RIMC Army School Admission: बच्चे को बनाना है आर्मी अफसर, तो यहाँ कराएं एडमिशन, जानें प्रक्रिया और फीस

राष्ट्रीय भारतीय सैनिक महाविद्यालय (RIMC) भारत में एक प्रतिष्ठित संस्था है, जो उन लड़कों को शिक्षा प्रदान करती है जो भारतीय रक्षा बलों में शामिल होना चाहते हैं।

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

RIMC Army School Admission: बच्चे को बनाना है आर्मी अफसर, तो RIMC में कराएं एडमिशन, जानें प्रक्रिया और फीस

RIMC Army School Admission: क्या आप अपने बच्चों को सैनिक स्कूल में भर्ती करना चाहते हैं? तो आप राष्ट्रीय भारतीय सैन्य कॉलेज में अपने बच्चे का एडमिशन करा सकते हैं। यह संस्थान देहरादून में स्थित है। यह देश के टॉप मोस्ट सैनिक स्कूल है। युवा छात्रों को भारतीय सेना में अधिकारी बनाने के लिए यह संस्थान बनाया गया है।

इस कॉलेज की स्थापना 13 मार्च 1922 को प्रिंस वेल्स इंडियन मिलिट्री कॉलेज के नाम से की गई थी। तत्कालीन प्रिंस ऑफ वेल्स, एडवर्ड VIII द्वारा स्थापित किया गया था, जो की बाद में किंग जॉर्ज VI बने थे। यह कॉलेज भारतीय छात्रों को रॉयल मिलिट्री अकादमी, सैंडहर्स्ट में प्रवेश के लिए तैयार करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया था।

जब देश आजाद हुआ उसके बाद इसका नाम चेंज करके राष्ट्रीय भारतीय सैन्य कॉलेज कर दिया गया। अगर आप अपने बच्चे को सेना अधिकारी बनाना चाहते हैं, तो RIMC में एडमिशन लेना एक बेस्ट ऑप्शन है। तो चलिए जानते हैं RIMC आर्मी में बच्चे एडमिशन करने की प्रक्रिया एवं फीस की जानकारी बारे में…..

यह भी पढ़ें: नवोदय विद्यालय में एडमिशन कैसे होता है?

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज में एडमिशन

राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज में एडमिशन की सम्पूर्ण जानकारी कॉलेज की ऑफिसियल वेबसाइट पर दी हुई होती है। आपको जानकारी के लिए बता दें इस कॉलेज में प्रत्येक छह माह में 25 छात्रों को आठवीं कक्षा में प्रवेश दिया जाता है। इसके लिए उम्मीदवार की आयु साढ़े 11 से कम और 12 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए। वर्ष में एक बार जनवरी में प्रवेश होते हैं तथा दूसरी बार प्रवेश जुलाई महीने में कराए जाते हैं।

इस कॉलेज में स्टूडेंट केवल आठवीं कक्षा से ही एडमिशन ले सकते हैं। कॉलेज में एडमिशन के लिए छात्र का किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से सातवीं पास होना जरूरी है। RIMC Army School Admission हेतु अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा कराई जाती है। देश में हर स्टेट के लिए कोटा निर्धारित किया गया है। बड़े राज्यों के लिए दो तथा छोटे राज्यों के लिए एक सीट निर्धारित की गई है।

आपको बता दें नेशनल डिफेन्स अकेडमी के लिए राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज एक फीडर संस्थान के रूप में कार्य करता है। इसमें जितने भी बच्चे पढ़ते हैं उनमें से 70 से 80 प्रतिशत बच्चों का चयन NDA में हो जाता है। ये सभी बच्चे ट्रेनिंग कोर्स पूरा करके भारतीय सेना में ऑफिसर बनाए जाते हैं। जिन माँ बाप का सपना रहता है कि वे अपने बच्चों को इंडियन आर्मी में ऑफिसर बना सके वे इस कॉलेज में अपने बच्चों का एडमिशन कराते हैं ।

फीस कितनी होगी?

हम यहाँ आपको राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज में छात्रों को सब मिलाकर टोटल कितनी फीस देनी होती है उसकी जानकारी देने जा रहें हैं आप नीचे टेबल में ध्यान से देख सकते हैं।

Ser No.PARTICULARSFee Structure(Boarder Cadet)Fee Structure(Boarder Cadet)(SC/ST)
1EXPENSES  
(a)Security (One Time/Refundable)5000050000
2.REMITTANCE TO COLLEGE  
(a)Tuition Fees224005600
(b)Book Stationery66006600
(c)Sports51005100
(d)Entertainment & Cinema42004200
(e)Hobbies43004300
(f)Adventure & Activities20002000
(g)Welfare10001000
(h)Religious600600
(i)Hostel Maintenance Charge39503950
(j)Founders’ Day23002300
(k)Magazine & Chronicle18001800
(l)Library22002200
(m)Comdt Fund28002800
(n)Postal Charges900900
(o)Conservancy900900
(p)Insurance600600
(q)Shoe Maker500500
3.CADETS PRIVATE EXPENDITURE
(a)Pocket Money31003100
(b)Washerman/Barber/Clothing1580015800
(c)Miscellaneous Expenditures1760017600
 GRAND TOTAL148650131850

प्रवेश परीक्षा कैसे होगी?

अगर छात्र 8वीं कक्षा में प्रवेश लेना चाहते हैं, तो आपको बता दें अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा साल में दो बार कराई जाती है। इस परीक्षा में अंग्रेजी के प्रश्न 125 अंक के, गणित के प्रश्न 200 अंक के तथा सामान्य ज्ञान के प्रश्न 75 अंक के आते हैं। जो भी छात्र इस परीक्षा में उत्तीर्ण आते हैं उनको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। जिसमें उनका वाइवा वायस टेस्ट लिया जाता है जो कि 50 नंबर का होता है। इस टेस्ट में पास होने वाले सभी छात्रों का सैन्य हॉस्पिटल में मेडिकल टेस्ट लिया जाता है। जो छात्र मेडिकली पूरी तरह से स्वस्थ होता है उसे RIMC में एडमिशन मिल जाता है।

RIMC एडमिशन प्रक्रिया: ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

राष्ट्रीय भारतीय सैनिक महाविद्यालय (RIMC) में एडमिशन के लिए ऑनलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किए जाते हैं। आपको आवेदन पत्र सीधे RIMC से प्राप्त करना होगा। आवेदन फॉर्म हर वर्ष अगस्त महीने में जारी किए जाते हैं। इन आवेदन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि सितम्बर माह तक होती है।

आवेदन कैसे प्राप्त करें:

  • आवेदन फॉर्म और पुराने प्रश्नपत्रों की पुस्तिका सीधे RIMC से प्राप्त की जा सकती है।
  • आपको एक स्व-संबोधित लिफाफा और “THE COMMANDANT RIMC DEHRADUN” के पक्ष में बनाया गया 600 रुपये (सामान्य उम्मीदवार) या 555 रुपये (अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए) का डिमांड ड्राफ्ट भेजना होगा। डिमांड ड्राफ्ट को भारतीय स्टेट बैंक, तेल भवन, देहरादून शाखा (कोड 01576) में देय बनाया जाना चाहिए।
  • लिफाफे पर अपना पता स्पष्ट रूप से बड़े अक्षरों में पिन कोड और संपर्क नंबर सहित लिखें।
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

या

  • RIMC वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर दिए गए लिंक पर क्लिक करके भुगतान करें। प्रॉस्पेक्टस आपके द्वारा दिए गए पते पर भेजा जाएगा।

RIMC द्वारा जारी किए गए आवेदन पत्र ही मान्य होंगे। स्थानीय रूप से मुद्रित/फोटोकॉपी किए गए और RIMC होलोग्राम (सील) के बिना आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

आवश्यक दस्तावेज:

  • भरा हुआ आवेदन पत्र
  • डिमांड ड्राफ्ट की मूल प्रति
  • जाति प्रमाण पत्र (यदि अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लिए आवेदन कर रहे हैं)
  • पिछली कक्षा की मार्कशीट

RIMC के लिए चयन प्रक्रिया क्या है

RIMC में प्रवेश के लिए चयन प्रक्रिया में शामिल हैं:

  • लिखित परीक्षा: अंग्रेजी, गणित और सामान्य ज्ञान की परीक्षा।
  • मौखिक परीक्षा: बुद्धि, व्यक्तित्व और आत्मविश्वास का आकलन करने के लिए मौखिक परीक्षा।
  • चिकित्सा परीक्षा: चयनित उम्मीदवारों को निर्धारित सैन्य अस्पताल में चिकित्सा परीक्षा से गुजरना होगा।
Photo of author

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें