पेट और कमर की चर्बी कम कैसे करें? – डाइट, एक्सरसाइज और अन्य टिप्स – Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

Tips to Reduce Belly Fat in Hindi : दोस्तों नमस्कार, दोस्तों जैसा की आपने सुना होगा की स्वस्थ तन तो स्वस्थ मन अर्थात यदि आपका शरीर स्वस्थ है तो आपका मन भी अपने आप ही स्वस्थ रहेगा। दोस्तों यदि हम बाते करें आजकल के लाइफस्टाइल की तो जिसमें लोगों का Physical Work, चलना-फिरना बहुत कम ... Read more

Photo of author

Reported by Rohit Kumar

Published on

Tips to Reduce Belly Fat in Hindi : दोस्तों नमस्कार, दोस्तों जैसा की आपने सुना होगा की स्वस्थ तन तो स्वस्थ मन अर्थात यदि आपका शरीर स्वस्थ है तो आपका मन भी अपने आप ही स्वस्थ रहेगा। दोस्तों यदि हम बाते करें आजकल के लाइफस्टाइल की तो जिसमें लोगों का Physical Work, चलना-फिरना बहुत कम हो गया है। अब लोग दिन भर दफ्तर (office) / घर पर घंटों कंप्यूटर स्क्रीन के सामने बैठकर अपना काम करते हैं जिस कारण लोगों में मोटापे की समस्या देखने को मिलती हैं। शरीर में मोटापा बढ़ना मतलब आपके पेट और कमर के आस पास वसा / चर्बी का जमा होना है।

यह भी पढ़े :- शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य (Body Parts Name in Hindi with Image)

पेट और कमर की चर्बी कम कैसे करें? – डाइट, एक्सरसाइज और अन्य टिप्स –
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

जब हमारा शरीर खाद्य पदार्थों में ली जाने वाली वसा को पूरी तरह से पचा या गला नहीं पाता तो यह वसा धीरे -धीरे हमारे शरीर में जमा होने लगती है। इस जमा वसा / चर्बी को ही अंग्रेजी में Belly Fat कहा जाता है। शरीर में Belly fat का जमा होना बहुत सारी बीमारियों के लिए आमंत्रण है। Belly fat जमा होने से आपको हाई ब्लड शुगर, हाई कोलेस्ट्रोल और हृदय से संबंधित बीमारिया हो सकती हैं। अपने इस आर्टिकल में हम आपको पेट की चर्बी कम करने के लिए डाइट, एक्सरसाइज और अन्य जरूरी Tips की जानकारी देने वाले हैं। जानने के लिए आर्टिकल को ध्यान से अंत तक जरूर पढ़ें।

पेट और कमर में चर्बी (Fat) बढ़ने के कारण :

दोस्तों जैसा की हम आपको आर्टिकल में ऊपर बता चुके हैं की आजकल की खराब लाइफस्टाइल और असंतुलित खान पान के कारण लोग मोटापे का शिकार होते जा रहे हैं। यहाँ हमने आपको विस्तृत रूप से बताने की कोशिश की है की किन कारणों की वजह से हमारे शरीर में बैली फैट जमा होने लगता है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp
  1. असंतुलित खानपान (Unbalanced Diet) :- जब हम बिना किसी तय शेड्यूल और डाइट के भोजन करते हैं यह हमारे शरीर पर विपरीत असर डालता है। अनियमित और असंतुलित खानपान हमारे शरीर के लिए रोगों का सबसे बड़ा कारण है।
  2. तनाव (Tension) लेना :- जब हम बहुत अधिक मात्रा में तनाव (Tension) लेते हैं तो यह हमारे स्वास्थ पर बुरा असर डालता है। दोस्तों आपको बता दें की तनाव लेने पर हमारे शरीर से दो तरह के हॉर्मोन (कोर्टिसोल और स्टेरॉयड) निकलते हैं जो हमारे शरीर के स्ट्रेस लेवल को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। जब भी किसी व्यक्ति का शरीर उच्च दवाब (High Pressure) की स्थिति में पहुँचता है तो हमारा शरीर कोर्टिसोल नामक हार्मोन छोड़ता है। इस हार्मोन के निकलने से हमारे पांचन तंत्र पर असर पड़ता है।
  3. आनुवंशिक (Inherited) :- कई बार ऐसा देखा गया है की मोटापे की समस्या पारिवारिक होती है। दोस्तों बात करें पीढ़ी दर पीढ़ी की तो यदि परिवार की किसी एक पीढ़ी में लोग मोटापे से ग्रसित हैं तो बहुत हद तक यह संभव है की मोटापा पहली पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक पहुँच जाता है। ऐसे अनुवांशिकी मोटापे को आप नियमित व्यायाम , संतुलित खान-पान से कम कर सकते हैं।
  4. पूरी नींद(Sleep) ना लेना :- आपको बता दें की वैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार एक स्वस्थ मनुष्य को 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए। जब भी हम भोजन करके रात को सोते हैं तो हमारा शरीर आराम की अवस्था में होता है जिससे शरीर में होने वाली क्रियाएँ और समय के मुकाबले थोड़ा धीरे हो जाती हैं जिस कारण भोजन को पचने में अधिक समय लगता है। इसलिए जब कोई मनुष्य नींद कम लेता है तो उसको पेट में बढ़ी चर्बी और मोटापे की समस्या से झूझना होता है।
  5. नियमित व्यायाम ना करना :- दोस्तों आजकल की जीवनशैली ऐसी हो गई है। लोगों के पास नियमित व्यायाम करने का समय ही नहीं है। नियमित व्यायाम ना करना हमारे शरीर में बुरा असर डालता है। वैज्ञानिकों के अनुसार एक स्वस्थ इंसान को हर रोज़ करीब आधा घंटा व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम ना करने से आपके शरीर में आलस बढ़ता है और आप बहुत जल्दी-जल्दी रोगों से ग्रस्त होने लगते हैं।

पेट की चर्बी (Fat) को कम करने के लिए कौन -सी Exercise करें :

दोस्तों वैसे तो Belly fat (पेट की चर्बी) को कम करने के लिए बहुत सी exercise और आसन हैं हम आपको यहां उन सभी व्यायाम (Exercise) और आसनों की जानकारी दे रहे हैं जो पेट की चर्बी को कम करने के लिए किये जाते हैं। आइये जानते हैं उन exercise और आसनों के बारे में।

Tips to Reduce Belly Fat in Hindi
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

Crunches (क्रन्चेस) :- Health Experts के द्वारा पेट की चर्बी को कम करने हेतु Crunches को एक बेहतरीन एक्सरसाइज माना गया है। इस एक्सरसाइज में आपको सबसे पहले पीठ के बल लेटना होता है। इसके बाद आपको पैरों को घुटनों तक मोड़ना होगा। पैरों को मोड़ने के बाद अपने हाथों को सिर के पीछे ले जाएँ।

अब इसके आपको अपने हाथों से सिर को पकड़कर बॉडी को उठाना है। यही प्रक्रिया आपको दोहराते रहनी है। हाँ Exercise करते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें की आपकी सांस लेने का पैटर्न सामान्य रहना चाहिए। क्सपर्ट्स की मानें तो यह Exercise बैली फैट कम करने एब्स बनाने के लिए उपयुक्त मानी जाती है। सांस से संबंधित मरीजों को इस तरह की एक्सरसाइज से बचना चाहिए।

Tips to Reduce Belly Fat in Hindi
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

Walking / Cardio (कार्डिओ एक्सरसाइज) :- दोस्तों वजन कम करने और Belly fat को कम करने के लिए कार्डियो एक्सरसाइज को अच्छा माना जाता है। स्वास्थ विषेशज्ञों के अनुसार रोज आधा घंटा Walking (चलना) शरीर के लिए लाभदायक होता है। वाकिंग करने से हमारे शरीर में मेटाबॉलिस्म (Metabolism) का स्तर उच्च रहता है और हमारा स्टेमिना एवं हार्ट रेट भी बढ़ता है।

Tips to Reduce Belly Fat in Hindi
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

Zumba (जुम्बा) :- Belly fat कम करने के लिए एक और सबसे अच्छी एक्सरसाइज है ज़ुम्बा डांस या जुम्बा वर्कआउट। इसको करने से आप तनाव रहित रहते हैं। आपको बताते चलें की जुम्बा वर्कआउट को इंटेंस वर्कआउट भी कहा जाता है। जुम्बा में आपको अपने हाथों को कमर पर रखकर कमर को घुमाना होता है। यही प्रक्रिया बार – बार दोहराते रहें। इस तरह आप ज़ुम्बा डांस करके अपना वजन और फैट दोनों कम कर सकते हैं।

cyclist man racing bike
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

साइकिलिंग (Cycling) :- दोस्तों Health Experts के द्वारा यह भी कहा जाता है की अगर हम हर रोज लगभग एक घंटा साइकिलिंग करते हैं तो यह हमारे स्वास्थ के लिए सबसे ज्यादा लाभदायक है। Cycling करने से हमारे शरीर में बहुत मात्रा में कैलोरी बर्न होती है। यदि आपके आस पास पर्याप्त स्थान है तो आपको Cycling करनी चाहिए। नियमित रूप से साइकिलिंग पेट की वसा (चर्बी) कम करने के लिए बेहतरीन एक्सरसाइज है।

running jogging
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

दौड़ना (Running) :- यदि आप नियमित रूप से 4 से 5 किलोमीटर दौड़ते हैं तो आप अपना belly fat कम कर सकते हैं। दौड़ने से हमारे शरीर का स्टेमिना और Activeness (स्फूर्ति) बढ़ती है। दौड़ने से हमारे शरीर को खूब पसीना भी आता है और तेजी से कैलोरी बर्न भी होती है। पेट की चर्बी कम करने के लिए दौड़ना एक बेहतरीन एक्सरसाइज मानी जाती है। हम आपसे यही कहेंगे की सुबह जल्दी उठकर नियमित रूप से (Running / Jogging) जरूर करें।

Belly fat कम करने के लिए जरूरी Tips :

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यदि आपके पास नियमित एक्सरसाइज और योगआसन करने का समय नहीं है तो आप यहाँ पर हमारे द्वारा बताये जा रहे कुछ आसान से उपायों को अपनाकर पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं। यह सभी स्वास्थ विशेषज्ञों की सलाह पर हम आपको बताने जा रहे हैं।

1. भोजन में मीठे की मात्रा कम करें :-

दोस्तों भोजन में यदि हम मीठे की सही और नियमित मात्रा लेते हैं तो यह हमारे शरीर में मेटाबोलिज्म (Metabolism) के स्तर को सामान्य रखता है। बहुत अधिक मात्रा में मीठे का सेवन करने से आपके शरीर में Metabolism स्लो हो जाता है। जिस कारण आपका वजन बढ़ने लगता है और आपके शरीर में अत्यधिक मात्रा में वसा जमा होने लगती है। वजन कम करने और शरीर में वसा को नियंत्रित करने के लिए मिठाई , चॉकलेट और मीठे खाद्य पदार्थों से दूर रहें तो ही अच्छा।

2. नारियल पानी (Coconut Water) पिएं :-

वैज्ञानिकों के अनुसार नारियल में प्रचुर मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट्स होता है जो हमारे बॉडी में फैट घटाने के लिए सबसे अधिक आवशयक वस्तु है। दोस्तों नारियल पानी में न तो अधिक शर्करा और न ही कोई Artificial flavor होता है जो की हमारे शरीर के लिए काफी फायदे मंद है। नारियल पानी पीने से आपके शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है।

3. खाना खाने के बाद सूप पिएं :-

दोस्तों पेट की चर्बी कम करने के लिए आप रात के भोजन के बाद सूप पी सकते हैं। सूप पीने से आपको वजन कम करने में काफी मदद मिलेगी। सूप हल्का होने के साथ-साथ काफी पौष्टिक होता है। जिससे हमारे शरीर को सभी तरह के पोषक तत्व मिल जाते हैं। सूप में अत्यधिक मात्रा में कैलोरी नहीं होती जो हमारे शरीर पर fat नहीं बढ़ने देता।

4. ग्रीन टी (Green Tea) पिएं :-

दोस्तों आपको बता दें की ग्रीन टी पीने से आपके शरीर में मेटाबोलिज्म का स्तर सामान्य रहता है। मेटाबोलिस्म के सामान्य रहने से आपके शरीर के वजन और चर्बी दोनों में कमीं आती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो एक इंसान को लगभग 2 से 3 बार ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। Green Tea पीने से आपकी शरीर की जमा चर्बी तेजी से पिघलती और घटती है।

5. गुनगुने पानी में शहद (Honey) का सेवन करें :-

दोस्तों यदि आप रोज सुबह खाली पेट हलके गर्म पानी / गुनगुने पानी में शहद का सेवन करते हैं तो यह आपके शरीर में फैट को तेजी से कम करने का काम करता है। क्योंकि शहद एक काम्पलेक्स शर्करा युक्त पदार्थ है। वैसे यदि आप शहद के साथ कुछ बूदें नींबू के रस का इस्तेमाल करते हैं तो आपको इसके बेहतर परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

वजन और फैट कम करने के लिए आप अपनी डाइट में निम्नलिखित जुसेस (Juices) को शामिल कर सकते हैं –

  1. अनार का जूस (Pomegranate Juice) :- पेट की चर्बी और वजन कम करने के लिए आप अनार का जूस पी सकते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार आनर में फाइबर, आयरन, जिंक, पोटेशियम और ओमेगा 6 आदि पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। एक्सपर्ट्स की मानें तो आपको हर रोज़ कम से कम एक गिलास अनार का जूस पीना चाहिए।
  2. गाजर का जूस (Carrot Juice) :- डाइट्री फाइबर से भरपूर गाजर का जूस का सेवन आपके fat और वजन को कम करने में सहायक होता है। डाइट्री फाइबर आपके शरीर में भूख को नियंत्रित करने का काम करता है। यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो आपको नियमित रूप से गाजर के जूस का सेवन करना चाहिए।
  3. चुकंदर का जूस (Beet Juice) :- दोस्तों चुकंदर के जूस में बहुत अधिक मात्रा में कैलोरी पायी जाती है। चुकंदर में पाये जाने वाले पोषक तत्व हमारे शरीर में फैट को कम करने में बहुत लाभप्रद होते हैं। यदि आप तेजी से अपना वजन कम करना चाहते हैं तो नियमित रूप से चुकंदर के जूस का सेवन जरूर करें।
  4. टमाटर का जूस (Tomato Juice) :- टमाटर के जूस या सूप में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो वजन कम करने में काफी सहायक होता है। टमाटर का जूस का नियमित रूप से सेवन करने से आप अपना वजन कम कर सकते हैं।

पेट की चर्बी को कम करने के लिए करें यह योगासन :

दोस्तों आप एक्सरसाइज के अलावा आयुर्वेद में बताये गए योग आसनों को करके भी अपनी पेट की चर्बी कम कर सकते हैं। हमने यहाँ आपको कुछ ऐसे योग आसनों के बारे में बताया है जिसे करने से आप अपनी Belly fat को कम कर सकते हैं।

tadasana yogaa
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

ताड़ासन (Tadasana) :-

दोस्तों आप पेट की चर्बी (fat) को कम करने के लिए ताड़ासन कर सकते हैं। ताड़ासन करने से से आपके शरीर में रक्त (Blood) का प्रवाह बेहतर होता है। स्वास्थ विशेषज्ञों के अनुसार जिनकी लम्बाई कम है उन्हें ताड़ासन जरूर करना चाहिए। Tadasana आपकी लम्बाई को बढ़ाने में मदद करता है। जब कोई व्यक्ति ताड़ासन करता है।

तो उसके पुरे शरीर में एक तरह का खींचाव महसूस होता है जो पेट की चर्बी को कम करने में सहायक होता है। आपको बता दें की ताड़ासन का निरंतर अभ्यास करने से आप अपनी बाहर निकली हुई तोंद को कम कर सकते हैं। आइये जानते हैं की कैसे करें ताड़ासन।

कैसे करें ताड़ासन :-

ताड़ासन को करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा। जो इस प्रकार से है –

  • ताड़ासन करने के लिए सबसे पहले आप एक स्थान पर सीधे खड़े हो जाएँ। खड़े होने के बाद अपनी टांगों , कमर और गर्दन को सीधा रखें।
  • इसके बाद आपको अपने दोनों हाथों की उँगलियों को आपस में फ़साना है। अब दोनों हाथों को ऊपर ले जाते हुए सिर से ऊपर ले जाएँ।
  • इसके बाद संतुलन बनाते हुए अपने पैरों की एड़ियों को उठाएं। आपका पूरा संतुलन आपके पैरों के पंजों पर होना चाहिए।
  • ऐसी स्थिति में आने पर आप शरीर में खींचाव महसूस करेंगे। आपको कुछ सेकेण्ड इसी स्थिति में रहना है और सामान्य गति से सांस लेते और छोड़ते रहना है।
  • दो-तीन बार इसी प्रक्रिया को बार – बार दोहराएं। इस तरह से आप ताड़ासन करके अपना बैली फैट कम कर सकते हैं।
ताड़ासन के लाभ :-
  • जिनकी उम्र 6 से 20 साल के बीच है उन्हें अपनी लम्बाई बढ़ाने के लिए ताड़ासन करना चाहिए।
  • जिस व्यक्ति को पीठ , मासपेशियों , हाथ – पैरों और घुटनों में दर्द होता है उन्हें ताड़ासन करना चाहिए इससे उन्हें दर्द में आराम मिलता है।
  • एकाग्रता (Concentration) को बढ़ाने के लिए योगासन में ताड़ासन को सबसे उपयुक्त माना जाता है।
  • ताड़ासन करने से आपका शरीर आकर्षक और सुडोल होता है।
किनकों नहीं करना चाहिए ताड़ासन :-
  • जो भी व्यक्ति उच्च रक्तचाप (High blood pressure) से ग्रसित हैं। उन्हें यह ताड़ासन नहीं करना चाहिए।
  • योगा एक्सपर्ट्स के द्वारा गर्भवती महिलाओं को ताड़ासन नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपके घुटनों में तेज दर्द है तो आपको यह आसन नहीं करना चाहिए।
  • जिनकों भी ह्रदय संबंधी समस्या है उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए।

त्रिकोणासन (Trikonasana)

पेट की चर्बी के लिए एक और बहुत अच्छा आसन है त्रिकोणासन। जैसा की हमें नाम से पता चल रहा है की तीन कोण वाला आसन। इस आसन में आपको शरीर की त्रिकोणीय मुद्रा बनाते हुए योगासन करना होता है। त्रिकोणासन के निरन्तर अभ्यास से आप पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं।

त्रिकोणासन
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

कैसे करें त्रिकोण आसन :-

  • त्रिकोणासन को करने के लिए आप सबसे पहले अपने दोनों पैरों के बीच दो फुट की दूरी बनाकर खड़े हो जाएँ। खड़े रहते समय दोनों हाथों को शरीर के साथ सीधे सटाकर रखें।
  • अब इसके बाद अपने हाथों शरीर से दुर ले जाते हुए कंधे तक फैलाएं। और अब साँस लेते हुए दाएं हाथ धीरे -धीरे ऊपर की ओर ले जाकर कान से सटा लें।
  • उपरोक्त प्रक्रिया को करने के बाद सांस को धीरे – धीरे छोड़ते हुए कमर को बाईं ओर झुकाएं। इस दौरान ध्यान रहे की आपका दायां हाथ कान से सटे होने चाहिए और घुटने मुड़े नहीं होने चाहिए।
  • इसके बाद दाएं हाथ को जमीन / फर्श के समानांतर लाने का प्रयास करें। इसके साथ ही बाएं से पैरों के टखने को चुने का प्रयास करें।
  • आपको कम से कम 10 से 20 सेकण्ड इसी मुद्रा में रहना है और सामान्य गति से सांस लेते रहना है।
  • धीरे – धीरे सांस छोड़कर सामान्य अवस्था में आ जाएँ। उपरोक्त प्रक्रिया को इसी तरह दोनों तरफ से तीन से चार बार दोहराएं।

त्रिकोणासन के लाभ :-

त्रिकोणासन करे से आपको निम्नलिखित लाभ होते हैं जो इस प्रकार से हैं –

  • त्रिकोणासन करने से आपके पुरे शरीर में खींचाव महसूस होता है। जो आपकी मांसपेशियों की मरम्मत के लिए अच्छा होता है।
  • त्रिकोणासन करने से शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ता है। ऊर्जा का स्तर बढ़ने से पुरे शरीर में नयी ऊर्जा का संचार होता है।
  • इस आसन को करने से कमर के दर्द में आराम मिलता है। आप त्रिकोणासन का निरंतर अभ्यास करते हैं तो साइटिका जैसी बीमारी से मुक्त हो सकते हैं।
  • त्रिकोणासन आपको कब्ज़ और एसिडिटी जैसी समस्याओं से निजात दिलाता है।
  • त्रिकोणासन आपके शरीर और मन के तनाव को कम करता है।
किनकों नहीं करना चाहिए त्रिकोणासन :
  • उच्च या कम रक्चाप से ग्रसित व्यक्ति को त्रिकोणासन करने से बचना चाहिए।
  • जो व्यक्ति स्लिप डिस्क या कमर में तेज दर्द की समस्या से ग्रसित हैं उन्हें त्रिकोण आसन नहीं करना चाहिए।
  • ज्यादा कब्ज़ या एसिडीटी से ग्रसित मरीजों को त्रिकोणासन नहीं करना चाहिए।

पार्श्वकोणासन (Parsvakonasana)

दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की संस्कृत के शब्द पार्श्व का अर्थ होता है अगल – बगल। पार्श्व आसन में आपको शरीर को पार्श्व मुद्रा में लाकर योग करना होता है। इस आसन को करने से आपको काफी सारी शारीरक समस्याओं से छुटकारा मिलता है। पार्श्वकोणासन का निरन्तर अभ्यास कूल्हे और जांघ की चर्बी को कम करने में मदद करता है।

utthita parsvakonasana
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

कैसे करें पार्श्वकोणासन :-

  • पार्श्वकोणासन करने के लिए आप सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएँ। अब अपने पैरों के बीच तीन से चार फुट की दूरी बना लें।
  • दूरी बनाने के बाद किसी भी एक पैर को 90 डिग्री के कोण पर घुमाएं।
  • अब इसके बाद थोड़ी गहरी सांस लेते हुए हाथों को दूर फैलाकर कंधे की सीध तक लाएं।
  • अब धीरे – धीरे साँस छोड़ते हुए घुटने को 90 डिग्री के कोण पर मोड़ें। और घुटना मोड़ने के साथ ही दाईं ओर झुकना है।
  • इसके बाद आपको अपने दाएं हाथ को दाएं पैर के पीछे रखना है। अगर हो सके तो उंगलियों से जमीन को छूने का प्रयास करें।
  • इसके बाद बाएं हाथ को 60 डिग्री के कोण पर कान के पास लाने का प्रयास करें और गर्दन को दाईं ओर मोड़कर दाएं हाथ की उँगलियों को देखने का प्रयास करें।
  • अब धीरे – धीरे सांस छोड़कर सामान्य अवस्था में आने का प्रयास करें। धीरे – धीरे इसी प्रक्रिया को दो – तीन बार दोहराएं।

पार्श्वकोणासन के लाभ :-

  • पार्श्वकोणासन करने से आपका पाचन तंत्र मजबूत होता है।
  • इस आसन को करने से कब्ज़ और एसीडिटी में राहत मिलती है।
  • पार्श्वकोणासन करने से आपके घुटने और टखने मजबूत होते हैं।
किनकों नहीं करना चाहिए पार्श्वकोणासन :-
  • जो भी व्यक्ति घुटनों और कमर में तेज दर्द से परेशान हैं उन्हें यह पार्श्वकोणासन नहीं करना चाहिए।
  • साइटिका बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को पार्श्वकोणासन किसी योग प्रशिक्षक की निगरानी में करना चाहिए।

बालासन (Balasan)

दोस्तों बालासन एक ऐसा योगासन है जिसे हर रोज़ करीब 10 मिनट करने से आपके पेट की चर्बी और पेट दोनों ही कम हो सकते हैं। बालासन करने से आपके शरीर की मांसपेशियों को मजबूत करता है। हमने यहाँ आपको योगासन करने के सम्पूर्ण तरीका स्टेप बाय स्टेप बताया है।

बालासन
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

कैसे करें बालासन :-

  • दोस्तों बालासन करने के लिए आपको सबसे पहले वज्रासन में घुटनों के बल बैठ जाना है। बैठते समय आपका पूरा वजन पैरों की एड़ियों पर होना चाहिए।
  • बैठने के बाद आपको कमर को सीधा रखते हुए धीरे – धीरे सांस लेते हुए दोनों हाथों को सीधा ऊपर ले जाएँ।
  • इसके बाद धीरे – धीरे सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें।
  • झुकते समय यह प्रयास करें की आपका सिर जमीन से टच करना चाहिए। यदि नहीं होता है कोई बात नहीं जितना हो सके उतना ही करें।
  • आपको कुछ सेकण्ड तक इसी स्थिति में रहना है ऐसी स्थिति में रहते हुए सामान्य गति से सांस लेते रहें।
  • इसके बाद सांस छोड़ते हुए वापस अपनी सामान्य अवस्था में आ जाएँ। आपको यह प्रक्रिया करीब दो से तीन बार दोहरानी है।

किनकों नहीं करना चाहिए बालासन :-

  • जिस किसी व्यक्ति की पीठ में दर्द रहता हो या फिर हाल ही में घुटनों की सर्जरी हुई हो उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए।
  • जो व्यक्ति पेट संबंधी गंभीर समस्याओं से ग्रसित हैं उन्हें बालासन नहीं करना चाहिए।

नौकासन (Naukasan)

कमर और पेट की चर्बी को कम करने के लिए नौकासन भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। नौकासन करने से आपका पाचन तंत्र बेहतर और अच्छा होता है। नौकासन को अपनी दिनचर्या में शामिल कर आप अपना बेली फैट कम कर सकते हैं। चलिए जानते हैं और समझते हैं कैसे किया जाता है नौकासन।

Naukasana-
Tips to Reduce Belly Fat in Hindi

कैसे करें नौकासन

  • नौकासन करने के लिए आपको सबसे पहले जमीन पर पीठ के बल सीधा लेटना होगा। लेटने के बाद अपनी एड़ियों और पंजों को आपस में मिला लें।
  • लेटने की अवस्था में आपके दोनों हाथ कमर से सटे होने चाहिए और हथेलियां जमीन की ओर होनी चाहिए।
  • अब गहरी सांस लेते हुए दोनों पैरों को ऊपर की ओर उठाएं। इसके साथ अपने हाथ और गर्दन को भी ऊपर की ओर उठाएं। ऊपर उठाते समय आपके सारे शरीर का वजन कूल्हों पर होना चाहिए।
  • अब इस स्थिति में करीब 20 से 30 सेकेण्ड तक रहें। ऐसी स्थिति में रहते समय आप साँस सामान्य रूप से लेते रहें।
  • उपरोक्त आसन की प्रक्रिया को 2 से 3 बार तक दोहराएं। इस तरह से आप नौकासन करके अपनी पेट की चर्बी कम कर सकते हैं।

नौकासन के लाभ :-

  • नौकासन करने से आपके शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं।
  • नौकासन से पांचन तंत्र सही होता है।
  • नौकासन से वजन कम होता है और मोटापे में कमी आती है।
किनकों नहीं करना चाहिए नौकासन :-
  • जिन व्यक्तियों को ह्रदय संबंधी समस्या है उन्हें नौकासन नहीं करना चाहिए।
  • नौकासन गर्भवती महिलाओं को नहीं करना चाहिए।
  • जिनका हाल ही में पेट का ऑपरेशन हुआ है उन्हें यह नौकासन नहीं करना चाहिए।

पेट की चर्बी के लिए कैसा होना चाहिए डाइटिंगचार्ट

दोस्तों यदि हम सामान्य और संतुलित मात्रा में एक फिक्स डाइट चार्ट को फॉलो करें तो हम पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं। लेकिन जैसा की आप जानते हैं की पुरुषों और महिलाओं का शरीर अलग – अलग होता है। शरीर के हिसाब से दोनों के भोजन में कितनी कैलोरी होनी चाहिए आप नीचे दिए गए चार्ट में पढ़ सकते हैं। कैलोरी डाइट चार्ट में खाद्य पदार्थों की मात्रा कितनी होनी चाहिए आप टेबल में देख सकते हैं।

  • पुरुषों के लिए भोजन में 400 कैलोरी लेने का Diet चार्ट
क्रम संख्याखाद्य पदार्थकैलोरीकार्बोहाइड्रेटप्रोटीनवसा
1दाल121.215.96 g6.4 g3.9g
2रोटी13228 g4.8 g0.6g
3सब्जी358 g2 g0.3g
4सलाद101.9 g0.9 g0.1g
5दूध10212.2 g8.2 g2g
कुल कैलोरी40066g22.3g6.9g
  • महिलाओं के लिए भोजन में 380 कैलोरी लेने का Diet चार्ट

क्रम संख्याखाद्य पदार्थकैलोरीकार्बोहाइड्रेटप्रोटीनवसा
1दाल10113.3g5.3g3.2g
2रोटी13228 g4.8 g0.6g
3सब्जी358 g2 g0.3g
4सलाद101.9 g0.9 g0.1g
5दूध10212.2 g8.2 g2g
कुल कैलोरी38063.4g21.3g6.2g

Belly fat कम करने के लिए आप एक हफ्ते का यह Diet चार्ट फॉलो कर सकते हैं –

आप स्वास्थ विषेशज्ञों के द्वारा तैयार किये गए Diet प्लान को फॉलो करके अपना belly फैट घटा सकते हैं। हमने यहाँ आपको पुरे हफ्ते की डाइट प्लान की विस्तृत जानकारी दी है आप पढ़ सकते हैं –

  • सोमवार (Monday)
    • ब्रेकफास्ट :- 1 कप दलिया + दही की टॉपिंग + 1 टीस्पून शहद
    • लंच :- 50 ग्राम पनीर / 50 ग्राम चिकेन सैलेड + 1 कटोरी दाल + 2 चपाती
    • स्नैक्स :- 30 ग्राम अनसाल्टेड आमंड (बिना नमक वाले बादाम)
    • डिनर :- 2 कप स्टीम्ड वेज़ीटेबल्स + 100 ग्राम सोयाबीन चंक्स + दो चपाती
  • मंगलवार (Tuesday)
    • ब्रेकफास्ट :- 125 मिली स्किम्ड मिल्क में बनी 1 कप अंटोस्टेड मूसली + एक सेब
    • लंच :- 1 कटोरी पीली दाल + 1/4 कप चुकंदर सैलेड + 2 से 3 चपाती
    • स्नैक्स :- 1 कप वेज़ी टेबल्स सूप
    • डिनर :- 100 ग्राम ग्रिल्ड सालमन / ग्रिल्ड फूलगोभी / 2 कप स्टीम्ड वेज़ीटेबल्स + 2 चपाती
  • बुधवार (Wednesday)
    • ब्रेकफास्ट :- 1 कटोरी पोहा + 1 ग्लास ऑरेंज
    • लंच :- 2 से 3 गोभी / मूली भरी चपाती + 1 टीस्पून आंवले की चटनी + 100 ग्राम लो फैट दही
    • स्नैक्स :- सॉते की हुई गाजर और सेलरी स्टिक्स + 1 कप अदरक वाली चाय
    • डिनर :- 60 ग्राम तंदूरी चिकन / ग्रिल्ड मशरूम + 1 कप सैलेड + 2 चपाती
  • गुरुवार (Thursday)
    • ब्रेकफास्ट :- 1 कटोरी पोहा + 1 ग्लास ऑरेंज
    • लंच :- 2 से 3 गोभी / मूली भरी चपाती + 1 टीस्पून आंवले की चटनी + 100 ग्राम लो फैट दही
    • स्नैक्स :- सॉते की हुई गाजर और सेलरी स्टिक्स + 1 कप अदरक वाली चाय
    • डिनर :- 60 ग्राम तंदूरी चिकन / ग्रिल्ड मशरूम + 1 कप सैलेड + 2 चपाती
  • शुक्रवार (Friday)
    • ब्रेकफास्ट :- 1 कप मूसली + 1 गिलास गर्म दूध + 1 कटा हुआ केला
    • लंच :- 2 से 3 बथुए की चपाती + 1 कटोरी हरी मटर की दाल + 100 ग्राम लो फैट दही + 1 / 2 कप ब्राउन राइस
    • स्नैक्स :- भुने हुए चने + 1 कप चुंकदर , गाजर और टमाटर का सूप
    • डिनर :- 1 कटोरी दाल + वेज़ी टेबल करी + 1 कप ब्राउन राइस
  • शनिवार (Saturday)
    • ब्रेकफास्ट :- 1 ग्लास स्किम्मड मिल्क + जीरे ऑयल में बने 1-2 मूली/गोभी के परांठे + आंवला+लहसुन की चटनी + 1/2 कटोरी दही
    • लंच :- 1 कटोरी मिक्स्ड दाल + 100 ग्राम स्टीम्ड राइस + मिक्स्ड वेजिटेबल्स + सैलेड + अंडा परांठा + 100 ग्राम दही
    • स्नैक्स :- 1 कप चाय + 2 जिंजर कुकीज़
    • डिनर :- 100 ग्राम बोनलेस चिकेन करी/मशरूम-मटर की ग्रेवी + 2-3 मेथी की चपाती + सैलेड + 1/2 कटोरी दही
  • रविवार (Sunday)
    • ब्रेकफास्ट :- 2 अंडे की सफेदी से बना ऑमलेट + 2 रोस्टेड ब्राउन ब्रेड + 50 ग्राम रोस्टेड मशरूम + 1 ग्लास आमंड मिल्क
    • लंच :- 1 कटोरी बथुआ और मिक्स दाल + 1-2 चपाती + शलजम की सब्जी
    • स्नैक्स :- 50-60 ग्राम तिल+ मूंगफली की पट्टी (चिक्की) + 1 कप टोमैटो सूप
    • डिनर :- 1 कटोरी फिश करी/मेथी, पनीर, बाजरे की रोटी + सैलेड + 1/2 कटोरी दही

Frequently Asked Question (FAQs)

पेट की चर्बी को कम करने के लिए क्या खाएं ?

पेट की चर्बी (fat) को कम करने के लिए आप सूप , हरी सब्जियां , ताजे फल , नट्स / बीन्स , हाई फाइबर फ़ूड , प्रोटीन युक्त फ़ूड , फैट फ्री दूध आदि का सेवन कर सकते हैं।

Belly Fat कम करने के लिए कौन सी Exercise करें ?

पेट की चर्बी (fat) को कम करने के लिए आप सूप , हरी सब्जियां , ताजे फल , नट्स / बीन्स , हाई फाइबर फ़ूड , प्रोटीन युक्त फ़ूड , फैट फ्री दूध आदि का सेवन कर सकते हैं।

Belly Fat कम करने के लिए कौन सी Exercise करें ?

Belly Fat कम करने के लिए आप निम्नलिखित एक्सरसाइज कर सकते हैं –
प्लैंक , क्रंचेस , रनिंग , squat आदि व्यायाम कर सकते हैं

Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें