Uttar Pradesh Kaushal Satrang Yojana – (पंजीकरण) यूपी कौशल सतरंग योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

कौशल सतरंग विकास योजना के बारे में जानना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है इस आर्टिकल में हम इस योजना के बारे में आपको बताएंगे की इससे क्या-क्या लाभ है और इसके लिए कैसे आवेदन करना है ?उत्तरप्रदेश कौशल विकास योजना योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 12 मार्च 2020 को शुरु की गयी है। यूपी कौशल सतरंग योजना 2020 का लाभ उन युवाओ व युवतियों को मिलेगा जो बेरोजगार हैं व नौकरी की तलाश में हैं या आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण या जो कम पढ़े लिखे है व किसी कारण से अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए। आज कल बहुत से ऐसे युवा है जो पढ़े लिखे है परन्तु उनके पास नौकरी नहीं है इस योजना के माध्यम से वे रोजगार के लिए आवेदन कर सकते हैं। बढ़ती बेरोजगारी की समस्या का समाधान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने Uttar Pradesh Kaushal Strang Scheme 2021  की शुरुआत की है ये योजना पूरी तरह से बेरोजगारों के लिए समर्पित है। कौशल सतरंग योजना में 12 विभागों को सम्मलित किया गया है इस योजना का लाभ लेने के लिए व इसके लिए आवदेन करने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े। इस आर्टिकल में कौशल विकास सतरंग योजना की सभी स्कीमो के बारे में जानकारी दी गयी है।

यूपी-कौशल-सतरंग-योजना

यूपी कौशल सतरंग योजना 2021:-Uttar Pradesh Kaushal Strang Scheme

उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना युवाओं की बेरोजगारी दूर करने के लिए समर्पित है। इस योजना के तहत रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा जिसमें किसी भी वर्ग के युवा भाग ले सकते हैं। Uttar Pradesh Kaushal Strang Scheme 2021 के माध्यम से 2.37 लाख तक युवाओं का Skill Development करके बेरोजगारी दूर करने का एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। साथ ही जिला सेवायोजन कार्यालयों के माध्यम से मेगा जॉब फेयर का आयोजन किया जायेगा , इस मेले मे किसी भी वर्ग के युवा सम्मलित हो सकते हैं व कौशल विकास योजना मे गांव व शहरों के युवा भाग ले सकते है कौशल सतरंग विकास योजना युवाओ के जीवन के लिए सरकार द्वारा एक बहुत उचित निर्णय है और बेरोजगारी जैसी समस्या जो की हर घर मे किसी न किसी व्यक्ति को इसकी जरूरत है ये योजना उन सभी के लिए बहुत लाभदायक है। इस स्कीम के अन्तर्गत बहुत से योजनाओ को रखा गया है जो बेरोजगारी दूर करने के लिए बनाये गए है इस आर्टिकल मे हम उन सब योजनाओ के बारे में बताएंगे। इस योजना के लिए सरकार पूरा प्रयास कर रही है व 1200 करोड़ रुपये का बजट योजना के लिए सरकार द्वारा जारी किया गया है।

यूपी मनरेगा जॉब कार्ड

Uttar pradesh  Kaushal Satrang Yojana 2021 

योजना का आरम्भ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
योजना का उद्देश्य बेरोजगारी दूर करना
आवेदन ऑनलाइन
लाभार्थी बेरोजगार युवा /युवती
योजना का नाम उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना

कौशल सतरंग योजना के उद्देश्य

कौशल विकास योजना का उद्देश्य नव युवको व युवतियों की बेरोजगारी को दूर करना है बढ़ती जनसंख्या के साथ साथ बेरोजगारी भी बढ़ती जा रही है, सरकार द्वारा ऐसी योजनाएं आरम्भ की गयी है जिससे राज्य के बेरोजगार युवाओ को नौकरी करने का अवसर व बढ़ती जनसंख्या के साथ-साथ हर घर में एक न एक व्यक्ति बेरोजगार है तथा सरकार के प्रयासो द्वारा इच्छुक लाभार्थी इसका लाभ ले सकते हैं। प्रधान मंत्री द्वारा इस योजना के तहत 2022 तक युवाओ को बेरोजगारी मुक्त करवाने का असीम प्रयास है। युवा भविष्य उज्वल करने के लिए इस योजना का आरम्भ किया गया है। इस योजना का उद्देश्य यह है की युवाओ/युवतियों को नौकरी ढूंढ़ने के लिए शहरो के चक्कर ना काटने पड़े व युवाओ/युवतियों को उनके ही गांव या शहर से बाहर ना जाना पड़े व अपने ही राज्य में नौकरी करने का अवसर मिले।

कौशल सतरंग योजना का उद्देश्य युवाओं को व्यवसायिक एवं कौशल प्रशिक्षण देना है। व्यवसायिक प्रशिक्षण को प्रभावी रूप देने के लिए युवाओं को प्रशिक्षण कॉलेज में प्रशिक्षित किया जायेगा। साथ ही डिस्ट्रिक्ट स्तर पर भी कई कौशल प्रशिक्षण केंद्र खोले जायेंगे। जिससे युवाओ को स्वरोजगार करने में मदद मिले। कौशल विकास मिशन इकाई के युवा उद्यमिता विकास अभियान में वर्ष 2020-21 से इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रशिक्षित युवाओं को अपनी रोजगार शुरू करने में आवश्यक मार्गदर्शन एवं सहायता भी की जाएगी।

सतरंग कौशल विकास योजना के सात घटक
यूपी-कौशल-सतरंग-योजना
  1. मुख्यमंत्री युवा उद्यममिता विकास अभियान (सीएम युवा हब योजना) – युवा हब योजना के अंतर्गत अलग अलग विभागों के द्वारा चलायी जाने वाली स्वरोजगार योजनाओं को एक साथ लाया जायेगा तथा योजना के माध्यम से प्रशिक्षित युवाओं के माध्यम से 30000 स्टार्ट अप इकाइयां खोली जायेंगीं इसके लिए 1200 सौ करोड़ रूपये का बजट भी रखा गया है।
  2. मुख्यमंत्री अप्रेंटिसशिप प्रमोशन योजना – यह योजना कौशल विकास योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय प्रशिक्षुता संवर्धन विकास योजना है, इस योजना के अंतर्गत युवाओं को प्रशिक्षण के दौरान 2500 रूपये भत्ता भी दिया जायेगा जिसमें से 1500 रुपये राष्ट्रीय प्रशिक्षुता संवर्धन योजना (National Apprenticeship Promotion Scheme /NAP) से तथा 1000 रूपये राज्य सरकार की तरफ से दिए जायेगें।
  3. जिला कौशल विकास योजनाजिला कौशल विकास योजना के अंतर्गत जिला स्तर पर डीएम की अध्यक्षता में कार्य करने वाली एक कमेटी का गठन किया जायेगा जो की जिले के बेरोजगारों को योजना से जोड़ेगी तथा युवाओं का पंजीकरण करेगी।
  4. रिकग्निशन ऑफ प्रायर लर्निंग– इस योजना के अंतर्गत पारम्परिक स्वरोजगार करने वाले कारीगरों की स्किल मैपिंग के बाद उन्हें प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा जिससे उनके हुनर को पहचान मिल सके।
  5. तहसील स्तर पर कौशल पखवाड़ा – कौशल विकास योजनाओं को युवाओं तक पहुंचाने के लिए तहसील स्तर पर कौशल पखवाड़ा का आयोजन किया जायेगा जो की एक एलईडी वैन के माध्यम की किया जायेगा।
  6. प्लेसमेंट एजेंसी -सतरंग कौशल विकास योजना के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त युवकों को प्रशिक्षण के बाद रोजगार भी उपलब्ध हो इसके लिए तीन प्लेसमेंट एजेंसीयों के साथ युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए एमओयू गया।
  7. कौशल विकास ट्रेनिंग – युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण देने के लिए आईआईटी कानपुर, आईआईएम लखनऊ के साथ करार किया गया है साथ ही स्वास्थ्य विभाग आरोग्य मित्रों को और पशुपालन विभाग गौ पालकों को प्रशिक्षण देगा।

कौशल सतरंग विकास योजना के फायदे –

इस योजना का लाभ लेने के लिए Uttar Pradesh Kaushal Strang Scheme में बहुत से महत्वपूर्ण बातो के बारे में बताया गया है नीचे दिए गए सूची में उसका विवरण किया गया है।

  1. कौशल विकास योजना सबसे पहले युवाओ की बेरोजगारी दूर होगी।
  2. कौशल विकास योजना के तहत हमें अपने ही राज्य या अपने ही गांव/शहर में नौकरी करने का अवसर प्राप्त होगा।
  3. कौशल विकास योजना का सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है की इसका लाभ हर वर्ग के लोग ले सकते है।
  4. कौशल विकास योजना के अंतर्गत बहुत सी स्कीम आती है।
  5. कौशल विकास योजना को रोजगार मेलों के माध्यम से लोगो तक पहुंचाया जायेगा जिससे इसमें अधिक से अधिक लोग हिस्सेदारी कर सके और ज्यादा से ज्यादा युवाओं को इसका पहुंचे।
  6. कौशल विकास योजना का लाभ यह भी है जो भी लाभार्थी इसके लिए आवेदन करेगा उस युवा को मिलने वाली नौकरी का पैसा उसी व्यक्ति के बैंक खाते में जायेगा।
  7. कौशल विकास योजना के अंतर्गत बेरोजगारी से गुजरने वाले युवाओ को राहत मिलेगी व नौकरी के लिए भटकने की आवश्यकता भी नहीं पड़ेगी।
  8. इस योजना के अंतर्गत आप जहां से कोर्स करेगे वह सेण्टर आपको जॉब प्राप्त करवाएगा।

उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज –

कौशल सतरंग योजना में आवेदन करने के लिए जो सभी आवश्यक डॉक्यूमेंट हैं यहां उनकी पूरी सूची दी गयी है , आवेदन फॉर्म भरने से पहले निम्नलिखित दस्तावेज अपने पास तैयार रखें :-

  • युवाओ के पास आधार कार्ड होना या आधार पंजीकरण संख्या होना अनिवार्य है।
  • आवेदनकर्ता के पास अपना बैंक आकउंट होना अनिवार्य है।
  • जो लाभार्थी इस योजना के अन्तर्गत आवेदन करेंगे उनके पास अपना मोबाइल फ़ोन नंबर होना अनिवार्य है ।
  • आवेदनकर्ता उत्तरप्रदेश का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदन करने के लिए स्थाई निवास प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।
  • लाभार्थी के पास कोई और नौकरी नहीं होनी चाइये अर्थात व्यक्ति बेरोजगारी की श्रेणी मे होना चाहिये।
  • लाभार्थी के पास दो पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिये।
  • दसवीं व बारहवीं की मार्कशीट आवेदन करने के लिए जरुरी है।

उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना ऑनलाइन आवेदन 2021

कौशल सतरंग योजना ऑनलाइन आवेदन करने के लिए अभी यूपी गॉवर्मेँट ने कोई भी वेबसाइट लॉन्च नहीं की है , इस योजना को यूपी सरकार द्वारा शुरू कर दिया गया है लेकिन अभी इसके आवेदन मांगने शुरू नहीं किये हैं जैसे ही फार्म भरना शुरू होगा, आपको हमारी वेबसाइट पर इसकी जानकारी मिल जाएगी व उत्तर प्रदेश कौशल विकास योजना आवेदन से सम्बंधित सारी जानकारी इस आर्टिकल में प्राप्त हो जाएगी।

उत्तर प्रदेश मे कौशल सतरंग विकास योजना की शुरुवात किसने की ?

उत्तर प्रदेश मे कौशल सतरंग विकास योजना की शुरुवात योगी आदित्य नाथ जी ने की।

कौशल सतरंग विकास योजना के लिए उपयोग में लाये जाने वाले दस्तावेज ?

कौशल सतरंग विकास योजना के लिए (आधार कार्ड ,स्थाई निवास प्रमाण पत्र ,बैंक आकउंट ,मोबाइल कॉन्टेक्ट नंबर, दो पासपोर्ट साइज फोटो ) होना आवश्यक है।

कौशल सतरंग विकास योजना का लाभ किसको मिल सकता है?

कौशल सतरंग विकास योजना का लाभ किसी भी वर्ग के लोगो को मिल सकता है जैसे जिन लोगो ने पढाई बीच में ही छोड़ दी या पढ़ाई करने के बाद भी बेरोजगार है उनको भी इसका लाभ मिल सकता है जिनके पास नौकरी नहीं है।

उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग विकास योजना का मुख्य उद्येश्य क्या है ?

कौशल सतरंग योजना का उद्देश्य युवाओं को व्यवसायिक एवं कौशल प्रशिक्षण देना तथा रोजगार उपलब्ध कराना है।

कौशल सतरंग विकास योजना के लाभ कैसे मिल सकता है

Uttar Pradesh Kaushal Satrang Yojana का लाभ लेने के लिए जिला सेवायोजन कार्यालय में सम्पर्क करना होगा।

मेरा नाम रेनू तिवारी है। मैं उत्तराखंड की निवासी हूँ। मुझे लिखना, पढ़ना, और गाना सुनना पसंद है इसलिए में अपनी पढ़ाई के साथ-साथ hindi.nvshq.org की वेबसाइट पर लिखती भी हूँ। इस वेबसाइट पर सरकारी नौकरी, रिजल्ट, योजनाओं की सभी जानकारियां उपलब्ध हैं।

Leave a Comment