CCTV Full Form in Hindi – सी.सी.टी.वि की पूरी जानकारी हिंदी में

Photo of author

Reported by Dhruv Gotra

Published on

दोस्तों आपने बैंक में, बाज़ार की किसी मॉल की बिल्डिंग के बाहर या पार्किग में, किसी के घर के बाहर यह CCTV कैमरा लगा हुआ देखा होगा जो की किसी स्थान की निगरानी हेतु 24 घंटे होने वाली वीडियो रिकॉर्डिंग हेतु लगाए जाते हैं। जो की सुरक्षा (Security) की दृष्टि से देखा जाए तो काफी उपयोगी डिवाइस है। आये दिन हम न्यूज़ या समाचार चैनलों में पढ़ते और सुनते हैं की किसी बैंक में घुसकर चोरों ने बैंक Robbery की या किसी बड़ी ज्वेलर्स की दूकान में घुसकर लाखों का सामान लूट लिया।

CCTV Full Form in Hindi - सी.सी.टी.वि की पूरी जानकारी हिंदी में

लेकिन हम बात करें CCTV के पहले के समय की तो ऐसी वारदातों में संदिग्ध को पकड़ना मुश्किल होता था पर CCTV आये हैं इस तरह की वारदातों में कुछ कमी आयी है। देखा जाये तो CCTV हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का अभिन्न अंग बन चूका है।

यह भी पढ़े :- GPS क्या होता है? GPS का फुल फॉर्म क्या होता है?

क्या होती है CCTV की फुल फॉर्म ?

दोस्तों CCTV का फुल फॉर्म होता है Closed-circuit television जो की एक कैमरा डिवाइस होती है। यह कैमरा डिवाइस अपने सर्किट बोर्ड में लगे Charge-coupled device सेंसर से चीज़ों की तस्वीर खींचकर हमें डिस्प्ले डिवाइस पर दिखाता है। इसी प्रकार से आप नेविगेशन सिस्टम GPS की फुल फॉर्म और उसके बारे में भी जान सकते हैं।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

CCTV कैसे काम करता है ?

दोस्तों CCTV कैमरा मुख्यतः चार वस्तुओं से मिलकर बना होता है। जिनका इस टेक्नॉलजी में भिन्न-भिन्न कार्य होता है। आइये समझते हैं इस CCTV के काम करने की प्रक्रिया को –

  • Camera Lense: CCTV एक मुख्य भाग है CCTV के कैमरे में लगा लेंस। जब भी किसी व्यक्ति वस्तु का प्रतिबिम्ब कैमरे के लेंस में पड़ता है तो उसकी एक छवि CCTV के सर्किट बोर्ड में लगे सेंसर में पड़ती है। टेक्निकल भाषा में कहें तो कैमरा प्रतिबिम्ब Analog सिगनल सेंसर को भेजता है।
  • Sensor: सेंसर पर पड़ने वाला Analog सिगनल उस प्रतिबिम्ब एक डिजिटल कॉपी बनाकर CCTV के Main सर्किट बोर्ड को भेजता है। हम कह सकते हैं की सेंसर Analog सिग्नल को डिजिटल सिग्नल में परिवर्तित कर देता है।
  • Circuit Board: उपरोक्त प्रक्रिया के बाद सेंसर द्वारा कलेक्ट इनफार्मेशन मेन सर्किट बोर्ड के पास जाती है। यहाँ सर्किट बोर्ड द्वारा तय किया जाता है की सूचना को डिस्प्ले डिवाइस में दिखाना है और स्टोरेज Hard डिस्क में डाटा सेव करना है।
  • Display and Storage Device: दोस्तों CCTV का मुख्य और अंतिम भाग है डिस्प्ले डिवाइस या स्क्रीन जिस पर आप कैमरे द्वारा रिकॉर्ड वीडियो को आसानी से देख सकते हैं। डिस्प्ले के साथ CCTV में वीडियो फुटेज को सेव करने का विकल्प होता है। जो Storage डिवाइस द्वारा हार्ड डिस्क में सेव कर ली जाती हैं।

कितने टाइप के होते हैं CCTV कैमरे ?

दोस्तों आपको बता दें की अपने अलग-अलग उपयोग के आधार पर CCTV कई प्रकार के होते हैं। जिनमें से कुछ टाइप हमने यहाँ बताये हैं –

  • Day/Night CCTV Camera
  • High-Definition CCTV Camera
  • Pan Tilt Zoom (PTZ) Camera
  • Infrared/Night Vision CCTV Camera
  • Network/IP CCTV Camera
  • Wireless CCTV Camera
  • C-Mount Camera
  • Bullet Camera
  • Dome Camera
क्या है CCTV कैमरा का इतिहास ?

दोस्तों आपको बता दें की CCTV कैमरा डिवाइस का इतिहास आज से लगभग 80 साल पुराना है। दोस्तों ये बात है सन 1942 की जब जर्मनी के Peenemunde शहर में Test Stand VII रॉकेट का प्रशिक्षण किया जा रहा था।

रॉकेट के प्रशिक्षण की वीडियो रिकॉर्डिंग हेतु Siemens AG कंपनी के द्वारा पहली बार CCTV को इंस्टॉल किया गया लेकिन दोस्तों इस टेक्नोलॉजी के पीछे जिस इंसान का दिमाग था वह थे जर्मन इंजीनियर Walter Bruch दोस्तों Walter Bruch को ही CCTV टेक्नोलॉजी का आविष्कारक माना जाता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की शुरुआत में CCTV से होने वाली वीडियो रिकॉर्डिंग ब्लैक एंड वाइट हुआ करती थी। लेकिन बाद में होती उन्नत टेक्नोलॉजी के कारण CCTV वीडियो रिकॉर्डिंग कलरफुल (रंगीन) होने लगी जिसने CCTV के अनुभव को और भी वास्तविक बना दिया।

कहाँ होता है CCTV कैमरे का उपयोग एवं फायदे ?

वैसे तो दोस्तों CCTV कैमरे का उपयोग बहुत सारे क्षेत्रों में किया जाता है हम यहां कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्रों के बारे में बता रहे हैं जहाँ CCTV एक अहम भूमिका निभाता है –

यह भी देखें10वीं/12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स - Polytechnic After 10th or 12th

10वीं/12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में जानिये पूरी जानकारी - Polytechnic After 10th or 12th

  1. चोरों से सुरक्षा करने में: आये दिन हम कहीं न कहीं चोरी की घटनाओं के बारे में सुनते ही रहते हैं। लेकिन जहाँ CCTV लगा हो वहां चोरी का खतरा थोड़ा कम होता है। एक सर्वे के मुताबिक़ यह तथ्य सामने आया है की जहाँ भी Security Surveillance के CCTV का उपयोग किया जाता है वहां चोरी की घटनाएं कम हुई हैं।
  2. रोड के ट्रैफिक कंट्रोल में: दोस्तों आज कल की दुनिया में रोड पर वाहनों की इतनी भीड़ बढ़ गयी है की आये दिन हमें सड़क दुर्घटनाएं देखने को मिल जाती हैं। इन सड़क दुर्घटनाओं का सबसे बड़ा कारण हैं लोगों का ठीक तरीके से ट्रैफिक नियमों का पालन ना करना। लोग ट्रैफिक नियमों का पालन सही से करें इसके लिए परिवहन विभाग ने सड़कों पर CCTV लगाएं हैं ताकि ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कड़ाई से नज़र रखी जा सके।
  3. बाज़ार में और मॉल / मल्टीप्लेक्स में: दुकानों को लुटे जाने की खबरें आपने आये दिन अख़बारों में पढ़ी होंगी। लेकिन इन सभी घटनाओं को रोकने के लिए प्रशासन ने कहा है की आप सभी CCTV वीडियो Surveillance का उपयोग करें ताकि ऐसी होने घटनाओं को रोका जा सके।
  4. Face Recognition System: दोस्तों अब CCTV टेक्नोलॉजी अब इतनी एडवांस हो चुकी है की यह लोगों के चेहरे पहचान सकती है। दुनिया के कई बड़े विकसित देशों में Face Recognition टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है। हम देख सकते हैं की चाहे बैंक हो ,एयरपोर्ट हो , रेलवे स्टेशन हो या बस अड्डा ऐसे पब्लिक स्थानों पर Face Recognition सिस्टम का उपयोग होता है ताकि आपराधिक गतिविधि वाले संदिग्ध व्यक्ति को पहचाना जा सके।
  5. आपराधिक घटनाओं को कम करने में: CCTV के लोगों के घरों में लगने से यह देखा गया है की शहरों में होने वाली आपराधिक घटनाओं के ग्राफ में कुछ कमी आयी है। पुलिस द्वारा किसी आपराधिक घटना में सबूत इक्क्ठे करना और अपराधी को पकड़ना आसान हो गया है।

CCTV Full Form FAQs

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

CCTV की फुल फॉर्म क्या है ?

CCTV का फुल फॉर्म Closed-circuit television होती है।

Security Surveillance के लिए कौन CCTV सबसे अच्छा माना जाता है ?

आप Security Surveillance के लिए Infrared/Night Vision CCTV Camera का उपयोग कर सकते हैं जो दिन और रात दोनों समय की बेहतर पिक्चर quality में वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है।

CCTV की खोज कब और किसने की ?

CCTV की खोज 1942 में जर्मन इंजीनियर Walter Bruch ने की थी।

CCTV के रिकॉर्ड की जाने वाली वीडियो कितने फ्रेम प्रति सेकेण्ड से होती है ?

CCTV के रिकॉर्ड की जाने वाली वीडियो 30 फ्रेम प्रति सेकेण्ड के हिसाब से रिकॉर्ड होती है।

यह भी देखेंNRI क्या होता है

NRI क्या होता है? NRI किसे कहते है? जानिए NRI बनने से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें