Essay on Corruption: भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध

आज के समय में भारत देश में भ्रष्टाचार एक ऐसा मुद्दा बन गया है जो कि केंद्रीय एवं राज्य सरकार की अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने पर लगा हुआ है। और धीरे-धीरे कर यह देश को अंदर से खोखला करता जा रहा है। सरल भाषा में बताए तो यह एक घातक बीमारी है जो समाज को ... Read more

Photo of author

Reported by Saloni Uniyal

Published on

आज के समय में भारत देश में भ्रष्टाचार एक ऐसा मुद्दा बन गया है जो कि केंद्रीय एवं राज्य सरकार की अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने पर लगा हुआ है। और धीरे-धीरे कर यह देश को अंदर से खोखला करता जा रहा है। सरल भाषा में बताए तो यह एक घातक बीमारी है जो समाज को दिन-प्रतिदिन नष्ट करते जा रही है। यदि कोई व्यक्ति किसी कार्य को किसी समूह द्वारा रिश्वत देकर करवाता है अर्थात अपनी शक्ति या फिर पद का फायदा उठा कर करता है तो वह भ्रष्टाचारी कहलाता है। इसे एक अपराध एवं बेईमानी की श्रेणी में रखा जाता है। यह केवल हमारे देश में नहीं बल्कि एक वैश्विक समस्या भी बना हुआ है इसी वजह से देश में ना तो उन्नति होती है और ना ही देश का विकास हो पाता है। अकसर स्कूल में टीचर द्वारा बच्चों को इस विषय पर निबंध लिखने के लिए दिया जाता है जिसे खोजने में बच्चे परेशान हो जाते हैं लेकिन आज हम आपके लिए यह निबंध उपलब्ध करा रहें है।

लेख में हमने Essay on Corruption विषय पर सम्पूर्ण जानकारी को बता दिया है अतः स्कूल के बच्चे इस आर्टिकल की सहायता से इस विषय पर निबंध लिखने की तैयारी कर सकते हैं।

भ्रष्टाचार क्या है?

भ्रष्टाचार दो शब्दों से मिलकर बना है भ्रष्ट एवं आचार। भ्रष्ट का अर्थ बुरा या बिगड़ा होता है जबकि आचार का अर्थ आचरण होता है यानी की भ्रष्टाचार का मतलब ऐसा व्यवहार जो कि अन्य लोगों के लिए अनुचित व अनैतिक हो। जब कोई व्यक्ति अपने लोभ लालच को पूरा करने के लिए सरकार की न्याय व्यवस्था एवं कानून व नियम के विरुद्ध जाने की कोशिश करता है या फिर गलत व्यवहार करता है तो वह भ्रष्टाचार कहलाता है एवं उस व्यक्ति को एक भ्रष्टाचारी व्यक्ति कहा जाता है। इस शब्द को अंग्रेजी में Corruption कहा जाता है। भारत जैसे देश में यह एक गंभीर समस्या बनी हुई है जिस कारण इस मामले में देश 85वें स्थान पर है।

Essay on Corruption: भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध
Essay on Corruption

भ्रष्टाचार के कारण क्या-क्या है?

भ्रष्टाचार होने के कई कारण हो सकते है जिसमें से हम आपके साथ कुछ मुख्य कारण साझा कर रहें है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

असंतोष- जब किसी व्यक्ति को किसी चीज की कमी होती है जिस कारण उसे दुःख होता है तो वह भ्रष्ट व्यवहार करने के लिए असहाय हो जाता है। उस व्यक्ति के मन में असंतोष की भावनाएं आने लगती है।

लचीला कानून- जैसा कि दोस्तों आप सभी को पता है हमारे देश का कानून एक लचीला कानून है जो कि विकासशील देशों के लिए एक परेशानी बना हुआ है। जब देश का लचीला कानून है तो न्याय व्यवस्था भी लचीली है जिस कारण देश में कई तरह के अपराध हो रहें है।

स्वार्थ- स्वार्थ एक ऐसी चीज है जो मनुष्य को कोई भी घिनौना कार्य करने के लिए नीचे गिरा देती है और अपराध करने के लिए व्यक्ति विवश हो जाता है। वह व्यक्ति सोचता है कि मैं ऐसा क्या काम करूं कि मेरे पास पैसा ही पैसा आए।

राष्ट्र भक्ति का अभाव- करप्शन का सबसे बड़ा एक कारण राष्ट्र भक्ति का अभाव है क्योंकि आज के समय में लोग राष्ट्र प्रेम से दूर जाते दिख रहें हैं लोग अपने राष्ट्र की भक्ति करने के बजाय दूसरे राष्ट्र को अपना रहें है जो कि एक राष्ट्रघातक समस्या बनी हुई है।

पैसे को अधिक महत्व- आज के समय में हर कोई व्यक्ति पैसे को अधिक महत्व दे रहा है जब किसी व्यक्ति में पैसा है तभी जाकर उसकी अहमियत की जा रही है।

करप्शन को दूर करने के उपाय क्या हैं?

करप्शन को दूर करने के उपाय निम्न प्रकार से हैं।

  • उचित शिक्षा का ज्ञान- भारत में करप्शन शिक्षित एवं अशिक्षित दोनों वर्गों में है। ऐसा नहीं कहा जा सकता कि शिक्षित वर्ग समझदार है। लेकिन अब सरकार को यह ध्यान रखना है कि वे अब बच्चों की उचित शिक्षा में अधिक ध्यान दें। बच्चों को नैतिक, आध्यात्मिक शिक्षा के साथ-साथ धार्मिक शिक्षा भी देनी है ताकि देश में करप्शन को दूर किया जा सके।
  • पुलिस विभाग में सुधार- पुलिस विभाग में करप्शन को दूर करने के लिए अधिक से अधिक व्यक्तियों का शिक्षित होना आवश्यक है इसलिए उन्हें इस विभाग में जाने के लिए प्रेरित करना है। उन्हें इस बात के लिए प्रेरित करना है कि वे ईमानदारी से अपने कार्य को करें।
  • जन जागरूकता- देश के नागरिकों को उनके कर्तव्यों एवं अधिकारों के लिए जागरूक करना जरूरी है उन्हें अधिकार के साथ देश के प्रति कर्तव्यों की भी जानकारी देनी है। ताकि वे अपने अधिकारों को सुरक्षा करें और अपने कर्तव्यों का पालन करें।
  • सख्त कानून- देश में जब तक सख्त कानून एवं नियम जारी नहीं किये जाएंगे तब तक देश में करप्शन को दूर नहीं किया जा सकता।

Corruption के विभिन्न प्रकार

  • रिश्वत लेना-देना – सरकारी नौकरी की बात करें आज के समय में बड़े से बड़े पद में बैठे हुए अधिकारी अपने काम को करने के लिए रिश्वत लेते हैं। बल्कि उनके इस काम के लिए सरकार द्वारा स्वयं उन्हें सैलरी दी जाती है जिससे कि वे हमारा कार्य करें क्योंकि उनको इस कार्य के लिए ही नियुक्त किया गया है।
  • टैक्स चोरी- देश में प्रत्येक नागरिक को कर चुकाना पड़ता है जो कि सबसे लिए अनिवार्य है। लेकिन कई लोग अपनी आय को छुपाते हैं जिससे कि उन्हें कम टैक्स देना पड़े। इसे ही टैक्स चोरी कहा जाता है।
  • शिक्षा एवं खेलों में रिश्वत- वर्तमान समय की बात करें यदि कोई गरीब बच्चा है और वह शिक्षा या खेल-कूद में एक योग्य खिलाड़ी है परन्तु उसके पास पैसा नहीं जिससे वह रिश्वत दे तो उसका चयन नहीं किया जाता तथा कोई अन्य व्यक्ति रिश्वत देता है जिसे कुछ भी नहीं आता तो उसका चयन कर दिया जाता है।

Corruption से कैसे बचें?

Corruption से बचने के लिए सर्वप्रथम हमें अपनी सोच को बदलना है क्योंकि जब तक हम अपने आप को नहीं सुधारेंगे तब तक देश भी नहीं सुधरेगा। यदि हम भी अन्य लोगों के साथ बेईमानी करेंगे तो वह भी हमारे एवं अन्य लोगों के साथ बेईमानी करेंगे जिससे की भ्रष्ट होने की स्थिति पैदा होगी। जब हम इस बात को समझ जाए कि हमें इस बुराई को समाज से दूर करना है तो हमें अधिक से अधिक लोगों में यह जागरूकता फैलानी है कि इस बुराई का अंत जल्द से जल्द किया जाए।

Corruption पर 10 लाइन

  • करप्शन को भ्रष्ट व्यवहार कहा जाता है।
  • भारत देश करप्शन के मामलें में 85वें स्थान पर है।
  • इसका देश की अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • पैसे कमाने के लिए अनैतिक व अनुचित काम करना।
  • देश का विकास ना होना इसका कारण है।
  • किसी प्रकार की चोरी करना करप्शन कहलाता है।
  • अपने पद का फायदा उठाना भी करप्शन है।
  • किसी स्वार्थ को पूरा करने के लिए सरकारी नीतियों को प्रभावित करना करप्शन कहलाता है।
  • यह देश को दिन प्रतिदिन दीमक की तरह खोखला कर रहा है।
  • यह समस्या सिर्फ हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में बढ़ती जा रही है।
व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

Also Read-

भ्रष्टाचार पर हिन्दी में निबंध से सम्बंधित प्रश्न/उत्तर

भ्रष्टाचार क्या है?

अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए किसी समूह द्वारा किसी कार्य के लिए जब रिश्वत दी जाए है तो इसे भ्रष्टाचार कहा जाता है।

यदि कोई व्यक्ति अपने पद का गलत इस्तेमाल करता है तो उसे क्या कहा जाता है?

यदि कोई व्यक्ति अपने पद का गलत इस्तेमाल करता है तो उस व्यक्ति को भ्रष्टाचारी व्यक्ति कहा जाता है।

भारत में करप्शन का जिक्र कब होता है?

12वीं सदी के शिलालेख में भारत के करप्शन का इतिहास का जिक्र किया गया है।

Corruption के मामले में भारत का कौन सा स्थान है?

Corruption के मामले में भारत का 85 वां स्थान है।

भारत के किस राज्य में भ्रष्टाचार सबसे कम है?

भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य में भ्रष्टाचार सबसे कम है।

Essay on Corruption से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी को हमने इस लेख में आपको साझा कर दिया है यदि आपको इस निबंध से सम्बंधित कोई अन्य जानकारी या कोई प्रश्न पूछना है तो आप नीचे दिए हुए कमेंट सेक्शन में अपना प्रश्न लिख सकते हैं हम कोशिश करेंगे कि आपके प्रश्नों का उत्तर जल्द दे पाएं। इसी तरह के अन्य लेखों, शिक्षा से सम्बंधित लेख एवं सरकारी योजनाओं के बारे में जानने के लिए आप हमारी साइट hindi.nvshq.org को विजिट करके जुड़ सकते हैं। आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो और लेख से जुड़ी जानकारी जानने में मदद मिली हो धन्यवाद।

Photo of author

Leave a Comment