Delhi to Kedarnath Train Ticket Price – दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं

Photo of author

Reported by Dhruv Gotra

Published on

दोस्तों नमस्कार, दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की चार धाम यात्रा शुरू हो चुकी है, यात्रा शुरू होते ही श्रद्धालु उत्तराखंड केदारनाथ बद्रीनाथ की ओर निकल पड़ते हैं। शिव धाम मंदिरों में से एक प्रसिद्ध शिव धाम हैं केदारनाथ जहाँ हर साल लाखों शिव भक्त श्रद्धालु दर्शन हेतु शिव धाम आते हैं। यदि आप भी केदारनाथ मंदिर दर्शन हेतु जाने का प्लान बना रहे हैं लेकिन समझ नहीं आ रहा हैं की कैसे जाएं तो चिंता की कोई बात नहीं।

Delhi to Kedarnath Train Ticket Price - दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं
Delhi to Kedarnath Train Ticket Price – दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं

दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बताने जा रहे हैं की कैसे और किन मार्गों से आप केदारनाथ धाम जा सकते हैं, केदारनाथ धाम में घूमने लायक दर्शनीय स्थल कौन से हैं? दोस्तों यदि आप भी दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं से संबंधित जानकारी चाहते हैं तो आप आर्टिकल को अंत तक ध्यान से जरूर पढ़ें।

दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएँ

दिल्ली से केदारनाथ आप तीनों मार्ग से जा सकते हैं परन्तु यदि आप ट्रेन से आने की सोच रहे हैं तो आपको हरिद्वार या ऋषिकेश तक ट्रेन से आना होगा। इस आर्टिकल में आगे हम आपको तीनों ही मार्ग से केदारनाथ जाने की जानकारी दे रहे हैं।

दिल्ली से देहरादून तक के लिए बेस्ट फ्लाइट्स डिटेल्स

दोस्तों यदि आप हवाई मार्ग से केदारनाथ धाम मंदिर जाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए सबसे पहले वाया फ्लाइट दिल्ली के इंद्रा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से देहरादून स्थित जॉलीग्रांट एयरपोर्ट हवाई अड्डा आना होगा। यहाँ हम आपको दिल्ली से देहरादून जाने वाली कुछ Best Flights की डिटेल्स आपको दे रहे हैं जो इस प्रकार से हैं –

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

ये रही दिल्ली से देहरादून जाने के लिए कुछ Best Flights की Details :-delhi to dehradun best flights details

हवाई मार्ग से केदारनाथ कैसे जाएं ?

  • जॉलीग्रांट एयरपोर्ट हवाई अड्डा आने के बाद आपको यहाँ से वाया सड़क मार्ग से सिरसी या गुप्तकाशी जाना होगा। यदि आप देहरादून जॉलीग्रांट से सिरसी जाना चाहते हैं तो आपको लगभग 238 किलोमीटर का लंबा सफर तय करना होगा इस सफर को तय करने में लगभग आपको 7 से 8 घंटे समय लग सकता है वहीं यदि आप देहरादून से गुप्तकाशी जाते हैं तो आपको लगभग 218 किलोमीटर लम्बी यात्रा करनी होगी।
  • हेलीकाप्टर या छोटे चार्टर प्राइवेट प्लेन से केदारनाथ जाने हेतु फ्लाइट लेने के लिए आप अपनी जरूरत अनुसार उपरोक्त बतायी जगह में से किसी एक जगह जा सकते हैं। यहां आपको बता दें केदारनाथ जाने के लिए पवन हंस लिमिटेड (Pawan Hans Limited) के द्वारा हेलीसर्विसेस (heliservices) प्रदान की जाती है। केदारनाथ मंदिर जाने हेतु फ्लाइट लेने के लिए आपको पवन हंस लिमिटेड की हेलिसेर्विस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। आगे आर्टिकल में हम आपको रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया बता रहे हैं –

चार धाम यात्रा पंजीकरण कैसे करें

केदारनाथ जाने के लिए Heliservice ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करवाएं ?

हेलिसेर्विस रजिस्ट्रेशन के लिए यहाँ पर बतायी जा रही निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करें –

  • हेलिसेर्विस के लिए आपको सबसे पहले पवन हंस लिमिटेड हेलिसेर्विस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर आने के बाद आपको वेबसाइट के होम पेज पर Registration का लिंक दिखेगा। रजिस्ट्रेशन हेतु लिंक पर क्लिक करें। kedarnath helikopter registration
  • link पर क्लिक करने के बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन से संबंधित पेज ओपन होकर आ जाएगा।
  • अब इस पेज पर अपने मोबाइल नंबर , Nationality , Email आई डी , आदि की जानकारी को भरें। kedarnath heliservice online registration
  • इसके बाद Submit के बटन पर क्लिक करें। बटन पर क्लिक करने के बाद आपको हेलीकॉप्टर की सर्विस की Availability चेक करनी होगी।
  • इसके लिए आपको वेबसाइट पर अपनी यूजर आई डी और पासवर्ड की जानकारी दर्ज कर लॉगिन करना होगा।
  • लॉगिन होने के बाद आपको डिपार्चर डेट और हेलीकॉप्टर लेने की location की जानकारी दर्ज करनी होगी। लोकेशन में आपको तीन विकल्प मिलेंगे सिरसी , फाटा और गुप्तकाशी अपनी आवश्यकता अनुसार किसी एक जगह को चुनें।
  • जगह चुननें के बाद Proceed to pay के बटन पर क्लिक कर हेलीकॉप्टर के लिए लेने वाले चार्जेस को पे करें। proceed to pay kedarnath heliservice
  • पे करने के बाद आपके द्वारा आवेदन में भरी गयी सभी डिटेल्स आपके सामने आ जाएगी। अब डिटेल्स का प्रिंटआउट निकालकर अपने पास रख लें।
  • यात्रा के समय हेलीकॉप्टर संचालक को हेलिसेर्विस संबंधित डिटेल्स को दिखाकर आप हवाई यात्रा से केदारनाथ धाम पहुँच सकते हैं।

चार धाम यात्रा के नाम और इतिहास

Train से कैसे जाएं केदारनाथ धाम मंदिर :-

दोस्तों यदि आप ट्रेन से केदारनाथ आना चाहते हैं तो आपको पहले दिल्ली से हरिद्वार या ऋषिकेश आना होगा। ट्रेन से ऋषिकेश आने के बाद आपको सड़क मार्ग से केदारनाथ जाना होगा। यहाँ आपको दिल्ली से हरिद्वार और ऋषिकेश जाने वाली कुछ ट्रेनों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।
दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं

दिल्ली से ऋषिकेश आने वाली ट्रेनों की जानकारी हमने आपको नीचे इमेज में दी है –delhi to yog nagri rishikesh train details

आपको बता दें की ऋषिकेश से कर्णप्रयाग जाने हेतु रेल परियोजना पर कार्य चल रहा है जो संभवतः 2030 तक पुरे होने की उम्मींद है। यदि एक बार यह रेलमार्ग पूरा होने के बाद लोगों के लिए खोल दिया जाता है तो आप रेल से केदारनाथ मंदिर तक की यात्रा कर पाएंगे।

सड़क मार्ग के द्वारा दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएँ :-

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यदि आप सड़क मार्ग से दिल्ली से केदारनाथ आना चाहते हैं तो आपको बस या टैक्सी से हरिद्वार आना होगा। और हरिद्वार आने के बाद आपको वाया ऋषिकेश से जोशीमठ या रुद्रप्रयाग जाने हेतु बस या मैक्स मिल जायेगी जिसमें आपको लगभग 139 किलोमीटर लम्बी यात्रा करनी होगी। यहाँ हम आपको केदारनाथ जाने के सड़क रुट की पूरी जानकारी दे रहे हैं –

केदारनाथ जाने का रुट (Kedarnath Route) :-

यह भी देखेंपुलिस या थाना प्रभारी शिकायत को आवेदन पत्र या एप्लीकेशन कैसे लिखें

पुलिस या थाना प्रभारी शिकायत को आवेदन पत्र या एप्लीकेशन कैसे लिखें

दोस्तों दिल्ली से केदारनाथ तक सड़क मार्ग से यात्रा करने में आपको तीन से चार दिन का समय लग सकता है यहाँ हम यात्रा के पुरे रुट और लगने वाले समय के बारे में बता रहे हैं –

  • पहला दिन दिल्ली से हरिद्वार :- दोस्तों यदि आप दिल्ली से वाया सड़क मार्ग केदारनाथ आने की सोच रहे हैं तो सबसे पहले आप दिल्ली के अंतर्राष्ट्रीय बस अड्डे कश्मीरी गेट से बस पकड़ कर या टैक्सी के द्वारा 230-250 किलोमीटर की यात्रा करके हरिद्वार आ सकते हैं। हरिद्वार आकर आप एक या दो दिन हर की पैड़ी, गंगा आरती, मनसा देवी मंदिर आदि जगह घूम सकते हैं। हरिद्वार में आपको नाइट स्टे करने के लिए सस्ते होटल और धर्मशालाओं में कमरे आसानी से मिल जायेंगे।
  • दूसरा दिन हरिद्वार से रुद्रप्रायग :- हरिद्वार आने के बाद वाया ऋषिकेश होते हुए रुद्रप्रयाग या जोशीमठ जा सकते हैं। आपको हरिद्वार और ऋषिकेश दोनों से ही रुद्रप्रयाग जाने हेतु बस मिल जाएगी। हरिद्वार से रुद्रप्रयाग की दूरी लगभग 165 किलोमीटर है जो तय करने में लगभग 6 से 7 घंटे का समय लग जाएगा। इतनी लम्बी यात्रा करने के बाद आप रूद्रप्रयाग में रात में आराम के लिए होटल में रुक सकते हैं।
  • तीसरा दिन रुद्रप्रयाग से केदारनाथ :- रुद्रप्रयाग आने के बाद आपको गौरीकुंड से केदारनाथ जाने के लिए पैदल यात्रा करनी होगी। पैदल यात्रा में टट्टू , डोली आदि की सहायता ले सकते हैं। यह पैदल यात्रा लगभग 75 किलोमीटर की होती है जिसमें आपको 14 किलोमीटर पहाड़ों पर ट्रेक करना होगा। केदारनाथ पहुँचने के बाद आप यहां के आस – पास के होटल में रात गुजारने के लिए रुक सकते हैं।
  • चौथा दिन केदारनाथ के पास वाली जगहों पर घूम सकते हैं :- केदारनाथ दर्शन करने के बाद आप यहां एक दो दिन रुककर यहाँ की आस – पास की जगहों में घूम सकते हैं हम आगे आर्टिकल में आपको केदारनाथ के पास की दर्शनीय स्थलों के बारे में बताने जा रहे हैं।
केदारनाथ मंदिर धाम के पास के दर्शनीय स्थल (Places to visit around Kedarnath) :-
  1. गाँधी सरोवर (Gandhi Sarovar) :- केदारनाथ से 3 किलोमीटर से दूर स्थित गांधी सरोवर अपने प्राकृतिक नजारों के लिए पर्यटकों के बीच प्रसिद्ध है। आपको यहां आने के लिए केदारनाथ से लगभग 3 से 4 किलोमीटर पैदल ट्रैक करना होगा। आपको बता दें की गांधी सरोवर को चोराबाड़ी ताल के नाम से भी जाना जाता है। समुद्र तल से गांधी सरोवर की ऊंचाई लगभग 3,900 मीटर है।
  2. सोनप्रयाग (Sonprayag) :- उत्तराखंड राज्य को दो पवित्र नदियां मंदाकिनी और बासुकी के संगम पर स्थित सोनप्रयाग एक पवित्र धार्मिक स्थल है। इस पवित्र स्थल में दर्शन हेतु जाने से पहले आने वाले तीर्थयात्री नदी में डुबकी लगाकर स्नान करते हैं। इस स्थान को छोटा चार धाम भी कहा जाता है। रुद्रप्रयाग से सोनप्रयाग तक की दूरी लगभग 73 किलोमीटर है। समुद्र तल से सोनप्रयाग की ऊंचाई लगभग 1,829 मीटर है।
  3. गौरी कुंड मंदिर (Gauri Kund Temple) :- आपको बताते चलें गौरी कुंड भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती को समर्पित एक पवित्र स्थल हैं। केदारनाथ मंदिर में दर्शन के बाद आप 9.7 किलोमीटर की यात्रा करके गौरी कुंड आ सकते हैं। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ऐसा माना जाता है की देवी पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए कड़ी तपस्या की थी। यहाँ आपको मनमोहक प्राकृतिक नजारों के साथ गर्म पानी के झरने देखने को मिलते हैं। समुद्र तल से गौरी कुंड की ऊंचाई लगभग 1,828 मीटर है।
  4. वासुकी ताल (Vasuki Taal ) :- केदारनाथ धाम मंदिर से 5 किलोमीटर दूर स्थित वासुकी ताल अपनी झील की सुंदरता के लिए पर्यटकों के बीच स्थित है। यहां आपको चारों तरफ ऊँची – ऊंची पर्वत चोटियों के मनोरम दृश्य देखने को मिलते हैं जिसे देखने लाखों पर्यटक हर साल यहां आते हैं। समुद्र तल से वासुकी तल की ऊंचाई लगभग 4,135 मीटर है।

कितना खर्चा आएगा दिल्ली से केदारनाथ जाने में :-

दोस्तों यदि हम बात करें की एक व्यक्ति के सामान्य रूप से यात्रा करने की तो दिल्ली से केदारनाथ मंदिर जाने में लगभग 3,000 रूपये से लेकर 5,000 रूपये तक का खर्च आ जाता है।

दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं से जुड़े FAQs :-

दिल्ली से केदारनाथ की दुरी कितनी है ?

दिल्ली से केदारनाथ की दुरी लगभग 295 किलोमीटर है।

हेलिसेर्विस को ऑनलाइन बुक करने हेतु वेबसाइट क्या है ?

हेलिसेर्विस को ऑनलाइन बुक करने हेतु वेबसाइट https://www.heliservices.uk.gov.in/ है।

केदारनाथ जाने के लिए कौन सी हेलिसेर्विस चलती है ?

केदारनाथ जाने के लिए आपको पवन हंस लिमिटेड के द्वारा दी जाने वाली सर्विस लेनी होती है

केदारनाथ जाने के लिए हेलिसेर्विस का खर्च कितना है ?

केदारनाथ जाने के लिए हेलिसेर्विस का खर्च इस प्रकार से है –
गुप्तकाशी से – 7750 रूपये
फाटा से – 4720 रूपये
सिरसी से – 4680 रूपये

हेलिसेर्विस बुकिंग स्टेटस कैसे चेक करें ?

बुकिंग स्टेटस चेक करने के लिए आप सबसे पहले हेलिसेर्विस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
वेबसाइट पर आने के बाद आपको check booking status का लिंक दिखेगा। लिंक पर क्लिक करें।
लिंक पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज ओपन होकर आ जाएगा।
इस पेज पर आपको मोबाइल नंबर , ईमेल आईडी , टिकट नंबर और आधार नंबर में से किसी एक की जानकारी को दर्ज करना है।
इसके बाद Get booking Status के बटन पर क्लिक करें।
बटन पर क्लिक करने के बाद booking status से संबंधित जानकारी आपके सामने आ जाएगी।

यह भी देखेंPVR Full Form in Hindi - पीवीआर क्या है? पूरी जानकारी

PVR Full Form in Hindi - पीवीआर क्या है? पूरी जानकारी

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें