवरी से 6 जनवरी तक का अवकाश प्राप्त करने की कृपा करें मैं सदैव आपका आभारी रहूँगा।
धन्यवाद !
भवदीय। ……………….

Application for Eye Surgery

कई कारणवश आप अपनी निजी समस्याओं के चलते अपने कार्यालय ,स्कूल ,कॉलेज जाने में असमर्थ महसूस करते हैं। ऐसी स्थति में आप कार्य में अपनी पूरी भागीदारी नहीं दे पाते हैं। कहीं ऐसे चिकित्स्कीय समस्याओं का सामना हर व्यक्ति को करना पड़ जाता है जिसके लिए उससे अपने कर्यालय या स्कूल से अवकाश लेना पड़ जाता है। ऐसी स्थिति में आप अपने कार्यालय या स्कूल कॉलेज से मेडिकल लीव ले सकते हैं।

किसी कार्यालय के कर्मचारी या किसी स्कूल ,कॉलेज के बच्चों की अचानक तबियत बिगाड़ जाती है जिस वजह से वे अपने स्कूल या कॉलेज में उपस्थित नहीं हो पाते हैं ऐसी स्थिति में उनके द्वारा अपनी बीमारी के बारे में अपने स्कूल ,कॉलेज या अपनी कम्पनी के प्रबंधक को सूचित किया जाना आवश्यक हो जाता है। अवकाश के लिए आवेदन मौखिक रूप से नहीं अपितु लिखित रूप से होता है आप इसे ईमेल या किसी पत्र के माध्यम से अवकाश के लिए आवेदन कर सकते हैं। मेडिकल लीव की सहायता से आप बिना किसी संशय के अपना उपचार करा सकते हैं और अपनी देखभाल भी अच्छी तरह से कर सकते हैं ताकि भविष्य में आप अपना कार्य मन लगाकर कर सकें।

आँखों के इलाज के लिए आप अवकाश का आवेदन लिखते समय निम्न टिप्स को फॉलो करें। –

  • अपना अवकाश के लिए आवेदन करते समय ,प्राप्तकर्ता को सम्बोधित और अनुरोध करते हुए विन्रम भाषा का प्रयोग करें।
  • अवकाश आवेदन के लिए सदैव औपचारिक भाषा का प्रयोग किया जाना आवश्यक है।
  • चिकित्स्य अवकाश आवेदन पत्र में मेडिकल रिपोर्ट का होना आवश्यक है।
  • अवकाश आवेदन पत्र में आपके अवकाश की तिथि (कब से कब तक का अवकाश )का स्पष्ट रूप में होना आवश्यक है।
  • कर्मचारी द्वारा आवेदन पत्र में यहाँ स्पष्ट होना आवश्यक है की कर्मचारी अपने कार्यालय किस तिथि में लौटेगा।
  • यदि आप कार्यालय के कोई कर्मचारी हैं तो आवेदन पत्र में यह अवश्य बताएं की आपकी गैर मौजूदगी में आपका कार्य कौन करेगा।
  • आवेदन पत्र में अपने हस्ताक्षर अवश्य करें।

कार्यालय से आंख की सर्जरी के लिए अवकाश हेतु आवेदन पत्र –

श्रीमान संजीव द्विवेदी ,
प्रबंधक टाटा स्टील कंपनी, धनबाद।
विषय -आंख की सर्जरी के लिए अवकाश आवेदन।
महोदय /मान्यवर
श्रीमान विन्रम अनुरोध के साथ मैं यह पत्र लिखकर आपका ध्यान अपनी समस्या की ओर लाना चाहता हूँ की कुछ समय से मेरी दाहिनी आंख में धुंधलापन आ रहा है जिस वजह से पिछले ही दिन मैंने अपने आंख का नजदीकी हॉस्पिटल में चेकअप कराया था डॉक्टर के द्वारा कहा गया है की मुझे मोतियाबिंद की शिकायत है जिसका समय रहते इलाज करना अति आवश्यक है, मुझे दिनांक 2 जनवरी को अपनी आंख का ऑपरेशन करने को कहा गया है। आपसे अनुरोध है की मुझे कम से कम अगले 2 हफ्ते तक का अवकाश देने की कृपा करें। में सदा आपका आभारी रहूँगा।
पत्र के साथ मेरा चिकित्सा प्रमाण पत्र को सलग्न किया गया है। जो इस बात को प्रमाणित करता है की मुझे अवकाश की अति आवश्यकता है। मेरी अनुपस्थिति में मेरे सहकर्मी सूरज द्वारा कार्यभार संभाला जाएगा वह मेरे कार्य से भलीभांति परिचित हैं ।
यदि मेरी अनुपस्थिति में कार्य से सम्बन्धित कोई जानकारी आपको आवश्यक लगे तो आप मुझे मेरे मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी पर सम्पर्क कर सकते हैं।
धन्यवाद !
आपका विश्वासी
नाम
मोबाइल नंबर

Leave Application To School for Going Out of Station

कई बार स्कूल से अवकाश आवेदन के लिए हम सभी ने पप्रार्थना पत्र होगा। हम सभी ने अपने विद्यार्थी जीवन में कभी न कभी किसी कारणवश अपने स्कूल से अवकाश प्राप्ति हेतु आवेदन पत्र लिखा ही होगा। कभी किसी बीमारी की वजह से तो कभी घर पर हो रहे आवश्यक कार्य हेतु या कभी शहर से बाहर घूमने जाने के लिए । स्कूल या कॉलेज के प्रिंसिपल को आवेदन पत्र लिखते समय इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • सबसे पहले आपको “सेवा में” शब्द प्रयोग करना चाहिए।
  • स्कूल के प्रिंसिपल को सम्बोधन शब्द से सम्बोधित करना होगा जैसे –श्रीमान/श्रीमती प्रधानाचार्य जी
  • अपने कॉलेज का नाम
  • अवकाश प्राप्ति का विषय
  • महोदय/महोदया शब्द का प्रयोग
  • अवकाश का कारण (जो की कम शब्दों में कहा गया हो )
  • समापन शब्द धन्यवाद ,सधन्यवाद
  • आपका नाम
  • आपकी क्लास
  • आपका रोल नंबर
  • दिनांक

शहर से बाहर जाने के लिए अवकाश आवेदन इस प्रकार से है

सेवा में ,
श्रीमान प्रधानाचार्य जी ,
श्री गुरु रामराय पब्लिक स्कूल देहरादून
विषय -शहर से बाहर जाने के लिए आवेदन।
श्रीमान महोदय ,
इस पत्र के माध्यम से मैं आपको सूचित करना चाहता हूँ की मैं सुमित सिंह आपके विद्यालय के कक्षा 12 बी’ वर्ग का विद्यार्थी हूँ। प्रार्थी को अपने परिवार के साथ कुछ वक्त पर्यटन करते हुए बिताना है। अतः प्रार्थी पर्यटन के लिए शहर से कुछ दिन बाहर रहेगा अतः प्रार्थी को 2 हफ्ते दिनांक 2 फरवरी से 15 फरवरी तक का अवकाश प्राप्त करने की कृपा करें। मैं आपका सदैव आभारी रहूँगा।
धन्यवाद !
आपका आज्ञाकारी शिष्य –
नाम
कक्षा
अनुक्रमांक
दिनांक

आवेदन पत्र लिखते समय कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखना आवश्यक है

  • अभिवादन शब्द-आवेदन पत्र लिखते समय आवेदनकर्ता जिस व्यक्ति को आवेदन पत्र लिख रहा हो उसको सम्मानित शब्दों से सम्बोधित करना चाहिए जैसे- सेवा में श्रीमान,आदरणीय, महोदय/महोदय आदि।
  • विन्रम भाषा -आवेदन पत्र में आपको विन्रम और शालीनता पूर्ण भाषा का प्रयोग करना आवश्यक है।
  • सरल शब्द प्रयोग -अपने आवेदन पत्र में सदैव ही सरल वाक्य और सुस्पष्ट भाषा का प्रयोग करें। भाषा ऐसी होनी चाहिए जो अनुचित न लगे अनैतिक शब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • विश्वसनीयता -आपके आवेदन पत्र में विश्वसनीयता का होना आवश्यक है। आपकी कही गयी बातें तथ्यों के अनुरूप हों और बातों में सच्चाई होनी चाहिए।
  • संक्षिप्त वाक्य -अपने आवेदन में आपको जो भी कहना है उसको जितना हो सके उतना संक्षिप्त शब्दों में कहने का प्रयास करें,संक्षिप्त वाक्यों का प्रयोग करें।
  • सम्पूर्णता – अपनी बात को आधा-अधूरा न रखें। अपने अवकाश के कारण को सम्पूर्ण रूप से आवेदन में लिखें।
  • प्रमाणिकता –अपने आवेदन का अनुकूल प्रभाव डालने के लिए यह आवश्यक है की आवेदन करते समय आवेदन पत्र के साथ आवेदन सत्यता का प्रमाण भी आपके द्वारा दिया जाये जैसे यदि आप मेडिकल लीव लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास मेडिकल प्रमाण पत्र का आवेदन पत्र के साथ सलग्न होना आवश्यक है।

Leave a Comment