नरेगा मेट कैसे बने – Narega Met Kaise Bane Form Apply | नरेगा मेट क्या है | नरेगा में मेट का क्या काम है

नरेगा मेट कैसे बने: नरेगा मेट एक पद है जो महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम योजना के अंतर्गत आता है। मनरेगा योजना केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2005 में ग्राम- विकास को ध्यान में रख कर शुरू की गयी थी। ग्रामीण विकास के लिए देश में विभिन्न योजनाएं चलायी गयी हैं। इन सभी योजनाओं के ... Read more

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

नरेगा मेट कैसे बने: नरेगा मेट एक पद है जो महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम योजना के अंतर्गत आता है। मनरेगा योजना केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2005 में ग्राम- विकास को ध्यान में रख कर शुरू की गयी थी। ग्रामीण विकास के लिए देश में विभिन्न योजनाएं चलायी गयी हैं। इन सभी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए अलग अलग स्तर पर अनेक व्यक्तियों की आवश्यकता होती है। इन्ही लोगों के माध्यम से इन योजनाओं को मूर्त रूप दिया जाता है। ऐसे ही मनरेगा योजना के तहत सुपरविजन या निरिक्षण के लिए ये भी एक पद है। इसमें नरेगा मेट (Narega Met) को स्वयं मजदूरी नहीं करनी होती बल्कि मनरेगा के तहत कार्य करने वाले मजदूरों से सम्बंधित रिकार्ड्स रखने होते हैं।

यहाँ जानिये नरेगा मेट - Narega Met कैसे बने
नरेगा मेट कैसे बने – Narega Met Kaise Bane Form Apply

यहाँ अपने इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको नरेगा मेट कैसे बने (Nrega Met Kese Bane) से सम्बंधित अन्य सभी जानकारियां विस्तार से देंगे। अगर आप भी इसके लिए आवेदन करने के इच्छुक हैं तो कृपया जानकारी के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें। इस लेख के माध्यम से आप इस पद के लिए आवेदन हेतु पात्रता शर्तें व दस्तावेज़ों के बारे में जान सकते हैं। इसके अलावा इस पद पर रहते हुए किये जाने वाले कार्यों के बारे में भी इस लेख में जानकारी दी जा रही है।

नरेगा मेट क्या है?

जैसा की सभी जानते हैं की महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम योजना के तहत सभी ग्रामीण श्रमिकों को नौकरी प्रदान की जाती है। योजना के तहत सभी को 100 दिनों के रोजगार की गारंटी मिलती है। नरेगा मेट, जो कि इस योजना अंतर्गत एक पद है , के माध्यम से ग्रामीण स्तरों पर इस योजना का क्रियान्वयन किया जाता है। हर नरेगा मेट के अधीन लगभग 40 श्रमिक कार्य करते हैं। नरेगा मेट या सुपरवाइजर का काम बहुत महत्वपूर्ण होता है। अपने अंतर्गत कार्य कर रहे सभी श्रमिकों का कार्य आवंटन से लेकर निरीक्षण, उनके लिए आवश्यक सुविधा की व्यवस्था करने आदि की ज़िम्मेदारी भी सुपरवाइजर की ही होती है। इसके अतिरिक्त अन्य सभी महत्वपूर्ण सम्बंधित जानकारियों का रिकॉर्ड / विवरण या लेखा जोखा नरेगा मेट द्वारा ही किया जाता है। पद की वेतन राशि 250 रुपए प्रतिदिन है। ये राशि विभिन्न स्थानों में थोड़ी बहुत अलग भी हो सकती है।

यह भी देखें :- नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

नरेगा मेट पद के लाभ

  • नरेगा मेट बनने के लिए आपको किसी भी प्रकार की परीक्षा या इंटरव्यू देने की आवश्यकता नहीं होती।
  • इस पद हेतु चुनाव आवेदक द्वारा आवेदन पत्र में दी गयी जानकारी व पात्रता के आधार पर होगा ।
  • नरेगा मेट को स्वयं कोई मजदूरी (शारीरिक) नहीं करनी होती और सिर्फ अपने अधीन मजदूरों की निगरानी करनी होती है और इस सम्बन्ध में रिकार्ड्स तैयार करने होते हैं ।
  • इसमें बेसिक शैक्षिक योग्यता रखने वाले व्यक्ति भी आराम से आवेदन कर सकते हैं।
  • ये नौकरी आवेदकों को अपने ही ग्रामीण क्षेत्रों में मिल जाएगी।

नरेगा में मेट का क्या कार्य है ?

नरेगा मेट के द्वारा किये जाने वाले कार्यों के बारे में हम आगे बताने जा रहे हैं।

  • नरेगा मेट का कार्य उसके अधीन कार्यरत सभी मज़दूरों की निगरानी करना है। साथ ही इस से सम्बंधित अन्य सभी जानकारियों को रिकॉर्ड करना या अभिलेख (विवरण) तैयार करना है।
  • प्रतिदिन लगने वाली मजदूरों की हाजिरी तथा निर्धारित समय पर काम पर लगाना भी सुपरवाइजर द्वारा ही की जाती है।
  • किस दिन मजदूर कौन से काम करेंगे ये नरेगा मेट द्वारा ही तय किया जाएगा। दूसरे शब्दों में मजदूरों को कार्य का आवंटन करना नरेगा मेट की ज़िम्मेदारी है।
  • नरेगा मेट द्वारा 5 -5 व्यक्तियों/ मजदूरों का समूह बनाकर उनके कार्य आवंटित किया जाता है। 5 का समूह न बनने पर अपनी समझ से कार्य आवंटित कर देता है।
  • सभी मजदूरों द्वारा किये जाने वाले काम का निरीक्षण करना। जरूरत पड़ने में काम को बेहतर ढंग से करने के लिए उनकी सहायता करना।
  • दिन के अंत में मजदूरों द्वारा किये गए काम की मात्रा और विवरण लिखना। साथ ही सभी के हस्ताक्षर लेना।
  • नरेगा मेट इस बात को भी सुनिश्चित करेगा कि मजदूर अपना जॉब कार्ड अनिवार्य रूप से लाएं अन्यथा उन्हें काम नहीं मिलेगा।
  • मेट / सुपरवाइजर का ये काम भी होगा की वो ध्यान रखे कि किसी भी मजदूर को 100 दिनों से ज्यादा या उस से कम कार्य न मिले।
  • सभी श्रमिकों को कार्य स्थल की जानकारी देना। साथ ही उस समय चल रही न्यूनतम मजदूरी दर के बारे में भी जानकारी देना।
  • इस बात को सुनिश्चित करना की समूह में कोई भी श्रमिक खाली न बैठे रहे।
  • जो श्रमिक अनपढ़ हैं उन्हें मजदूरी की गणना करने व हस्ताक्षर करने में सहायता करना।
  • मजदूरों के लिए कार्य स्थल पर पीने के पानी की व्यवस्था करना।
  • कार्यस्थल पर फर्स्ट ऐड बॉक्स की व्यवस्था करना ताकि आवश्यकता पड़ने पर मजदूरों की प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध हो सके।
  • हर कार्य स्थल पर एक पक्का सूचना पट लगाना। जिसमें कार्य से सम्बंधित सभी आवश्यक जानकारी होती है।
  • अगर कोई मजदूर किसी भी प्रकार की कोई शिकायत करता है तो उसे लिखकर उस पर अविलम्ब कार्य करे।

यह भी पढ़ें : नरेगा पेमेंट लिस्ट ऑनलाइन चेक कैसे करें

SWAYAM Registration: स्वयं नि:शुल्क पाठ्यक्रम पंजीकरण कैसे करें

SWAYAM Registration: स्वयं निशुल्क पाठ्यक्रम पंजीकरण कैसे करें

आवश्यक दस्तावेज़

अगर आप इस पद पर आवेदन करने की सभी पात्रता शर्तें पूरी करते हैं तो आपको आवेदन पूर्व सभी आवश्यक दस्तावेज़ तैयार कर लेने चाहिए। यहाँ हम आवेदन के लिए जरूरत पड़ने वाले सभी आवश्यक दस्तावेज़ों की सूची दे रहे हैं। आप आवेदन करने से पहले एक बार इस सूची के माध्यम से अपने दस्तावेज़ों को जांच लें।

  • आवेदन करने के लिए आप को जॉब कार्ड की आवश्यकता होगी। अगर आपके पास अभी तक जॉब कार्ड नहीं है तो शीघ्र ही बनवा लें।
  • आप के पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड आवश्यक है।
  • आपकी शैक्षिक योग्यता का प्रमाण। इसके लिए आप 8 वीं पास (या उस से अधिक) की मार्कशीट की प्रति लगा सकते हैं।
  • आवेदक की बैंक खाता संख्या। आवेदक का स्वयं का बैंक खाता होना चाहिए। अगर नहीं है तो कृपया बैंक में खाता खुलवा लें।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति की पासपोर्ट साइज फोटो
पात्रता शर्तें

अगर आप भी नरेगा मेट पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आप को कुछ पात्रता शर्तें पूरी करनी होंगी। इस पद पर आवेदन करने के लिए कुछ पात्रता शर्तें नियत की गयी हैं। जिनके बारे में हम आगे इस आर्टिकल में बताने जा रहे हैं। कृपया इन शर्तों को जानने के लिए आगे पढ़ते रहे।

  • आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • इस पद के लिए बेसिक शिक्षा प्राप्त व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं। अर्थात अगर आवेदक 8 वीं पास या उस से अधिक है तो इस पद के लिए आवेदन कर सकता है।
  • सबसे आवश्यक शर्त ये है की नरेगा मेट बनने के लिए आवेदक का ग्रामीण क्षेत्र (गाँव) से ही सम्बंधित होना आवश्यक है। कोई शहरी व्यक्ति इस पद हेतु आवेदन नहीं कर सकता।
  • नरेगा मेट के लिए आवेदन करने हेतु आवेदनकर्ता के पास जॉब कार्ड होना आवश्यक है।
  • अगर किसी व्यक्ति के पास पहले से ही कोई नौकरी है तो वो इस नरेगा मेट के पद के लिए आवेदन करने का पात्र नहीं होगा।

नरेगा मेट हेतु आवेदन की प्रक्रिया

अगर आप भी नरेगा मेट के पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आप इस आर्टिकल के माध्यम से इसकी प्रक्रिया जान सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें की इस पद के आवेदन के लिए आपको अभी ऑफलाइन माध्यम ही अपनाना होगा। इसके लिए अभी ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध नहीं है। आगे हम ऑफलाइन माध्यम से आवेदन की प्रक्रिया बता रहे हैं। इसे पढ़कर आप आसानी से नरेगा मेट के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको आवेदन पत्र की आवश्यकता होगी।
  • ये आवेदन पत्र आपको ग्राम पंचायत से प्राप्त हो जाएगा।
  • इसके लिए आपको पंचायत में अधिकारी या ग्राम सेवक से संपर्क करना होगा और उनसे आवेदन पत्र ले सकते हैं।
  • अब आपको इस आवेदन पत्र में पूछी गयी सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक सही से भरना होगा।
  • जब आप फॉर्म को पूरी तरह से भर चुके हों तो आपको ऊपर बताये गए सभी आवश्यक दस्तावेज़ों को इसी आवेदन पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद आप अपने आवेदन पत्र को वहीँ सम्बंधित अधिकारी के पास जमा कर दें।
  • अब आपको वो 40 मजदूर जो आपके अधीन कार्य करेंगे, उनके नामों की सूची तैयार करनी होगी और उनके जॉब कार्ड से सम्बंधित जानकारी भी दर्ज़ करनी होगी।
  • इसके बाद ये सभी जानकारी आप को अपने ग्राम पंचायत में जमा करनी होगी।
  • आपके द्वारा उपलब्ध कराई गयी सभी जानकारी व दस्तावेज़ के आधार पर अगर आपका आवेदन स्वीकार किया जाता है तो नरेगा मेट के तौर पर अपना कार्य शुरू कर सकते हैं।

नरेगा मेट कैसे बने से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

नरेगा मेट क्या है ?

नरेगा मेट एक पद है जो महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम योजना के अंतर्गत आता है। ये पद सुपरविजन या निरिक्षण के लिए है। इसमें नरेगा मेट को स्वयं मजदूरी नहीं करनी होती बल्कि मनरेगा के तहत कार्य करने वाले मजदूरों से सम्बंधित रिकार्ड्स रखने होते हैं।

नरेगा मेट के लिए आवेदन की क्या पात्रता शर्तें होती हैं?

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।
इस पद के लिए बेसिक शिक्षा प्राप्त व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं। अर्थात अगर आवेदक 8 वीं पास या उस से अधिक है तो इस पद के लिए आवेदन कर सकता है।
सबसे आवश्यक शर्त ये है की नरेगा मेट बनने के लिए आवेदक का ग्रामीण क्षेत्र (गाँव ) से ही सम्बंधित होना आवश्यक है। कोई शहरी व्यक्ति इस पद हेतु आवेदन नहीं कर सकता।
नरेगा मेट के लिए आवेदन करने हेतु आवेदनकर्ता के पास जॉब कार्ड होना आवश्यक है।
अगर किसी व्यक्ति के पास पहले से ही कोई नौकरी है तो वो इस नरेगा मेट के पद के लिए आवेदन करने का पात्र नहीं होगा।

इस पद के लिए किन- किन दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है?

आवेदन करने के लिए आप को जॉब कार्ड की आवश्यकता होगी।
आप के पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड आवश्यक है।
आपकी शैक्षिक योग्यता का प्रमाण। इसके लिए आप 8 वीं पास (या उस से अधिक) की मार्कशीट की प्रति लगा सकते हैं।
आवेदक की बैंक खाता संख्या
आवेदन करने वाले व्यक्ति की पासपोर्ट साइज फोटो

नरेगा मेट के क्या कार्य होते हैं ?

नरेगा मेट का कार्य उसके अधीन कार्यरत सभी मज़दूरों की निगरानी करना है। साथ ही इस से सम्बंधित अन्य सभी जानकारियों को रिकॉर्ड करना या अभिलेख (विवरण ) तैयार करना है।
जो श्रमिक अनपढ़ हैं उन्हें मजदूरी की गणना करने व हस्ताक्षर करने में सहायता करना।
मजदूरों के लिए कार्यस्थल पर पीने के पानी की व्यवस्था करना।
कार्यस्थल पर फर्स्ट ऐड बॉक्स की व्यवस्था करना ताकि आवश्यकता पड़ने पर मजदूरों की प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध हो सके।
अधिक जानने के लिए कृपया आर्टिकल को पूरा पढ़ें

नरेगा मेट की वेतन राशि कितनी है ?

नरेगा मेट की वेतन राशि कम से कम 250 रुपए प्रतिदिन है। ये वेतन राशि अलग-अलग स्थानों पर अलग भी हो सकती है।

इस पद के लिए आवेदन की क्या प्रक्रिया है?

इस पद पर आवेदन करने के लिए आपको ग्राम पंचायत से आवेदन पत्र लेना होगा और सभी आवश्यक दस्तावेज़ों को साथ में संलग्न करना होगा। फॉर्म को पूरा भरने के बाद आप उसे वहीं सम्बंधित अधिकारी के पास अपना फॉर्म सबमिट कर दें।

नरेगा मेट बनने के लाभ?

नरेगा मेट बनने के लिए आपको किसी भी प्रकार की परीक्षा या इंटरव्यू देने की आवश्यकता नहीं होती।
इस पद हेतु चुनाव आवेदक द्वारा आवेदन पत्र में दी गयी जानकारी व पात्रता के आधार पर होगा ।
नरेगा मेट को स्वयं कोई मजदूरी (शारीरिक) नहीं करनी होती और सिर्फ अपने अधीन मजदूरों की निगरानी करनी होती है और इस सम्बन्ध में रिकार्ड्स तैयार करने होते हैं ।
अधिक जानकारी के लिए हमारे आर्टिकल को पढ़ सकते हैं।

आधिकारिक वेबसाइट जो इस सम्बन्ध में जानकारी दे सके ?

नरेगा योजना से जुडी आधिकारिक वेबसाइट nrega.nic.in है जिस पर जाकर आप इस योजना से संबंधित सभी जानकारी देख सकते हैं ।

आज आप ने नरेगा मेट कैसे बने से सम्बंधित जानकारी पढ़ी। उम्मीद है आप को ये जानकारी उपयोगी लगी होगी। यदि आप ऐसे ही अन्य लेखों को पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट Hindi NVSHQ से जुड़ सकते हैं।

ई-श्रम कार्ड कैसे डाउनलोड करें | Download e shram Card Online @eshram.gov.in

ई-श्रम कार्ड कैसे डाउनलोड करें | Download e shram Card Online @eshram.gov.in

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें