Surya Grahan 2023: नए साल में कब और किस समय लगेगा सूर्यग्रहण, यहां जानें सूर्यग्रहण की तिथि व समय

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

Surya Grahan 2023: सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण के बारे में आप ने अवश्य ही सुना होगा। ये दोनों ही खगोलीय घटनाएं हैं, जिसके साथ साथ इन घटनाओं का अपना धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व भी होता है। देश विदेश में इसे बहुत से धारणाओं, विचारों और मतों से जोड़ा जाता है। इसलिए इन घटनाओं के प्रति सभी की उत्सुकता भी बनी रहती है। आज इस लेख में हम आप को इसी बारे में जानकारी देंगे। इस लेख के माध्यम से आप जान सकेंगे कि नए साल में कब और किस समय लगेगा Surya Grahan 2023? सूर्यग्रहण की तिथि व समय के अतिरिक्त आप को इससे जुडी विभिन्न मान्यताओं और मतों के संबंध में भी जानकारी देंगे।

जानिये कब और कहाँ लगेगा Surya Grahan
Surya Grahan

Surya Grahan 2023 / Surya Grahan

वर्ष 2022 का ये आखिरी माह चल रहा है और जल्द ही कुछ दिनों में अब नया साल यानी 2023 शुरू हो जाएगा। इस वर्ष के आखिरी सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण की घटनाएं हो चुकी हैं। अब नए साल के साथ आप सभी को अगले साल होने वाले सूर्य ग्रह और चंद्र ग्रहण के बारे में जानने की उत्सुकता होगी। ऐसे में हम आप को इस लेख के माध्यम से अगले साल पड़ने वाले सूर्य ग्रहण के बारे में जानकारी दे रहे हैं, आप को बता दें कि वर्ष 2023 में पड़ने वाला पहला सूर्य ग्रहण 20 अप्रैल 2023 और दूसरा सूर्य ग्रहण 14 अक्टूबर 2023 को होगा। आइये अब विस्तार से जानते हैं।

2023 में कितने ग्रहण लगेंगे?

वर्ष 2023 में कुल 4 ग्रहण लगेंगे। जिन में से दो सूर्य ग्रहण और बाकी दो चंद्र ग्रहण होंगे। सबसे पहला ग्रहण सूर्य ग्रहण होगा जो कि 20 अप्रैल 2023 को होगा। दूसरा ग्रहण चंद्र ग्रहण है, जो की साल का पहला चंद्र ग्रहण भी है। दूसरा ग्रहण 5 मई 2023 को लगेगा। तीसरा ग्रहण यानी सूर्य ग्रहण जिसे 14 अक्टूबर 2023 शनिवार को देखा जा सकेगा। हालाँकि इनमे से किसी भी ग्रहण को भारत में देखना मुमकिन नही होगा। इसके बाद चौथा ग्रहण चंद्र ग्रह होगा जिसे साल का आखिरी ग्रहण कह सकते हैं। ये 29 अक्टूबर सन 2023 दिन रविवार को लगेगा। जिसे भारत में भी देखा जा सकेगा। आप इसे लेख में आगे विस्तृत रूप से समझ सकते हैं।

पहला सूर्य ग्रहण Surya Grahan

  • साल 2023 में पहला सूर्य ग्रहण गुरुवार, 20 अप्रैल 2023 को लगेगा।
  • समयावधि : हिन्दू पंचांग के अनुसार सूर्य ग्रहण गुरुवार के दिन सुबह 7:04 से दोपहर 12:29 तक लगेगा।
  • ये सूर्य ग्रहण मेष राशि में लगेगा।
  • ध्यान दें कि ये सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इसलिए इसके लिए सूतक काल भी मान्य नहीं होगा।

दूसरा ग्रहण (चंद्र ग्रहण)

साल 2023 में हिन्दू पंचांग की गणनाओं के अनुसार लगने वाला दूसरा ग्रहण चंद्र ग्रहण होगा।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
  • साल का पहला चंद्रग्रहण 5 मई 2023 शुक्रवार के दिन लगेगा।
  • संभावना है कि ये चंद्रग्रहण भी साल के पहले ग्रहण की तरह ही भारत में दिखाई नहीं देगा।
  • इस वर्ष के पहले चंद्रग्रहण के सूतक काल को भी नहीं माना जाएगा।

तीसरा ग्रहण (Surya Grahan)

  • वर्ष 2023 में लगने वाला तीसरा ग्रहण सूर्य ग्रहण होगा। जो कि 14 अक्टूबर 2023 शनिवार के दिन लगेगा।
  • ये साल का दूसरा सूर्य ग्रहण है .
  • माना जा रहा है कि पहले सूर्य ग्रहण के सामान ही ये सूर्य ग्रहण भी भारत में नहीं दिखाई देगा।
  • इसलिए इसका भी सूतक काल भी मान्य नहीं होगा।

चौथा ग्रहण 2023 (चंद्र ग्रहण)

साल 2023 का चौथा और आखिरी ग्रहण चंद्र ग्रहण होगा।

मैं अभी कहाँ पर हूँ? जानिए बस 1 मिनट में कि आप कहाँ पर है?

मैं अभी कहाँ पर हूँ? जानिए बस 1 मिनट में कि आप कहाँ पर है?

  • ये साल का दूसरा चंद्रग्रहण है।
  • ये चन्द्रग्रहण पूर्ण ग्रहण होगा जो कि 29 अक्टूबर सन 2023 रविवार के दिन लगेगा।
  • चंद्र ग्रहण रात में 1:06 से शुरू होकर 2:22 पर समाप्त होगा। इसे भारत में भी देखा जा सकता है।
  • चूंकि इस चंद्रग्रहण को भारत में भी देखा जा सकता है तो इसके लिए सूतक काल भी मान्य होगा।

सूर्य ग्रहण क्या होता है ?

अभी तक हमने जाना कि सूर्य ग्रह कब और कहाँ लगेगा। आइए अब समझते हैं कि सूर्य ग्रह होता क्या है ? सूर्यग्रहण एक खगोलीय घटना है जिसे आप लेख में दी गयी व्याख्या से समझ सकते हैं –

जैसे की आप को जानकारी होगी कि हमारी पृथ्वी सूर्य के चारों ओर अपनी धुरी पर घुमते हुए चक्कर काटती है। उसी प्रकार चन्द्रमा भी हमारी पृथ्वी के चारों ओर चक्कर काटते हुए साथ ही साथ सूर्य की परिक्रमा भी करता है। इसी दौरान जब चन्द्रमा हमारी पृथ्वी और सूर्य के बीच आ जाता है तो चंद्रमा की छाया हमारी पृथ्वी पर पड़ती है जबकि सूर्य की रौशनी चंद्र की वजह से पृथ्वी पर नहीं पहुँचती। ये खगोलीय घटना ही ग्रहण कहलाती है।

सूर्य ग्रहण से जुडी अन्य मान्यताएं

आइये जानते हैं सूर्य ग्रहण से जुडी विभिन्न मान्यताओं के बारे में।

  • इस दौरान खाने पीने की मनाही होती है।
  • ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को सूर्य ग्रहण के दौरान कुछ भी छीलना, काटना नहीं चाहिए। सात्विक भोजन ही लेना चाहिए
  • ग्रहण के दौरान पानी मे कुछ बूंदे तुलसी के या पत्ते डालकर उबालने के बाद ही पीना चाहिए।
  • बीमार, बुज़ुर्ग और बच्चों को इसदौरान उपवास नहीं करना चाहिए।
  • इस दौरान आप मेवे ले सकते हैं जो आप को पूरी एनर्जी प्रदान करेंगे।

सूर्य ग्रहण / Surya Grahan से संबंधित प्रश्न उत्तर

2023 में सूर्य ग्रहण कब होगा?

वर्ष 2023 में लगने वाला पहला सूर्य ग्रहण गुरुवार के दिन 20 अप्रैल 2023 को लगेगा। हिन्दू पंचांग के आधार पर इसकी समयावधि सुबह समय 7 बजकर 4 मिनट से शुरू होकर दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक रहेगा। कृपया ध्यान दें की इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा। ऐसा इसलिए क्यूंकि ये ग्रहण भारत में नज़र नहीं आएगा।

साल 2023 का पहला चंद्र ग्रहण कब है?

हिंदू पंचांग के अनुसार, साल 2023 का पहला चंद्र ग्रहण 5 मई 2023 दिन शुक्रवार को रात 8 बजकर 45 मिनट लगेगा और करीब 1 बजे समाप्त होगा।

2023 में कितने ग्रहण लगेंगे?
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

साल 2023 में कुल 4 ग्रहण लगेंगे। जिनमे से दो सूर्य ग्रहण और 2 चंद्र ग्रहण होंगे। पहला ग्रहण 20 अप्रैल 2023 को लगेगा। साल 2023 का पहला ग्रहण सूर्य ग्रहण है।

पूर्ण सूर्य ग्रहण का अधिकतम समय क्या होता है?

यदि पूर्ण सूर्य ग्रहण लगता है तो इसकी समयावधि 7 मिनट 40 सेकंड की होगी।

अप्रैल 2023 को ग्रहण कहां है?

अप्रैल 2023 के सूर्य ग्रहण की समग्रता उत्तर पश्चिम केप प्रायद्वीप और पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में बैरो द्वीप, पूर्वी तिमोर के पूर्वी भागों, साथ ही डामर द्वीप और इंडोनेशिया में पापुआ प्रांत के कुछ हिस्सों में दिखाई देगी। जानकारी दे दें कि इसे भारत में नहीं देखा जा सकेगा।

आज आप ने इस लेख के माध्यम से Surya Grahan 2023 / सूर्य ग्रहण 2023 के बारे में जानकारी प्राप्त की। उम्मीद है आप को ये जानकारी पसंद आयी होगी। यदि ऐसी ही अन्य उपयोगी जानकारियों को पढ़ने छाते हैं तो आप हमारी वेबसाइट Hindi NVSHQ पर विजिट कर सकते हैं।

पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी कितनी है | Prithvi Se Chandrama Ki Duri Kitni Hai

पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी कितनी है | Prithvi Se Chandrama Ki Duri Kitni Hai

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें