सीरम इंस्टीट्यूट पर कोविशील्ड के साइड इफेक्ट को लेकर मुकदमा, पीड़िता के परिवार का आरोप – वैक्सीन “सुरक्षित और प्रभावी” नहीं थी!

AstraZeneca ने स्वीकार किया है कि उसकी वैक्सीन Covishield से TTS नामक एक गंभीर बीमारी हो सकती है।

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

सीरम इंस्टीट्यूट पर कोविशील्ड के साइड इफेक्ट को लेकर मुकदमा, पीड़िता के परिवार का आरोप - वैक्सीन "सुरक्षित और प्रभावी" नहीं थी!

नई दिल्ली: एस्ट्राजेनेका की कोविड-19 वैक्सीन, जिसे भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा कोविशील्ड के नाम से बनाया गया है, पर मुकदमा दायर किया गया है। यह मुकदमा एक महिला के परिवार द्वारा दायर किया गया है जिनकी कथित तौर पर वैक्सीन लेने के बाद मृत्यु हो गई थी। परिवार का आरोप है कि वैक्सीन “सुरक्षित और प्रभावी” नहीं थी और इसने गंभीर दुष्प्रभाव (covid vaccine covishield side effects) पैदा किए।

मुकदमे के मुख्य बिंदु:

  • आरोप: मृतक महिला के परिवार का आरोप है कि उनकी बेटी की मृत्यु कोविशील्ड वैक्सीन के कारण हुई थी। उनका दावा है कि वैक्सीन “safe and effective” होने के दावे गलत थे और इसने गंभीर दुष्प्रभाव पैदा किए।
  • मांग: परिवार ने एसआईआई से मुआवजे की मांग की है और साथ ही यह भी मांग की है कि वैक्सीन के संभावित खतरों के बारे में लोगों को अधिक जागरूक किया जाए।
  • एस्ट्राजेनेका का कबूलनामा: AstraZeneca ने स्वीकार किया है कि उनकी वैक्सीन दुर्लभ मामलों में गंभीर रक्त के थक्के से जुड़े दुष्प्रभाव पैदा कर सकती है।
  • भारत में कोविशील्ड: कोविशील्ड भारत में सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले कोविड-19 टीकों में से एक है। इसका उपयोग 90% से अधिक आबादी के टीकाकरण के लिए किया गया है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह केवल एक कानूनी मामला है और अभी तक कोई फैसला नहीं सुनाया गया है। एसआईआई ने अभी तक इन आरोपों पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

यह मामला महत्वपूर्ण क्यों है:

यह मामला भारत में वैक्सीन सुरक्षा और नियामक प्रक्रियाओं पर सवाल उठाता है। यह उन लोगों के लिए भी चिंता का विषय है जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन लिया है।

क्या करें:

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यदि आपने कोविशील्ड वैक्सीन लिया है और आपको कोई गंभीर दुष्प्रभाव अनुभव होता है, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें। आप किसी भी प्रतिकूल घटना की रिपोर्ट करने के लिए भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) को भी सूचित कर सकते हैं।

Covid vaccine Covishield side Effects क्या हैं?

कोविशील्ड, जिसे एस्ट्राज़ेनेका द्वारा विकसित किया गया है और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित किया गया है, यह वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले COVID-19 टीकों में से एक है। अधिकांश दवाओं और टीकों की तरह, कोविशील्ड दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है। ये आमतौर पर हल्के और अल्पकालिक होते हैं।

कोविशील्ड वैक्सीन के Common side effects

  • इंजेक्शन स्थल पर दर्द या कोमलता
  • सिरदर्द
  • थकान
  • मांसपेशियों में दर्द
  • ठंड लगना
  • बुखार
  • मतली या उल्टी
  • अस्वस्थता (सामान्य असुविधा महसूस होना)
  • चक्कर आना
  • उनींदापन

ये दुष्प्रभाव आमतौर पर एक या दो दिनों के भीतर अपने आप ठीक हो जाते हैं। आप इन दुष्प्रभावों को ओवर-द-काउंटर दर्द निवारक जैसे पेरासिटामोल (एसीटामिनोफेन) या इबुप्रोफेन से प्रबंधित कर सकते हैं।

कोविशील्ड वैक्सीन के गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं?

  • कम प्लेटलेट्स के साथ रक्त के थक्के (थ्रोम्बोसिस विद थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम, टीटीएस)
  • एलर्जी

ब्रिटेन में AstraZeneca COVID-19 वैक्सीन और थ्रोम्बोसिस विद थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम (TTS)

ब्रिटेन की दवा कंपनी AstraZeneca ने स्वीकार किया है कि उसकी COVID-19 वैक्सीन, Covishield, दुर्लभ मामलों में थ्रोम्बोसिस विद थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम (TTS) नामक एक गंभीर रक्त विकार का कारण बन सकती है। TTS एक ऐसी स्थिति है जिसमें रक्त के थक्के बन जाते हैं और प्लेटलेट की संख्या कम हो जाती है। यह स्थिति रक्त के थक्कों, स्ट्रोक और हृदय गति रुकने का खतरा बढ़ा सकती है।AstraZeneca का कहना है कि TTS का खतरा बहुत कम है, लेकिन उन्होंने स्वीकार किया है कि यह एक संभावित जोखिम है।

यदि आप कोविशील्ड वैक्सीन लगने के बाद निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण अनुभव करते हैं, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें:

  • गंभीर सिरदर्द जो समय के साथ बिगड़ता जाता है
  • धुंधली दृष्टि
  • दौरे
  • सांस लेने में तकलीफ
  • सीने में दर्द
  • पैर में सूजन
  • लगातार पेट दर्द

कोविशील्ड के दुष्प्रभावों के बारे में ध्यान रखने योग्य कुछ अतिरिक्त बातें:

  • टीके की दूसरी खुराक के बाद दुष्प्रभावों का खतरा आमतौर पर अधिक होता है।
  • गंभीर दुष्प्रभाव अत्यंत दुर्लभ हैं।
  • COVID-19 के खिलाफ टीकाकरण कराने के लाभ दुष्प्रभावों के जोखिम से कहीं अधिक हैं।
Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें