लॉरेंस बिश्नोई कौन है | Lawrence Bishnoi Biography

Share on:

लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) पंजाब के फाजिल्का(अबोहर) का रहने वाला है। लॉरेंस का जन्म 22 फ़रवरी 1992 में हुआ था। लॉरेंस के पिता पंजाब के पुलिस विभाग में कांस्टेबल के पद पर कार्य कर चुके हैं और माँ पढ़ी-लिखी ग्रहणी हैं। लॉरेंस नाम उसकी माँ ने रखा क्योंकि वह जब पैदा हुआ तो एकदम दूध की तरह सफ़ेद था और लॉरेन्स क्रिश्चियन नाम है जिसका मतलब होता है सफ़ेद चमकने वाला। बचपन से ही वह बहुत ही स्मार्ट और खेल में बहुत रूचि रखता था। घरवालों को ये लगता था कि खेल की दुनिया में यह हमारा नाम कमाएगा पर किसे पता था की बेटा जुर्म की दुनिया में शामिल होकर नाम डुबाएगा। करोड़ों की सम्पति होने पर पिता ने बेटे के बचपन से हर शौक पूरे किए। लॉरेंस बिश्नोई कौन है? कैसे वह इतना बड़ा गैंगस्टर बना ? यह आगे पूरा विस्तार से बताया गया है।

Lawrence Bishnoi
Lawrence Bishnoi

लॉरेंस बिश्नोई की शिक्षा व पहला केस ?

बचपन की पढ़ाई फजिल्का में हुई। उसके बाद कॉलेज की पढ़ाई करने लॉरेंस चंडीगढ़ आया जहाँ उसने डीएवी कॉलेज में अपना दाखिला लिया। जहाँ से उसकी एंट्री जुर्म की दुनिया में होती है। लॉरेंस की पर्सनालिटी अच्छी थी दिखने में वह स्मार्ट था और साथ में पैसे वाला भी था, इसलिए दोस्तों ने उसे चुनाव लड़ने के लिए प्रेरित किया। लॉरेंस ने चुनाव लड़ने के लिए एक संगठन बनाया जिसका नाम स्टूडेंट आर्गेनाइजेशन ऑफ़ पंजाब यूनिवर्सिटी (SOPU) रखा और इसी के बैनर तले उसने छात्र संघ का चुनाव लड़ा। जीतने के लिए उसने बहुत मेहनत की पर वह चुनाव हार गया।

उसे अपनी ये हार बर्दाश नहीं हुई जिसके बाद उसने एक रिवाल्वर खरीद ली और अपनी हार का बदला लेने के लिए चुनाव जितने वाली टीम से लड़ने का इरादा बना लिया। 2011 में लॉरेंस का सामना जब उदय ग्रुप जो की चुनाव में जीती थी उनसे हुआ और दोनों में जब भिड़ंत हुई तो लॉरेंस ने फायरिंग कर दी और मामला पुलिस तक पहुँच गया फिर इसी गुटबाजी के चलते उसपर पहला केस दर्ज हुआ। इसके बाद उसने दूसरे ग्रुप को सबक सिखाने के लिए एक बड़े गैंगस्टर से हाथ मिला लिया। अब तक लॉरेंस पर करीब 50 केस दर्ज है।

लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय

नाम लॉरेंस बिश्नोई
जन्मदिन 22 फरवरी 1992
जन्म स्थान फाजिल्का, पंजाब (भारत)
योग्यता ग्रेजुएट (डीएवी कॉलेज, चंडीगढ़)
नागरिकता भारतीय
पेशा गैंगस्टर
वैवाहिक स्थिति अवैवाहिक

यह भी देखें :- गोल्डी बराड़ कौन है । Goldy Brar Biography In Hindi

लॉरेंस बिश्नोई को जुर्म के पैतरे सिखाने वाला गुरु

लॉरेंस बिश्नोई ने जिस बड़े गैंगस्टर से हाथ मिलाया उसका नाम है जग्गू भगवानपुरी यह एक कुख्यात गैंगस्टर है और कहा जाता है की लॉरेंस का गुरु जग्गू भगवानपुरी है जिसने उसे जुर्म की दुनिया के सारे पैतरे सिखाए। जग्गू पंजाब के भगवानपुर का रहने वाला है और देश के अमीर गैंगस्टर में इसका नाम शुमार है। ये भी तिहाड़ जेल में बंद है। अपने टाइम पर पंजाब की राजनीती और अपराध की दुनिया में जग्गू के नाम से ही कई काम हो जाते थे। कुछ साल पहले यह पकड़ा गया और उसके पास लगभग 2 करोड़ के हथियार बरामद हुए।

लॉरेंस बिश्नोई के पीछे कई सारे गैंस्टर के चेहरे छुपे हुए हैं। पैंसे से पावर कैसे हांसिल की जाती है ये कला उसने जग्गू से सीखी और भी दूसरे गैंस्टर से जुड़कर उसने हथियार के दम से उगाही करने का नेटवर्क पूरे देश में फैला दिया। इसी कारण से वह आज जेल में रहते हुए भी देश में अपने फैले हुए नेटवर्क के दम पर गुंडागर्दी कर पा रहा है। कई शहरों में उसके शार्प शूटर तैनात रहते हैं जो बस इशारा होने पर काम को अंजाम दे देते हैं। जेल में रहते हुए भी वह बड़े-बड़े कामों को अंजाम दे रहा है जितना की वह बाहर रहकर करता था।

लॉरेंस बिश्नोई जेल से कैसे चलाता है नेटवर्क ?

जेल में रहकर भी लॉरेंस के अपराध करने में कमी नहीं आई है। अपने एक इशारे से ही वह बड़े किसी कारोबारी या किसी बाद नेता की हत्या करवा देता है। उसने जेल में रहकर 2017 में सीकर के पूर्व सरपंच सरदार राव की हत्या करवाई। जिसमें उसने अपने सूटर रविंदर काली को भेजा जो कि मोहाली का है। उसके बाद लॉरेंस ने जोधपुर में अपना दबदबा बनाने के लिए कारोबारी वासुदेव इसरानी की हत्या करवा दी। जिसके बाद राजस्थान में भी उसका खौफ बन गया। फिल्मों में जेल से गैंग ऑपरेट करते आपने गैंगस्टरों को तो देखा ही होगा लेकिन लॉरेंस रियल लाइफ में ये काम कर रहा है।

लॉरेंस न सिर्फ देखने का स्मार्ट गैंगस्टर है बल्कि वह जेल में रहकर स्मार्ट तरीके से फोन चलने में भी माहिर है। उसके इरादे बहुत तेज-तर्रार हैं। 2015 में पंजाब पुलिस उसे कोर्ट में पेशी के लिए ले जा रही इसी दौरान वह भाग गया। सुनने में आता है की वह भागकर नेपाल चला गया और वहां से आधुनिक हथियार लेकर लौटा। उसके तुरंत बाद पुलिस ने उसे फिर से पकड़ लिया। भले ही वह पुलिस की गिरफ्त में क्यों न हो पर उसे गैंग को चलाने और क़त्ल करने से कोई रोक नहीं सकता। वो फोन से ही सारी चीज़ों को अनजान देता है। व्हाट्सअप के जरिए सुपारी लेता है। जेल में जिम करता है जिसकी फोटो फेसबुक पर अपलोड करता है।

अभिनेता सलमान खान और लॉरेंस का विवाद

सलमान खान को जान से मरने की धमकी भी दे चूका है लॉरेंस बिश्नोई। काले हिरण मामले में सलमान खान पर चल रहे केस के चलते लॉरेंस ने यह धमकी दी थी। क्योंकि राजस्थान के बिश्नोई समाज में काले हिरण की पूजा की जाती है। सलमान खान के खिलाप केस यही बिश्नोई समाज लड़ रहा है और लॉरेंस भी इसी समाज से है। तभी उसने सलमान की हत्या करने की साजिश की। उसने अपने कुख्यात सम्पत नेहरा को इसकी जिम्मेदारी दी। सम्पत ने मुंबई में सलमान के घर की जासूसी करना शुरू कर दिया और फिल्म रेड्डी की शूटिंग के दौरान अपने काम को अंजाम देने का प्लान बनाया पर ये लोग इसमें असफल रहे और सम्पत नेहरा पकड़ा गया। अगर पकड़ा नहीं जाता तो ये लोग सलमान पर फिर से हमला करते।

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल लॉरेंस बिश्नोई

सिद्धू मूसेवाला की पंजाब के मानसा जिले में 29 मई 2022 को गोली मारकर हत्या कर दी गई है। जो की एक मशहूर पंजाबी गायक और काँग्रेसी राजनेता थे। फायरिंग में सिद्धू मूसेवाला के साथ 2 लोग भी घायल हुए हैं। घटनास्थल में तीन AK-94 की गोलियां मिली हैं। हमलावरों ने सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी पर 30 राउंड की फायरिंग की जिसमे से 10 गोली मूसेवाला पर लगी और उनकी मोके पर मौत हो गई। इस घटना के कुछ घंटे बाद लॉरेंस और उसके गुर्गे गोल्डी बरार (जो की कनाडा में रहता है) ने फेसबुक पोस्ट में इस हत्या की जिम्मेदारी ली। जिसमे उन्होंने कहा की “आज सिद्धू मूसेवाला का क़त्ल हुआ है, उसकी जिम्मेदारी मैं हुए मेरा भाई गोल्डी बरार लेता है, लोग हमे जो भी कहें लेकिन इसने हमारे भाई विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या में मदद की थी और अब हमने अपने भाई का बदला ले लिया है मैंने इसे जयपुर से कॉल करके कहा था कि तुम गलत किया है, इसने मुझे कहा कि मैं किसी की परवाह नहीं करता। तुम जो कर सकते हो करलो मैं भी हथियार लोड करके रखता हूँ और आज हमने अपने भाई विक्की की मौत का बदला ले लिया है। ये तो अभी शुरुआत है, जो भी इस क़त्ल में शामिल थे, वे तैयार रहें। आज हमने सबके भ्रम दूर कर दिए। जय बलकारी…

लॉरेंस बिश्नोई कौन है ?

लॉरेंस बिश्नोई पंजाब का एक कुख्यात गैंगस्टर है।

लॉरेंस बिश्नोई कहाँ है ?

लॉरेंस बिश्नोई राजस्थान की जेल में बंद है और वहीं से अपनी गैंग को ऑपरेट करता है गैंग में लगभग 700 शार्प सूटर हैं जो विदेशों में भी मौजूद है जैसे कनाडा।

लॉरेंस बिश्नोई की उम्र कितनी है ?

लॉरेंस बिश्नोई की उम्र अभी 30 साल है। उसका जन्म 22 फ़रवरी 1992 को हुआ था।

सिद्धू मूसेवाला की हत्या किसने की ?

सिद्धू मूसेवाला के हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई ने ली है।

लॉरेंस बिश्नोई कहाँ का रहने वाला है ?

लॉरेंस बिश्नोई फाल्जिया पंजाब का रहने वाला है।

लॉरेंस बिश्नोई पर अभी तक कितने केस हैं ?

लॉरेंस बिश्नोई पर अभी से 50 से अधिक केस फाइल हो चुके हैं।

गोल्डी बरार कौन है ?

गोल्डी बरार, लॉरेंस बिश्नोई का गुर्गा है जो कि कनाडा में है।

ऐसे ही अन्य लेखों को पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट Hindi NVSHQ से जुड़ सकते हैं।

Photo of author

Leave a Comment

Join Telegram